हिंदू पंचांग मास 2020 – हिंदू मास के नाम व तिथियां

यदि आपसे पूछा जाये कि महीनों के नाम बताओ तो आपके जहन में झट से जनवरी, फरवरी, मार्च, अप्रैल आदि 12 महीनों के नाम आ जायेंगें लेकिन क्या आप जानते हैं यह माह तो अंग्रेजी कैलेंडर वर्ष के माह हैं। भारतीय पंचांग के अनुसार महीनों के नाम क्या हैं? कब कौनसा माह आरंभ हो रहा है? भारतीय कैलेंडर का पहला महीना कौनसा होता है? इन सब सवालों के जवाब आपको इस लेख में मिलेंगें।

घर या गाड़ी खरीदने के लिये शुभ योग कब बन रहे हैं? जानें एस्ट्रोयोगी ज्योतिषाचार्यों से, ज्योतिषी जी से बात करने के लिये यहां क्लिक करें।

 

क्या हैं भारतीय माह और कैसे होता है निर्धारण

भारतीय या कहें हिंदू पंचांग के अनुसार भी महीनों की संख्या 12 ही होती है। लेकिन भारतीय वर्ष कैलेंडर में काफी विविधताएं मिलती हैं। चंद्र वर्ष व सूर्य वर्ष दोनों के माह अलग अलग होते हैं। सूर्य मास जहां राशियों में सूर्य की संक्रांति से आरंभ होता हैं वहीं चंद्र मास पूर्णिमांत और अमांत दो प्रकार के होते हैं। भारतीय महीनों के नामों का निर्धारण नक्षत्रों के नाम पर हुआ है। माह की पूर्णिमा तिथि को चंद्रमा जिस नक्षत्र में होता है उसी के आधार पर महीनों के नाम रखे गये हैं। हिंदू नववर्ष का आरंभ चैत्र मास से होता है तो वर्षांत फाल्गुन से।

 

मास व तिथि

हिंदू मास 30 तिथियों का होता है। पूर्णिमा व अमावस्या को छोड़कर सभी तिथियां दो बार आती हैं। पूर्णिमांत मास पूर्णिमा को समाप्त होता है तो अमांत मास का समापन अमावस्या को होता है। उत्तर भारत में पूर्णिमांत मास का प्रचलन अधिक है तो दक्षिण में अमांत की मान्यता अधिक है। प्रतिपदा मास की पहली तिथि होती है इसके पश्चात द्वितीया, तृतीया आदि चतुर्दशी तक चौदह तिथियां आती हैं पंद्रहवीं तिथि पूर्णिमा या अमावस की होती है। जिस समय चंद्रमा बढ़ते क्रम में होता है वह शुक्ल पक्ष कहलाता है तो वहीं घटते क्रम में चंद्रमा जब रहता है तो उसे कृष्ण पक्ष कहते हैं। पांचांग के बारे में विस्तार से जानने के लिए यहां क्लिक करें।

 

2020 में हिंदू पंचांग मास कब से कब तक

पौष – 13 दिसंबर 2019 से 10 जनवरी 2020

माघ – 11 जनवरी से 9 फरवरी 2020

फाल्गुन – 10 फरवरी से 09 मार्च 2020

चैत्र – 10 मार्च से 08 अप्रैल 2020

वैशाख – 08 अप्रैल से 07 मई 2020

ज्येष्ठ – 08 मई से 05 जून 2020

आषाढ़ – 06 जून से 03 जुलाई 2020

श्रावण – 06 जुलाई से 03 अगस्त 2020

भाद्रपद – 04 अगस्त से 02 सितंबर 2020

आश्विन – 03 सितंबर से 31 अक्तूबर 2020

अधिक आश्विन – 18 सितंबर से 16 अक्तूबर 2020

कार्तिक – 01 नवंबर से 30 नवंबर 2020

मार्गशीर्ष – 01 दिसंबर से 30 दिसंबर 2020

पौष – 31 दिसंबर 2020 से 28 जनवरी 2021

 

यह भी पढ़ें

शनि अमावस्या   |   सर्वपितृ अमावस्या 2020   |   मौनी अमावस्या 2020   |   पूर्णिमा 2020   |   एकादशी 2020   |   हिंदू पंचांग मास 2020

एस्ट्रो लेख

हनुमान जी के इस...

क्या आपने कभी सुना या पढ़ा है कि भगवान भी अपने भक्त को किसी मांग के पूरा होने की गारंटी दे सकते हैं। जी हाँ, अपने ऐसा कभी सोचा भी नहीं होगा। लेकिन कर्नाटक राज्य के गुलबर्गा क्षेत्र ...

और पढ़ें ➜

गंधमादन पर्वत -...

श्री हनुमान चालीसा में गोस्वामी तुलसीदास ने भी लिखा है कि – ‘चारो जुग परताप तुम्हारा है परसिद्ध जगत उजियारा।’ इस चौपाई में साफ संकेत है कि हनुमान जी ऐसे देवता है, जो हर ...

और पढ़ें ➜

बुध का मीन राशि...

मीन राशि बुध की नीच राशि मानी जाती है जबकि कन्या में बुध उच्च के रहते हैं। 07 अप्रैल 2020 को अपराह्न 02 बजकर 34 मिनट पर  बुध मीन में गोचर कर रहे हैं। उच्च राशि में बुध लगभग शुभ फलद...

और पढ़ें ➜

चैत्र पूर्णिमा ...

पूर्णिमा यानि चंद्रमास का वह दिन जिसमें चंद्रमा पूर्ण दिखाई देता है। पूर्णिमा का धार्मिक रूप से बहुत अधिक महत्व माना जाता है। हिंदूओं में तो यह दिन विशेष रूप से पावन माना जाता है। ...

और पढ़ें ➜