वक्री मंगल किसे करेंगें खुशहाल तो कौन होगा बदहाल? जानिए

02 अक्तूबर 2020

 मंगल  04 अक्टूबर 2020 को सुबह 09 बजकर 10 मिनट पर मीन राशि में गोचर कर रहे हैं। मंगल लंबे समय से लंबित कार्यों को पूरा करने और जीवन की विषम परिस्थितियों से लड़ने के लिए सक्षम बना सकते हैं। मीन राशि मंगल के लिए एक अनुकूल राशि है और यह गोचर कुछ राशियों के लिए अनुकूल होगा और बाकी के लिए इतना अच्छा नहीं होगा। आइए हम राशि चक्र के राशि के लिए इस गोचर के संभावित परिणामों को समझने की कोशिश करें।

 

मेष राशि

पंडितजी का कहना है कि मंगल 12 वें भाव में गोचर करेगा, जिसके चलते मिश्रित परिणाम मिलने की संभावना है। आप अपने कार्यों में बहुत बोल्ड होंगे लेकिन बुद्धिमानी से क्षेत्र का चयन करें। आप विषम परिस्थितियों का सामना करने में भी बहुत आक्रामक होंगे लेकिन फिर से उचित तीव्रता में होगा। अन्यथा यह दर्द नहीं देगा। आपके जीवनसाथी / प्रेमी के साथ आपका रिश्ता तनाव पूर्ण हो सकता है इसलिए सीमित बातचीत के माध्यम से शांति बनाए रखना उचित है। झगड़े और हिंसा के सभी कार्यों से दूर रहें।

 

बृषभ राशि

 ज्योतिषाचार्यों की माने तो मंगल 11 वें भाव में गोचर करेगा और इससे सकारात्मक परिणाम मिलने की संभावना है। सकारात्मक परिणाम उन घटनाओं के रूप में होने की संभावना है जो अधूरे थे जब मंगल ने कुंभ राशि से मीन राशि के लिए एक पारगमन किया था। आपके जीवनसाथी के साथ संबंध में सुधार होने की संभावना है और यह आपके / उसके साथ मतभेदों के मौजूदा तनाव को कम करने का एक अच्छा समय होगा। आपको बहुत ही विषम परिस्थितियों का सामना करना पड़ सकता है और आपके दुश्मनों को आपके हाथों हार का सामना करना पड़ेगा। आप अपने विरोधियों पर भारी पड़ सकते हैं। आय में सुधार होगा और आपके लंबित भुगतान पूरा हो सकता है।

 

मिथुन राशि

मंगल 10 वें भाव में गोचर करेगा और इससे सकारात्मक परिणाम मिलने की संभावना है। मंगल 10 वें घर में प्रत्यक्ष रूप से मजबूत है, इसलिए प्रतिगामी और मंगल द्वारा उत्पन्न ऊर्जा का एक बड़ा हिस्सा होगा। आप अपने काम में बहुत तेजी से काम करेंगे और आपकी कुल उत्पादकता तेजी से बढ़ेगी। इसी तरह आपके वरिष्ठों से आपके रास्ते में आने वाली बाधा दूर होगी। आप प्रशंसा के पात्र बनेंगे। यह समझदारी होगी कि आप अपने स्वभाव और अपने आसपास के लोगों से निपटने के तरीके की जाँच करते रहें। इस दौरान अधिकतम सफलता हासिल करने के लिए विनम्र बने रहना महत्वपूर्ण होगा। संपत्ति से संबंधित मामले आपके पक्ष में बदल सकते हैं।

 

कर्क राशि

कर्क राशि वालों के लिए मंगल नौवें भाव में गोचर करेगा और इसके अच्छे परिणाम देने की संभावना है। भाग्य कारक आपके लिए काम पर रहेगा और लंबित कार्य पूरे होंगे। आप बेहतर एड्रेनालाईन का अनुभव करेंगे जो आपको तेज़ी से कार्य करने और कई कार्यों को पूरा करने में मदद करेगा। काम से संबंधित यात्रा प्रकृति में पुरस्कृत होगी। आपके बच्चे आपके ध्यान की मांग करेंगे और आपको उन्हें सुरक्षा की भावना प्रदान करनी चाहिए। ध्यान की तरह आध्यात्मिक गतिविधियों से बहुत सारे समाधान मिलेंगे। घर में कलह के कुछ कारण हो सकते हैं लेकिन आप धैर्य के साथ इससे निपट सकते हैं।

