मिथुन संक्रांति - मिथुन राशि में आयेंगें सूर्य क्या रहेगा राशिफल

सौर वर्ष के अनुसार सूर्य का राशि परिवर्तन संक्रांति कहलाता है। सूर्य जिस भी राशि में दाखिल होते हैं उसे उसी राशि की संक्रांति कहा जाता है। सौर वर्ष के मास का निर्धारण भी सूर्य के राशि परिवर्तन से ही होता है। 15 जून को सूर्य मिथुन राशि में दाखिल होंगें ऐसे में मिथुन संक्रांति के कारण सभी 12 राशियों को सूर्य किस तरह से प्रभावित करेंगें? आइये जानते हैं।

यह राशिफल सामान्य ज्योतिषीय आकलन के अनुसार बनाया गया है। इसका आधार सिर्फ सूर्य का राशि परिवर्तन है। सूर्य की अन्य ग्रहों के साथ युति व दृष्टि से भी आपका राशिफल भिन्न हो सकता है। आपके लिये सूर्य का यह गोचर कैसे प्रभावी रहेगा। आपकी कुंडली के अनुसार सूर्य क्या परिणाम लेकर आ रहे हैं इसके लिये यह जानने के लिये इस लिंक पर कॉल करें और हमें 9999091091 पर कॉल करें।

मेष – सूर्य ग्रह आपकी राशि से तृतीय भाव में गोचर कर रहे हैं। यह समय आपके लिए शुभ फलदायी बना रहेगा। आपको व्यापार व्यवसाय में सफलता प्राप्त होगी और साथ ही रुके हुए कार्य पूरे होंगे। संतान व मित्रों से शुभ समाचार प्राप्त होंगे, शत्रुओं पर विजय प्राप्त होगी। पारिवारिक व सामाजिक जीवन में मान-सम्मान की प्राप्ति होगी, व्यक्तिगत जीवन में आप स्वयं को मानसिक व शारीरिक रूप से स्वस्थ अनुभव करेंगे। यह समय आपके लिए सकारात्मक व ऊर्जा से भरा रहेगा। विद्यार्थियों के लिए यह समय विद्या अध्ययन में सफलता व प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता दिलाने वाला बना रहेगा। 

वृषभ – सूर्य ग्रह आपकी राशि से द्वितीय भाव में गोचर कर रहे हैं। यह समय आपके लिए धन निवेश करवाने वाला रह सकता है। व्यापार व्यवसाय में लाभ की जगह हानि का सामना करना पड़ सकता है सचेत रहें। इस समय में अपनों की नाराजगी का सामना आपको करना पड़ सकता है। यह समय आपको नेत्र रोग दे सकता है, स्वास्थ्य के प्रति सावधान रहें। जो कार्य आपके आसानी से हो रहे थे उन कार्यों में कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है। आपके मान सम्मान में कमी भी इस समय आ सकती है। संबंधियों और मित्रों से विवाद होने के कारण मन में अशांति बनी रह सकती है। कुल मिलाकर सूर्य के इस गोचर के दौरान आपको थोड़ा सचेत रहने की आवश्यकता रहेगी। 

मिथुन – सूर्य ग्रह आपकी ही राशि में गोचर कर रहे हैं, यह समय आपके लिए आर्थिक व व्यक्तिगत जीवन पर प्रभाव डालने वाला बना रहेगा। यह समय धन की हानि कराने वाला, नौकरी व व्यवसाय में अधिकारियों से झगड़ा, मान सम्मान में कमी लाने की संभावनाएं दिखा रहा है। किसी अप्रिय घटना पर बदनामी का सामना भी आपको करना पड़ सकता है। इस समय में नींद अधिक आती है, पेट रोग, पाचन क्रिया, थकावट आदि का सामना करना पड़ता है अत: सेहत के मामले में लापरवाही न बरतें। घर परिवार में अलगाव, मित्रों और रिश्तेदारों से मनमुटाव होने की भी संभावना है। यह समय जीवन साथी व वैवाहिक जीवन को प्रभावित कर सकता है। 

कर्क – सूर्य ग्रह आपकी राशि से द्वादश भाव में गोचर कर रहे हैं। यह समय आपके लिए विशेष रूप से आर्थिक चुनौतियों से परिपूर्ण बने रहने के आसार हैं। लाभ से संबंधित कोई भी निर्णय सोच-समझकर लें, नहीं तो हानि उठानी पड़ सकती है। नौकरी और व्यवसाय में अधिकारियों की नाराजगी सहन करनी पड़ सकती है। व्यापारी वर्ग को व्यापार में हानि उठानी पड़ सकती है। किसी विवाद में ना पड़ें, मित्रों व वरिष्ठ व्यक्तियों से झगड़े की संभावनाएं बन सकते हैं इस समय में लंबी दूरी की यात्राएं हो सकती हैं लेकिन यात्राओं से लाभ नहीं मिल पाएगा। अपने स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखें। बुखार, पेट दर्द, नेत्र संबंधी रोगों के प्रति सचेत रहें।

