Skip Navigation Links
2018 में इन राशियों को रहना होगा सावधान?


2018 में इन राशियों को रहना होगा सावधान?

नया साल अपने साथ बहुत सारी आशाएं लेकर आता है। अपनी इन आशाओं को पूरा करने के लिये हम योजनाएं भी बनाते हैं। बहुत सारे संकल्प भी लेते हैं। कुछ लोग अपने सपनों को साकार करने में कामयाब होते हैं तो कुछ को अपने सपने बिखरते हुए भी नज़र आते हैं। लेकिन यदि हमें यह पहले से ही ज्ञात हो कि हमारे जीवन में कब हम अपने लिये खुशियों को चुन सकते हैं तो कब हम अपनी सावधानी से बूरे वक्त को टाल सकते हैं। कहते भी हैं कि सावधानी हटी दुर्घटना घटी। हालांकि किस्मत में लिखे को कोई टाल नहीं सकता लेकिन हमारी लापरवाही की वजह से जो चीजें हमारे साथ होती हैं उनसे तो बचने के प्रयास किये ही जा सकते हैं। ज्योतिषशास्त्र के जरिये हम इन बातों का आभास कर सकते हैं। तो आइये जानते हैं उन राशियों के बारे में जिनके लिये 2018 की शुरुआत के समय ग्रह सतर्क रहने के संकेत कर रहे हैं।


राशिनुसार अपना भविष्यफल जानने के लिये यहां क्लिक करें वार्षिक राशिफल 2018 ( Rashifal 2018)


वृष – राशि स्वामी हैं अस्त कड़ी मेहनत से रहेंगें मस्त

नये साल का आरंभ कन्या लग्न में हो रहा है तो वर्ष की राशि वृषभ है। आपकी राशि के स्वामी शुक्र वर्ष आगमन के समय सूर्य व शनि के साथ अस्त होकर गोचर कर रहे हैं। आपकी राशि इस समय आंशिक काल सर्प दोष से भी ग्रसित है। यह सभी संकेत आपको मिलने वाले लाभ में कमी की संभावनाएं जता रहे हैं। हालांकि अष्टम भाव में सूर्य नाम व शौहरत मिलने के ईशारे भी दे रहे हैं। फिर भी आपको आगामी समय में ग्रहों की चाल के अनुसार थोड़ा सजग रहने की आवश्यकता रहेगी। साथ ही आपको सफलता प्राप्ति के लिये कड़ी मेहनत से गुजरना पड़ेगा।

वृष राशि वाले अपना वृष वार्षिक राशिफल 2018 जानने के लिये यहां क्लिक करें।


तुला – सावधानी हटी दुर्घटना घटी

तुला राशि के स्वामी भी शुक्र हैं। जो वर्ष लग्न से चौथे भाव में अस्त अवस्था में गोचररत हैं। आपके लिये भी नया साल उत्साहजनक नहीं कहा जा सकता। हालांकि जैसे-जैसे वर्ष का समय आगे बढ़ेगा वैसे-वैसे अन्य ग्रहों की चाल आपके लिये शुभाशुभ अवसर लेकर आयेगी। आपके लिये यही कहा जा सकता है कि सावधानी के साथ चलेंगें तो स्थिति को संभाल भी सकते हैं। अपनी सतर्कता से ही आप उचित अवसरों का लाभ उठाने में कामयाब हो सकते हैं।

तुला राशि वाले अपना तुला वार्षिक राशिफल 2018 जानने के लिये यहां क्लिक करें।


वृश्चिक – वेल्थ सही पर हेल्थ नहीं

हो सकता है 2018 में आपको आर्थिक असुरक्षा का सामना तो न करना पड़े लेकिन कहते हैं कि स्वास्थ्य ही व्यक्ति की सबसे बड़ी दौलत है। इस वर्ष आपको सेहत के प्रति सचेत रहने की आवश्यकता रहेगी। आपकी राशि के स्वमी मंगल वर्षारंभ के समय वर्ष लग्न से दूसरे स्थान पर गोचर कर रहे हैं। जिससे आपको संभवत: पैसों की कमी न खले लेकिन आप अपने पैसा  से आनंद उठा सकें इसके लिये अपनी सेहत की देखभाल जरुर करें।

वृश्चिक राशि वाले अपना वृश्चिक वार्षिक राशिफल 2018 जानने के लिये यहां क्लिक करें।


