Skip Navigation Links
शुक्र का मीन राशि में परिवर्तन – जानें अपना राशिफल?


शुक्र का मीन राशि में परिवर्तन – जानें अपना राशिफल?

शुक्र ग्रह की प्रत्येक गतिविधि ज्योतिष शास्त्र के अनुसार काफी मायने रखती है। शुक्र को कन्या राशि में नीच का माना जाता है तो मीन उनकी उच्च राशि मानी जाती है। वृषभ और तुला राशि में शुक्र स्वराशि के माने जाते हैं। सप्तम भाव को शुक्र पूर्ण दृष्टि से देखते हैं। फरवरी के माह के प्रथम सप्ताहांत पर शुक्र कुंभ राशि में दाखिल हुए थे। 2 मार्च को शुक्र कुंभ राशि को छोड़कर अपनी उच्च राशि मीन में आ रहे हैं। ऐसे में शुक्र का यह परिवर्तन राशिनुसार किस पर क्या प्रभाव छोड़ेगा आइये जानते हैं।


शुक्र परिवर्तन का राशिनुसार प्रभाव


मेष

आपकी राशि से शुक्र लाभ स्थान से परिवर्तन कर व्यय घर में उच्च के होकर प्रवेश कर रहे हैं। शुक्र का यह परिवर्तन मेष राशि वालों के लिये आय में वृद्धि के संकेत कर रहा है। यदि धन निवेश करने के बारे में विचार कर रहे हैं तो यह समय आपके लिये बिल्कुल सही है। छोटी मोटी यात्राओं के योग भी शुक्र आपके लिये बना रहे हैं। हालांकि यात्राओं में आपको खर्च भी करना पड़ सकता है। जितना संभव हो सके अनावश्यक खर्च से बचने का प्रयास करें। पर्सनल लाइफ एवं रिलेशनशिप के मामले में भी समय अच्छा कहा जा सकता है।

वृष

शुक्र आपकी राशि के स्वामी हैं जो कि कर्मस्थान से गोचर कर लाभ घर में उच्च के हो रहे हैं। शुक्र के प्रभाव से आप लाभ की स्थिति में रह सकते हैं। आपका स्वास्थ्य भी अच्छा रहेगा। आप स्वयं को काफी सक्रिय रखेंगें। शुक्र आपकी फाइनेंशियल कंडीशन में सुधार के संकेत भी कर रहे हैं। हालांकि वज़न बढ़ने को लेकर आप चिंतित रह सकते हैं। रोमांटिक लाइफ में पूरा आनंद मिल सकता है। ट्रैवलिंग का लुत्फ भी उठा सकते हैं।

मिथुन

आपकी राशि से शुक्र का परिवर्तन कर्मभाव में हो रहा है। दसवें स्थान में उच्च के शुक्र आपके लिये कार्यस्थल पर पदोन्नति के योग बना रहे हैं। आपके काम की तारीफ भी हो सकती है। फाइनेंशियल ग्रोथ के संकेत भी मिल रहे हैं। परफोर्मिंग आर्ट से जुड़े लोगों के लिये भी यह समय काफी अच्छा है।

कर्क

शुक्र का परिवर्तन आपकी राशि से भाग्य स्थान में हो रहा है। भाग्य में उच्च के शुक्र आपके लिये इस समय के अनुकूल रहने के संकेत कर रहे हैं। फाइनेंशियल कंडीशन इंप्रूव हो सकती हैं। जो जातक नई गाड़ी या अपने लिये नया आशियाना ढूंढ रहे हैं उनकी तलाश समाप्त हो सकती है। किसी चर्चित टूरिस्ट प्लेस पर जाने का प्रोग्राम भी आप इस दौरान बना सकते हैं।

