राहु केतु राशि परिवर्तन 2019 – कैसा रहेगा आपके लिये राहु-केतु का गोचर? जानिए

राहु का राशि परिवर्तन 7 मार्च को हो रहा है हालांकि यह पूर्ण रूप से इसका प्रभाव 23 मार्च से दिखने लगेगा। राहू और केतु एक साथ ही विपरीत दिशा में आगे बढ़ते रहते हैं। दोनों को ही ज्योतिष में छाया ग्रह माना जाता है लेकिन इनका महत्व बहुत ही अधिक होता है। आम तौर पर राहू का यह राशि परिवर्तन ठीक-ठाक कहा जा सकता है कोई बहुत ज्यादा नेगेटिव परिणाम मिलने की उम्मीद नहीं है लेकिन केतु का शनि के साथ आना काफी नेगेटिव परिणाम लेकर आ सकता है।

 

राहु देंगे साथ तो केतु व शनि बिगड़ेंगे हालात

राहू जहां कर्क राशि से मिथुन में आ रहे हैं जो कि उनकी उच्च राशि मानी जाती है। वहीं केतु मकर से धनु में आ रहे हैं जहां वे शनि के साथ युति संबंध कर रहे हैं। भूकंप, जलप्रलय इस वर्ष देखने को मिल सकती है। राजनीति के क्षेत्र में किसी बड़ी हस्ती की क्षति हो सकती है। आइये अब जानते हैं राशिनुसार यह कैसे प्रभावित करेंगें।

पढ़ें -  राहु केतु – कैसे हुआ राहु-केतु का जन्म?  

 

मेष

मेष राशि वालों के लिये राहू चतुर्थ स्थान से तीसरे स्थान में आ रहे हैं जो कि उनके पराक्रम का स्थान माना जाता है। आपके अंदर काम करने की क्षमता में विकास होगा। निर्णय लेने में इस समय आपको आसानी रहेगी। विदेश यात्रा के योग बन रहे हैं जो कि सफल रह सकती हैं। भाग्य का साथ रहेगा। हालांकि केतु व शनि का भाग्य स्थान में आना धर्म कर्म में रूचि थोड़ी कम कर सकता है। साथ ही आपके स्वास्थ्य पर भी इसका नेगेटिव इंपेक्ट पड़ सकता है। भगवान शंकर की उपासना से आपको लाभ मिल सकता है।

वृषभ

वृषभ राशि के लिये धन स्थान में राहू आ रहे हैं जो कि आपके लिये धन प्राप्ति के योग भी बना रहे हैं लेकिन परिजनों के साथ वैचारिक मतभेद बढ़ सकते हैं लेकिन केतु का अष्टम भाव में शनि के साथ होना आपके लिये शुभ नहीं कहा जा सकता। खासकर वाहन चलाते समय आपको सचेत रहने की आवश्यकता रहेगी। तेज गति से वाहन बिल्कुल न चलाएं। वाहन चलाते समय महामृत्युंजय मंत्र का जाप करना आपके लिये लाभकारी रह सकता है।

मिथुन

मिथुन राशि में ही राहू प्रवेश कर रहे हैं। इस समय आपको थोड़ा सचेत रहने की आवश्यकता रहेगी। जल्दबाजी, हड़बड़ी से बचें। ओवर कॉन्फिडेंस से भी बचकर रहें। एनर्जी लेवल काफी हाई रहने के आसार हैं। वहीं सातवें स्थान में केतु व शनि एक साथ आ रहे हैं इससे आपकी शादीशुदा लाइफ में साथी से मतभेद बढ़ सकते हैं। एक दूसरे पर विश्वास करते हुए प्यार बनाकर रखें तो ज्यादा परेशानी नहीं आयेगी।

कर्क

कर्क राशि वालों के लिये राहू का यह राशि परिवर्तन बहुत ही सौभाग्यशाली रहने के आसार हैं। दरअसल पिछले 18 माह से राहू इसी राशि में गोचर कर रहे हैं जो कि यहां से चले जायेंगें। निर्णय लेने में जो परेशानियां आ रही थी, जो भ्रमित स्थितियां बनी हुई थी, विदेश जाने के इच्छुक जातकों को जो परेशानियां झेलनी पड़ रही थी इन तमाम मसलों में आपके लिये बहुत ही लाभकारी समय रहने वाला है साथ ही केतु आपके शत्रु स्थान यानि छठे घर में आ शनि के साथ आ रहे हैं जो कि शत्रुओं, विरोधियों व विपक्षियों पर आपका दबदबा बनाए रखेंगें। स्वास्थ्य का लाभ भी आपको इस समय मिल सकता है। कुल मिलाकर आपके लिये राहू-केतु का यह गोचर बहुत ही लाभकारी रहने की उम्मीद की जा सकती है।

