जानिए साल 2020 में प्रॉपर्टी खरीदने के शुभ मुहूर्त

आमतौर पर जमीन खरीदना आज के जमाने में सोना खरीदने से भी कई ज्यादा गुना महंगा है। इस महंगाई के युग में जमीन खरीदने वाला व्यक्ति खुद को खुशकिस्मत ही समझता है क्योंकि हर इंसान का सपना होता है कि उसका खुदका एक सपनों का आशियाना हो ताकि वहां वह रिटायरमेंट के बाद आराम का जीवन जी सके, लेकिन महंगाई के जमाने में प्रॉपर्टी खरीदना किसी सपने के जैसा लगता है। वहीं हिंदू धर्म के मुताबिक, किसी भी शुभ काम को करने के लिए एक शुभ मुहूर्त निकलवाया जाता है। इसलिए आज के मॉर्डन युग में भी लोग जब प्रॉपर्टी, जमीन या फ्लैट खरीदने जाते हैं तो शुभ तिथि में ही उसे खरीदना उचित समझते हैं। यदि आप 2020 में कोई नया प्लाट, प्रॉपर्टी खरीदने (property purchase muhurat) जा रहे हैं तो जान लीजिए कि 2020 में जमीन खरीदने के शुभ मुहूर्त क्या हैं। 

 

वास्तु के अनुसार खरीदना चाहते हैं प्रॉपर्टी तो वास्तु से संबंधित अधिक जानकारी पाने के लिए एस्ट्रोयोगी के अनुभवी वास्तुशास्त्र विशेषज्ञ से सलाह ले सकते हैं। अभी बात करने के लिए यहां पर क्लिक करें।

 

जनवरी 2020 में शुभ मुहूर्त 

3 जनवरी 2020, शुक्रवार , मुहूर्त - प्रात: 07:20 से प्रात: 07:15(जनवरी 04), नक्षत्र -  रेवती, तिथि - अष्टमी, नवमी

9 जनवरी 2020, गुरुवार, मुहूर्त - प्रात: 07:15 से सायं 15:38, नक्षत्र - मृगशिरा, तिथि - चतुर्दशी

10 जनवरी 2020, शुक्रवार, मुहूर्त - अपराह्न 14:49 से प्रात: 07:15 (जनवरी 11), नक्षत्र - पुनर्वसु , तिथि - पूर्णिमा, प्रतिपदा

23 जनवरी 2020, गुरुवार, मुहूर्त - प्रात: 07:13 से प्रात: 01:21 (24 जनवरी), नक्षत्र - पूर्वाषाढ़ा , तिथि - चतुर्दशी

30 जनवरी 2020, गुरुवार, मुहूर्त - अपराह्न 15:13 से प्रात: 07:10 ( 31 जनवरी ), नक्षत्र - रेवती , , तिथि - षष्ठी

31 जनवरी 2020, शुक्रवार, मुहूर्त - प्रात: 07:10 से 18:10 , नक्षत्र - रेवती, तिथि - षष्ठी, सप्तमी 

 

फरवरी 2020 में शुभ मुहूर्त 

6 फरवरी 2020, गुरुवार, मुहूर्त - प्रात: 01:21 से प्रात: 07:06 (फरवरी 07), नक्षत्र - पुनर्वसु, तिथि - त्रयोदशी

7 फरवरी 2020, शुक्रवार, मुहूर्त - प्रात: 07:06 से प्रात: 00:01 ( फरवरी 08), नक्षत्र - पुनर्वसु , तिथि - त्रयोदशी, चतुर्दशी 

27 फरवरी 2020, गुरुवार, मुहूर्त - प्रात: 06:49 से प्रात: 01:08 (फरवरी 28), नक्षत्र - रेवती, तिथि - चतुर्थी 

 

शुभ मुहूर्त से संबंधित अधिक जानकारी पाने के लिए यहा पर क्लिक करें

 

