एस्ट्रो लेख

2019 में भारत-प...

भारत की कुंडली वृषभ लग्न की है जिसके स्वामी शुक्र हैं। वृषभ लग्न व लग्नेश शुक्र दोनों को ही स्वभाव से शांत माना जाता है। इसी कारण भारत का स्वभाव भी क्षमाशील है। भारत उग्रता का परिच...

और पढ़ें ➜

साल 2019 में कि...

हर साल नई उम्मीदों का साल होता है, हर साल हम कुछ सपने सजाते हैं, हर साल के बारे में कामना करते हैं कि यह साल हमारी उम्मीदों पर खरा उतरे। सपनों के पंख लगाकर हम अपनी उम्मीदों के आसमा...

और पढ़ें ➜

2019 क्या लायेग...

एक अकेला व्यक्ति हो या भरा पूरा परिवार, एक समुदाय हो या पूरा राष्ट्र हर कोई समाज की बेहतरी की कामना करता है। किसी देश या समाज का विकास तभी माना जाता है जब उस समाज या देश के जीवन स्...

और पढ़ें ➜

माघ मास - इस मा...

माघ एक ऐसा माह जो भारतीय संवत्सर का ग्यारहवां चंद्रमास व दसवां सौरमास कहलाता है। दरअसल मघा नक्षत्र युक्त पूर्णिमा होने के कारण यह महीना माघ का महीना कहलाता है। वैसे तो इस मास का हर...

और पढ़ें ➜

कबीर जयंती 2019...

जहाँ दया तहा धर्म है, जहाँ लोभ वहां पाप । जहाँ क्रोध तहा काल है, जहाँ क्षमा वहां आप ।। सभी संतों और महापुरुषों ने दया और क्षमा को धर्म का मूल माना है। लोभ, मोह, काम, क्रोध अं...

और पढ़ें ➜

षटतिला एकादशी 2...

वैसे तो माघ महीने के हर दिन को पवित्र माना जाता है लेकिन एकादशियों का अपना विशेष महत्व है। हालांकि वर्ष की सभी एकादशियां व्रत, दान-पुण्य आदि के लिये बहुत शुभ होती हैं लेकिन माघ चूं...

और पढ़ें ➜

राशिनुसार कैसे ...

31 दिसंबर की रात को जैसे ही रात्रि के 11 बजकर 59 मिनट और 59 सैकेंड से घड़ियां आगे बढी आसामन में शोरगुल के साथ पटाखों की छिटकती रोशनी दिखाई दी, नए साल के स्वागत में किलकारियों की गू...

और पढ़ें ➜

मंगल का राशि पर...

23 दिसंबर को मंगल अपनी राशि बदल रहे हैं जो कि इस दिन कुंभ राशि से परिवर्तन कर मीन राशि में आ जायेंगें। ऊर्जा के कारक मंगल स्वभाव से पाप ग्रह माने जाते हैं। 6 नवंबर से मंगल कुंभ राश...

और पढ़ें ➜

गीता जयंती 2020...

कर्मण्यवाधिकारस्ते मा फलेषु कदाचन | मा कर्मफलहेतुर्भूर्मा ते सङ्गोSस्त्वकर्मणि ||   मनुष्य के हाथ में केवल कर्म करने का अधिकार है फल की चिंता करना व्यर्थ अर्थात निस्वार्थ भाव से...

और पढ़ें ➜

मोक्षदा एकादशी ...

एकादशी उपवास का हिंदुओं में बहुत अधिक महत्व माना जाता है। सभी एकादशियां पुण्यदायी मानी जाती है। मनुष्य जन्म में जाने-अंजाने कुछ पापकर्म हो जाते हैं। यदि आप इन पापकर्मों का प्रायश्च...

और पढ़ें ➜

कुम्भ मेला 2019...

कुंभ मेला भारत में लगने वाला एक ऐसा मेला है जिसका आध्यात्मिक व ज्योतिषीय महत्व तो है ही इसके साथ-साथ यह सामाजिक-सांस्कृतिक और वर्तमान में आर्थिक-राजनैतिक रूप से भी महत्वपूर्ण होने ...

और पढ़ें ➜

कुम्भ मेले का ज...

भारत में कुम्भ मेले का सामाजिक-सांस्कृतिक, पौराणिक व आध्यात्मिक महत्व तो है ही साथ ही ज्योतिष के नज़रिये से भी यह मेला बहुत अहमियत रखता है। दरअसल इस मेले का निर्धारण ही ज्योतिषीय ग...

और पढ़ें ➜

काल भैरव जयंती ...

भगवान शिव शंकर, भोलेनाथ, सब के भोले बाबा हैं। सृष्टि के कल्याण के लिये विष को अपने कंठ में धारण कर लेते हैं तो वहीं इनके तांडव से सृष्टि में हाहाकार भी मच जाता है और भोले बाबा विना...

और पढ़ें ➜

शुक्र मार्गी - ...

शुक्र ग्रह वर्तमान में अपनी ही राशि तुला में चल रहे हैं। 1 सितंबर को शुक्र ने तुला राशि में प्रवेश किया था व 6 अक्तूबर को शुक्र की चाल उल्टी हो गई थी यानि शुक्र वक्री होकर गोचर करन...

और पढ़ें ➜

तुलसी विवाह - क...

तुलसी का पौधा बड़े काम की चीज है, चाय में तुलसी की दो पत्तियां चाय का स्वाद तो बढ़ा ही देती हैं साथ ही शरीर को ऊर्जावान और बिमारियों से दूर रखने में भी मदद करती है, इसके इन्हीं फाय...

और पढ़ें ➜

मंगल छोड़ रहे ह...

मंगल का गोचर ज्योतिषशास्त्र में बहुत मायने रखता है। राशिचक्र की पहली और आठवीं राशि मेष व वृश्चिक के स्वामी मंगल को ऊर्जा का कारक माना जाता है। 4 मई 2020 से मंगल अपनी उच्च राशि में ...

और पढ़ें ➜

वाल्मीकि जयंती ...

हिन्दू पंचांग के अनुसार आश्विन मास की शरद पूर्णिमा की तिथि पर महर्षि वाल्मीकि का जन्मदिवस ‘वाल्मीकि जयंती’ के नाम से मनाया जाता है| वर्ष 2019 में वाल्मीकि जयंती 13 अक्टूबर को मनाई ...

और पढ़ें ➜

ज्योतिष क्या है?

ज्योतिषां सूर्यादिग्रहाणां बोधकं शास्त्रम् अर्थात सूर्यादि ग्रह और काल का बोध कराने वाले शास्त्र को ज्योतिष शास्त्र कहा जाता है| इसमें मुख्य रूप से ग्रह, नक्षत्र आदि के स्वरूप, संच...

और पढ़ें ➜

गुरु गोचर 2018-...

गुरु का वृश्चिक राशि में गोचर 2018-19 - देव गुरु बृहस्पति 11 अक्तूबर को लगभग 7 बजकर 20 मिनट पर राशि परिवर्तन कर रहे हैं। गुरु का गोचर ज्योतिषशास्त्र में बहुत महत्वपूर्ण माना जाता ...

और पढ़ें ➜

गणेश चतुर्थी -...

गणेश चतुर्थी जिसे कि विनायक चतुर्थी के नाम से भी जाना जाता है, हिन्दु धर्म में एक बहुत ही शुभ पर्व माना जाता है। यह पर्व हिन्दी कैलेन्डर के भाद्रपद मास (अगस्त मध्य से सितम्बर मध्य)...

और पढ़ें ➜