सिंह

सिंह राशि वालों के लिये राहू लाभ स्थान में जा रहे हैं। यात्राओं के लिये योग बन रहे हैं। विशेषकर घरेलु यात्राएं होंगी जिनके लाभकारी रहने की उम्मीद कर सकते हैं। कामकाज संबंधी यात्राएं भी सफल रहेंगी। धन प्राप्ति के योग भी आपके लिये बन रहे हैं। लंबे समय से कहीं धन रूका हुआ है तो उसके मिलने के आसार बन रहे हैं। वहीं पंचम भाव में केतु शनि के साथ आ रहे हैं। संतान पक्ष को लेकर चिंताएं बनी रह सकती हैं। उनकी शिक्षा को लेकर भी चिंतित रह सकते हैं। जो विवाहित जातक संतान प्राप्ति की कामना रखते हैं उनके लिये सतर्क रहने का समय हैं। भगवान शंकर की पूजा, त्रयोदशी के व्रत से राहत मिल सकती है।

कन्या

कन्या राशि वालों के लिये कर्मभाव में राहू का आना करियर के मामले में आपको जल्दबाजी से बचने के संकेत कर रहा है। हालांकि यह आपके लिये शुभ प्रभाव देने वाला है लेकिन आपको इसके लिये धैर्य का परिचय देना होगा। नई नौकरी व नया बिजनेस करने के इच्छुक हैं तो सफलता मिल सकती है। वहीं सुख भाव में केतु का शनि के साथ आना माता के स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकता है। कोई नई चीज़ खरीदने के इच्छुक हैं तो थोड़ी समझदारी के साथ खरीददारी करें। अन्यता हानि उठानी पड़ सकती है।

तुला

तुला राशि वालों के लिये राहू का राशि परिवर्तन भाग्य स्थान में हो रहा है। यह आपके भाग्य में कुछ रुकावटें पैदा कर सकता है। धर्म कर्म में रूचि थोड़ी कम हो सकती है। आपके लिये सलाह है कि पूजा पाठ के लिये समय निकालें तो आपको राहत मिल सकती है। वहीं आपकी राशि से तीसरे स्थान में केतु शनि के साथ आ रहे हैं जो कि आपके छोटे भाई बहनों के साथ वैचारिक मतभेद बढ़ा सकते हैं। पराक्रम में भी कमी हो सकती है। मन में उत्साह रखें, नेगेटिविटी को न आने दें। शनि, केतु और राहू तीनों ही इस समय आपको परेशान कर रहे हैं। मंगल की पूजा, शनि चालीसा का पाठ करने से लाभ हो सकता है। माता के मंदिर में शुक्रवार के दिन किसी सफेद वस्तु के दान से भी राहत मिल सकती है।

वृश्चिक

वृश्चिक राशि वालों के लिये राहू भाग्य स्थान से आठवें स्थान में आ रहे हैं। अष्टम भाव में क्रूर ग्रह यदि हों तो ज्योतिष में माना जाता है कि व्यक्ति के सामने परेशानियां आती तो हैं लेकिन वह उनका सामना करने में भी सक्षम रहता है। इस समय आपको अपनी हेल्थ का ध्यान रखने की आवश्यकता रहेगी। केतु शनि का साथ दूसरे स्थान आना पेट व कमर संबंधी बिमारियों से आपको थोड़ा परेशान कर सकता है। हालांकि धन के मामले में यह आपके लिये अच्छे परिणाम लेकर आ सकते हैं। पैतृक संपत्ति से आपको लाभ मिल सकता है।

धनु

धनु राशि वालों के लिये राहू आपकी राशि से सप्तम  भाव में आ रहे हैं। यह आपके दांपत्य जीवन में परेशानियां लेकर आ सकते हैं। हालांकि नौकरी के मामले में यह अच्छा रह सकता है। नौकरी के बेहतर अवसर आपको मिल सकते हैं। सरकारी नौकरी के योग भी बन रहे हैं। फाइनेंशियल कंडीशन भी अच्छी रहने के आसार हैं। स्वास्थ्य के प्रति आपको थोड़ा सचेत रहने की आवश्यकता रहेगी क्योंकि केतु आपकी ही राशि में आ रहे हैं जहां पर शनि पहले से विराजमान हैं। किसी एलर्जी से परेशान रह सकते हैं। विशेषकर अपने चेहरे का ध्यान रखने की आवश्यकता रहेगी।

