कर्क राशि में मंगल गोचर – नीच के मंगल कर सकते हैं अमंगल

31 मई 2021

मंगल युद्ध के देवता, असीम ऊर्जा के प्रतिनिधि, राशिचक्र की पहली राशि मेष व आठवीं राशि वृश्चिक के स्वामी, जिन्हें भूमिपुत्र माना जाता है, भौमेय कहा जाता है। कुंडली में मंगल अमंगल के कारक भी बन जाते हैं। ज्योतिषशास्त्र में मंगल का गोचर बहुत मायने रखता है इसलिये मंगल ग्रह की हर गतिविधि को विद्वान ज्योतिषाचार्य बहुत महत्वपूर्ण मानते हैं। 02 जून 2021 की सुबह 06 बजकर 49 मिनट पर मंगल का राशि परिवर्तन होगा। इस समय मंगल मिथुन राशि से कर्क में आ जायेंगे। कर्क राशि में मंगल को नीच का माना जाता है इससे लगभग सभी राशियों पर किसी न किसी रूप में नकारात्मक प्रभाव पड़ने के आसार हैं। ऐसे में मंगल का कर्क राशि में प्रवेश करना सभी 12 राशियों को कैसे प्रभावित करेगा, आइये जानते हैं।

 

मंगल के कर्क राशि में आने से कैसे रहेंगें हालात?

 

मेष राशि

मेष राशि वालों के लिए मंगल का परिवर्तन चौथे घर में हो रहा है। मंगल का यह गोचर आपको मिले-जुले फल देगा। इस दौरान आपको अपने माता-पिता के स्वास्थ्य का बहुत ध्यान रखना चाहिए क्योंकि वे कुछ स्वास्थ्य समस्याओं से ग्रस्त हो सकते हैं। आपका जीवनसाथी कुछ कारणों से आपसे नाराज हो सकता है। यदि आप अपनी समस्याओं का समाधान करना चाहते हैं तो उनसे बहस ना करें। वहीं नौकरीपेशा अपने पेशेवर जीवन में उत्कृष्टता प्राप्त करेंगे। इस गोचर काल में आपको अधिक ऊर्जा मिलेगी और आप अपने काम को अधिक सही ढंग से पूरा करने में सक्षम होंगे। इसके अलावा कुछ जातकों के वेतन में वृद्धि हो सकती है। 

 

वृषभ राशि

मंगल वृषभ राशि के जातकों के तीसरे भाव में गोचर करेंगे। इस भाव में मंगल के गोचर से आपके संकल्प में वृद्धि होगी और आप अधिक विचारशील और कल्पनाशील होंगे। चूंकि किसी भी चीज की अधिकता गलत है, इसलिए आपको सावधान रहने की सलाह दी जाती है। आपके छोटे भाई-बहनों की सेहत भी इस दौरान खराब हो सकती है। इसलिए उनकी सेहत का विशेषतौर पर ध्यान रखें। आपके जीवनसाथी को व्यावसायिक सफलता मिलेगी। इसके अलावा, समाज में आपकी स्थिति में सुधार होगा और आप अपने प्रतिद्वंद्वियों पर काबू पाने में सक्षम होंगे।

 

मिथुन राशि

मिथुन राशि में मंगल का गोचर हो रहा है और यह दूसरे भाव में स्थित है। नतीजतन, यह गोचर आपकी वाणी में कठोरता और खुरदरापन ला सकता है। यदि आप वैवाहिक संबंध में हैं तो आपका जीवनसाथी आपसे नाराज़ हो सकता है। आपका आक्रामक व्यवहार आपके परिवार के सदस्यों को दुखी कर सकता है। वहीं दूसरी ओर इस गोचर के दौरान आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत रहेगी। फिर भी, आपको सलाह दी जाती है कि आप अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखें क्योंकि आपका दुर्व्यवहार दूसरों को मानसिक तनाव दे सकता है।

 

कर्क राशि

मंगल का गोचर आपके प्रथम भाव या लग्न में होगा। इस दौरान आपकी सेहत खराब हो सकती है और कुछ छोटी-छोटी बातों से आप आहत हो सकते हैं क्योंकि आपके व्यक्तित्व का भावनात्मक पक्ष सबसे आगे रहेगा। इस दौरान अहंकार और क्रोध जैसे विकार पनपेंगे। अपने जीवन साथी से बात करते समय अपनी बातों पर ध्यान दें, क्योंकि ये बातें आप दोनों के बीच हाथापाई का कारण हो सकती हैं। कर्क राशि के जातकों को पेशेवर सफलता मिलेगी क्योंकि उनके प्रयासों को दूसरों द्वारा पहचाना जाएगा।

 

सिंह राशि

सिंह राशि के जातकों के लिए मंगल का गोचर बारहवें भाव में होगा जिसके फलस्वरूप आपको विदेश में काम करने या उच्च शिक्षा प्राप्त करने का मौका मिल सकता है। फिर भी, जो जातक पहले से ही विदेश में बसे हुए हैं, उन्हें कुछ कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है। यदि आप किसी कानूनी मामले में शामिल हैं, तो निर्णय आपके पक्ष में होगा। इसके विपरीत आपकी आर्थिक स्थिति स्थिर नहीं रह सकती है। धन व्यय की वजह से आपके तनाव का स्तर बढ़ जाएगा। दाम्पत्य जीवन को लेकर सावधान रहें क्योंकि आपके जीवनसाथी का स्वास्थ्य बिगड़ सकता है।

 