सिंह – सूर्य आपकी राशि से एकादश भाव में गोचर कर रहे हैं। यह समय आपके लिए अर्थ, धर्म, लाभ, आर्थिक व सामाजिक स्थिति में सुधार व उन्नति दिलाने वाला बना रहेगा। इस समय आप नौकरी व व्यवसाय में परिवर्तन करना चाहें तो कर सकते हैं यह समय आपके लिए लाभ का बना रहेगा। इस समय में कार्य क्षेत्र में आपकी उन्नति अधिकारियों व राज्य की तरफ से शुभ समाचारों की प्राप्ति हो सकती है। इस समय में समाज में आपकी प्रतिष्ठा बढ़ सकती है। मित्रों व परिवारजनों का सहयोग बना रहेगा, घर के बड़े सदस्यों से लाभ की प्राप्ति हो सकती है। यह समय आपके लिए शांतिपूर्ण व सुखद बने रहने की उम्मीद की जा सकती है।

कन्या – सूर्य ग्रह आपकी राशि से दशम भाव में गोचर कर रहे हैं। यह समय आपके लिए शुभ फलदायी बना रहेगा। आपके सभी कार्य बनते हुए नजर आएंगे। नौकरी व व्यवसाय के क्षेत्र में लाभ मिल सकता है। कार्योन्नति व प्रगति के लिये किये जा रहे प्रयास सफल होते नजर आएंगे। घर परिवार में सुख-शांति बनी रहेगी। कार्यस्थल पर वरिष्ठ अधिकारियों की प्रसन्नता बनी रहेगी। मित्रों रिश्तेदारों से शुभ समाचारों की प्राप्ति हो सकती है। यह समय दांपत्य जीवन के लिए और पारिवारिक जीवन में सुख शांति का बना रहेगा। इस समय में सकारात्मक सोच का विकास होगा जहां से आशा ना हो ऐसी जगह से धन लाभ हो सकता है।

तुला – सूर्य ग्रह आपकी राशि से नवम भाव में गोचर कर रहे हैं। यह समय आपके लिए मध्यम फलदायी बना रहेगा, इस समय में आप किसी षड्यंत्र के शिकार हो सकते हैं। आपके ऊपर झूठा आरोप लग सकता है, जिससे आपको मानसिक अशांति हो सकती है। बिना कारण धन व पुण्य की हानि उठानी पड़ सकती है। आपके परिवार के सदस्यों व मित्रों से मतभेद या विचारों में कड़वाहट का सामना करना पड़ सकता है। प्रयत्न करने पर भी हर कार्य में असफलता का सामना करना पड़ सकता है। इस समय में भाग्य की अनुकूलता में कमी बनी रहेगी स्वास्थ्य के प्रति सजग रहें। शारीरिक कमजोरी मानसिक अशांति आलस्य थकावट आदि का सामना करना पड़ सकता है। 

वृश्चिक – सूर्य ग्रह आपकी राशि से अष्टम भाव में गोचर कर रहे हैं। यह समय आपके लिए हानी व शारीरिक बाधाओं वाला बना रहेगा। इस समय में कानून संबंधित के झगड़ा आदि की संभावनाएं बन सकती है। यह कमी दांपत्य जीवन को प्रभावित कर सकता है जिसके कारण पति और पत्नी में झगड़ा हो सकता है। इस समय में पारिवारिक सुखों में कमी बनी रह सकती है। इस समय में मित्रों और रिश्तेदारों से पराजय का डर बना रहेगा। नौकरी और व्यवसाय में आर्थिक हानि उठानी पड़ सकती है। इस समय में स्वास्थ्य का ध्यान रखें पेट दर्द, रक्तचाप, बवासीर जैसी बीमारियों से पीड़ित हो सकते हैं।

धनु – सूर्य ग्रह आपकी राशि से सप्तम भाव में गोचर कर रहे हैं। यह समय आपके लिए वैवाहिक जीन में मुश्किलें पैदा करने वाला रह सकता है। यह समय यात्रा स्वास्थ्य संबंधित चिंताएं बना रहा है। पेट, गुदा संबंधी पीड़ा से गुजरना पड़ सकता है। बवासीर से पीड़ित जातक विशेष रूप से अपना ध्यान रखें। इस समय आपके लक्ष्य में आपको बाधाओं का सामना करना पड़ सकता है। आप के सम्मान को हानि पहुंच सकती है। नौकरी व व्यवसाय में बाधाओं का सामना करना पड़ सकता है। बच्चों का स्वास्थ्य चिंता का कारण बन सकता है। धन और मानहानि होने के कारण मन में अशांति बनी रह सकती है। लंबी दूरी की यात्राएं कष्टकारी व आर्थिक रूप से भी नुक्सानदायी हो सकती हैं। कुल मिलाकर आपको इस समय सतर्क रहने की आवश्यकता है।

