इन पांच राशियों के पुरूष होते हैं, मिस्टर परफेक्ट

इन पांच राशियों के पुरूष ऐसे होते हैं जो अपनी जीवनसंगनी की सारी उम्र ख्याल रखते हैं और उनकी हर छोटी से छोटी जरूरत को पूरा करते हैं। अगर किसी स्त्री की विवाह इन राशियों में से किसी एक राशि के पुरूष से होती है तो वो बहुत ही भाग्यशाली हैं और उसे पूरी उम्र पति का प्यार और सम्मान मिलता है। वे कौन -सी खास राशियां हैं आइए हम आपको बताते हैं इनके बारे में कुछ ख़ास बातें....

वो राशियां जिनके जातक होते हैं मिस्टर परफेक्ट

कर्क राशि के जातक 

जब चर्चा मिस्टर परफेक्ट की हो तो कर्क राशि के जातकों का कोई तोड़ नहीं है। इस राशि के जातक उत्तम व श्रेष्ट पति होते हैं। सभी राशियों के मुकाबले इस राशि के जातक सबसे अच्छे हमसफर साबित होते हैं। इस राशि के जातक अपने वचन का पालन करने से बिल्कुल भी पीछे नहीं हटते। कर्क राशि के जातक जिससे प्रेम करते हैं, उनके लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध और बहुत ही वफादार होते है। इसीलिए इनके साथ रिश्ता बहुत लंबे समय तक चलता है। कर्क राशि के जातकों का स्मार्ट लुक, बोलने का अंदाज, आकर्षक व्यक्तित्व और इनका सदैव सकारात्मक व्यवहार करना, इन्हें बेहतर जीवनसाथी बनाता है। इस राशि के जातकों की सबसे अच्छी बात तो यह है कि इनका यह अंदाज जीवन भर ऐसा ही रहता है, ये कभी किसी के लिए नहीं बदलते हैं। 

तुला राशि के जातक

इस राशि के जातकों में केयरिंग स्वभाव और बेहतर जीवनसाथी के सभी गुण पाये जाते है। इन्हें अपनी पत्नी का ख्याल रखना, एक बच्चे की तरह उसकी देखभाल करना, उसके लिए छोटे-छोटे सरप्राइज तैयार करना बखूबी आता है। ये सभी बातें इस राशि के जातकों को एक बेहतर जीवनसाथी बनाती है। तुला राशि के जातकों से ज्यादा प्यार और रोमांस में अन्य किसी भी राशि के जातक आगे नहीं निकल सकते। ये अपने साथी की भावनाओं को बखूबी समझते हैं और उनका हर हाल में सम्मान करते हैं। तुला राशि के जातक अपनी साथी की छोटी- छोटी खुशियों का बहुत ही ख्याल रखते हैं।

वृश्चिक राशि के जातक 

वृश्चिक राशि के जातक अपने आकर्षक व्यक्तित्व के लिए जाने जाते हैं। इनका सेंस ऑफ ह्यूमर गजब का होता है और ये हर परिस्थिति का सामना करना जानते हैं। परंतु इनकी सबसे बड़ी खूबी इनकी वफादारी और वचन के प्रति प्रतिबद्धता है। ये हर परिस्थिति में अपनी जीवनसंगनी का साथ देते हैं। वृश्चिक राशि के जातक अपनी पत्नी को प्रसन्न करने का पूरा प्रयास करते हैं और अक्सर उपहार देकर उन्हें खुश रहते हैं। कैसा होगा आपका मिस्टर परफेक्ट ? क्या है आपकी कुंडली में मिस्टर परफेक्ट पाने का योग ? जानें देश के प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्यों से। अभी बात करने के लिये लिंक पर क्लिक करें।

मीन राशि के जातक

जो भी युवती अपने लिए 'आउट ऑफ द बॉक्स' यानी क्रिएटिव और एंटरटेनिंग पति चाहती हैं। वो मीन राशि के जातकों से विवाह कर सकती हैं। ये बहुत ही बेहतर जीवनसाथी होते हैं। इन्हें पता होता है कि उनकी पत्नी उनके किस बात से खुश होगीं और किस बात पर नाराज़। मीन राशि के पुरूष अपनी संगनी का सम्मान करते हैं। उनके लिए कुछ भी कर गुजरने को तैयार रहते हैं। इस राशि के जातक अपनी पत्नी का छोटा -सा भी दुख बर्दाश्त नहीं कर पाते हैं।

मकर राशि के जातक

मकर राशि के जातक फैंटसी की इच्छा नहीं रखते हैं। वो वर्तमान से ज्यादा भविष्य के बारे में सोचते हैं। इस तरह के जीवनसाथी अपने व्यक्तिगत जीवन और प्रोफेशनल लाइफ को बैलेंस करके चलने वाले होते हैं। ये अपने साथी के इच्छाओं का भी ध्यान रखते हैं। यदि आप कल्पना और फैंटेसी पसंद करती हैं तो फिर आपको इस राशि के जातकों से दूर ही रहना चाहिए। लेकिन भविष्य सुरक्षित रखना है तो मकर राशि के जातक से विवाह कर सकती हैं।

यह भी पढ़ें 

प्रेमियों के लिये कैसा रहेगा 2019   |   कुंडली में प्रेम योग   |   कुंडली में विवाह योग   |   कुंडली में संतान योग

प्यार की पींघें बढानी हैं तो याद रखें फेंग शुई के ये लव टिप्स   |   जानिये, दाम्पत्य जीवन में कलह और मधुरता के योग

चॉकलेट डे  |   प्रपोज डे   |   टैडी डे   |   वैलेंटाइन वीक   |   प्रोमिस डे   |   हग डे   |   किस डे   |   वैलेंटाइन डे   |   क्यों मिलता है प्रेम में बार बार धोखा

 पढ़ें अपनी प्रेम प्रोफाइल   |   पढ़ें साल की लव रिपोर्ट   |   दैनिक लव राशिफल   |   

एस्ट्रो लेख

शुक्र का सिंह र...

ऊर्जा व कला के कारक शुक्र माने जाते हैं। शुक्र जातक के किस भाव में बैठे हैं यह बहुत मायने रखता है। शुक्र के हर परिवर्तन के साथ जातक की कुंडली में शुक्र की स्थिति में भी बदलाव आता ह...

और पढ़ें ➜

विदेश जाने का य...

क्या आपको पता है कि आपके विदेश जाने राज आपके हथेली में छुपा है? क्या आप इस बात को मानते है कि हमारे हथेलियों की लकीर में छिपा है हमारे किस्मत का राज? यदि जवाब हां में है तो ठीक यदि...

और पढ़ें ➜

भाद्रपद - भादों...

हिन्दू पंचांग के अनुसार साल के छठे महीने को भाद्रपद अथवा भादों का महीना कहा जाता है। ये श्रावण माह के बाद और आश्विन माह से पहले आता है। सावन शंकर का महीना है तो भादों श्रीकृष्ण का ...

और पढ़ें ➜

भाई की सुख समृद...

हिंदू धर्म में कई तरह के रीति-रिवाज और परंपराएं विद्यमान है। दुनियाभर में भारत को त्योहारों का देश कहा जाता है, यहां आए दिन कोई न कोई पर्व मनाया जाता है। वहीं किसी भी तीज-त्योहार क...

और पढ़ें ➜