मार्च 2020 में शुभ मुहूर्त 

5 मार्च 2020, गुरुवार , मुहूर्त - प्रात: 11:26 से प्रात: 06:41( मार्च 06), नक्षत्र - पुनर्वसु, तिथि - दशमी, एकादशी 

13 मार्च 2020, शुक्रवार, मुहूर्त - अपराह्न 14:00 से प्रात: 06:16 (मार्च 14), नक्षत्र - विशाखा, तिथि - पंचमी 

 

अप्रैल 2020 में शुभ मुहूर्त 

2 अप्रैल 2020, गुरुवार, मुहूर्त - प्रात: 06:10 से सायं 19:29 बजे तक, नक्षत्र - पुनर्वसु, तिथि - नवमी 

3 अप्रैल 2020, शुक्रवार, मुहूर्त - सायं 18:14 से प्रात: 06:07 ( अप्रैल 04), नक्षत्र - अश्लेषा, तिथि - दशमी, एकादशी

9 अप्रैल 2020, गुरुवार, मुहूर्त - रात्रि 00:15 से सायं 06:01 ( अप्रैल 10), नक्षत्र - विशाखा, तिथि - तृतीया

10 अप्रैल 2020, शुक्रवार, मुहूर्त - प्रात: 06:01 से प्रात: 06:00( अप्रैल 11), नक्षत्र -  विशाखा, अनुराधा, तिथि - तृतीया, चतुर्थी 

 

मई 2020 में शुभ मुहूर्त 

01 मई 2020, शुक्रवार, मुहूर्त - प्रात: 05:40 से प्रात: 05:39 ( 02 मई), नक्षत्र - अश्लेशा, मघा, तिथि - अष्टमी, नवमी

07 मई 2020, गुरुवार, मुहूर्त - प्रात: 11:08 से प्रात: 05:35 ( 08 मई), नक्षत्र - विशाखा, तिथि - पूर्णिमा, प्रतिपदा 

08 मई 2020, शुक्रवार, मुहूर्त - प्रात: 05:35 से प्रात: 05:34 ( 09 मई),  नक्षत्र - विशाखा, अनुराधा, तिथि - प्रतिपदा, द्वितीया

28 मई 2020, गुरुवार, मुहूर्त - प्रात: 07:27 से प्रात: 05:24 ( 10 मई), नक्षत्र - अश्लेषा, तिथि- षष्ठी, सप्तमी 

29 मई 2020, शुक्रवार, मुहूर्त - प्रात: 05:24 से प्रात: 05:24 ( 30 मई), नक्षत्र - अश्लेशा, मघा, तिथि - सप्तमी, अष्टमी

 

जून 2020 में शुभ मुहूर्त 

04 जून 2020, गुरुवार, मुहूर्त - प्रात: 05:23 से प्रात: 03:15 (05 जून), नक्षत्र - विशाखा, अनुराधा, तिथि - चतुर्दशी 

05 जून 2020, शुक्रवार, मुहूर्त - प्रात: 05:23 से सायं 16:44 बजे तक, नक्षत्र - अनुराधा, तिथि - पूर्णिमा

12 जून 2020, शुक्रवार, मुहूर्त - सायं 18:49 से प्रात: 05:23 (13 जून), नक्षत्र - पूर्व भाद्रपद, तिथि - सप्तमी, अष्टमी 

25 जून 2020, गुरुवार, मुहूर्त - प्रात: 05:25 से प्रात: 05:25 ( 26 जून),  नक्षत्र - अश्लेषा, मघा, तिथि - चतुर्थी, पंचमी 

26 जून 2020, शुक्रवार, मुहूर्त - प्रात: 05:25 से प्रात: 05:03 ( 27 जून), नक्षत्र - मघा, पूर्वाफाल्गुनी, तिथि - पंचमी, षष्ठी

 

