लगने जा रहा है साल का अंतिम चंद्र ग्रहण, इन राशियों को रहना होगा सतर्क।

16 नवम्बर 2021

ज्योतिषी शास्त्र में चंद्र ग्रहण को अत्यंत महत्वपूर्ण माना गया है जो व्यक्ति के जीवन के हर क्षेत्र को प्रभावित करता है। नवंबर में साल का अंतिम चंद्र ग्रहण लगने जा रहा है, कब है चंद्र यह ग्रहण? कैसे होगा इसका आपकी राशि पर असर? जानें। 

 

चंद्र ग्रहण सदैव पूर्णिमा तिथि पर लगता है जब पृथ्वी, सूर्य और चंद्रमा के बीच एक ही धुरी पर आ जाती है। अगर सरल शब्दों में कहें तो, जब चंद्रमा और सूर्य ग्रह विपरीत पहलू के साथ राहु-केतु के अंतर्गत आते हैं तब ग्रहण योग का निर्माण होता हैं। सूर्य और चंद्रमा की नकारात्मक स्थिति चेतन और अवचेतन मन के बीच असंतुलन पैदा करती है, जिसके परिणामस्वरूप मानसिक बेचैनी, चिंता और घबराहट में वृद्धि होती हैं।

इस समय शुक्र ग्रह की राशि वृषभ में चंद्रमा रहेगा। यह ग्रह संतुलन, संबंध, धन, प्रेम आदि का प्रतिनिधित्व करता है। अत: विरोधी पक्ष में होने के कारण यह सभी क्षेत्रों को प्रभावित कर सकता है। हमें संतुलन बनाने का प्रयास करना होगा, साथ ही उन चीजों को नजरअंदाज करना होगा जो इस अवधि में समस्याएं उत्पन्न कर सकती हैं।

चंद्र ग्रहण 19 नवंबर 2021 को लगेगा। यह सुबह 11:30 बजे शुरू होगा और शाम 5:33 बजे तक चलेगा। यह चंद्र ग्रहण कृतिका नक्षत्र में वृषभ राशि में कार्तिक पूर्णिमा पर लगेगा।

भारत में चंद्र ग्रहण केवल अरुणाचल प्रदेश और असम में आंशिक रूप में देखा जाएगा। सूतक काल भारत के केवल दो ही राज्यों में लागू होगा। अन्य क्षेत्रों में सूतक काल मान्य नहीं होगा। भारत के अलावा, चंद्र ग्रहण कनाडा सहित ऑस्ट्रेलिया, उत्तर-पश्चिम अफ्रीका, उत्तरी और दक्षिणी अमेरिका में देखा जा सकता है।

 

आइए जानते है कि यह ग्रहण 12 राशियों को कैसे प्रभावित करेगा?

 

मेष राशि

चंद्र ग्रहण का प्रभाव दूसरे भाव पर पड़ेगा। आर्थिक नुकसान की संभावना है। किसी दोस्त या रिश्तेदार को आर्थिक मदद देने से बचें, क्योंकि इससे आपके संबंध खराब हो सकते हैं। संतुलन बनाए रखने और स्पष्ट संचार करने का प्रयास करें, जिससे आपके रिश्ते प्रभावित न हो सकें।

 

वृषभ राशि

चंद्र ग्रहण आपके प्रथम भाव को प्रभावित करेगा। आप उदास, तनावग्रस्त महसूस कर सकते हैं और अज्ञात भय आपको परेशान कर सकता है। सुनिश्चित करें कि आप अपनी पसंद की गतिविधियों में शामिल होकर अपने दिमाग को शांत करने का प्रयास करें।

 

मिथुन राशि

चंद्र ग्रहण आपके 12वें भाव में है; सोते समय आपको बेचैनी का सामना करना पड़ सकता है। अप्रत्याशित खर्चों में वृद्धि हो सकती है, जो आपके मासिक बजट को प्रभावित कर सकता है। इस दिन आपको दान करना चाहिए।

