श्रेयस अय्यर (दिल्ली कैपिटल्स)

श्रेयस अय्यर (Shreyas Iyer) एक उभरते हुए युवा खिलाड़ी हैं जिन्होंने बहुत कम समय में अपनी बल्लेबाजी से अपनी पहचान कायम की है। आईपीएल के इस टी-20 फ़ॉर्मेट में तो वे और भी लोकप्रिय हैं। आईपीएल की बात करें तो अय्यर ने 2015 में खेलना शुरु किया था। अब तक खेले गये 62 मैच में उन्होंने 30.56 के औसत से 1681 रन बनाए हैं जिसमें 13 अर्धशतकीय पारियां भी शामिल हैं। आईपीएल (IPL) में इनका बेस्ट स्कोर 96 रन का है। आईपीएल के 12वें सीजन में अय्यर को दिल्ली कैपिटल्स की कमान सौंपी गई थी। जिसके बाद दिल्ली कैपिटल्स ने 12वें सीजन में प्लेऑफ में अपनी जगह बनाई थी।  अय्यर की कप्तानी में दिल्ली कैपिटल्स ने 24 मैच खेले थे और 14 मैचों में जीत हासिल हुई थी। वहीं इस बार आईपीएल 2020 में देखना होगा कि दिल्ली कैपिटल्स की टीम के लिए अय्यर की किस्मत कितनी मेहरबान होती है? 

श्रेयस अय्यर की कुंडली 

1

नाम -

श्रेयस अय्यर

2

जन्मतिथि -

6 दिसंबर 1994

3

सूर्य राशि -

धनु

4

नाम राशि -

कुंभ

5

मूलांक -

6

6

भाग्यांक -

5

7

आईपीएल (IPL) 2020 की ऑपनिंग -

19 सितंबर 2020

8

स्थान -

यूएई

9

समय -

सायं 5:30 बजे


श्रेयस अय्यर की सूर्य राशि धनु है, जिसका स्वामी बृहस्पति अभी गोचर में अपने घर में बैठा है जो योगकारी माना जाता है। बृहस्पति बुद्धि ज्ञान विवेक का कारक माना जाता है। कई फैसले ये अपने ज्ञान, विवेक से भी लेंगे। आईपीएल का 13वां संस्करण इनके लिए बहुत फलदायी रहेगा। क्योंकि सूर्य का बुध के साथ खेल स्थान में एक योग बनाना इनके लिए और करियर के लिए एक अच्छा परिणाम देने वाला होगा। पराक्रम का स्वामी भी केंद्र में आकर योग बना रहा है लेकिन शनि की दृष्टि पड़ने के कारण एक विस्फोट योग बन जाता है। जोश, जुनून रहेगा लेकिन कभी-कभी टीम का सहयोग ना मिलने का कारण पराजय का सामना भी करना पड़ सकता है। 

बुद्धि का कारक बुध सूर्य के साथ अस्त हो गया है जिसके कारण बुद्धि कभी कभी साथ नहीं देगी और फैसले गलत हो सकते है और परिणाम भी अच्छा नहीं मिलेगा। खेल का कारक मंगल भी 4 डिग्री पर बैठा है जो बलहीन हो गया है। कहीं जोश, जुनून में साथ ना मिलने के कारण लक्ष्य तक पहुंचने में बाधाएं आएंगी।

नाम के मुताबिक श्रेयस अय्यर (Shreyas Iyer) की राशि कुंभ है। जिसका स्वामी शनि केंद्र में बैठकर एक अच्छा साथ सहयोग देने वाला होगा। शनि का दृष्टि संबंध अपरोक्ष होने के कारण अपनी खेल भावना पर असर तो नहीं पड़ेगा लेकिन टीम का साथ न मिलने के कारण समय समय पर मायूसता भी नजर आएगी। चंद्रमा का 12वें भाव में बैठना भी चिंताग्रस्त बना देता है। मन में कई प्रकार की चिंताएं रहेंगी पर खेल पर इसका असर नहीं पड़ेगा। 

जन्मतिथि को देखा जाए तो श्रेयस अय्यर का मूलांक 6 है जिसका संबंध शुक्र से होता है । शुक्र शुभ ग्रह मान जाता है। सुख का कारक भी होता है। मूलांक के अनुसार भी इनका शुभ योग बन रहा है। जन्मतिथि के अनुसार भाग्यांक 5 है जो बुध का अंक है, जो बुद्धि को शिथिल बनाने वाला होता है। कहीं गलत मौके पर भी बुद्धि का प्रयोग करके पराजय को विजय में बदलने का योग माना जाता है।


आपकी कुंडली में कौन सा दोष है इसे जानने के लिये आप एस्ट्रोयोगी पर देश के प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्यों से परामर्श कर सकते हैं। अभी बात करने के लिये यहां क्लिक करें।

Chat now for Support
Support