KXIP vs DC - किंग्स इलेवन पंजाब vs दिल्ली कैपिटल्स का मैच प्रेडिक्शन

20 अक्तूबर 2020

IPL 2020 38th मैच की प्रेडिक्शन

  • किंग्स इलेवन पंजाब vs दिल्ली कैपिटल्स 
  • तिथि – 20 अक्टूबर 2020
  • स्थान – दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम, दुबई
  • समय – शाम 7:30 बजे (भारतीय समयानुसार), शाम 6:00 बजे (यूएई समयानुसार) 
  • किंग्स इलेवन पंजाब की नाम राशि - मिथुन
  • दिल्ली कैपिटल्स की नाम राशि – मीन

 

एक नजर दोनों टीमों के प्रदर्शन पर

आईपीएल 13वें सीजन के 36वें मुकाबले में एक इतिहास रचा गया। दरअसल  किंग्स इलेवन पंजाब और मुंबई इंडियंस के बीच 2 सुपरओवर खेले गए इसके बाद पंजाब ने मैच अपने नाम कर लिया। वहीं इस टूर्नामेंट में 9 मैच खेलते हुए 6 में हार और 3 में जीत हासिल करते हुए पंजाब सातवें नंबर पर काबिज है। जबकि दूसरी ओर आईपीएल 2020 में शानदार प्रदर्शन करने वाली दिल्ली कैपिटल्स ने 34वें मुकाबले में चेन्नई सुपर किंग्स को 5 विकेट से मात देते हुए अंकतालिका में 14 अंक हासिल करके पहला स्थान पाया हुआ है। अब 20 अक्टूबर को दुबई में दिल्ली का सामना पंजाब से होने जा रहा है। ऐसे में यह देखना दिलचस्प होगा कि क्या पंजाब अपने जीत की लय को बरकरार रखेगी या दिल्ली उसके विजय रथ को थाम देगी? फिलहाल ज्योतिषीय आकलन के आधार पर हम आपको बताते हैं कि कौन सी टीम के जीतने के आसार अधिक हैं?

 

किंग्स इलेवन पंजाब की कुंडली

बहरहाल एस्ट्रोयोगी ज्योतिषी द्वारा की गई ज्योतिषीय भविष्यवाणी की मदद से जानते हैं कि इस मैच का परिणाम क्या रहने वाला है। दरअसल किंग्स इलेवन पंजाब के नाम के पहले अक्षर से देखें तो इस टीम की नाम राशि मिथुन बनती है जिसके स्वामी बुध हैं। इंडियन प्रीमियर लीग के इस मैच की शुरुआत 20 अक्टूबर 2020 को शाम 06 बजे से दुबई में हो रही है। समय व स्थान के अनुसार राशि स्वामी बुध इनकी राशि से सप्तम स्थान में विराजमान हैं। किंग्स इलेवन पंजाब के लिये बाकी तो सब ठीक है लेकिन टीम की राशि स्वामी बुध का सप्तम स्थान में वक्री होना टीम के लिए अच्छा नहीं कह सकते उनकी मुश्किलें बढा सकता है।

 

अंक ज्योतिष से भी देखें तो Kings XI Punjab के नाम इस्तेमाल हुए सभी अंग्रेजी वर्णों का योग करने पर हमें अंक 7 प्राप्त हो रहा है। वहीं इसके संक्षिप्त नाम (KXIP) के वर्णों का योग भी 7 ही है। 7 अंक के स्वामी केतु हैं जो कि इनकी नाम राशि से सातवें ही स्थान में गुरु के साथ विराजमान हैं। ऐसे में किंग्स इलेवन पंजाब के लिये इस मैच में जगह बनाना आसान रहने वाला नहीं हैं। टीम अगर पूरे जी जान से मैदान में उतरती है तो किस्मत  साथ दे सकती है। मुख्यत: टीम को अपने खिलाड़ियों की सेहत पर ध्यान देने की आवश्यकता रहेगी। 

 

दिल्ली कैपिटल्स की कुंडली 

दिल्ली कैपिटल्स की नाम राशि मीन बनती है। मीन का स्वामी गुरु का गोचर में धनु राशि में बैठना दिल्ली के लिए शुभ है। अच्छी शुरूआत और अंत में विजय मिलने का योग भी बना रहा है । पंचम घर का स्वामी सूर्य का सप्तम घर में आना व पराक्रम को देखना अच्छा कह सकते हैं। वहीं अंक ज्योतिष में देखे तो वर्णों के योग से मूलांक 6 प्राप्त होता है जो कि शुक्र का अंक है और लघु नाम(KXIP) का अंक 7 बनता है जो कि केतु का अंक माना जाता है। यह संयोग भी टीम के लिये योग अच्छे बना रहा है बस संतुलन बनाकर चलने की आवश्यकता रहेगी। 2012 के बाद से टीम को अंतिम चार तक में पंहुचने का मौका नहीं मिला है। इस बार टीम के अंदर सब ठीक-ठाक रहा तो फाइनल तक पहुंचने की उम्मीद की जा सकती है।

 

वहीं दिल्ली कैपिटल्स के कप्तान  श्रेयस अय्यर की जन्म तिथि और जन्म समय(12 बजे) के अनुसार उनकी राशि कुंभ है। जिसका स्वामी शनि केंद्र में बैठकर एक अच्छा साथ सहयोग देने वाला होगा। शनि का दृष्टि संबंध अपरोक्ष होने के कारण उनकी खेल भावना पर असर तो नहीं पड़ेगा लेकिन टीम का साथ न मिलने के कारण समय समय पर मायूसता भी नजर आएगी। चंद्रमा का 12वें भाव में बैठना भी चिंताग्रस्त बना देता है। मन में कई प्रकार की चिंताएं रहेंगी पर खेल पर इसका असर नहीं पड़ेगा। जन्मतिथि को देखा जाए तो श्रेयस अय्यर का मूलांक 6 है जिसका संबंध शुक्र से होता है । शुक्र शुभ ग्रह माना जाता है। सुख का कारक भी होता है। मूलांक के अनुसार भी इनका शुभ योग बन रहा है। जन्मतिथि के अनुसार भाग्यांक 5 है जो बुध का अंक है, जो बुद्धि को शिथिल बनाने वाला होता है। कहीं गलत मौके पर भी बुद्धि का प्रयोग करके पराजय को विजय में बदलने का योग माना जाता है।

 

कुल मिलाकर दोनों टीमों का आकलन करने पर मैच टक्कर का रहने वाला है लेकिन जीतने के आसार दिल्ली कैपिटल्स के नज़र आ रहे हैं। हालांकि क्रिकेट को अनिश्चितताओं का खेल कहा जाता है, इसलिए ये तो वक्त ही बताएगा कि कौन जीत का स्वाद चखेगा।

 

एस्ट्रो लेख

पितरों के मोक्ष प्राप्ति के लिए रखें चैत्र अमावस्या व्रत

शुक्र का मेष राशि में गोचर – क्या होगा असर आपकी राशि पर !

क्या आप भी जन्मे हैं अप्रैल महीने में? तो जानिए अपना स्वभाव

पापमोचिनी एकादशी 2021 - जानें व्रत तिथि व पूजा विधि

Chat now for Support
Support