27 अप्रैल को होने जा रहा है इस ग्रह का राश‍ि परिवर्तन, जानें प्रेम और करियर में किसकी होगी तरक्‍की

bell icon Tue, Apr 26, 2022
एस्ट्रो पुजेल एस्ट्रो पुजेल के द्वारा
Shukra Gochar 2022: शुक्र का मीन राशि में गोचर, किस राश‍ि वालों की होगी प्रेम और करियर में तरक्‍की

Shukra Gochar 2022: ज्योतिष में शुक्र वह ग्रह है जो जीवन की विलासिता, आराम, मनोरंजन, रचनात्मकता, प्रेम, विवाह और जुनून को नियंत्रित करता है। ऐसे में अविवाहित जातक विवाह करने के लिए साथी की तलाश कर सकते हैं। वहीं इस अवधि के दौरान अध्यात्म सभी समाधानों का अंतिम स्रोत बनेगा।

बुधवार 27 अप्रैल 2022 को शाम 06 बजकर 31 मिनट पर शुक्र मीन राशि में प्रवेश (Shukra Meen Rashi mai pravesh) करने वाले हैं। कला और रचनात्मकता के क्षेत्र में काम करने वाले लोग इस दौरान आगे बढ़ेंगे और उनका रचनात्मक अंतर्ज्ञान अपने चरम पर होगा। वैदिक ज्योतिष में तुला और वृष राशि पर शुक्र (Venus) का दोहरा प्रभुत्व है। नतीजतन, शुक्र हमारे जीवन के दो प्रमुख क्षेत्रों का स्वामी है, प्रेम और सांसारिक सुख।

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि इस गोचर के दौरान लोगों के लिए सकारात्मक परिणाम लाने के लिए शुक्र मीन राशि में उच्च का रहेगा। राशि चक्र का बारहवां चिन्ह, मीन, आध्यात्मिक यात्रा, विदेशी लाभ और व्यय का प्रतिनिधित्व करता है। नतीजतन, शुक्र का मीन राशि में गोचर (Shukra Gochar Meen Rashi) आपको अधिक आध्यात्मिक बनने और आपके आंतरिक स्व से जुड़कर आपके वास्तविक ज्ञान को बढ़ाने में सहायता करेगा। इसके अलावा, इस दौरान जातक सुख-सुविधाओं और विलासिता पर पैसा खर्च करने के लिए प्रेरित हो सकते हैं। 

क्या आप जानना चाहते हैं कि शुक्र गोचर (Venus Transit) आपके जीवन को कैसे प्रभावित कर सकता है? अभी एस्ट्रोयोगी एस्ट्रोलॉजर से संपर्क करें। बात करने के लिए लिंक पर क्लिक करें।

शुक्र का मीन राशि में गोचर, राशि चक्र पर इसका क्या है प्रभाव

आइए देखें कि मीन राशि में शुक्र गोचर (Venus Transit in Pisces) के दौरान किन राशियों को सावधान रहना है, क्योंकि उनके जीवन में महत्वपूर्ण परिवर्तन हो सकते हैं। आप इस लेख में कुछ उपाय भी जानेंगे। आइए पढ़ते हैं शुक्र गोचर के परिणाम के बारे में- 

शुक्र गोचर का मेष राशि के लिए प्रभाव: व्यापार के लिए उत्तम समय

शुक्र आपके बारहवें भाव में गोचर करेगा। कुल मिलाकर यह गोचर लाभप्रद रहेगा क्योंकि आप इस गोचर के दौरान सौभाग्य से घिरे रहेंगे। विदेशी कंपनियों या विदेश में काम करने वालों को इस अवधि में बेहतरीन परिणाम मिलेंगे। नौकरीपेशा लोगों के लिए यह समय थोड़ा चुनौतीपूर्ण हो सकता है। इस अवधि में कोई भी परिवर्तन करने से बचें, क्योंकि इससे कोई लाभ नहीं होगा। अपने आस-पास के नकारात्मक लोगों और ऊर्जाओं से बचने की कोशिश करें। कुल मिलाकर यह समय आपके लिए अच्छा रहेगा।

उपाय- सूर्य मंत्र का जाप करें।

शुक्र गोचर का वृषभ राशि के लिए प्रभाव: करियर में लाभ

शुक्र आपके ग्यारहवें भाव में गोचर करेगा और इस अवधि में आपको धन लाभ होगा। जो लोग कोई नया व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं या अपने जीवन में कोई बदलाव करना चाहते हैं उनके लिए यह एक अच्छा समय है। वेतनभोगी पेशेवरों को इस अवधि के दौरान पदोन्नति मिल सकती है। इस दौरान आप ऊर्जावान महसूस करेंगे और लंबी यात्राओं पर जा सकते हैं। कुल मिलाकर यह समय आपके लिए फलदायी रहेगा।

