Skip Navigation Links
2017 में कैसे रहेंगें सिनेमा के सितारे


2017 में कैसे रहेंगें सिनेमा के सितारे

सिनेमा का भारत ही नहीं बल्कि दुनिया भर मनोरंजन का मुख्य स्त्रोत है। भारतीय सिनेमा के तो कहने ही क्या। क्षेत्रीय सिनेमा तो वर्तमान में हिंदी सिनेमा पर हावी भी होता जा रहा है। भारतीय दर्शक अपने पसंदीदा अभिनेता की फिल्म का बड़ी बेसब्री से इंतजार करते हैं लेकिन जब कोई नया अभिनेता या निर्माता अपने कदम सिने जगत में रखता है तो उसे भी दर्शक रातों रात सिर पर उठा लेते हैं। साल 2016 तो सिनेमा के लिये काफी विवादास्पद रहा है। हॉलीवुड की जेम्स बॉंड सीरीज़ की फिल्म सपेक्टर से लेकर बॉलीवुड की उड़ता पंजाब और ऐ दिल है मुश्किल तक काफी मुश्किल में रहीं। अब सवाल यह है कि साल 2017 सिनेमा के लिये कैसा रहने वाला है। वर्ष आरंभ के समय ग्रहों की दशा दिशा के अनुसार एस्ट्रोयोगी ज्योतिषाचार्यों का क्या कहना है आइये जानते हैं।

नये साल यानि 2017 की उत्पति कन्या लग्न में हो रही है। लग्न स्वामी कुंडली के अंदर सूर्य के साथ विराजमान है जोकि फिल्म जगत के लिये अगर लग्न से देखा जाये तो काफी अच्छा रहने के आसार हैं। नायिकाओं के लिये तो यह विशेष रूप से भाग्यशाली रहने के आसार हैं। इस समय चंद्रमा भी श्रवण नक्षत्र में विराजमान हैं जो कि चंद्रमा का ही नक्षत्र माना जाता है। चंद्रमा को तो वैसे भी कला का स्वामी और रचनात्मकता का कारक माना जाता है। दशा भी पूरे वर्ष चंद्रमा की ही रहेगी।

शुरुआती दौर में ही बृहस्पति व चंद्रमा के एक साथ चलने से दर्शकों में फिल्मों को लेकर उत्सुकुता बनी रहने के आसार हैं। चंद्रमा वर्षारंभ के समय मकर राशि में होगा जो कि शनि की राशि है यह संकेत करता है कि दर्शक फिल्मों पर पैसा खर्च कर सकते हैं।

शनि की धीमी रफ्तार के कारण स्किवल फिल्मों के प्रदर्शन होने की उम्मीद हैं जिनका प्रदर्शन सराहनीय रह सकता है। कुल मिलाकर जुलाई तक का समय फिल्म जगत के व्यक्तियों के लिये काफी अच्छा रहने के आसार हैं। फिल्म निर्माताओं, निर्देशकों, अभिनेतओं में अपनी-अपनी फिल्म को लेकर जहां होड़ लगने के आसार हैं वहीं दर्शकों का प्यार व प्रोत्साहन भी इन्हें खूब मिलने की उम्मीद की जा सकती है। फिल्मों की रीलिज़ को लेकर भी कड़ी प्रतिस्पर्धा देखने को मिल सकती है लेकिन जो भी फिल्में इस दौरान रीलिज़ होंगी उनके अच्छे प्रदर्शन के साथ-साथ अच्छी कमाई करने के भी संकेत हैं।

जुलाई के बाद का समय सिने जगत के लिये उतार-चढ़ाव वाला रहने की संभावना है। दरअसल जुलाई के मध्य में चंद्रमा के साथ शनि अतंर्दशा में आ जायेगा जिस कारण फिल्मों को लेकर कुछ वाद-विवाद भी हो सकते हैं। वहीं इस समय में रीलिज़ होने वाली फिल्में हो सकता है दर्शकों पर भी अपना प्रभाव जमाने में नाकाम साबित हों। लेकिन छोटे बजट की कुछ फिल्में व विदेशी फिल्में इस समय अच्छा प्रदर्शन करने में कामयाब हो सकती हैं।

संबंधित लेख

प्रेमियों के लिये कैसा रहेगा 2017   |   नववर्ष 2017 राशिफल    |    साल 2017 में किस क्षेत्र में बढ़ेंगें रोजगार के अवसर  

2017 क्या लायेगा अच्छे दिन?   |   भारत खेल 2017 - खेलों के लिये कैसा है 2017   |   2017 में क्या कहती है भारत की कुंडली 

2017 में कैसे रहेंगे भारत-पाक संबंध? क्या कहता है ज्योतिष?   |   विद्यार्थियों के लिये कैसा रहेगा साल 2017




एस्ट्रो लेख संग्रह से अन्य लेख पढ़ने के लिये यहां क्लिक करें

माँ चंद्रघंटा - नवरात्र का तीसरा दिन माँ दुर्गा के चंद्रघंटा स्वरूप की पूजा विधि

माँ चंद्रघंटा - नव...

माँ दुर्गाजी की तीसरी शक्ति का नामचंद्रघंटाहै। नवरात्रि उपासनामें तीसरे दिन की पूजा का अत्यधिक महत्व है और इस दिन इन्हीं के विग्रह कापूजन-आरा...

और पढ़ें...
माँ कूष्माण्डा - नवरात्र का चौथा दिन माँ दुर्गा के कूष्माण्डा स्वरूप की पूजा विधि

माँ कूष्माण्डा - न...

नवरात्र-पूजन के चौथे दिन कूष्माण्डा देवी के स्वरूप की ही उपासना की जाती है। जब सृष्टि की रचना नहीं हुई थी उस समय अंधकार का साम्राज्य था, तब द...

और पढ़ें...
दुर्गा पूजा 2017 – जानिये क्या है दुर्गा पूजा का महत्व

दुर्गा पूजा 2017 –...

हिंदू धर्म में अनेक देवी-देवताओं की पूजा की जाती है। अलग अलग क्षेत्रों में अलग-अलग देवी देवताओं की पूजा की जाती है उत्सव मनाये जाते हैं। उत्त...

और पढ़ें...
जानें नवरात्र कलश स्थापना पूजा विधि व मुहूर्त

जानें नवरात्र कलश ...

 प्रत्येक वर्ष में दो बार नवरात्रे आते है। पहले नवरात्रे चैत्र शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि से शुरु होकर चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि ...

और पढ़ें...
नवरात्र में कैसे करें नवग्रहों की शांति?

नवरात्र में कैसे क...

आश्विन मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा से मां दुर्गा की आराधना का पर्व आरंभ हो जाता है। इस दिन कलश स्थापना कर नवरात्रि पूजा शुरु होती है। वैसे ...

और पढ़ें...