सिंह

शुक्र आपकी राशि के स्वामी सूर्य को छोड़कर अष्टम भाव में उच्च को होकर गोचर करेंगें। यह समय आपके लिये अतिरिक्त रूप से सावधान रहने का है। सेहत के मामले में आपको सावधानी रखने की आवश्यकता है। कामकाजी जीवन में भी आपको चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। हो सकता है इस समय आप अपनी क्षमताओं की पहचान अच्छे से न कर पायें। आपको अपनी इच्छा शक्ति को और दृढ़ करने की आवश्यकता है। लाइफ पार्टनर की सेहत को लेकर आप चिंतित हो सकते हैं। रोमांटिक लाइफ में रिश्ते बिगड़ सकते हैं।

कन्या

आपकी राशि से शुक्र सप्तम भाव में आ रहे हैं। पारिवारिक जीवन में आपको लाइफ पार्टनर का पूरा सहयोग मिलने के आसार हैं। सप्तम भाव में उच्च शुक्र की पूर्ण दृष्टि आपकी राशि पर पड़ रही है। यह रोमांटिक लाइफ में आपके लिये गुड न्यूज लेकर आ सकते हैं। करियर के मामले में भी आप एक नये सितारे के रूप में उभर सकते हैं। नई नौकरी या नया बिजनेस शुरु करने के लिये भी यह समय अच्छा कहा जा सकता है। भाग्य का आपको पूरा साथ मिलेगा। आपका मूड रोमांटिक रहने के आसार हैं।

तुला

आपकी राशि के स्वामी शुक्र आपकी राशि से छठे स्थान में उच्च के होकर प्रवेश कर रहे हैं जो कि आपके रोग व शत्रु का घर है। स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहने की आवश्यकता है। आत्मबल भी कमजोर रहने के संकेत है। शत्रु आपको हानि पंहुचाने की फिराक मे हो सकते हैं। कार्यस्थल पर भी आपकी मुश्किलें बढ़ सकती हैं। रोमांटिक लाइफ में भी आपके लिये कुछ खास नहीं है। हो सकता है आप अपने पार्टनर से खुश न रहें।

वृश्चिक

वृश्चिक राशि वालों के लिये पंचम भाव में उच्च होकर शुक्र का गोचर करना नाम व प्रसिद्धि दिलाने के योग बना रहा है। प्रोफेनल लाइफ में आप अपने सीनियर्स को इंप्रेस कर सकते हैं। जो जातक किसी अपोर्च्युनिटी की तलाश में हैं उन्हें मौके मिल सकते हैं। नई जॉब का ऑफर भी आपको आ सकता है। रोमांटिक लाइफ में भी कोई आपके दिल में दस्तक दे सकता है। संतान की ओर से आपको अच्छी खबर मिल सकती है।

धनु

आपकी राशि से शुक्र सुख भाव में उच्च के हो रहे हैं। परिजनों से संबंध सौहार्दपूर्ण रहने के आसार हैं। इस समय आप जो करना चाहते हैं वह करने में सक्षम हो सकते हैं। स्टूडैंट्स के लिये भी यह समय अनुकूल रहने के आसार हैं। कुछ नया करने की ललक भी आपमें पैदा हो सकती है। कुल मिलाकर शुक्र का यह परिवर्तन आपके लिये काफी सकारात्मक परिणाम लेकर आ सकता है।

मकर

आपकी राशि से शुक्र पराक्रम स्थान में उच्च के होकर गोचर करेंगें। शुक्र के इस परिवर्तन से छोटे भाई बहनों के साथ आपके रिश्ते मधुर रहने के आसार हैं। परफोर्मिंग ड्यूटिज़ को लेकर भी आप काफी एक्टिव रह सकते हैं। छोटी मोटी यात्राओं के योग भी आपको लिये बन रहे हैं जिनके सुखद व लाभकारी रहने की उम्मीद कर सकते हैं। स्वास्थ्य अच्छा रहने के आसार हैं। रोमांटिक लाइफ में आप सब कुछ अच्छा अच्छा फील कर सकत हैं।