उपाय- रोज सुबह शिव जी का दर्शन करें।

यह भी पढ़ें:👉 कितनी सच्ची होती है वृषभ राशि महिलाएं से दोस्ती

शुक्र गोचर का मिथुन राशि के लिए प्रभाव: विद्यार्थियों के लिए सही समय

मिथुन जातक शुक्र आपके दसवें भाव में गोचर करेगा। सौंदर्य, ग्लैमर और कला उद्योग में काम करने वाले लोगों को इस समय काफी लाभ होगा। आप अपने कर्म का उपयोग चीजों को बेहतर बनाने के लिए कर सकते हैं। आप अपने जीवन में सफलता प्राप्त करेंगे, भले ही आप इस दौरान प्रेम विवाह की योजना बना रहे हों। जो लोग अधिक विस्तारित अवधि के लिए विदेश में अध्ययन करने की इच्छा रखते हैं, उन्हें इस दौरान प्रयास करना चाहिए; उन्हें अत्यधिक लाभ होगा। कुल मिलाकर यह समय हर दृष्टि से अच्छा रहेगा।

उपाय- केसर का तिलक लगाएं।

शुक्र गोचर का कर्क राशि के लिए प्रभाव: धैर्य से काम लें

शुक्र आपके नौवें भाव में गोचर करेगा, इस दौरान आपको अपनी माता का सहयोग प्राप्त होगा। वे आपके लिए भाग्यशाली होंगी और आपके स्वास्थ्य का ख्याल रखेंगी। इस अवधि में आप धार्मिक यात्राओं पर जाएंगे, यह परिवार के साथ हो सकता है। आप आध्यात्मिक कार्यों में बहुत रुचि लेंगे। इस दौरान कोई भी भावनात्मक फैसला न लें। प्रैक्टिकल रहना है, नहीं तो आपको नुकसान का सामना करना पड़ सकता है। कुल मिलाकर यह अवधि आपको लाभ देगी और आपको अपने परिवार का सहयोग मिलेगा।

उपाय- भगवान श्रीकृष्ण को मक्खन का भोग लगाएं।

शुक्र गोचर का सिंह राशि के लिए प्रभाव: योग व ध्यान का समय

सिंह जातक शुक्र आपके आठवें भाव में गोचर करेंगे। इस दौरान आप काफी तनाव में रहेंगे, जिसका असर आपके मानसिक स्वास्थ्य पर पड़ेगा। आपको अपनी अति सोच को समाप्त करना होगा और अपने काम पर ध्यान केंद्रित करना होगा। अगर आप फोकस करेंगे तो आपको अपने काम में सफलता मिलेगी। इस दौरान ध्यान व योग करना शुरू करें क्योंकि यह आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद साबित  हो सकता है। बहुत प्रयास करने के बाद आपको अच्छे परिणाम प्राप्त होंगे, इसलिए समय बर्बाद न करें और शुरुआत करें। भाई-बहनों से आपकी अनबन हो सकती है। सामान्य तौर पर, आप इस पूरे समय में अच्छे निर्णय लेंगे।

उपाय- दूध का दान करें।

शुक्र गोचर का कन्या राशि के लिए प्रभाव: वैवाहिक जीवन के लिए अच्छा

कन्या जातकों के लिए शुक्र आपके सप्तम भाव में गोचर करेगा, जिससे यह व्यावसायिक जगत के व्यक्तियों के लिए एक अच्छा समय लेकर आएगा। आपका भाग्य आपके पक्ष में रहेगा और आपकी कमाई में सुधार होगा। आपका पार्टनर आपका पूरा सपोर्ट करेगा। जिन लोगों की अभी तक शादी नहीं हुई है, उन्हें एक योग्य जीवनसाथी मिल सकता है, जबकि विवाहित जातक के जीवन में चल रही समस्याओं का समाधान हो जाएगा। धार्मिक कार्यों में भी आपकी काफी रुचि रहेगी। आपका नाम समाज में प्रसिद्ध होगा और परिणामस्वरूप आपका परिवार आपके पीछे खड़ा रहेगा। कुल मिलाकर यह आपके लिए अच्छा समय है; इसका ज्यादा से ज्यादा फायदा उठाएं।

उपाय- गरीब लोगों को सप्ताह में एक बार भोजन कराएं।

शुक्र गोचर का तुला राशि के लिए प्रभाव: सेहत पर ध्यान दें

इस दौरान शुक्र आपके छठे भाव में गोचर करेंगे और जो जातक नई नौकरी की तलाश कर रहे हैं उन्हें नए अवसर मिलेंगे। इस समय के दौरान अधिक केंद्रित रहें, क्योंकि ध्यान भंग होगा, लेकिन आपको उच्च स्तर का नियंत्रण बनाए रखना होगा। संतुलित और स्वस्थ आहार खाकर अपने स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखें। सामान्य तौर पर आपके लिए अच्छा समय है। बस अपने स्वास्थ्य का अतिरिक्त ध्यान रखें।