 

सिंह राशि

आपके लिए मंगल 8 वें भाव में गोचर करेगा और इसके कुछ नकारात्मक परिणाम मिलने की संभावना है। आपको यहां एक सलाह की आप निंदनीय गतिविधियों से दूर रहें और अच्छा नैतिक व्यवहार बनाए रखें। ऐसी गतिविधियों से दूर रहें जो लॉटरी, सट्टा, इंट्राडे ट्रेडिंग आदि से लाभ प्राप्त कराती हैं। अपने स्वास्थ्य की अच्छी देखभाल करें क्योंकि कुछ परेशानियां सामने आ सकती हैं। आपका भाषण आपकी प्रतिष्ठा को कुछ गंभीर नुकसान पहुंचा सकता है, इसलिए अपने शब्दों को दिमाग में रखें और बोलने से पहले उन्हें तौलें। साहसी और वीरता किसी भी तरह से आपकी मदद नहीं करेगी इसलिए पूरी तरह से इससे बचें।

 

कन्या राशि

कन्या राशि वालों के लिए मंगल सातवें भाव में गोचर करेगा और पंडितजी का कहना है कि इससे नकारात्मक परिणाम मिलने की संभावना है। यह संभावना है कि आप छोटे स्वभाव को बदल सकते हैं और कार्य स्थल पर गर्म बहस में भी शामिल हो सकते हैं। आपके भाषण से गंभीर क्षति हो सकती है इसलिए बोलने से पहले दो बार सोचें। काम आपको कुछ हद तक सांत्वना प्रदान कर सकता है बशर्ते आप उपरोक्त मानकों का पालन करें। अपने वर्तमान संबंध / विवाहित जीवन से बाहर निकलने से बचें अन्यथा बहुत गंभीर परिणाम हो सकते हैं। समय के लिए नई परियोजनाओं और जिम्मेदारियों से बचें अन्यथा दबाव को संभालना मुश्किल होगा और उत्पादकता के मुद्दे हो सकते हैं।

 

तुला राशि

मंगल 6 वें भाव में गोचर करेगा और मिश्रित परिणाम देने की संभावना है। आपकी योग्यता स्तर और सभी बाधाओं का सामना करने की क्षमता में बहुत सुधार होगा। यदि आप अपने स्वभाव को नियंत्रित करते हैं तो यह बहुत उत्पादक समय हो सकता है और आपके कार्य प्रदर्शन में काफी सुधार होगा। वक्ता होने से बेहतर श्रोता बनने की कोशिश करें। आप एक रोग मुक्त स्वभाव बनाए रखेंगे। बंधक या ऋण लेने से पहले आकलन कर आश्वस्त हो जाएं। आपका व्यक्तिगत बचत को लेकर परेशान हो सकता है लेकिन घबराएं नहीं।

 

वृश्चिक राशि

मंगल पांचवें भाव में गोचर करेगा और मिश्रित परिणाम देने मिलने की पूरी संभावना है। अपने आहार और कसरत पर नियमित रूप से कड़ी निगरानी रखें। पेट से संबंधित समस्याएं जैसे कि सूजन, भोजन की कमी और गैस्ट्रोएंटेराइटिस आपके स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकते हैं। आपके बच्चों का स्वास्थ्य भी चिंता का कारण हो सकता है इसलिए उनके स्वास्थ्य पर भी कड़ी नज़र रखें। आपको अपने कार्य में विलंबित परिणाम प्राप्त हो सकते हैं, इसलिए धैर्य बनाए रखें। आप मनोगत स्तर पर आध्यात्मिकता के गहरे अर्थ को समझने के लिए एक झुकाव विकसित कर सकते हैं। आय स्थिर रहने की संभावना है।

 

