2021 में क्या कहती है भारत की कुंडली?

30 दिसम्बर 2020

जैसा कि हम सब जानते हैं कि नववर्ष 2021 का सबको इंतजार रहता है। सब नई आशा और नये जोश के साथ अपने अपने कार्यों को सकारात्मक रूप देने के लिए तत्परता से नये साल में कुछ नवीनीकरण करने और सरकार द्वारा नवीकरण होने की राह देख रहे हैं। हालांकि 2020 में बहुत सारे उतार-चढ़ाव देखने को मिले हैं। जानलेवा महामारी के चलते लॉकडाउन के कारण कई दिक्कतों का सामना करना पड़ा। परंतु इस कठिन दौर में भी देश में मानवता और एकता का प्रभाव भी देखने को मिला और सरकार द्वारा राहतकोश से अन्न की पूर्ति की गई। वहीं महामारी का असर देश और विदेश की अर्थव्यवस्था पर भी देखा गया है। अब 2021 में लोगों को उम्मीद सुधार की है और राहत मिलने की।

 

यह तो रहा भारत की कुंडली का हाल आपकी कुंडली क्या कहती है इस साल जानने के लिये एस्ट्रोयोगी पर बात करें देश के जाने माने ज्योतिषाचार्यों से। 
 

ज्योतिषशास्त्र के मुताबिक, भारत को 15 अगस्त 1947 को ठीक 12 बजे आजादी मिली थी। भारत के जन्मस्थान की जगह दिल्ली को माना गया है। भारत की लग्न कुंडली वृषभ है। लग्न में राहु विराजमान है और सप्तम भाव में केतु बैठे हैं। तीसरा भाव पराक्रम भाव है वहां चंद्रमा विराजमान है। इसके अलावा बुध, शुक्र, शनि और सूर्य पंचग्रही योग बना रहे हैं, वहीं शुक्र और शनि अस्त हैं। 

 

भारत के लिये कैसा रहेगा 2021?

साल 2021 की शुरुआत कन्या लग्न से और कर्क राशि में हो रही है। 14 जनवरी 2021 को सूर्य और शनि एक ही राशि यानि मकर में विराजमान रहेंगे। ऐसे में भारत की स्थिति में सुधार होने का उत्तम समय शुरु हो सकता है। 20 नवंबर को बृहस्पति नवम भाव में होंगे तो भारत की स्थिति और अच्छी हो जाएगी। साल के मध्य तक जानलेवा महामारी से राहत मिलने की संभावना है। स्कूल, कॉलेज और ऑफिस वापस से पूर्णतया खुल जाने के आसार हैं। सरकार की तरफ से किसानों के हित में अहम फैसले लिए जाएंगे, जिससे किसानों में खुशी की लहर दौड़ जाएगी। 

 

वर्ष 2021 में शनि की स्थिति अच्छी रहने की वजह  से बारिश अच्छी होगी और फसल अच्छी रहने की संभावना है। वहीं चीन, भारत और पाकिस्तान के बीच युद्ध होने की संभावना है। लेकिन बाकी देश भारत का ही साथ देंगे जिसकी वजह से भारत की स्थिति मजबूत रहेगी। रोजगार के क्षेत्रों में बढ़ोत्तरी के आसार हैं। साल के मध्य तक व्यापार वर्ग के लोगों को राहत मिलने की संभावना है।

 

आपको कोई उपलब्धि इस साल हासिल होगी की नहीं पढ़ें अपना वार्षिक राशिफल 2021

 

कुल मिलाकर साल 2021 भारत की  स्थिति में सुधार लेकर आएगा, जिससे लोगों में सकारात्मकता और ऊर्जा देखने को मिलेगी। हालांकि नववर्ष 2021  में नई योजनाएं देर से लागू हो पाएंगी लेकिन साल के मध्य तक महँगाई से राहत मिलने की संभावना है। 20 नवंबर 2021 में गुरु ग्रह का भारत की कुंडली के नवम भाव में प्रवेश करने से लाभ की स्थिति पैदा होगी। कुल मिलाकर 2020 से 2021 के बेहतर होने की ग्रह-नक्षत्रों की चाल के अनुसार पूरी संभावना है। 

 

संबंधित लेख

2021 में कैसे रहेंगें सिनेमा के सितारे   |   प्रेमियों के लिये कैसा रहेगा 2021   |   नववर्ष 2021 राशिफल    |    साल 2021 में किस क्षेत्र में बढ़ेंगें रोजगार के अवसर   |   2021 क्या लायेगा अच्छे दिन?   |   भारत खेल 2021 - खेलों के लिये कैसा है 2021   |  2021 में कैसे रहेंगे भारत-पाक संबंध? क्या कहता है ज्योतिष?   |   2021 में क्या कहती है भारत की कुंडली   | 

एस्ट्रो लेख

माँ ब्रह्मचारिणी - नवरात्र का दूसरा दिन माँ दुर्गा के ब्रह्मचारिणी स्वरूप की पूजा विधि

मेष संक्रांति - मेष राशि में सूर्य का गोचर जानें अपना राशिफल

बैसाखी – सामाजिक सांस्कृतिक समरसता का पर्व

मिथुन राशि में मंगल! क्या होगा प्रभाव? जानिए

Chat now for Support
Support