सूर्य ग्रहण 2020 जानें राशिनुसार क्या पड़ेगा प्रभाव

14 दिसम्बर 2020

2020 का आखिरी सूर्य ग्रहण 14 दिसंबर को होगा। यह पूर्ण सूर्यग्रहण होगा और यह भारत में दिखाई नहीं देगा क्योंकि यह शाम के समय हो रहा है। यह 19:03 बजे शुरू होगा और 00:23 बजे समाप्त होगा। वैज्ञानिक तौर पर सूर्य ग्रहण तब होता है जब चंद्रमा पृथ्वी और सूर्य की कक्षा के बीच से गुजरता है और सूर्य को पूरी तरह से कवर कर लेता है, जिसे पूर्ण सूर्यग्रहण कहते हैं। वहीं साल 2020 का अंतिम सूर्यग्रहण की अवधि लगभग 5 घंटे 19 मिनट है। चूंकि यह सूर्यग्रहण भारत में नहीं दिखाई दे रहा है, इसलिए सूतक काल भी लागू नहीं होगा। हालांकि चिली, ब्राजील, बोलीविया, पेरू, इक्वाडोर, पैराग्वे और उरुग्वे जैसी जगहों के लिए ग्रहण के नियम लागू होंगे।

 

14 दिसंबर यानि सूर्यग्रहण वाले दिन एक अनूठा संयोग बन रहा है। दरअसल वृश्चिक राशि में 5 ग्रहों की युति हो रही है जिसमें सूर्य, चंद्रमा, बुध, शुक्र और केतु शामिल हैं। शनि और मंगल एक साथ तुला राशि में गोचर करने जा रहे हैं, जिससे उग्र स्थिति पैदा होगी। ज्योतिषशास्त्र के मुताबिक, एक साथ बहुत सारे ग्रहों का संयोजन अच्छा नहीं माना जाता है। जिन जातकों का जन्म वृषभ, तुला, मेष और मीन जैसी चंद्र राशि में हुआ है उन्हें सर्तक रहना होगा और पूजा/अर्चना करनी होगी। तो चलिए आज एस्ट्रोयोगी ज्योतिषी से जानते हैं कि 14 दिसंबर को लगने वाले सूर्यग्रहण का सभी 12 राशियों पर क्या प्रभाव पड़ेगा। 

 

सूर्य ग्रहण का बारह राशियों पर प्रभाव

मेष राशि

मेष राशि के लिए सूर्य ग्रहण 9 वें घर में होगा। अपने इच्छित लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए आपको अधिक मेहनत करने की आवश्यकता हो सकती है। कुछ बाधाओं के कारण कठिनाइयां और देरी की संभावना है। अतिरिक्त समस्याओं से बचने के लिए सावधानी के साथ अपने सभी व्यक्तिगत या व्यवसाय से संबंधित निर्णय लेना उचित होगा। आपको अपने पिता के साथ चर्चा करते समय अपने शब्दों की जांच करने की आवश्यकता है। आपको व्यक्तिगत या व्यावसायिक यात्रा पर जाने की संभावना है। 

 

वृषभ राशि

सूर्य ग्रहण आपके लिए 8 वें घर में लगेगा। इस ग्रहण से आपका स्वास्थ्य प्रभावित हो सकता है इसलिए आपको जंक फूड से दूरी बनाकर चलने की सलाह दी जाती है। वहीं पारिवारिक मुद्दों पर बात करने पर आपको निराशा का सामना करना पड़ सकता है। वित्तीय मामले भी आपकी चिंताओं में शामिल हो सकते हैं। आपको अपने घर के माहौल को सौहार्दपूर्ण बनाने के लिए आपको अतिरिक्त मेहनत करनी पड़ेगी। हालांकि, आप बुद्धिमत्ता के साथ स्थिति को संभालने की संभावना रखते हैं। यदि आपको कोई पुरानी बीमारी है, तो यह समस्या पैदा कर सकता है। आपको इस दौरान किसी भी छोटे या दीर्घकालिक निवेश से बचने की आवश्यकता है।

 

