होली ज्योतिषीय उपाय - होली पर लें इंडिया के बेस्ट एस्ट्रोलॉजर्स से गाइडेंस

bell icon Sat, Mar 27, 2021
टीम एस्ट्रोयोगी टीम एस्ट्रोयोगी के द्वारा
होली ज्योतिषीय उपाय - होली पर लें इंडिया के बेस्ट एस्ट्रोलॉजर्स से गाइडेंस

भारत में त्यौहारों के साथ बहुत सारी आस्थाएं बहुत सारी मान्यताएं जुड़ी हुई हैं। कुछ त्यौहारों पर तो घर में सुख-शांति बनाये रखने के लिये विशेष उपाय भी किये जाते हैं। तंत्र-मंत्र, टोटकों से लेकर अनेक सरल उपाय विभिन्न त्यौहारों पर किये जाते हैं। होली भी एक ऐसा ही पर्व है जिसमें प्रेत बाधाओं से लेकर घर में सुख-समृद्धि लाने, संतान से लेकर दांपत्य जीवन सुखद बने रहने सहित मनोमकामनाओं की पूर्ति की कामना की जाती है। हम आपको इस लेख में बता रहे हैं कुछ ऐसे ही सरल उपाय जिन्हें अपनाकर आप अपनी बाधाओं से पार पा सकते हैं।

ऊपर दिये गये उपाय लोक प्रचलित मान्यताओं के आधार पर दिये गये हैं। हमारी सलाह है कि आप एस्ट्रोयोगी पर इंडिया के बेस्ट एस्ट्रोलॉजर्स से इस बारे में गाइडेंस जरुर लें। एस्ट्रोलॉजर्स से कॉल करने के लिये यहां क्लिक करें।

 

होलिका दहन दर्शन है लाभकारी

होलिका दहन का दर्शन जरूर करना चाहिये मान्यता है कि इसके दर्शन से ही राहु-केतु, शनि आदि के दोष शांत हो जाते हैं। वहीं होलिका दहन के समय गोमती चक्र को हाथ में लेकर 21 बार मन ही मन जो भी आपकी कामना है उसे दोहराएं। उसके बाद गोमती चक्र को होलिका में डाल दें और होलिका को प्रणाम कर वापस आयें मान्यता है कि इससे जल्द ही आपकी मनोकामना पूर्ण होती है।

 

होली के दिन करें ज्योतिषीय उपाय

  • होली के समय सर्वप्रथम तांबे के बने सूर्य को घर की पूर्व दिशा पर लगाएं। इससे घर में सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।
  • घर के द्वार पर फूलों के साथ होली के रंगों द्वारा रंगोली बनाएं इससे भी सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।
  • होली के दिन सर्वप्रथम राधाकृष्ण की प्रतिमा पर रंग लगाएं।
  • होली के अवसर पर अपने पितरों की तस्वीर में रंग लगाए और घर में बने पकवान का भोग भी लगाएं। इससे पितरों का आशीष मिलेगा और नकारात्मकता भी खत्म होती है।
  • होलिका दहन के समय अपने पितरों को मिष्ठान या खाद्य पदार्थ में जो भी पसंद हो वो आप अवश्य होलिका दहन में दहन करें।
  • होली के दिन होलिका दहन की राख लाकर उसका घर के प्रत्येक कोने में छिड़काव करें। इससे नकारात्मक शक्तियों का विनाश हो जाता है।
  • घर के द्वार पर पीले कपड़े में थोड़ी सी पीली सरसों और होलिका की राख को बांधकर द्वार के अंदर टांग दें। इससे नकारात्मक शक्तियों का प्रवेश नहीं होगा। 
  • थोड़ी सी होलिका दहन की राख और पीली सरसों लेकर उसको चांदी की छोटी सी डिब्बी में भरकर धन स्थान पर रख दें। इससे बरकत बढ़ेगी।
  • होली के दिन काले रंग के कपड़े न पहने और ना ही काले रंग का उपयोग करें।
  • होली के दिन हरा, लाल, पीला, गुलाबी और केसरिया रंग बहुत शुभ और प्रभावी होता है।
  • होली के दिन मदिरा और मास मछली का सेवन कदापि ना करें। इससे नकारात्मक ऊर्जाओ का प्रभाव बढ़ता है।
  • होलिका के दिन अपने घर में बुजुर्गों के चरणों में रंग लगाए और आशीर्वाद लें। इससे सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह बढ़ता है।
  • होलिका के दिन घर में और अपने कार्य स्थल में भी रंगों का छिड़काव करें।   

 

होली की रात करेगी करामात

होली वाली रात भी बड़ी कारगर मानी जाती है। इसमें भी कार्यसिद्धि के लिये किया जाने वाला एक सरल उपाय है। रात्रि के समय एक काले कपड़े में काली हल्दी व खोपरे में बूरा भरकर इसकी एक पोटली बनाएं। साथ ही आठ गोमती चक्र भी अपने साथ लें। फिर इस पोटली को किसी पीपल के पेड़ के नीचे गड्ढ़ा खोदकर दबा दें व इस पर आटे से बना एक दीपक व धूपबत्ती जलायें। साथ में कोई मिष्ठान भी अर्पित करें तो बेहतर रहता है। अब गोमती चक्रों को पीपल के पेड़ पर रखें व वहां से लौट आयें। ध्यान रखें एक बार मुड़ने के बाद वापस मुड़कर उन्हें नहीं देखना है। इसके पश्चात जब भी शुक्ल पक्ष का आरंभ हो तो शुक्ल पक्ष के प्रथम शनिवार को उसी पीपल के वृक्ष के पास जायें व गोमती चक्रों व दीपक को अपने साथ ले आयें। अब जब तक आपका कार्य सिद्ध नहीं होता तब तक या तो गोमती चक्र अपनी जेब में रखें या किसी रोगी व्यक्ति के सिरहाने। आप देखेंगें कि जो कामना सच्चे मन से आपने की थी वह पूरी होने की संभावानाएं नजर आ रही हैं।

 

अन्य लेख:  होलिका दहन - होली की पूजा विधि और शुभ मुहूर्त   |   होली 2021   |   होली - पर्व एक रंग अनेक   |   फाल्गुन मास के व्रत व त्यौहार   |  ब्रज की होली - बरसाने की लठमार होली   |   क्यों मनाते हैं होली पढ़ें पौराणिक कथाएं   |   क्या है होली और राधा-कृष्ण का संबंध

chat Support Chat now for Support
chat Support Support