एस्ट्रो लेख

दानवीर कर्ण थे ...

कर्ण जिन्हें सूर्यपुत्र, राधेय, वासुसेना, अंगराज, जैसे कई नामों से जाना जाता है, कर्ण जोकि अर्जुन से श्रेष्ठ धनुर्धर और महान यौद्धा था। जिसे धृतराष्ट्र के सारथी अधिरथ व उनकी पत्नी ...

और पढ़ें ➜

धन प्राप्ति के ...

भगवान श्री कृष्ण की अपने भक्तों पर विशेष अनुंकपा होती है। वे सखा के रूप में सुदामा का उद्धार करते हैं तो अर्जुन के सारथी बन उन्हें कर्तव्य पालन की प्रेरणा भी देते हैं। वे प्रेम में...

और पढ़ें ➜

गुरु चाण्डाल दो...

ज्योतिषशास्त्र कुंडली के अनुसार हमारे भविष्य का पूर्वानुमान लगाता है। इसके लिये ज्योतिषशास्त्री अध्ययन करते हैं ग्रहों की दशाओं का। इन दशाओं में कुछ ग्रह बहुत ही खराब माने जाते हैं...

और पढ़ें ➜

आपके माथे पर लि...

क्या आपने कभी महसूस किया है कि पहली बार में आप जिस शख्स को देखते हैं और जो धारणा उस समय बनाते हैं आगे चलकर वह उस पर खरा नहीं उतरता। या फिर कई बार आप देखते हैं कि दिखने में पहली बार...

और पढ़ें ➜

क्यों नहीं पूजे...

ब्रह्मा सृष्टि के रचनाकार माने जाते हैं। त्रिदेवों में ब्रह्मा, विष्णु और महेश हैं ब्रह्मा का नाम सबसे पहले आता है क्योंकि वे दुनिया के रचनाकार हैं लेकिन बावजूद इसके ब्रह्मा की कही...

और पढ़ें ➜

यदि आपमें दिखाई...

जीवन में अपने मुकाम को कौन नहीं हासिल करना चाहता? किसे अपने सपनों से प्यार नहीं होता? लेकिन ये सपने सच होंगे या नहीं यह आप पर, आपकी क्षमताओं पर आपकी प्रतिभाओं पर निर्भर करता है। अप...

और पढ़ें ➜

धन पाने के लिये...

दूध स्वास्थ्य के लिये बहुत ही महत्वपूर्ण आहार है, प्रोटीन से लेकर हमारी सेहत के लिये जरूरी विभिन्न तत्व दूध में होते हैं। दूध हमारी सेहत बनाने के लिये तो कारगर है ही लेकिन क्या आप ...

और पढ़ें ➜

यदि चाहते हैं घ...

सुख यानि की समृद्धि शांति यानि की संतुष्टि जीवन में किसे नहीं चाहिये। घर से लेकर दफ्तर तक प्यार से लेकर व्यापार तक की भागदौड़ आदमी सुख-शांति यानि की आनंद की प्राप्ति के लिये ही तो ...

और पढ़ें ➜

घर में बनाना हो...

सनातन धर्म में कहा गया है कि घर में मंदिर के होने से सकारात्मक ऊर्जा उस घर में बनी रहती है. आज बेशक हम विकसित होने की राह पर हैं किन्तु आज भी हिन्दू लोगों ने अपने संस्कार और संस्कृ...

और पढ़ें ➜

जानिये, दाम्पत्...

हर पुरुष सुंदर पत्नी और स्त्री धनवान पति की कामना करते हैं। जीवन में किसी न किसी का साथ मनुष्य के लिए बेहद आवश्यक हो जाता है। कोई साथ हो या दाम्पत्य साथी अनुकूल हो तो हर तरह की परि...

और पढ़ें ➜

नटराज – सृष्टि ...

भगवान भोलेनाथ, शिव, शंकर, अर्ध नारीश्वर, हरिहर, हर, महादेव आदि अनेक नाम भगवान शिव के हैं। त्रिदेवों में सबसे लोकप्रिय भगवान शिव ही माने जाते हैं। भगवान भोलेनाथ ही हैं जिनसे हिंदू य...

और पढ़ें ➜

सकट चौथ – इस दि...

भगवान गणेश जिन्हें हर कार्य के प्रारंभ में पूजा जाता है। जिन्हें हर जन मंगलकारी मानता है। इन्हीं भगवान श्री गणेश की आराधना का दिन होता संकष्टी चतुर्थी। वैसे तो हर चंद्र मास में दो ...

और पढ़ें ➜

आखिर क्यों भस्म...

भगवान भोलेनाथ की पूजा में राख का इस्तेमाल होते तो आपने देखा ही होगा, हो सकता है आप राख का तिलक भी लगाते हों। बहुत सारे शिव उपासक राख का तिलक अपने मस्तक पर लगाते हैं। भगवान भोलेनाथ ...

और पढ़ें ➜

राहू देता है चौ...

ज्योतिषशास्त्र के अनुसार सभी जातकों का भूत वर्तमान व भविष्य जातक की जन्मकुंडली में ग्रहों की दशाओं से प्रभावित होता है। इसी प्रभाव के कारण कुछ ग्रह अच्छा परिणाम देने वाले माने जाते...

और पढ़ें ➜

श्रद्धा राम फिल...

ओम जय जगदीश हरे घरों से लेकर मंदिरों तक सुबह-शाम गायी जाने वाली आरती, एक आरती जिसे गाने व सुनने वाले अपने आप को धन्य समझते हैं। एक आरती जिसके हर शब्द से आस्था का असीम व गहरा सागर ह...

और पढ़ें ➜

राशिनुसार रत्न ...

ज्योतिष विज्ञान के अनुसार राशिचक्र की सभी राशियों को ग्रहों की चाल प्रभावित करती है। हर राशि किसी न किसी ग्रह से संचालित भी होती है यानि प्रत्येक राशि का एक स्वामी ग्रह होता है। जब...

और पढ़ें ➜

मनचाहा जीवनसाथी...

प्यार में हारा, प्यार का मारा व्यक्ति अपने प्यार को पाने के लिये कुछ भी कर गुजरने को तैयार रहता है और रहे भी क्यों न प्यार आखिर सुखी जीवन की एक मूलभूत जरूरत जो है। प्यार के बिना जी...

और पढ़ें ➜

क्या कहते हैं स...

वैसे तो वैदिक संस्कृति के अनुसार जातक के जन्म से लेकर मरणोपरांत तक सोलह संस्कारों का निबाह किया जाता है। इन्हीं संस्कारों में एक महत्वपूर्ण संस्कार माना जाता है विवाह संस्कार। विवा...

और पढ़ें ➜

2017 विधानसभा च...

नया साल हर लिहाज से महत्वपूर्ण माना जाता है। जीवन के हर क्षेत्र से नव वर्ष में नई उम्मीदें जुड़ने लगती हैं। नई आशंकाएं भी उभरती हैं। अपने जीवन के हालातों के साथ-साथ देश दुनिया में ...

और पढ़ें ➜

इस चमत्कारिक मं...

हिमाचल प्रदेश में कांगड़ा से 30 किलो मीटर दूर स्थित है ज्वालामुखी देवी मंदिर। ज्वालामुखी मंदिर को ‘जोता वाली’ माता का मंदिर और नगरकोट भी कहा जाता है। ज्वालामुखी मंदिर को खोजने का श्...

और पढ़ें ➜