मिथुन राशि

पूर्ण सूर्यग्रहण आपके लिए 7 वें घर में होगा। फिट रहने के अपने सर्वोत्तम प्रयासों के बावजूद, आपको कुछ बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है, भले ही वह गंभीर न हो। हालाँकि, यह आपकी एकाग्रता भंग हो सकती है। अपने जीवनसाथी के साथ रिश्ते उनसे अधिक उम्मीदों के कारण कुछ उतार-चढ़ाव से गुजर सकते हैं। यदि आपका व्यवसाय एक साझेदारी फर्म है, तो आपके भागीदारों के साथ सामंजस्य भी प्रभावित हो सकता है। हालाँकि, आपसी समझ के साथ, संतुलन बनाने में सफल हो सकते हैं।

 

कर्क राशि 

कर्क राशि वालों के लिए ग्रहण 6 वें घर में होगा। पूर्ण सूर्यग्रहण पेशेवरों के लिए फायदेमंद होने की संभावना है। वे अपने कार्यस्थल में अच्छा प्रदर्शन करने की संभावना रखते हैं और एक ऐसी निश्चिंत स्थिति से बाहर आते हैं जो उन्हें अतीत में पकड़े हुए था। हालांकि, महत्वपूर्ण निर्णय लेते समय अत्यधिक सावधानी बरतने की सलाह दी जाती है। जब आप कार्यस्थल और यहां तक ​​कि अपने निजी जीवन में आते हैं तो आपको वास्तविकता का सामना करना और धैर्य रखना सीखना होगा। कुछ स्वास्थ्य के मुद्दे भी आपके रास्ते में आ सकते हैं, और इसलिए, सावधानी बरतने की सलाह दी जाती है। 

 

सिंह राशि

ग्रहण का प्रभाव आपके लिए 5 वें घर में होगा, और यह रिश्तों में कुछ मनमुटाव या दरार ला सकता है।इसलिए आपको सलाह दी जाती है कि भावनात्मक तरीकों से स्थिति को संभालें। आय के स्रोत ज्यादा अच्छे तो नहीं होंगे, लेकिन नकदी प्रवाह में कोई बाधा होने की संभावना नहीं है। हालांकि, यह सलाह दी जाती है कि जल्दबाजी में कोई निर्णय नहीं लिया जाए वरना आपकी वित्तीय स्थिरता प्रभावित हो सकती है।

 

कन्या राशि

आपके लिए सूर्य ग्रहण का प्रभाव चौथे भाव में होगा, जो कि घरेलूता से संबंधित मामलों के लिए आपके ईमानदार प्रयासों की मांग कर सकता है। कार्य के मोर्चे पर, अपनी प्रतिष्ठा या स्थिति को बनाए रखने के लिए कड़ी मेहनत और मजबूत प्रयास की आवश्यकता हो सकती है। इस दौरान अपेक्षित लाभ या पुरस्कार नहीं मिलेगा। आपका स्वास्थ्य आपको शांति से काम करने की अनुमति नहीं दे सकता है, और इससे और भी अधिक थकान हो सकती है। बीमार होने से बचने के लिए अपने स्वास्थ्य का अतिरिक्त ध्यान रखना उचित होगा। 

 

तुला राशि

तुला राशि के लिए, ग्रहण जन्म कुंडली के 3 वें घर में होगा। परिवार के मोर्चे पर आपके भाई-बहनों और वरिष्ठों के साथ सौहार्दपूर्ण और सहज संबंध होने की संभावना है। सट्टेबाजी या वित्तीय मामलों से जुड़े सभी महत्वपूर्ण फैसलों को ध्यान में रखने या भविष्य के लिए लंबित रखने की आवश्यकता हो सकती है। इस समय के दौरान किसी भी नए प्रोजेक्ट या उद्यम को शुरू करने से बचना उचित है। सौभाग्य से, सूर्यग्रहण का कोई भी स्थायी नकारात्मक प्रभाव नहीं हो सकता है। आपको विदेश से कोई अच्छी खबर मिल सकती है अगर आप उसका इंतजार कर रहे हैं।

 

वृश्चिक राशि

वृश्चिक राशि के लिए दूसरे घर में ग्रहण लग जाएगा। ग्रहण के दौरान पारिवारिक स्वास्थ्य संबंधी मुद्दा पैदा हो सकता है। वित्त से संबंधित मामले आपको चिंतित कर सकते हैं। आप मासिक बजट को पार कर सकते हैं, और अनुचित खर्च आपके रास्ते में आ सकते हैं। इसलिए, लक्जरी वस्तुओं पर किए गए खर्चों को नियंत्रित रखें। स्वास्थ्य के मोर्चे पर, आपकी आँखें कुछ जटिलताओं का कारण बन सकती हैं जिसकी वजह से आपको डॉक्टर से मिलना होगा। 

