Skip Navigation Links
शुक्र का वृषभ राशि में गोचर – क्या होगा असर आपकी राशि पर !


शुक्र का वृषभ राशि में गोचर – क्या होगा असर आपकी राशि पर !

20 अप्रैल को शुक्र मेष राशि को छोड़कर स्वराशि वृषभ में प्रवेश कर रहे हैं। शुक्र को मीन राशि में उच्च तो कन्या में नीच का माना जाता है। उच्च राशि व स्वराशि के होने पर ग्रह का प्रभाव सामान्यत: पोजीटिव रहता है। लेकिन यदि उस पर किसी पाप या क्रूर ग्रह की दृष्टि पड़ रही हो तो वह नेगेटिव परिणाम लाने वाला भी रह सकता है। ऐसे में शुक्र का स्वराशिगत होना आपके लिये कैसा रहेगा। जानें अपना राशिफल।


शुक्र का वृषभ राशि में गोचर – क्या होगा असर आपकी राशि पर !

मेष

शुक्र का परिवर्तन आपकी ही राशि से हो रहा है। धन भाव में शुक्र का स्वराशिगत होना आपके जीवन में सौहार्द कायम कर सकता है। संपत्ति संबंधी लेन-देन में आपको लाभ हो सकता है। यदि पिछले कुछ समय से किसी विदेश यात्रा की योजना बना रहे हैं तो इस समय वह कारगर हो सकती है. शारीरिक तौर पर स्वस्थ रहने के साथ-साथ मानसिक तौर पर भी शांति महसूस कर सकते हैं। शुक्र के इस पीरियड के दौरान आप उत्साह से भरे रह सकते हैं।

वृषभ

शुक्र का परिवर्तन आपकी ही राशि में हो रहा है। शुक्र परिवर्तन के साथ ही समय आपके लिये अनुकूल रहने के आसार हैं। शुक्र आपकी राशि के स्वामी भी हैं। राशि स्वामी के आपकी राशि में आने पर आपको जीवन के लगभग हर पहलु में अनुकूल परिणाम मिल सकते हैं। हालांकि सेहत के मामले में आपको थोड़ा सचेत रहने की आवश्यकता हो सकती है।

मिथुन

शुक्र का परिवर्तन आपकी राशि से 12वें भाव में हो रहा है। बारहवां स्थान व्यय का स्थान माना जाता है। ऐसे में शुक्र का यह परिवर्तन आपके खर्चों में बढ़ोतरी के संकेत कर रहा है। हो सकता है आपको कर्ज लेने की आवश्यकता पड़े। लेकिन अच्छी बात यह है कि इस समय आपको कर्ज आसानी से उपलब्ध हो सकता है। यात्रा के योग आपके लिये बन सकते हैं। प्रकृति के आगोश में जाकर सुकून महसूस कर सकते हैं। स्वास्थ्य बेहतर बने रहने की उम्मीद कर सकते हैं।

कर्क

आपकी राशि से शुक्र लाभ घर में प्रवेश करेंगें। पर्सनल से लेकर प्रोफेशनल लाइफ तक आपको हर क्षेत्र में लाभ मिलने के संकेत हैं। यदि लंबे समय से किसी नये घर या गाड़ी खरीदने के लिये प्रयासरत हैं तो सफलता मिल सकती है। आप एक नये बिजनेस की शुरुआत करने की योजना भी इस समय बना सकते हैं। स्वास्थ्य भी संतोषजनक रहने के आसार हैं।

सिंह

आपकी राशि से शुक्र का परिवर्तन दसवें स्थान मे हो रहा है। कर्मभाव में शुक्र का परिवर्तन आपके लिये अपनी नौकरी, अपने व्यवसाय पर ध्यान देने के संकेत कर रहा है। इस समय आपको पूरी एकाग्रता के साथ अपना काम करने की आवश्यकता रहेगी। आप अपने व्यवसाय को विस्तार दे सकते हैं। जो जातक अभी तक रोजगार से वंचित हैं उन्हें नौकरी का अवसर मिल सकता है। किसी राजकीय संस्थान से धन प्राप्ति हो सकती है। स्वास्थ्य बेहतर बने रहने की उम्मीद कर सकते हैं रोमांटिक लाइफ भी अच्छी रहने के आसार हैं।