मकर – कभी खुशी कभी गम

2018 आपके लिये मिले जुले परिणाम लेकर आ रहा है। वर्षारंभ में राशि स्वामी शनि वर्ष लग्न से चौथे भाव में गोचर कर रहे हैं। इसी समय सूर्य भी इनके साथ ही गोचररत हैं। सूर्य के साथ होने से समय आपके लिये सामान्य कहा जा सकता है। आपके लिये इस वर्ष कभी खुशी कभी गम वाली स्थिति रहने के आसार हैं। इसलिये बेहतर है दुख से न घबरायें और सुख में न इतरायें।

मकर राशि वाले अपना मकर वार्षिक राशिफल 2018 जानने के लिये यहां क्लिक करें।


कुंभ – शनि सूर्य का साथ सामान्य रहेंगें हालात

मकर राशि वालों की तरह आपकी राशि के स्वामी भी शनि हैं जो कि वर्ष लग्न के अनुसार वर्षारंभ में चतुर्थ स्थान में सूर्य के साथ विचरण कर रहे हैं। सूर्य व शनि आपस में हैं तो पिता-पुत्र लेकिन शनि सूर्य से शत्रुता रखते हैं जिस कारण आपके लिये भी यह साल ज्यादा उत्साहजनक नहीं कहा जा सकता।

कुंभ राशि वाले अपना कुंभ वार्षिक राशिफल 2018 जानने के लिये यहां क्लिक करें।


हालांकि उपरोक्त आकलन सामान्य ज्योतिषीय आकलन के आधार पर है। जातकों की जन्मकुंडली के अनुसार ग्रहों की दशा व दिशा के आधार पर ही भविष्य का सटीक ज्योतिषीय आकलन किया जा सकता है। एस्ट्रोयोगी ज्योतिषाचार्यों से परामर्श कर आप अपने बारे में बहुत कुछ जान सकते हैं। ज्योतिषी जी से बात करने के लिये यहां क्लिक करें।


यह भी पढ़ें

अंक ज्योतिष भविष्यफल 2018  |    2018 में क्या कहती है भारत की कुंडली   |   2018 में कैसे रहेंगें सिनेमा के सितारे   |   

भारत खेल 2018 - खेलों में कैसा रहेगा भारत का प्रदर्शन?





एस्ट्रो लेख संग्रह से अन्य लेख पढ़ने के लिये यहां क्लिक करें

शुक्र मार्गी - शुक्र की बदल रही है चाल! क्या होगा हाल? जानिए राशिफल

शुक्र मार्गी - शुक...

शुक्र ग्रह वर्तमान में अपनी ही राशि तुला में चल रहे हैं। 1 सितंबर को शुक्र ने तुला राशि में प्रवेश किया था व 6 अक्तूबर को शुक्र की चाल उल्टी हो गई थी यानि शुक्र वक्र...

और पढ़ें...
वृश्चिक सक्रांति - सूर्य, गुरु व बुध का साथ! कैसे रहेंगें हालात जानिए राशिफल?

वृश्चिक सक्रांति -...

16 नवंबर को ज्योतिष के नज़रिये से ग्रहों की चाल में कुछ महत्वपूर्ण बदलाव हो रहे हैं। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार ग्रहों की चाल मानव जीवन पर व्यापक प्रभाव डालती है। इस द...

और पढ़ें...
कार्तिक पूर्णिमा – बहुत खास है यह पूर्णिमा!

कार्तिक पूर्णिमा –...

हिंदू पंचांग मास में कार्तिक माह का विशेष महत्व होता है। कृष्ण पक्ष में जहां धनतेरस से लेकर दीपावली जैसे महापर्व आते हैं तो शुक्ल पक्ष में भी गोवर्धन पूजा, भैया दूज ...

और पढ़ें...
गोपाष्टमी 2018 – गो पूजन का एक पवित्र दिन

गोपाष्टमी 2018 – ग...

गोपाष्टमी,  ब्रज  में भारतीय संस्कृति  का एक प्रमुख पर्व है।  गायों  की रक्षा करने के कारण भगवान श्री कृष्ण जी का अतिप्रिय नाम 'गोविन्द' पड़ा। कार्तिक शुक्ल ...

और पढ़ें...
देवोत्थान एकादशी 2018 - देवोत्थान एकादशी व्रत पूजा विधि व मुहूर्त

देवोत्थान एकादशी 2...

देवशयनी एकादशी के बाद भगवान श्री हरि यानि की विष्णु जी चार मास के लिये सो जाते हैं ऐसे में जिस दिन वे अपनी निद्रा से जागते हैं तो वह दिन अपने आप में ही भाग्यशाली हो ...

और पढ़ें...