धनु राशि

धनु राशि वालों के लिए मंगल चौथे भाव में गोचर करेगा और इसके नकारात्मक परिणाम देने की संभावना है। घरेलू वातावरण में कलह के क्षण हो सकते हैं इसलिए परिवार के सदस्यों के साथ व्यवहार करते समय अपने शांत बनाए रखें। ध्यान से ड्राइव करें और दुर्घटना के मामले में सड़क पर क्रोध और परिवर्तन से बचें। आपके जीवनसाथी का व्यवहार और कुछ आदतें आपको परेशान कर सकती हैं, लेकिन उनसे बचने और अधिक उत्पादक कार्यों में व्यस्त रहने की कोशिश करें। आप काम पर बहुत आक्रामक हो सकते हैं और इस प्रक्रिया में कुछ बड़ी गलतियाँ कर सकते हैं ताकि धीमी और सुचारू रूप से चलने की कोशिश करें। कोर्ट-कचहरी के मामलों और संपत्ति से जुड़े विवादों से बहुत सावधान रहें। छाती से संबंधित कुछ संक्रमण / जमाव आपको परेशान कर सकते हैं इसलिए अपने आहार और संपूर्ण स्वास्थ्य की अच्छी देखभाल करें।

 

मकर राशि

मकर राशि वालों के लिए मंगल तीसरे भाव में गोचर करेगा और इससे सकारात्मक परिणाम मिलने की संभावना अधिक बनती दिखायी दे रही है। आप पूरी तरह से कार्रवाई उन्मुख होंगे और आप में ऊर्जा का निर्बाध प्रवाह होगा। अपने लंबित कार्यों को पूरा करने और नए लोगों को स्वीकार करने के लिए यह अच्छा समय होगा। कार्य प्रकृति में बहुत प्रगतिशील और पुरस्कृत होगा। आपकी बहुमुखी प्रतिभा काम पर अपने वरिष्ठों के सामने बहुत अच्छी प्रतिष्ठा अर्जित कर सकती है। कार्य से संबंधित यात्रा पूर्ण आनंद दे सकती है। आपका ऋण और अन्य भुगतान संबंधी लेन-देन आपके नियंत्रण में सुचारू और अच्छे होंगे। ऐसा लगता है कि यह समय आपको अपने वरिष्ठों से कुछ पसंदीदा उपहार माँगने में सक्षम कर सकता है।

 

 कुंभ राशि

पंडितजी की माने तो मंगल द्वितीय भाव में गोचर करेगा और अच्छे परिणाम मिलने की संभावना है। मौखिक और लिखित संचार व्यक्तिगत जीवन में काम और खुशी में आपकी सफलता की कुंजी होगी। आपका कार्य जीवन आनंदमय होगा। आपकी व्यक्तिगत बचत में काफी सुधार हो सकता है और वर्तमान में इसके लिए अतिरिक्त अवसर भी हो सकते हैं। बेहतर प्रयास से बेहतर होगा। एक आउटिंग / पिकनिक के लिए परिवार के सदस्यों को जमा करना अद्भुत विचार होगा। काम पर गणनात्मक जोखिम बहुत फायदेमंद हो सकता है।

 

मीन राशि

मंगल आपके लग्न यानी की प्रथम भाव में गोचक करेगा और मिश्रित परिणाम देने की संभावना है। आवेग में आकर कार्य न करें अन्यथा लाभ हानि में बदल सकता है। इसी तरह अदात से बचें और दूसरों के ज्ञान और राय का भी सम्मान करें। अपने जीवनसाथी के साथ विनम्र रहें और वह इसी तरह से पारस्परिक व्यवहार करेगा। पारिवारिक जीवन के साथ काम को संतुलित करने की कोशिश करें और जीवन के कुछ यादगार पल हो सकते हैं। आपका मन रचनात्मक और आशावादी होगा।

 

वक्री मंगल के नेगेटिव प्रभाव से बचने के लिये परामर्श लें इंडिया के बेस्ट एस्ट्रोलॉजर्स से।

 

संबंधित लेख

इंदिरा एकादशी । जीवित्पुत्रिका व्रत । गोचर 2020 । वक्री ग्रह

 

एस्ट्रो लेख

मेष राशि में बुध ! शुभ या अशुभ? जानिए

मेष संक्रांति - मेष राशि में सूर्य का गोचर जानें अपना राशिफल

मिथुन राशि में मंगल! क्या होगा प्रभाव? जानिए

शुक्र का मेष राशि में गोचर – क्या होगा असर आपकी राशि पर !

Chat now for Support
Support