कुंभ

शुक्र का परिवर्तन आपकी ही राशि से हो रहा है। धन भाव में उच्च के शुक्र आपकी फाइनेंशियल कंडीशन अच्छी रहने की ओर संकेत कर रहे हैं। यदि पिछले कुछ समय से आप घर या गाड़ी लेने की प्लानिंग कर रहे हैं तो आर्थिक तौर पर इस समय खरीददारी के लिये सक्षम हो सकते हैं। पैतृक संपत्ति से भी आपको लाभ मिलने के आसार हैं।

मीन

शुक्र आपकी ही राशि में आ रहे हैं जहां वे उच्च के माने जाते हैं। रोमांटिक लाइफ में पार्टनर से आपके रिश्ते बेहतर रह सकते हैं। यदि हाल में आप दोनों के बीच कुछ गिले शिकवे रहे हैं तो वह दूर हो सकते हैं। शिक्षा के मामले में भी आपको अच्छे परिणाम मिल सकते हैं। पैसे के मामले में भी आपकी स्थिति बेहतर रह सकती है। घर या गाड़ी लेने का विचार भी बना सकते हैं। आपको इस समय अपेक्षित परिणाम मिल सकते हैं।

यह राशिफल सामान्य ज्योतिषीय आकलन के आधार पर है। कुंडली के अनुसार शुक्र आपके लिये बेनिफिशियल हैं या  हार्मफुल जानने के लिये इंडिया के बेस्ट एस्ट्रोलॉजर्स से गाइडेंस लें।


यह भी पढ़ें

ग्रह गोचर 2018   |   शुक्र ग्रह - कैसे बने भार्गव श्रेष्ठ शुक्राचार्य पढ़ें पौराणिक कथा




एस्ट्रो लेख संग्रह से अन्य लेख पढ़ने के लिये यहां क्लिक करें

शुक्र मार्गी - शुक्र की बदल रही है चाल! क्या होगा हाल? जानिए राशिफल

शुक्र मार्गी - शुक...

शुक्र ग्रह वर्तमान में अपनी ही राशि तुला में चल रहे हैं। 1 सितंबर को शुक्र ने तुला राशि में प्रवेश किया था व 6 अक्तूबर को शुक्र की चाल उल्टी हो गई थी यानि शुक्र वक्र...

और पढ़ें...
वृश्चिक सक्रांति - सूर्य, गुरु व बुध का साथ! कैसे रहेंगें हालात जानिए राशिफल?

वृश्चिक सक्रांति -...

16 नवंबर को ज्योतिष के नज़रिये से ग्रहों की चाल में कुछ महत्वपूर्ण बदलाव हो रहे हैं। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार ग्रहों की चाल मानव जीवन पर व्यापक प्रभाव डालती है। इस द...

और पढ़ें...
कार्तिक पूर्णिमा – बहुत खास है यह पूर्णिमा!

कार्तिक पूर्णिमा –...

हिंदू पंचांग मास में कार्तिक माह का विशेष महत्व होता है। कृष्ण पक्ष में जहां धनतेरस से लेकर दीपावली जैसे महापर्व आते हैं तो शुक्ल पक्ष में भी गोवर्धन पूजा, भैया दूज ...

और पढ़ें...
गोपाष्टमी 2018 – गो पूजन का एक पवित्र दिन

गोपाष्टमी 2018 – ग...

गोपाष्टमी,  ब्रज  में भारतीय संस्कृति  का एक प्रमुख पर्व है।  गायों  की रक्षा करने के कारण भगवान श्री कृष्ण जी का अतिप्रिय नाम 'गोविन्द' पड़ा। कार्तिक शुक्ल ...

और पढ़ें...
देवोत्थान एकादशी 2018 - देवोत्थान एकादशी व्रत पूजा विधि व मुहूर्त

देवोत्थान एकादशी 2...

देवशयनी एकादशी के बाद भगवान श्री हरि यानि की विष्णु जी चार मास के लिये सो जाते हैं ऐसे में जिस दिन वे अपनी निद्रा से जागते हैं तो वह दिन अपने आप में ही भाग्यशाली हो ...

और पढ़ें...