Skip Navigation Links
वैलेंटाइन वीक – जानें राशिनुसार कैसा रहेगा आपका प्यार


वैलेंटाइन वीक – जानें राशिनुसार कैसा रहेगा आपका प्यार

गुलाब देने के साथ ही वैलेंटाइन वीक यानि प्रेम सप्ताह की शुरुआत हो चुकी है तो रोज़ डे से लेकर वैलेंटाइन डे तक कैसा रहेगा आपका सप्ताह? किस राशि के जातकों को मिलेगा उनका प्यार तो किस राशि के जातकों से होगी प्यार की तकरार? किस रंग की वस्तु करें दान तो किस रंग का साथी को दें उपहार? बता रहे हैं आपको एस्ट्रोयोगी ज्योतिषाचार्यों से परामर्श के आधार पर प्रेम सप्ताह का राशिफल आपके प्रेम जीवन के लिये तो जानें कैसा रहेगा प्यार आपकी राशि के अनुसार। क्या आपकी कुंडली में हैं प्रेम के योग ? यदि आप जानना चाहते हैं देश के जाने-माने ज्योतिषाचार्यों से, तो तुरंत लिंक पर क्लिक करें।

मेष

मेष राशि का स्वामी मंगल है जो कि वर्तमान में मीन राशि में शुक्र के साथ स्थित है और सम भाव में है। मेष राशि वालों के लिये शुक्र की युति होने से अनुकूल परिणाम नहीं रहेंगे। यदि आप अपने प्रेम जीवन में किसी तरह की परेशानी महसूस कर रहे हैं और आपको लगता है कि आपके लिये अपने साथी को मनाना काफी मुश्किल हो रहा है तो अपने साथी से मुलाकात सफेद वस्त्र धारण करके करें। साथ ही उनके लिये सफेद रंग का उपहार भी लें। हो सकता है इससे आपको साथी से कुछ सकारात्मक उत्तर मिले। हाल ही में बृहस्पति वक्र हुए हैं और बृहस्पति के घर में मंगल भी विराजमान है इसलिये कोई भी निर्णय सोच-समझ कर बुद्धिमता से लें। यही आपकी राह को आसान कर सकता है।

वृष

वृष राशि का स्वामी शुक्र बृहस्पति के घर में उच्च अवस्था का है। शुक्र स्वयं प्रेम का कारक माना जाता है। अत: कहा जा सकता है कि वृषभ राशि वालों के जीवन में नये प्रेम की शुरुआत हो सकती है। उनके लिये यह सप्ताह अनुकूल फल प्रदान करने वाला रह सकता है। काली व लाल चीज़ों का परहेज़ करें क्योंकि शनि की ढ़ैय्या व मंगल राशि स्वामी होने से समस्या हो सकती है। जो प्रेमी युगल लंबे समय से साथ हैं उनके बीच कुछ मतभेद पनप सकते हैं जिससे आपके लिये वैलेंटाइन वीक का समय थोड़ा कठिन हो सकता है। लाल वस्तुओं का दान करना आपके लिये शुभ है।

मिथुन

मिथुन राशि का स्वामी बुध शनि के घर में मित्र राशि में है जो कि क्रूर ग्रह सूर्य के साथ विचरण कर रहा है। मिथुन राशि के जातक स्वाभाव से रोमांटिक होते हैं। लेकिन आपको इस वैलेंटाइन वीक को सफल बनाने और साथी के साथ अच्छा समय व्यतीत करने के लिये कुछ नया करने की जरुरत है। कुछ ऐसा जिससे आपके साथी को खुशी मिले और आप उन्हें रिझा सकें। कुल मिलाकर मिथुन जातकों के लिये यह सप्ताह अनुकूल रहने की संभावना है।

कर्क

कर्क राशि का स्वामी चंद्र मिथुन राशि में है। कर्क जातक प्रेम में सफलता मिलने की पूरी उम्मीद कर सकते हैं। आप अपने सपनों के अनुकूल साथी को पा सकते हैं। सफेद धातु या सफेद उपहार का ही इस्तेमाल करें। गुलाबी रंग भी आपके लिये शुभ है। इससे आपके प्रेम संबंध प्रगाढ़ होंगे।