कन्या

आपकी राशि से भाग्य स्थान में शुक्र का आना आपके लिये सौभाग्यशाली रहने के आसार हैं। धन प्राप्ति के योग आपके लिये बन रहे हैं। इस समय आप अपने फ्रेंड सर्किल को बढ़ा सकते हैं। भाग्य का आपको पूरा साथ मिलने के आसार हैं। जो महिला जातक मीडिया के क्षेत्र में कार्यरत हैं उनके लिये यह समय विशेष रूप से लाभकारी रह सकता है। शुक्र के इस गोचर के दौरान आपका स्वास्थ्य सामान्य बने रहने की उम्मीद कर सकते हैं।

तुला

शुक्र आपकी राशि के स्वामी भी हैं जो कि आपकी राशि से अष्टम भाव में स्वराशिगत हो रहे हैं। इस समय आपको अपनी व अपने लाइफ पार्टनर की सेहत के प्रति सचेत रहने की आवश्यकता है। संतान को लेकर भी चिंतित रह सकते हैं। धन के मामले में पैसा आपको मिलेगा लेकिन किसी भी तरह से बचत करने में हो सकता है आपको परेशानी आये। इस समय किसी से भी किसी तरह की अपेक्षा रखना आपके लिये सही नहीं है।

वृश्चिक

आपकी राशि से सप्तम भाव में शुक्र आ रहे हैं। जीवनसाथी का पूर्ण सहयोग मिलने के आसार हैं। जो अविवाहित जातक अपने लिये लाइफ पार्टनर की तलाश में हैं हो सकता है उन्हें उनकी पसंद का जीवनसाथी मिल जाये। विवाह के योग भी इस समय आपके लिये बन रहे हैं। यदि व्यवसाय में पैसे की कमी का सामना कर रहे हैं तो इस समय आपको फाइनेंशियल हेल्प मिल सकती है। स्वास्थ्य बेहतर बने रहने की उम्मीद कर सकते हैं।

धनु

आपकी राशि से शुक्र छठे घर में प्रवेश करेंगें। धनु राशि वालों के लिये शुक्र का यह परिवर्तन काफी अच्छा रहने के आसार हैं। इस समय आपकी उपलब्धियों से कोई जलन महसूस कर सकता है। इस समय आपके लिये सलाह है कि न तो नाहक किसी को कोई सलाह देने का प्रयास करें और न ही अवाश्यक रूप से किसी से कोई राय मशविरा लें। आर्थिक स्थिति सामान्य बनी रहने के आसार हैं। प्रबल संभावना है कि आप इस दौरान काफी सुस्त रहें। हमारी सलाह है कि नियमित रूप से व्यायाम, ध्यान, योग आदि के लिये समय निकालें व सुस्ती को त्यागें।

मकर

आपकी राशि से शुक्र पंचम स्थान में प्रवेश कर रहे हैं। इस समय आपको काफी नाम व शोहरत मिल सकती है। यह समय आपके लिये अनुकूल परिणाम लेकर आने वाला रहने के आसार हैं। व्यवसायी जातकों के लिये यह समय बहुत ही शुभ कहा जा सकता है। नौकरीशुदा जातक भी कार्यस्थल पर अपनी छाप छोड़ने में कामयाब हो सकते हैं। धन लाभ के आसार बन रहे हैं। रोमांटिक लाइफ में रिलेशनशिप को लेकर उत्साह बने रहने की उम्मीद कर सकते हैं।

कुंभ

आपकी राशि से सुख भाव में शुक्र का गोचर भाग्य का पूर्ण सहयोग मिलने के संकेत कर रहा है। गत समय आपने जो मेहनत की है उसका फल आपको इस समय मिल सकता है। नई गाड़ी लेने का विचार बना रहे हैं तो समय सही है। घर की सजावट में भी कुछ परिवर्तन कर सकते हैं। बचत करने के लिये यह सही समय है। किसी परियोजना में लंबे समय के लिये निवेश कर निश्चिंत हो सकते हैं। हालांकि इस समय आपका मन अपनी पसंद की कोई चीज़ खरीदने का भी हो सकता है।