उपाय- राधा-कृष्ण का दर्शन करें।

यह भी पढ़ें:👉 आप और आपके साथी के कितने गुण मिलते है, अभी करें कुंडली मिलान  

शुक्र गोचर का वृश्चिक राशि के लिए प्रभाव: परिवार पर ध्यान दें

वृश्चिक जातक शुक्र आपके पंचम भाव में गोचर करेगा। यह उन लोगों के लिए फायदेमंद है जो व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं या साझेदारी बनाना चाहते हैं। व्यापार करने वाले या विदेश में काम करने वाले इस समय समृद्ध होंगे। आपके सभी प्रयास सकारात्मक परिणाम देंगे। आप और आपके जीवन साथी का साथ सुखद रहेगा और आप अच्छा समय व्यतीत करेंगे। संतान की आशा रखने वाले विवाहित जोड़ों को शुभ समाचार प्राप्त हो सकता है। कुल मिलाकर यह समय आपके लिए खुशी का रहेगा।

उपाय- पीले चंदन का तिलक लगाएं।

शुक्र गोचर का धनु राशि के लिए प्रभाव: मान- सम्मान में वृद्धि

धनु शुक्र आपके चतुर्थ भाव में गोचर करेंगे और संपत्ति के मामले में ये आप जातकों को अनुकूल परिणाम देंगे। आप निवेश कर सकते हैं और यह आपके लिए फायदेमंद रहेगा। आपका जीवन और विलासितापूर्ण हो जाएगा। आपकी मां आपके लिए सहायक और भाग्यशाली रहेंगी। आप अपने वरिष्ठों के साथ मजबूत संबंध बनाएंगे, जो भविष्य में फायदेमंद होगा। आप व्यावसायिक यात्रा पर जा सकते हैं, और यह सफल होगा। आपके आत्म-सम्मान में सुधार होगा और आपके पास कुल मिलाकर अच्छा समय होगा।

उपाय- वृद्धाश्रम में केले का दान करें। 

शुक्र गोचर का मकर राशि के लिए प्रभाव: परिश्रम सफलता की कुंजी

मकर जातक शुक्र आपके तीसरे भाव में गोचर करेगा। यह गोचर मीडिया लाइन के लोगों को इस अवधि में सफलता दिलाने का काम करेगा। जो लोग उच्च शिक्षा प्राप्त करना चाहते हैं वे उत्कृष्ट परिणाम प्राप्त करेंगे और विदेश में इसे आगे बढ़ाने में सक्षम हो सकते हैं। आपके बच्चों को भी उनकी मेहनत का फायदा मिलेगा। प्रेम विवाह के लिए जूझ रहे लोगों को भरपूर मदद मिलेगी। कुल मिलाकर इस दौरान आपकी मेहनत का ही फल मिलेगा।

उपाय- दुर्गा सप्तशती का पाठ करें।

शुक्र गोचर का कुंभ राशि के लिए प्रभाव: पैतृक संपत्ती से लाभ

कुंभ जातक शुक्र आपके दूसरे भाव में गोचर करेगा। संपत्ति व्यवसाय, शिक्षण और परामर्श क्षेत्र के लोग अच्छा करेंगे। इस गोचर अवधि में आपका परिवार बहुत सहायक होगा और एक मौका है कि आपको अपने पूर्वजों से जमीन या धन विरासत में मिलेगा। इस दौरान आप उत्साहित और ऊर्जावान महसूस करेंगे। लंबे समय से रुका हुआ काम फिर से शुरू होगा। कुल मिलाकर आपको इस दौरान अपने विवेक का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए।

उपाय- मूंग की दाल का दान करें।

शुक्र गोचर का मीन राशि के लिए प्रभाव: सतर्क रहने का समय

शुक्र आपके प्रथम भाव में गोचर करेंगे। इस दौरान मीन जातकों को मनचाहे फल की प्राप्ति होगी। आपके नाम और प्रसिद्धि में वृद्धि होगी, लेकिन आप कुछ ज्यादा ही सोचेंगे और बहुत तनाव में रहेंगे। यदि आप नहीं चाहते कि आपका स्वास्थ्य खराब हो तो इसे रोकने का प्रयास करें। अपने छिपे हुए शत्रुओं से सावधान रहने की कोशिश करें क्योंकि वे आपको नुकसान पहुंचा सकते हैं। कुल मिलाकर यह चरण आपको लाभ पहुंचाएगा, लेकिन आपको अपने मानसिक स्वास्थ्य को बनाए रखना होगा।

उपाय- लक्ष्मी बीज मंत्र का जाप करें।

परिणामस्वरूप, हम यह निष्कर्ष निकाल सकते हैं कि मीन राशि में शुक्र का गोचर प्रत्येक राशि को स्पष्ट रूप से लाभान्वित करेगा। हमारे जीवन को बेहतर बनाने के लिए हमें धैर्य और विश्वास बनाए रखना होगा।

नोट: ये सभी सामान्यीकृत भविष्यवाणियां हैं। व्यक्ति की जन्म तिथि के आधार पर भविष्यवाणियां भिन्न हो सकती हैं।

यह गोचर आपके जीवन और भाग्य को कैसे प्रभावित कर सकता है, जानने के लिए एस्ट्रोयोगी के एस्ट्रो पुजेल से तुरंत संपर्क करें। अभी परामर्श करने के लिए लिंक पर क्लिक करें

✍️ लेखक- एस्ट्रो पुजल

chat Support Chat now for Support
chat Support Support