कन्या राशि

जब मंगल का गोचर आपके एकादश भाव में होगा तो आपको निश्चित रूप से जीवन के कुछ पहलुओं में अच्छा लाभ मिल सकता है। वित्तीय समस्याएं अब आपको परेशान नहीं करेंगी, और आपके खाते में धन का प्रवाह निरंतर बना रहेगा। आप अपने जीवन के अन्य पहलुओं के प्रति चौकस रहेंगे क्योंकि आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। फिर भी, कुछ कन्या राशि के जातकों को अपने वैवाहिक बंधन में कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। जो लोग प्यार में हैं उन्हें अपने पार्टनर के प्रति वफादार रहने की सलाह दी जाती है। सामाजिक मोर्चे पर आपको अच्छे परिणाम प्राप्त होंगे और आप अपने दोस्तों के साथ किसी यात्रा पर जा सकते हैं।

 

तुला राशि

तुला राशि के जातकों के दशम भाव में मंगल का गोचर होगा। मंगल के प्रभाव के कारण आप आक्रामक हो सकते हैं इसलिए इस दौरान आप अपनी बातों पर ध्यान दें। नौकरी करने वालों को अपने पेशेवर जीवन में सकारात्मक परिणाम देखने को मिलेंगे। आपके बॉस आपकी सराहना करेंगे और आपको प्रमोशन मिल सकता है। परिवार के सदस्यों की बातें आपके परिवार में दरार पैदा कर सकती हैं। अपने स्वास्थ्य को प्राथमिकता दें। प्यार करने वालों को इस दौरान मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है।

 

वृश्चिक राशि

मंगल का गोचर आपकी राशि के नवम भाव में होगा, जिसके परिणामस्वरूप आपको सफलता प्राप्त करने के लिए कड़ा संघर्ष करना होगा। आपके पिता के साथ आपके संबंध खराब हो सकते हैं और उनका स्वास्थ्य अस्थिर रहेगा। अपने भाई-बहनों से बात करते समय अहंकारी न बनें क्योंकि उनके साथ आपके संबंध कटु होने की संभावना है। धार्मिक मामलों में आपका रुझान कम रहेगा। इस गोचर के दौरान आप छोटी दूरी की यात्रा का आनंद ले सकते हैं।

 

धनु राशि

मंगल का गोचर आपकी राशि के आठवें भाव में होगा। इस गोचर के परिणामस्वरूप आपको जीवन में चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। आप देखेंगे कि कुछ लोग आपकी बातों का गलत अर्थ निकाल रहे हैं। यह स्थिति आपके मनोबल को कम करेगी, लेकिन आप अपनी परिस्थितियों को सफलतापूर्वक संभालने में सफल रहेंगे। अपने स्वास्थ्य का बहुत ध्यान रखें। आपके वैवाहिक जीवन में भी विवाद उत्पन्न हो सकता है। अपने पिता के स्वास्थ्य का ख़्याल रखें। इसके अलावा वाहन चलाते समय यातायात नियमों का पालन करें।

 

मकर राशि

मंगल का गोचर आपके सातवें भाव में होगा। यह गोचर आपके जीवन में चुनौतियां खड़ी कर सकता है। इसलिए, यदि आप इस दौरान अपने स्वभाव पर नज़र रखते हैं तो यह मदद करेगा। अपने जीवनसाथी के साथ झगड़ों या हाथापाई से बचने के लिए उनसे विनम्रता से बात करें। कार्यक्षेत्र पर आपको अपनी मेहनत के बाद सफलता मिलेगी। जो विद्यार्थी हैं उन्हें अपने दोस्तों से दूरी बनाकर रखनी चाहिए क्योंकि इससे उनकी पढ़ाई पर बुरा असर पड़ेगा। यदि आप अविवाहित हैं, तो आप विपरीत लिंग के प्रति आकर्षित होंगे।

 

कुंभ राशि

कुंभ राशि के छठे भाव में मंगल गोचर करेगा। इसलिए आपको सलाह दी जाती है कि दूसरे लोगों के मामले में दखल देने से बचें क्योंकि इससे आपके जीवन पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है। कार्यस्थल पर आपका प्रदर्शन सामान्य रहेगा। आप अपने प्रतिद्वंद्वियों को सफलतापूर्वक मात देने में सक्षम होंगे। आपका पारिवारिक जीवन समान रहेगा, लेकिन आपके वैवाहिक जीवन में कुछ मतभेद पैदा हो सकते हैं। इस दौरान आपके जीवनसाथी की सेहत बिगड़ सकती है। ख़र्चों में बढ़ोतरी से आपको मानसिक तनाव रहेगा।

 

मीन राशि

मंगल का गोचर मीन राशि के जातकों के पांचवे भाव में होगा। इस गोचर के दौरान आपके बच्चे को कुछ स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। इसलिए आपको सलाह दी जाती है कि आप उनकी अच्छी तरह से देखभाल करें। जो लोग नौकरी में हैं उन्हें अपने पेशेवर जीवन में शुभ परिणाम मिल सकते हैं और इस गोचर के दौरान उनकी आय में वृद्धि हो सकती है। वहीं दूसरी ओर छात्रों के लिए यह समय अनुकूल नहीं रहेगा क्योंकि वे अपनी पढ़ाई पर कम ध्यान देंगे। फिर भी, इस राशि के कुछ जातकों को विदेश में उच्च शिक्षा प्राप्त करने का मौका मिल सकता है। अगर आप किसी से प्यार करते हैं तो इस समय उन्हें प्रपोज न करें।

 

यह भी पढ़ें:   

मंगल महादशा   |   मांगलिक दोष   |   युद्ध देवता मंगल का कैसे हुआ जन्म पढ़ें पौराणिक कथा । ग्रह गोचर 2021   |    मंगल गोचर 2021

 

Chat now for Support
Support