मकर

मकर राशि वालों के लिये राहू छठे घर में आ रहे हैं जो कि शत्रु का स्थान है। शत्रु कमजोर होंगे। सरकारी नौकरी के लिये प्रयासरत हैं तो उसमें भी सफलता मिलने के आसार हैं। ऋण लेने के इच्छुक हैं तो उसमें भी आपको सफलता मिल सकती है। धन के मामले में समय अच्छा रहेगा। वहीं केतु शनि के साथ 12वें स्थान में हैं जो कि सेहत पर आपका खर्च बढ़ा सकते हैं। सेहत का ध्यान रखने की आवश्यकता रहेगी। देवी की उपासना करें, माता के किसी मंत्र का जाप भी कर सकते हैं। राहू के मंत्र का जाप भी कर सकते हैं।

कुंभ

कुंभ राशि वालों के लिये राहू पंचम भाव में आ रहे हैं। संतान सुख में कमी हो सकती है। बच्चों का ध्यान रखने की आवश्यकता रहेगी। विद्यार्थियों के लिये भी समय सचेत रहने का है। भ्रमित होने, भटकने के खतरे बढ़ सकते हैं। वहीं केतु व शनि की लाभ स्थान में युति करियर के मामले में आपके लिये लाभकारी रहेगी। कुछ करने की सोच रहे हैं तो उसमें भी सफलता मिलेगी।

मीन

मीन राशि वालों के लिये राहू चौथे स्थान में आ रहे हैं। माता का सुख आपको मिल सकता है। घर या गाड़ी भी खरीद सकते हैं। कुल मिलाकर आपके सुख साधनों में वृद्धि हो सकती है। वहीं केतु व शनि आपकी राशि से दसवें स्थान में आ रहे हैं। यह आपके कामकाज में परेशानी खड़ी कर सकते हैं। पिता के स्वास्थ्य पर भी नेगेटिव प्रभाव पड़ सकता है। किसी को पैसा दे रखा है तो उसके वापस मिलने में भी आपको परेशानी आ सकती है।

यह राशिफल सामान्य ज्योतिषीय आकलन के आधार पर बनाया गया है। आपकी कुंडली के अनुसार राहू भिन्न परिणाम लेकर आ सकते हैं। राहू-केतु की शांति के लिये एस्ट्रोयोगी पर इंडिया के बेस्ट एस्ट्रोलॉजर्स से गाइडेंस ले सकते हैं। अभी परामर्श लेने के लिये यहां क्लिक करें।

 

यह भी पढ़ें

राहू देता है चौंकाने वाले परिणाम   |   कुंडली में कालसर्प दोष और इसके निदान के सरल उपाय   |   पंचक - क्यों नहीं किये जाते इसमें शुभ कार्य?   |  

राहु और केतु ग्रहों को शांत करने के सरल उपाय   |   राशिनुसार रत्न धारण करने से मिलती है कमजोर ग्रहों को शक्ति   |   

क्या आपके बने-बनाये ‘कार्य` बिगड़ रहे हैं? सावधान ‘विष योग` से   |   पितृदोष – पितृपक्ष में ये उपाय करने से होते हैं पितर शांत   |   

चंद्र दोष – कैसे लगता है चंद्र दोष क्या हैं उपाय

एस्ट्रो लेख

करवा चौथ व्रत -...

विशेषरूप में उत्तर भारत में प्रचलित ‘करवा चौथ’ अब केवल भारत में ही नहीं बल्कि विदेशों में रहने वाली भारतीय मूल की स्त्रियों द्वारा भी पूर्ण श्रद्धा से किया जाता है। इस व्रत में अपन...

और पढ़ें ➜

पवित्र नदी में...

हिंदू पंचांग के अनुसार साल के 8वें महीने को कार्तिक मास कहा जाता है। ये आश्विन के बाद और अगहन महीने से पहले आता है। हिंदू कैलेंडर में हर महीने का अपना ही एक अलग महत्व है। कहा जाता ...

और पढ़ें ➜

शरद पूर्णिमा 20...

पूर्णिमा तिथि हिंदू धर्म में एक खास स्थान रखती है। प्रत्येक मास की पूर्णिमा का अपना अलग महत्व होता है। लेकिन कुछ पूर्णिमा बहुत ही श्रेष्ठ मानी जाती हैं। अश्विन माह की पूर्णिमा उन्ह...

और पढ़ें ➜

बुलंदियों पर है...

बॉलीवुड के महानायक अभिनेता अमिताभ बच्चन किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं। प्रसिद्ध लेखक और कवि हरिवंश राय बच्चन के पुत्र होने से लेकर 5 दशक तक अपने अभिनय से दर्शकों का मनोरंजन करने वा...

और पढ़ें ➜