 

आपकी कुंडली के अनुसार ग्रहों की दशा क्या कहती है, जानें एस्ट्रोयोगी ज्योतिषाचार्यों से। अभी परामर्श करें।

 

धनु राशि

धनु के लिए, सूर्य ग्रहण जन्म कुंडली के पहले घर पर कब्जा करेगा। आपकी कुंडली में ग्रहण की यह स्थिति आपके स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकती है। आपको अपने फेफड़ों में असुविधा या सांस लेने में समस्या हो सकती है। आप कई बार वित्त की कमी का अनुभव कर सकते हैं। मासिक बजट बिगड़ जाने की वजह से व्यय अधिक होने की संभावना है। हालांकि, यह सलाह दी जाती है कि दूसरों से पैसे उधार न लें।

 

मकर राशि

ग्रहण आपकी जन्म कुंडली के 12 वें घर को प्रभावित करेगा। आपको इस अवधि के दौरान अचानक हानि या उच्च राशि के अप्रत्याशित व्यय का सामना करना पड़ सकता है। इन सभी के कारण कुछ मानसिक अशांति हो सकती है। इस अवधि के दौरान यह स्थिति आपके स्वास्थ्य को भी प्रभावित कर सकती है। मानसिक स्थिरता और धैर्य आपको विशिष्ट वित्तीय और स्वास्थ्य से संबंधित मुद्दों को नियंत्रित करने में मदद करने के लिए महत्वपूर्ण हो सकता है।

 

कुंभ राशि

आपके जन्म कुंडली के 11 वें घर में सूर्य ग्रहण का प्रभाव होगा। वित्तीय दृष्टिकोण से आपके काफी सहज रहने की संभावना है। आप किसी अज्ञात स्रोत से अप्रत्याशित लाभ भी प्राप्त कर सकते हैं। इसके अलावा, अगर ऐसी कोई राशि है जो किसी से बकाया है, तो यह राशि आपको वापस मिल सकती है। आपके रिश्ते आपके प्रिय के साथ लंबे समय तक निजी क्षणों के साथ शुरू हो सकते हैं। इससे आपको पृथ्वी पर स्वर्गीय सुख की अनुभूति हो सकती है।

 

मीन राशि

मीन राशि के लिए, सूर्य ग्रहण 10 वें भाव में होगा जो करियर या पेशे को नियंत्रित करता है। काम के मोर्चे पर हो रही परेशानियों से आप सहज महसूस नहीं कर सकते। दिनचर्या और काम का माहौल अजीब लग सकता है। अपेक्षित परिणाम प्राप्त करने के लिए आपको व्यावसायिक रणनीतियों या नीतियों को पुनर्गठित करना पड़ सकता है। हालांकि विशेष प्रयासों को करने की आवश्यकता हो सकती है़। पुराने ग्राहकों को पकड़ने और नए ग्राहकों को योजनाओं में शामिल करने के लिए विशेष देखभाल की आवश्यकता हो सकती है। वरिष्ठों को पेशेवरों से अधिक उम्मीद हो सकती है, और इससे कार्यस्थल पर मानसिक तनाव आने की संभावना है।

संबंधित लेख

सूर्य ग्रहण 2020   |   चंद्र ग्रहण 2020   |   चंद्र दोष – कैसे लगता है चंद्र दोष क्या हैं उपाय   |  पंचक - क्यों नहीं किये जाते इसमें शुभ कार्य ?   |    कुंडली में कालसर्प दोष और इसके निदान के सरल उपाय    |

सूर्य नमस्कार से प्रसन्न होते हैं सूर्यदेव   |   शनिदेव - क्यों रखते हैं पिता सूर्यदेव से वैरभाव

 

एस्ट्रो लेख

विवाह मुहूर्त 2021 - इस साल केवल 52 दिन ही बजेगी शहनाई

विनायक चतुर्थी 2021

संत सिपाही गुरु गोबिंद सिंह की 354वीं जयंती

साल 2021 में विद्यारंभ मुहूर्त 2021 की शुभ तारीखें

Chat now for Support
Support