वक्री बुध का राशि परिवर्तन – मीन से कुंभ

वक्री बुध का राशि परिवर्तन – मीन से कुंभ


वक्री बुध का राशि परिवर्तन - बुध की प्रत्येक गतिविधि ज्योतिषशास्त्र में काफी अहम मानी जाती है। प्रत्येक राशि से बुध जिस स्थान में जिस भी ग्रह के साथ होते हैं उसके अनुसार वह उस राशि को प्रभावित करते हैं। बुध  5 मार्च को अपनी नीच माने जानी वाली राशि मीन में वक्री हुए थे अब वे 15 मार्च को मीन राशि से कुंभ में जा रहे हैं। इसके बाद 28 मार्च को बुध की चाल बदल जायेगी और वे वक्री से सीधे चलने लगेंगें यानि मार्गी हो जायेंगें। ऐसे में मीन राशि से कुंभ में बुध का आना आपके लिये क्या परिणाम लेकर आ रहा है आइये जानते हैं। 


यह राशिफल सामान्य ज्योतिषीय आकलन पर आधारित है। बेहतर गाइडेंस के लिये एस्ट्रोयोगी को बनायें अपनी लाइफ का GPS, बात करें इंडिया के बेस्ट एस्ट्रोलॉजर्स से और पायें अपनी मंजिल का सही रास्ता।


मेष

मेष राशि वालों के लिये बुध 11वें भाव में सूर्य के साथ बुधादित्य योग बना रहे हैं। लाभ स्थान में बुधादित्य योग होना आपके लिये धन प्राप्ति के संकेत कर रहे हैं। इस दौरान आप काफी सक्रिय रहेंगें, आपकी सामाजिक गतिविधियां भी बढ़ सकती हैं। यात्रा के योग भी बुध आपके लिये बना रहे हैं। स्वास्थ्य सामान्य रहने के आसार हैं तो लव लाइफ का पूरा आनंद आप उठा सकते हैं। जो जातक विवाह के लिये प्रयासरत हैं उनके लिये विवाह के प्रस्ताव आ सकते हैं। शादी में आ रही रूकावट इस समय दूर हो सकती है।

वृष

आपकी राशि से बुध कर्मभाव में सूर्य  के साथ गोचर करेंगें। व्यावसायिक तौर पर यह समय आपके लिये काफी सकारात्मक परिणाम लेकर आ सकता है। कार्योन्नति की उम्मीद कर सकते हैं। कार्यस्थल पर आपका प्रदर्शन प्रशंसनीय रह सकता है। जो जातक किसी प्रोफेशनल कोर्स करने के इच्छुक हैं वे इसे पूरा कर सकते हैं। बिजनेस पार्टनर व सीनियर भी कड़ी मेहनत व काम के प्रति प्रतिबद्धता के लिये आपकी तारीफ के पुल बांध सकते हैं।

मिथुन

बुध आपकी राशि के स्वामी भी हैं जो आपकी राशि से भाग्य स्थान में सूर्य के साथ गोचर कर रहे हैं। हो सकता है आपके लिये बुध का यह परिवर्तन अनुकूल न रहे है। फाइनेंशियली लॉस होने के संकेत हैं इसलिये थोड़ा सतर्क रहें। कार्यस्थल पर अपने काम भी सावधानीपूर्वक करें अन्यथा आपकी प्रतिष्ठा को ठेस पंहुच सकती है। इस समय प्रोफेशनल के साथ-साथ पर्सनल लाइफ से भी हो सकता है संतुष्टि न मिले।

कर्क

आपकी राशि से बुध आठवें स्थान में सूर्य के साथ गोचर करेंगें। प्रोफेशनली इस समय आप अपना श्रेष्ठ प्रदर्शन कर सकते हैं। अपनी टीम, अपने सीनियर्स का ध्यान भी अपनी ओर आकर्षित कर सकते हैं। संभव है वे आपके काम की तारीफ भी करें। संभावनाएं तो यह भी बन रही हैं कि ऑफिस में कोई आपका कायल हो सकता है। आपकी नज़रों के तीर से उनका दिल घायल हो सकता है। अनपेक्षित स्त्रोत से धन प्राप्ति के आसार भी बन रहे हैं।

सिंह

आपकी राशि के स्वामी सूर्य हैं जो हाल ही में बुध से अलग होकर आपकी राशि से सातवें भाव में गोचर कर रहे हैं। बुध भी अपनी राशि बदलकर फिर से सूर्य के साथ आ रहे हैं। बुध का यह गोचर आपकी सेहत के लिये हानिकारक हो सकता है अगर आपने स्वास्थ्य को लेकर जरा सी भी लापरवाही बरती। संभव हो तो विश्राम करें व घर पर परिजनों के साथ समय व्यतीत करें। यात्रा करने का आइडिया फिलहाल के लिये अच्छा नहीं है। बिजनेस के प्वाइंट से भी आपको हानि उठानी पड़ सकती है। विवेक से काम लें।