जुलाई 2020 के शुभ मुहूर्त 

02 जुलाई 2020, गुरुवार, मुहूर्त - प्रात: 05: 27 से प्रात: 01:14 ( जुलाई 03), नक्षत्र - अनुराधा, तिथि- द्वादशी, त्रयोदशी

03 जुलाई 2020, शुक्रवार, मुहूर्त - प्रात: 00:08 से प्रात: 05:28 (04 जुलाई), नक्षत्र - मूल, तिथि - चतुर्दशी 

10 जुलाई 2020, शुक्रवार, मुहूर्त - प्रात: 05:31 से प्रात: 05:31 ( 11 जुलाई), नक्षत्र - पूर्व भाद्रपद, तिथि - पंचमी, षष्ठी

17 जुलाई 2020, शुक्रवार, मुहूर्त - सायं 20:28 से प्रात: 05:35 ( 18 जुलाई), नक्षत्र - मृगशिरा, तिथि - द्वादशी, त्रयोदशी 

23 जुलाई 2020, गुरुवार, मुहूर्त - प्रात: 05:38 से प्रात: 05:38 ( 24 जुलाई), नक्षत्र - मघा, पूर्वाफाल्गुनी, तिथि - तृतीया, चतुर्थी

24 जुलाई 2020, शुक्रवार, मुहूर्त - प्रात: 05:38 से सायं 16:03 बजे तक, नक्षत्र - पूर्वाफाल्गुनी, तिथि- चतुर्थी, पंचमी

31 जुलाई 2020, शुक्रवार, मुहूर्त - प्रात: 07:05 से प्रात: 05:43 ( 01 अगस्त), नक्षत्र - मूल, तिथि - द्वादशी, त्रयोदशी 

 

अगस्त 2020 में शुभ मुहूर्त 

06 अगस्त 2020, गुरुवार, मुहूर्त - 11:18 से प्रात: 05:46 (07 अगस्त), नक्षत्र - पूर्व भाद्रपद, तिथि - तृतीया, चतुर्थी

07 अगस्त 2020, शुक्रवार, मुहूर्त - प्रात: 05:46 से अपराह्न 13:34 बजे तक, नक्षत्र - पूर्व भाद्रपद, तिथि - चतुर्थी

14 अगस्त 2020, शुक्रवार, मुहूर्त - प्रात: 05:50 से प्रात: 05:50 (15 अगस्त), नक्षत्र - मृगशिरा, तिथि- दशमी, एकादशी

20 अगस्त 2020, गुरुवार, मुहूर्त - प्रात: 05:53 से सायं 23:51 बजे तक, नक्षत्र - पूर्वाफाल्गुनी, तिथि - द्वितीया 

27 अगस्त 2020, गुरुवार, मुहूर्त - अपराह्न 12:37 से 05:57 बजे तक, नक्षत्र - मूल, तिथि - दशमी

28 अगस्त 2020, शुक्रवार, मुहूर्त - प्रात: 05:57 से प्रात: 05:58 (29 अगस्त), नक्षत्र - मूल, पूर्वषाढ़ा, तिथि - दशमी, एकादशी 

 

सितंबर 2020 में शुभ मुहूर्त 

03 सितंबर 2020, गुरुवार, मुहूर्त - प्रात: 06:00 से सायं 20:51 बजे तक, नक्षत्र - पूर्व भाद्रपद, तिथि - प्रतिपदा, द्वितीया 

04 सितंबर 2020, शुक्रवार, मुहूर्त - सायं 23:28 से प्रात: 06:01 (सितंबर 05), नक्षत्र - रेवती, तिथि- तृतीया 

10 सितंबर 2020, गुरुवार, मुहूर्त - अपराह्न 13:39 से प्रात: 06:04 ( सितंबर 11), नक्षत्र - मृगशिरा, तिथि - अष्टमी, नवमी

11 सितंबर 2020, शुक्रवार, मुहूर्त - प्रात: 06: 04 से सायं 15:45 बजे तक, नक्षत्र - मृगशिरा, तिथि- नवमी