सिंह

सिंह राशि का स्वामी सूर्य मकर राशि में विचरण कर रहा है। जो लोग पिछले दो तीन सालों से प्रेम में असफल हो रहे थे उनके लिये यह सप्ताह अनुकूल रहने के आसार हैं। कुछ बिछड़े प्रेमियों के लिये भी यह सप्ताह उत्तम है। थोड़ा सा अपने अंहकार को कम करें। आपका जीवन आनंदमय रहेगा। प्रेम की डगर पर नया सफर शुरु करने वाले सिंह जातकों के लिये भी वैलेंटाइन वीक का समय सौभाग्यशाली हो सकता है। सोने या तांबे से बनी वस्तु क्षमतानुसार उपहार में दे सकते हैं। लाल रंग के फूल भी आपके लिये शुभ है।

कन्या

कन्या का स्वामी बुध मकर राशि में विचरण कर रहा है। कन्या राशि वालों का प्रेम अक्सर संघर्षमय रहता है। हाल ही में आपका प्रेमजीवन शनि ढ़ैय्या के चलते और भी संघर्षमय हो सकता है। अंजाने में हुई गलतियों को ईमानदारी से स्वीकार करें और अपने अंहकार को त्याग कर एक नई शुरुआत करने का प्रयास करें सफलता मिल सकती है। कुल मिलाकर कन्या राशि वलों के लिये यह सप्ताह संघर्ष का रहने के आसार हैं। हालांकि कुछ प्रेमी युगलों में संबंध विच्छेद की नौबत आ सकती है। ऐसे जातक यह समझें कि जो होता है अच्छे के लिये होता है। काली वस्तुओं का दान करें और नीले रंग की वस्तु अपने साथी को उपहार स्वरूप दें हो सकता है आपकी बिगड़ती हुई बात बन जाये।

तुला

तुला राशि का स्वामी शुक्र अपनी अन्य राशि मीन में विचरण कर रहा है। आपके लिये यह सप्ताह उम्मीद से बहुत अधिक बढ़िया रहेगा लेकिन उन्माद व जल्दबाजी में काम न लें जिससे आपका कार्य बिगड़ सकता है। लंबे समय से प्रेम सूत्र में बंधे प्रेमिजन भी अपने संबंध में एक नया उत्साह एक नई ऊर्जा महसूस कर सकते हैं आपके लिये भी वैलेंटाइन वीक यानि प्रेम का यह सप्ताह उत्तम रहने के आसार हैं। कुछ नई जोड़ियां भी बन सकती हैं। सुगंधित चीज़ों को उपहार स्वरूप दें। इससे आपके बिगड़ते हुए संबंध भी पुन: महकने के आसार बन सकते हैं।

वृश्चिक

वृश्चिक राशि का स्वामी मंगल मीन राशि में शुक्र के साथ विचरण कर रहा है। अपने प्रेमजीवन का आरंभ करने वाले जातकों के लिये यह समय अनुकूल रहने के आसार हैं। इस समय आप अपने सपनों के साथी के साथ मुलाकात कर अपने दिल की बात उन्हें कह सकते हैं। वहीं लंबे समय से प्रेम जीवन का आनंद उठा रहे जातकों को अपने संबंध बचाये रखने के लिये झूझना पड़ सकता है। वृश्चिक जातक लाल और नीले रंग के उपहार बिल्कुल न दें। जो जातक काफी समय से किसी के प्यार में खोये हैं वे अपने साथी के साथ कहीं घूमने की योजना बनायें तो पिछली बातों पर मिट्टी डालकर अपने संबंधों में नई जान डालने में कामयाब हो सकते हैं।

धनु

धनु राशि का स्वामी बृहस्पति अभी शत्रु राशि में विचरण कर रहा है और हाल ही में वक्री भी हुआ है। ग्रहों के गोचर से आपकी राशि के लिये समय अनुकूलित नहीं है। इसलिये आपके लिये यह समय कष्टप्रद हो सकता है। अच्छे विचारों के साथ-साथ अपनी सोच को भी सकारात्मक रखें। जिससे आपको आगे चलकर अच्छे परिणाम मिलें। काले वस्त्र उपहार स्वरूप दे सकते हैं। साथी को पुस्तक भेंट करना भी आपके लिये शुभ है।