मकर – सूर्य ग्रह आपकी राशि से षष्ठम भाव में गोचर कर रहे हैं। यह समय आपके जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में सफलता देने वाला बना रहेगा। इस समय आपके लिये नौकरी व व्यवसाय में, पदोन्नति व सफलता प्राप्ति के योग बने हुए हैं। इस समय में रुके हुए कार्य पूरे होंगे। यह समय आपको मान सम्मान में वृद्धि दिलाने वाला और सांसारिक सुखो की प्राप्ति करवाने वाला बन रहा है। आपके कार्यों की सराहना व अपने उच्च अधिकारियों से अनुकूल संबंध बने रहने की उम्मीद भी कर सकते हैं। घर परिवार में सुख शांति का माहौल बना रहेगा स्वास्थ्य की दृष्टि से यह समय आपके लिए अच्छा बना हुआ रहेगा। शरीर स्वस्थ व मानसिक शांति बनी रहेगी। 

कुंभ – सूर्य ग्रह आपकी राशि से पंचम भाव में गोचर कर रहे हैं। यह समय आपके जीवन व स्वास्थ्य पर प्रभाव डाल सकता है। इस समय में आपके शत्रुओं की वृद्धि हो सकती है। आपके अपने ही शत्रु तुल्य व्यवहार कर सकते हैं। इस समय आपको उधार देने से बचना चाहिए। लालच से दूर रहें क्योंकि इसके कारण आपको हानि उठानी पड़ सकती है। यह समय सरकारी कार्यों में अड़चन डाल सकता है, सरकारी कार्यों को सोच समझ कर करें। स्वास्थ्य पर ध्यान देने की आवश्यकता भी आपको रहेगी। संतान को लेकर भी इस समय आप चिंतित रह सकते हैं। 

मीन – सूर्य ग्रह आपकी राशि से चतुर्थ भाव में गोचर कर रहे हैं। यह समय आपके लिए सामाजिक स्तर व मान-सम्मान में कमी व नौकरी और व्यवसाय में कठिनाइयों भरा रह सकता है। इस समय में आपके मित्र और रिश्तेदार कुछ अधिकारियों से बातचीत करने में सावधानी रखनी पड़ सकती है नहीं तो आप के बनते हुए कार्य बिगड़ सकते हैं। पारिवारिक जीवन मैं सुखों की कमी हो सकती है। वाहन जमीन जायदाद संबंधी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। शारीरिक स्वास्थ्य में कमी आती है शरीर में आलस्य व रोग वृद्धि का सामना करना पड़ सकता है। यात्राओं में असुविधा हो सकती है।

आप हमारे ज्योतिषाचार्यों से परामर्श जान सकते हैं। ज्योतिषियों से अभी बात करने के लिये यहां क्लिक करें।

यह भी पढ़ें

बुध गोचर – बुध का परिवर्तन मेष से वृषभ राशि में   |   मीन से मेष में दाखिल हुए बुध जानें राशिफल   |   बुध बदलेंगे राशि - कुंभ से मीन में होगा बुध का गोचर

बुध कैसे बने चंद्रमा के पुत्र ? पढ़ें पौराणिक कथा   |   वक्री हुए बुध क्या पड़ेगा प्रभाव?

एस्ट्रो लेख

प्रदोष व्रत 2019

इस व्रत को उत्तर भारत में प्रदोष वर्त तथा दक्षिण भारत में प्रदोषम के नाम से जाना जाता है। व्रत में भगवान शिव की स्तुति की जाती है। मान्यताओं कि माने तो शुक्रवार को पड़ने वाला प्रदो...

और पढ़ें ➜

भविष्यफल 2020 -...

नया साल हर किसी के लिए एक नई उमंग, नया उत्साह और नई-नई योजनाएं लेकर आता है। नये साल के साथ हर किसी को नई उम्मीद भी जुड़ी होती है। आमतौर पर नए साल को लेकर लोग जीवन में दुख के दिन दू...

और पढ़ें ➜

बुध का वृश्चिक ...

इस 05 दिसंबर को बुध सुबह10 बजकर 46 मिनट पर राशि परिवर्तन करने जा रहे हैं। इस समय बुध तुला राशि में हैं परंतु 05 दिसंबर 2019 को यह राशि बदलकर वृश्चिक राशि में आ जाएंगे। जिसका आपके ऊ...

और पढ़ें ➜

स्कंद षष्ठी 201...

यदि आपके घर में कोई बहुत लंबे समय से बीमार है? आपको हमेशा पैसों की तंगी बनी रहती है? कड़ी मेहनत के बाद भी आपके संतान को सफलता नहीं मिलती है तो आपको हर माह हिंदू कैलेंडर के अनुसार. ...

और पढ़ें ➜