 

अक्टूबर 2020 में शुभ मुहूर्त 

22 अक्टूबर 2020, गुरुवार, मुहूर्त - प्रात: 06:26 बजे से प्रात: 00:59 ( अक्टूबर 23), नक्षत्र - पूर्वाषाढ़ा, तिथि - षष्ठी, सप्तमी 

29 अक्टूबर 2020, गुरुवार, मुहूर्त - अपराह्न 12:00 से प्रात: 06:32 ( 30 अक्टूबर), नक्षत्र - रेवती, तिथि - त्रयोदशी, चतुर्दशी 

30 अक्टूबर 2020, शुक्रवार, मुहूर्त - प्रात: 06:32 से अपराह्न 14:57 बजे तक, नक्षत्र - रेवती, तिथि - चतुर्दशी 

 

नवंबर 2020 में शुभ मुहूर्त 

06 नवंबर 2020, शुक्रवार, मुहूर्त - प्रात: 06:45 से प्रात: 06:38 ( नवंबर 07), नक्षत्र - पुनर्वसु, तिथि - षष्ठी 

26 नवंबर 2020, गुरुवार, मुहूर्त - प्रात: 06:59 से सायं 21:21 बजे तक, नक्षत्र - रेवती , तिथि - द्वादशी

 

दिसंबर 2020 में शुभ मुहूर्त 

03 दिसंबर 2020, गुरुवार, मुहूर्त - अपराह्न 12:22 से प्रात: 06:59, (दिसंबर 04), नक्षत्र - पुनर्वसु, तिथि- तृतीया, चतुर्थी 

04 दिसंबर 2020, शुक्रवार, मुहूर्त - प्रात: 06: 59 बजे से अपराह्न 13:39 बजे तक, नक्षत्र - पुनर्वसु, तिथि - चतुर्थी 

31 दिसंबर 2020, गुरुवार, मुहूर्त - प्रात: 07:14 से सायं 19:49 बजे तक, नक्षत्र - पुनर्वसु, तिथि - प्रतिपदा, द्वितीया  

 

संबंधित लेख 

विवाह शुभ मुहूर्त 2020 । गृह प्रवेश शुभ मुहूर्त 2020 । मुंडन मुहूर्त 2020 । वाहन खरीद शुभ मुहूर्त । नामकरण संस्कार शुभ मुहूर्त 2020  

एस्ट्रो लेख

बुध का राशि परि...

इस माह बुध राशि परिवर्तन कर मकर राशि के कुंभ राशि में जा रहे हैं। वैदिक ज्योतिष में बुध को वाणी का कारक माना जाता है। कहते हैं कि वाणी में मधुरता हो तो शत्रु भी मित्र बन जाता है। प...

और पढ़ें ➜

Saturn Transit ...

निलांजन समाभासम् रवीपुत्र यमाग्रजम । छाया मार्तंड संभूतं तं नमामी शनैश्वरम ।। Saturn Transit 2020 - सूर्यपुत्र शनिदेव 24 जनवरी 2020 को भारतीय समय दोपहर 12 बजकर 10 मिनट पर धनु राशि ...

और पढ़ें ➜

बसंत पंचमी पर क...

जब खेतों में सरसों फूली हो/ आम की डाली बौर से झूली हों/ जब पतंगें आसमां में लहराती हैं/ मौसम में मादकता छा जाती है/ तो रुत प्यार की आ जाती है/ जो बसंत ऋतु कहलाती है। सिर्फ खुशगवार ...

और पढ़ें ➜

Rashianusar Puj...

हिंदू धर्म में पूजा-पाठ का बड़ा महत्व है, लेकिन कई बार रोज़ाना पूजा-पाठ करने के बावजूद भी हमारा मन अशांत ही रहता है। वहीं भगवान की पूजा के दौरान कौन सा फूल, फल और दीपक जलाना चाहिए ...

और पढ़ें ➜