शुक्र राशि परिवर्तन - तुला से वृश्चिक

शुक्र गोचर 28 अक्टूबर 2019, सोमवार को प्रातः 08:12 बजे वृश्चिक राशि में होगा और 21 नवंबर 2019, बृहस्पतिवार को दोपहर 12:04 बजे तक इसी राशि में स्थित रहेगा। शुक्र ग्रह का कैसा प्रभाव 12 राशियों पर पड़ने वाला है। इस लेख में राशिनुसार जानकारी दी जा रही है जो आपके लिए काफी उपयोगी साबित होगी। इससे आप शुक्र गोचर से पड़ने वाले हानिकारक प्रभाव से स्वयं को पहले ही बचाने के लिए तैयार रहेंगे। तो आइये जानते हैं 28 अक्टूबर को होने वाला शुक्र गोचर आपके लिए कितना शुभ व अशुभ है? क्योंकि यह ग्रह ज्योतिष में प्रेम सुख का कारक माना गया है इसलिए आपको इसके राशि बदलने से होने वाले प्रभावों के बारे में जरूर जानना चाहिए।

 

 यह जानकारी सामान्य है कुंडली का आकलन करवाकर शुक्र गोचर का प्रभाव जानने के लिए बात करें देश के प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्यों से। बात करने के लिए यहां क्लिक करें।

 

राशिनुसार शुक्र गोचर का प्रभाव

 

मेष राशि

शुक्र गोचर मेष राशि के जातकों के लिए कुछ खास नहीं रहने वाला है। जीवन साथी की ख़राब सेहत में बदलाव के कारण इसका प्रभाव आपके स्वास्थ्य की स्थिति पर भी पड़ेगा। आपको चिंता करने से बचना चाहिए। अधिक विचार करना आपके लिए उचित नहीं होगा। इसके साथ ही पेशेवर जीवन में भी आपकी चिंताओं में इजाफा होगा। लेकिन धैर्य व सूझबुझ से कार्य करने पर आप इससे उबर सकते हैं। कार्य में देरी हो सकती है। धन हानि का भी संकेत मिल रहा है। किसी को भी कर्ज न दें।

 

बृषभ राशि

शुक्र गोचर बृषभ राशि के जातकों के लिए अच्छा रहने वाला है। बात आपके जीवनसाथी के साथ संबंधों की करें तो यह काफी सौहार्दपूर्ण रहेगा। आपके रिश्तों में प्रगाढ़ता आएगी। इसके साथ ही बात रोज़गार व व्यापार की करें तो आपके लिए उत्तम समय है कि आप अपने व्यापार को बढ़ा सकते हैं। इसके साथ ही आपको करियर में लाभ होगा। लेकिन अभी के लिए कोई मौद्रिक लाभ नहीं है धन खर्च हो सकता है। लव लाइफ रोमांचक रहने वाली है। स्वास्थ्य ठीक रहेगा।

 

मिथुन राशि

मिथुन जातकों के लिए शुक्र गोचर किन्हीं मामलों में ठीक नहीं रहने वाला है। सेहत को लेकर आप परेशान हो सकते हैं। इसलिए अपने खानपान पर विशेष ध्यान दें। इसके साथ ही इस समय आपके विरोधी भी सक्रिय होंगे। आपको वाणी पर नियंत्रण रखना चाहिए अन्यथा आप अपने लिए ज्यादा दुश्मन बना लेंगे। लंबी दूरी यात्रा करने से बचें दुर्घटना की संभावना है। धन लाभ अधिक नहीं होगा, परंतु कुछ अप्रत्याशित धन लाभ होगा। पैसे बचाने की कोशिश करें।

 

कर्क राशि

शुक्र गोचर कर्क राशि के जातकों के लिए अच्छा रहने वाला है। अब तक आपके संबंधों में जो तकरार चल रहा था वह खत्म हो सकता है। लव लाइफ के लिए अच्छा समय है। अपने साथी को कहीं घुमाने ले जाएं, तो आपके संबंध और भी मजबूत होंगे। इसके साथ ही आपको नई नौकरी / नया व्यवसाय करने का मौका मिल सकता है। जो जातक अच्छी नौकरी की तलाश में थे उनकी तलाश खत्म हो सकती है। आपकी वित्तीय स्थिति अच्छी होगी। शिक्षा के लिए भी समय अच्छा है।

 

सिंह राशि

शुक्र गोचर सिंह राशि के जातको के लिए शुभ रहेगा जो जातक नया घर या नया वाहन खरीदना चाहते हैं तो समय अनुकूल है आप खरीद सकते हैं। लघु यात्राओं का संकेत मिल रहा है। यात्रा आपके लिए शुभ साबित होगी। इसके साथ ही आपके संबंधों के लिए शुक्र गोचर सौहार्दपूर्ण रहने वाला है। पार्टनर से सहयोग मिलेगा।

 

कन्या राशि

कन्या राशि के जातकों के लिए यह गोचर औसत उत्साह लेकर आ रहा है लेकिन भाग्य का साथ आपको भरपूर मिलने वाला है। कार्यों में विलंब हो सकते है लेकिन अंतिम समय में आपको सफलता मिलेगी ऐसा आपके भाग्य के कारण होगा। इसके साथ ही जो जातक शादीशुदा हैं और उनके वैवाहिक जीवन में काफी दिनों से उतार चढ़ाव आ रहा है तो आपकी यह भी समस्या दूर होगी। साथी आपका सम्मान करेगा और आपको पूरा प्यार देगा।

 