मीन

मीन राशि वालों के लिये शुक्र तीसरे स्थान में गोचर करेंगें जो कि आपके पराक्रम का स्थान है। इस समय आपको अपनी सेहत के प्रति थोड़ा सचेत रहने की आवश्यकता रहेगी। छोटी मोटी यात्रा के योग भी आपके लिये बन सकते हैं। यह यात्रा आपके लिये आरामदायक व आनंददायी रहेगी ऐसी उम्मीद कर सकते हैं। फाइनेशियल कंडीशन भी स्थिर रहने के आसार हैं।

यह राशिफल सामान्य ज्योतिषीय आकलन के साथ केवल मेष संक्रांति के प्रभाव को दर्शाता है। व्यापक और सटीक मूल्यांकन के लिये अन्य ग्रहों स्थिति भी निर्भर करती है। हमारी सलाह है कि अपनी कुंडली के अनुसार ग्रहों के प्रभाव को जानने के लिये एस्ट्रोयोगी पर इंडिया के बेस्ट एस्ट्रोलॉजर्स से गाइडेंस लें।


यह भी पढ़ें

शुक्र ग्रह - कैसे बने भार्गव श्रेष्ठ शुक्राचार्य पढ़ें पौराणिक कथा   |  ग्रह गोचर 2018   |   शुक्र गोचर 2018   मंगल गोचर 2018   |   

बुध गोचर 2018   |   बृहस्पति गोचर 2018   |   शनि गोचर 2018   |   राहु गोचर 2018




एस्ट्रो लेख संग्रह से अन्य लेख पढ़ने के लिये यहां क्लिक करें

शुक्र मार्गी - शुक्र की बदल रही है चाल! क्या होगा हाल? जानिए राशिफल

शुक्र मार्गी - शुक...

शुक्र ग्रह वर्तमान में अपनी ही राशि तुला में चल रहे हैं। 1 सितंबर को शुक्र ने तुला राशि में प्रवेश किया था व 6 अक्तूबर को शुक्र की चाल उल्टी हो गई थी यानि शुक्र वक्र...

और पढ़ें...
वृश्चिक सक्रांति - सूर्य, गुरु व बुध का साथ! कैसे रहेंगें हालात जानिए राशिफल?

वृश्चिक सक्रांति -...

16 नवंबर को ज्योतिष के नज़रिये से ग्रहों की चाल में कुछ महत्वपूर्ण बदलाव हो रहे हैं। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार ग्रहों की चाल मानव जीवन पर व्यापक प्रभाव डालती है। इस द...

और पढ़ें...
कार्तिक पूर्णिमा – बहुत खास है यह पूर्णिमा!

कार्तिक पूर्णिमा –...

हिंदू पंचांग मास में कार्तिक माह का विशेष महत्व होता है। कृष्ण पक्ष में जहां धनतेरस से लेकर दीपावली जैसे महापर्व आते हैं तो शुक्ल पक्ष में भी गोवर्धन पूजा, भैया दूज ...

और पढ़ें...
गोपाष्टमी 2018 – गो पूजन का एक पवित्र दिन

गोपाष्टमी 2018 – ग...

गोपाष्टमी,  ब्रज  में भारतीय संस्कृति  का एक प्रमुख पर्व है।  गायों  की रक्षा करने के कारण भगवान श्री कृष्ण जी का अतिप्रिय नाम 'गोविन्द' पड़ा। कार्तिक शुक्ल ...

और पढ़ें...
देवोत्थान एकादशी 2018 - देवोत्थान एकादशी व्रत पूजा विधि व मुहूर्त

देवोत्थान एकादशी 2...

देवशयनी एकादशी के बाद भगवान श्री हरि यानि की विष्णु जी चार मास के लिये सो जाते हैं ऐसे में जिस दिन वे अपनी निद्रा से जागते हैं तो वह दिन अपने आप में ही भाग्यशाली हो ...

और पढ़ें...