 

एस्ट्रो डी राणा से विस्तृत व्यक्तिगत भविष्यवाणी प्राप्त करने के लिए कॉल करें।

 

कर्क राशि

चंद्र ग्रहण आपके ग्यारहवें भाव को प्रभावित करेगा। आपको शुभ समाचार मिल सकता है, लेकिन दूसरी तरफ, आपको दोस्तों के साथ विवाद का सामना करना पड़ सकता है। आपका सामाजिक जीवन नकारात्मक रूप से प्रभावित हो सकता है और भावनाओं को प्रतिबंधित किया जा सकता है।

 

सिंह राशि

चंद्र ग्रहण आपके दसवें भाव को प्रभावित करेगा। यह व्यक्तिगत और व्यावसायिक जीवन में असंतुलन पैदा करेगा; कोई भी कदम उठाने से बचें क्योंकि इससे आपको नुकसान हो सकता है। इस स्थिति से बचने के लिए तनावमुक्त और शांत रहने का प्रयास करें।

 

कन्या राशि

आपके नवम भाव में चंद्र ग्रहण है। आप परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल की योजना बना सकते हैं। अगले 3 से 4 दिनों तक वीजा या पीआर सम्बंधित कार्यों को करने से बचें।

 

ये भी देखे  👉   ग्रह गोचर 2021➔  वक्री ग्रह 2021

 

तुला राशि

चंद्र ग्रहण आपके आठवें भाव को प्रभावित करेगा। आपको अपने निवेश से अप्रत्याशित लाभ प्राप्त हो सकता है। वाहन चलाते समय या यात्रा करते समय सावधानी बरतें।

 

वृश्चिक राशि

चंद्र ग्रहण आपके सातवें भाव को प्रभावित करेगा। वैवाहिक जीवन में समस्या का सामना करना पड़ सकता है। इस समय आप अपने व्यावसायिक सहभागी के साथ मनमुटाव से बचें, क्योंकि ये क्षतिग्रस्त या टूट सकता हैं।

 

धनु राशि

चंद्र ग्रहण आपके छठे भाव को प्रभावित करेगा। यदि आपने हाल ही में कोई साक्षात्कार दिया हैं, तो नौकरी मिलने की संभावना है, जिसका आप लंबे समय से इंतजार कर रहे थे। धन हानि हो सकती है। आपको अपच की समस्या का सामना करना पड़ सकता है, इसलिए संतुलित आहार लें।

 

मकर राशि 

चंद्र ग्रहण आपके पंचम भाव को प्रभावित करेगा। यदि आप शेयर बाजार में हैं तो सावधान रहें, अन्यथा भारी नुकसान हो सकता है। कुछ गतिविधियों में शामिल होना जैसे खेलना या बागवानी करना आदि आपको आराम दे सकता है।

 

कुंभ राशि

चंद्र ग्रहण आपके चौथे भाव को प्रभावित करेगा। आप बिना किसी कारण के चिंतित और तनावग्रस्त महसूस करेंगे। इसलिए सुनिश्चित करें कि आप अपनी मां के साथ कुछ समय बिताएं, इससे आपको शांति महसूस होगी। गायत्री मंत्र का जाप करें। इससे आपको सकारात्मकता की प्राप्ति होगी।

 

मीन राशि

चंद्र ग्रहण आपके तीसरे भाव को प्रभावित करेगा। आप दबाव महसूस कर सकते हैं। इस दिन साक्षात्कार के लिए कोई समय निर्धारित करने से बचें। यदि आवश्यक न हो तो किसी भी यात्रा से बचने का प्रयास करें।

 

✍️ By- एस्ट्रो डी राणा

 

सूर्य का वृश्चिक राशि में प्रवेश | बुध ग्रह का तुला राशि में गोचर

Chat now for Support
Support