तुला राशि

तुला राशि के लोगों के लिए शुक्र गोचर अच्छा रहने वाला है। वैसे भी शुक्र तुला राशि के स्वामी ऐसे में जातकों को उनके युवा भाई बहनों से प्यार व सम्मान मिलेगा। इसके साथ ही आप किसी छोटी यात्रा पर जा सकते हैं इसका संकेत मिल रहा है। यात्रा आपके लिए मंगलमय रहेगी। सामाजिक स्तर में और सुधार होगा। आप सार्वजनिक कार्यों में शामिल होंगे। आप सकारात्मक ऊर्जा से घिरे रहेंगे। जिसका आपको लाभ होगा। वित्तीय स्थिति स्थिर रहेगी।

 

वृश्चिक राशि

कलात्मक विचार आपके मन में पैदा होंगे। जो आपके लिए काफी लाभदायक होंगे। शुक्र गोचर आपके लिए अच्छा रहने वाला है। आपके लिए धन लाभ करवाने वाला होगा। छात्रों के लिए भी यह गोचर शुभ है। यदि विद्यार्थी किसी परिणाम की प्रतीक्षा कर रहे हैं तो परिणाम आपके हित में आ सकता है। इसके अलावा पढ़ाई के लिए जो जातक स्थान बदलने की सोच रहे थे उनकी ये इच्छा पूरी हो सकती है।

 

धनु राशि

धनु राशि के जातकों के लिए यह गोचर अच्छा समय लेकर आ रहा है। करियर की बात कि जाए तो समय आपका पूरा साथ देगा। किए गए कार्य से आपको लाभ होगा। करियर में आपको सफलता मिलेगी। जो जातक विवाह व मंगलिक कार्यों के लिए रूके हुए थे उनके लिए भी यह समय शुभ रहने वाला है। विवाह के लिए अच्छे रिश्ते आएंगे। शैक्षिक पाठ्यक्रम के लिए भी अच्छा समय है। विद्यार्थियों को सफलता मिलेगी।

 

मकर राशि

शुक्र का गोचर मकर राशि के जातकों के लिए सामान्य रहने वाला है। परंतु आप अपने कार्यों से इसे अपने लिए अच्छा बना सकते हैं। किसी की मदद से आपके काम पूरे होंगे। जिससे आपको लाभ होगा। इसके साथ ही कुछ भी खरीदने के लिए यह समय अनुचित है परंतु आप अपनी कोई संपत्ति बेचना चाहते हैं तो समय अनुकूल है। इससे आपको धन लाभ होगा।

 

कुंभ राशि

शुक्र का गोचर होना कुंभ जातकों के लिए शुभ साबित होने वाला है। बात करें व्यापार की तो कुंभ जातकों को व्यावसायिक लाभ होने की पूरी संभावना दिखायी दे रही है। यदि आप घर खरीदने पर विचार कर रहे हैं तो आपकी यह योजना पूरी हो सकती है। क्योंकि शुक्र का गोचर आपकी संपत्ति में बढ़ोतरी का संकेत दे रहा है। इसके साथ ही यदि संपत्ति से संबंधित कोई विवाद है तो वह भी सुलझ सकता है। कुछ नया करने की चाह जाग सकती है समय अच्छा है आप कुछ नया कर सकते हैं। मीडिया में जो लोग हैं उनके लिए भी यह गोचर शुभ साबित होगा।

 

मीन राशि

शुक्र गोचर मीन राशि के जातकों के लिए अच्छा रहेगा। जैसा हम जानते हैं कि शुक्र ज्योतिष में प्रेम कारक है और मीन राशि के जातकों के लिए अपना प्रभाव दिखा भी रहा है। मीन जातकों के साथी उनका पूरा समर्थन करेंगे। बस आपको संतान पक्ष से परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। पेशेवर तौर पर कोई आपको अनुकूल सलाह दे सकता है। जो आपके लिए अच्छा रहेगा।

 

यह राशिफल सामान्य गणना के आधार पर प्रस्तुत किया गया है अपनी कुंडली के अनुसार शुक्र के नकारात्मक परिणामों से बचने के उपाय जानने के लिये एस्ट्रोयोगी पर देश भर के प्रसिद्ध ज्योतिषियों से परामर्श करें।

 

यह भी पढ़ें

 ग्रह गोचर 2019   |   शुक्र गोचर 2019   |   शुक्र ग्रह - कैसे बने भार्गव श्रेष्ठ शुक्राचार्य पढ़ें पौराणिक कथा । बुध गोचर 2019

एस्ट्रो लेख

मार्गशीर्ष – जा...

चैत्र जहां हिंदू वर्ष का प्रथम मास होता है तो फाल्गुन महीना वर्ष का अंतिम महीना होता है। महीने की गणना चंद्रमा की कलाओं के आधार पर की जाती है इसलिये हर मास को अमावस्या और पूर्णिमा ...

और पढ़ें ➜

देव दिवाली - इस...

आमतौर पर दिवाली के 15 दिन बाद यानि कार्तिक माह की पूर्णिमा के दिन देशभर में देव दिवाली का पर्व मनाया जाता है। इस बार देव दिवाली 12 नवंबर को मनाई जा रही है। इस दिवाली के दिन माता गं...

और पढ़ें ➜

कार्तिक पूर्णिम...

हिंदू पंचांग मास में कार्तिक माह का विशेष महत्व होता है। कृष्ण पक्ष में जहां धनतेरस से लेकर दीपावली जैसे महापर्व आते हैं तो शुक्ल पक्ष में भी गोवर्धन पूजा, भैया दूज लेकर छठ पूजा, ग...

और पढ़ें ➜

तुला राशि में म...

युद्ध और ऊर्जा के कारक मंगल माने जाते हैं। स्वभाव में आक्रामकता मंगल की देन मानी जाती है। पाप ग्रह माने जाने वाले मंगल अनेक स्थितियों में मंगलकारी परिणाम देते हैं तो बहुत सारी स्थि...

और पढ़ें ➜