कन्या

आपकी राशि से राशि स्वामी बुध छठे घर में सूर्य के साथ आ रहे हैं। रोग व शत्रु घर में दोनों ग्रहों के साथ होने से बुध आपके लिये लाभकारी रह सकते हैं। धन प्राप्ति की संभावनाएं बन रही हैं साथ ही स्वास्थ्य भी बेहतर रहने के आसार हैं। प्रतिद्वंदियों पर भी आप हावि रह सकते  हैं। जो लोग आपसे ईर्ष्या रखते हैं, आपको डरा धमकाकर रखना चाहते हैं या फिर कार्यस्थल पर आपकी छवि को नुक्सान पंहुचाना चाहते हैं आप उनसे नहीं डरेंगें और उन्हें करारा जवाब देने में सक्षम रह सकते हैं।

तुला

बुध राशि परिवर्तन कर पंचम भाव में  सूर्य के साथ चल रहे हैं। इस समय आपको अपना ध्यान एकाग्र रखने में चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। आपका मन काफी अस्थिर रहने के आसार हैं आपके लिये सलाह है कि ध्यान एवं योग क्रियाओं से आपको राहत मिल सकती  हैं। हो सकता है आप अपने वातावरण में थोड़ा बदलाव करने के इच्छुक हों। फ्रोफेशनली भी आपको थोड़ा सोच विचार करने की आवश्यकता पड़ सकती है संभव है फिलहाल आपकी योजनाएं आपकी सोच के अनुरूप सफल नहीं हो पा रही हों।

वृश्चिक

आपकी राशि से बुध चौथे घर में सूर्य के साथ गोचर करेंगें। इस समय आपको मां की याद सता सकती है। संभव है आप घर पर ही उनके साथ थोड़ा समय व्यतीत करने की इच्छा रखें। पैतृक संपत्ति से इस समय आपको लाभ मिलने के आसार हैं। घरेलू माहौल में सौहार्द बना रह सकता है। परिवार के सकारात्मक वातावरण का आप आनंद ले सकते हैं। घर के बड़े बुजूर्ग भी आपके साथ अपने अनुभव साझा करने में खुशी महसूस कर सकते हैं।

धनु

आपकी राशि से बुध तीसरे स्थान में सूर्य के साथ आ रहे हैं। इस समय आप किसी बात को लेकर चिंतित रह सकते हैं। हो सकता है आप इसे अपने किसी करीबी, किसी खास के साथ साझा करना चाहें। हमारी सलाह है कि अपनी बात कहने से मन हल्का होता है। अपने जीवनसाथी या किसी खास दोस्त जिन पर आपको पूरा विश्वास हो, उनसे इस बात को साझा करें। फाइनेंसियली देखा जाये तो आपको थोड़ा सचेत रहने की आवश्यकता है। लॉस होने के संकेत मिल रहे हैं। हाल ही में आपकी जिंदगी में जो नये दोस्त शामिल हुए हैं भविष्य में आपके लिये मददगार साबित हो सकते हैं।

मकर

आपकी राशि से ही बुध परिवर्तन कर दूसरे भाव में सूर्य के साथ गोचररत हो रहे हैं। विद्यार्थियों के लिये यह समय आनंददायी रह सकता है। जो जातक किसी दूरवर्ती क्षेत्र में पढ़ने के लिये छात्रवृति पाने के लिये प्रयासरत हैं उनकी मेहनत रंग ला सकती है। विशेषकर विदेश में शिक्षा पाने के इच्छुक विद्यार्थियों को सफलता मिल सकती है। परिजन भी आपके लिये सहायक एवं उत्साहवर्धक रहेंगें इसकी उम्मीद की जा सकती है।

कुंभ

बुध का परिवर्तन आपकी ही राशि में होगा। आपकी राशि में सूर्य के साथ बुध का आना कार्यस्थल पर आपके ध्यान को भंग कर सकता है। प्रतिस्पर्धी भी आपको हानि पंहुचाने की ताक में इस समय हो सकते हैं। संभव है भाग्य भी आपका साथ न दे। फाइनेंशियल कंडीशन पर भी निगाह बनाये रखने की आपको आवश्यकता रह सकती है। हालांकि पर्सनल लाइफ में सुकून आपके हौसले में वृद्धि करने वाला रह सकता है।

मीन

आपकी राशि से बुध 12वें भाव में सूर्य के साथ गोचर करेंगें। यह समय आपके लिये किसी संपत्ति को लेकर विवाद होने की संभावना जता रहा है। संपत्ति के लेन-देन में सावधानी बरतें। कर्ज का भार बढ़ने के आसार हैं। फाइनेंशियल प्रोबलम भी बढ़ सकती हैं। हो सकता है इन सबसे राहत पाने के लिये आप कर्ज लेने का विचार करें। पर्सनल लाइफ में सबकुछ ठीक ठाक रहने के संकेत नहीं है। पार्टनर से भी आप एक अलगाव महसूस कर सकते हैं।

यह राशिफल सामान्य ज्योतिषीय आकलन पर आधारित है। बेहतर गाइडेंस के लिये एस्ट्रोयोगी को बनायें अपनी लाइफ का GPS, बात करें इंडिया के बेस्ट एस्ट्रोलॉजर्स से और पायें अपनी मंजिल का सही राश्ता।


यह भी पढ़ें

ग्रह गोचर 2019   |   बुध गोचर 2019   |   बुध कैसे बने चंद्रमा के पुत्र ? पढ़ें पौराणिक कथा

एस्ट्रो लेख



Chat Now for Support