मकर

मकर राशि का स्वामी शनि धनु राशि में विचरण कर रहा है जोकि मित्र राशि है। मकर राशि के प्रेमि-प्रेमिकाओं के लिये यह सप्ताह सामान्य रहेगा। प्रेम की डगर पर पहला कदम रखने वाले जातकों के लिये समय बहुत अच्छा रहने के आसार हैं। आपको अपनी पसंद का साथी मिल सकता है प्रयासरत रहें। नीली व सफेद चीज़ों का उपहार आपके साथी को खुशी दे सकता है।

कुंभ

कुंभ राशि का स्वामी धनु राशि में विचरण कर रहा है जोकि आपकी राशि से लाभ घर में है। कुंभ प्रेमी जातकों के लिये यह सप्ताह आनंद देने वाला बना रहने की संभावना है। लेकिन ध्यान रहे यदि प्यार की आग का धुआं दोनों तरफ से उठता दिखाई दे तभी आगे बढ़ें। एकतरफा प्यार करने वाले जातक शुभ समय व शुभ अवसर का इंतजार करें। घड़ी या पीली वस्तुएं उपहार स्वरूप दे सकते हैं।

मीन

मीन राशि का स्वामी बृहस्पति है जो पिछले कुछ समय से कन्या राशि में विचरण कर रहा है और हाल ही में वक्री हुआ है। इस समय आपको दिल से ज्यादा दिमाग से काम लेने की आवश्यकता है। ऐसा करके ही आप अपनी चाहत को पा सकते हैं। सामान्यत: यह सप्ताह आपकी राशि के लिये अनुकूल नहीं है। आपकी अच्छी समझ व अच्छा निर्णय ही आपको आपके प्यार के करीब ला सकता है। पीले वस्त्र और वस्तुओं को ही दान या उपहार में दें। 

यह भी पढ़ें

रोज़ डे – गुलाब से करें वैलेंटाइन वीक की शुरुआत   |   प्रेमियों के लिये कैसा रहेगा 2017   |   कुंडली में प्रेम योग   |   कुंडली में विवाह योग   |   कुंडली में संतान योग

प्यार की पींघें बढानी हैं तो याद रखें फेंग शुई के ये लव टिप्स   |   जानिये, दाम्पत्य जीवन में कलह और मधुरता के योग   |   पढ़ें अपनी प्रेम प्रोफाइल

पढ़ें साल की लव रिपोर्ट   |   दैनिक लव राशिफल   |   




एस्ट्रो लेख संग्रह से अन्य लेख पढ़ने के लिये यहां क्लिक करें

माँ चंद्रघंटा - नवरात्र का तीसरा दिन माँ दुर्गा के चंद्रघंटा स्वरूप की पूजा विधि

माँ चंद्रघंटा - नव...

माँ दुर्गाजी की तीसरी शक्ति का नामचंद्रघंटाहै। नवरात्रि उपासनामें तीसरे दिन की पूजा का अत्यधिक महत्व है और इस दिन इन्हीं के विग्रह कापूजन-आरा...

और पढ़ें...
माँ कूष्माण्डा - नवरात्र का चौथा दिन माँ दुर्गा के कूष्माण्डा स्वरूप की पूजा विधि

माँ कूष्माण्डा - न...

नवरात्र-पूजन के चौथे दिन कूष्माण्डा देवी के स्वरूप की ही उपासना की जाती है। जब सृष्टि की रचना नहीं हुई थी उस समय अंधकार का साम्राज्य था, तब द...

और पढ़ें...
दुर्गा पूजा 2017 – जानिये क्या है दुर्गा पूजा का महत्व

दुर्गा पूजा 2017 –...

हिंदू धर्म में अनेक देवी-देवताओं की पूजा की जाती है। अलग अलग क्षेत्रों में अलग-अलग देवी देवताओं की पूजा की जाती है उत्सव मनाये जाते हैं। उत्त...

और पढ़ें...
जानें नवरात्र कलश स्थापना पूजा विधि व मुहूर्त

जानें नवरात्र कलश ...

 प्रत्येक वर्ष में दो बार नवरात्रे आते है। पहले नवरात्रे चैत्र शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि से शुरु होकर चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि ...

और पढ़ें...
नवरात्र में कैसे करें नवग्रहों की शांति?

नवरात्र में कैसे क...

आश्विन मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा से मां दुर्गा की आराधना का पर्व आरंभ हो जाता है। इस दिन कलश स्थापना कर नवरात्रि पूजा शुरु होती है। वैसे ...

और पढ़ें...