सूर्य का मीन राशि में गोचर: इन राशियों के लिए रहेगा अच्छा समय? जानें

bell icon Wed, Mar 09, 2022
एस्ट्रो डी राणा एस्ट्रो डी राणा के द्वारा
सूर्य का मीन राशि में गोचर: इन राशियों के लिए रहेगा अच्छा समय ? जानें

वैदिक ज्योतिष में सूर्य आत्मा का कारक ग्रह माना जाता है। यह सौरमंडल के अन्य सभी ग्रहों को अपने बल से नियंत्रि त करता है इसलिए सूर्य को ग्रहों का राजा कहा जाता है। ज्योतिष में सूर्य को आत्मविश्वास, अभिमान और नेतृत्व की गुणवत्ता के साथ-साथ जीवन शक्ति देने वाला ग्रह कहा गया है। ज्योतिष के अनुसार सूर्य कुंडली में किस भाव में और किस राशि में स्थित है, यह बहुत कुछ परिभाषित कर सकता है। ऐसे में सूर्य का मीन राशि में गोचर जीवन को बदलने का कारक बन सकता है। 

मीन राशि में सूर्य, मकर राशि के साथ अच्छा पहलू बनाएंगे, सामान्य रूप से यह गोचर बेहतर होगा क्योंकि हम अपने जीवन के लक्ष्यों पर फोकस करने के साथ अपनी जिम्मेदारियों का प्रबंधन अच्छी तरह से कर सकेंगे। मीन जल तत्व की राशि है और इस वजह से हमारे जीवन के लक्ष्य भावनात्मक कारणों से प्रभावित होते हैं।

व्यक्तिगत राशिफल पाने के लिए एस्ट्रो डी राणा से अपनी कुंडली का विश्लेषण कराएं और जानें सूर्य का यह गोचर आपके लिए कैसा रहेगा। अभी परामर्श करें।

 

मीन राशि अवचेतन व भय का सूचक है और यहां सूर्य थोड़ा असहज महसूस कराता है, क्योंकि यह जल तत्व की राशि है, इसके साथ ही सूर्य उग्र ग्रह है। 15 मार्च 2022 को रात 12 बजकर 30 मिनट पर सूर्य मीन राशि में प्रवेश करने जा रहे हैं; सामान्यतः सूर्य किसी भी राशि में एक माह तक रहते हैं।

यह गोचर मेष, सिंह, तुला और कुंभ राशि के लिए कठिन समय लेकर आ सकता है। ऐसे में आपको परिस्थितियों के साथ तालमेल बिठाने की कोशिश करनी चाहिए। वृष और मकर राशि के जातकों को सकारात्मक अवसर मिल सकते हैं। कर्क और वृश्चिक राशि के लिए समय अनुकूल है। मीन, मिथुन, कन्या और धनु राशि वालों के लिए समय संघर्षों का है लेकिन कुछ अच्छे परिणामों के साथ।

 

जानें सूर्य विभिन्न राशियों पर कैसे प्रभाव डालेगा 

सूर्य का गोचर कई राशियोंं के लिए बदलाव का समय लेकर आने वाला है। वहीं कुछ के लिए कुछ परेशानियां व निराशा भी, तो आइये जानते हैं आपकी राशि के लिए सूर्य क्या परिणाम देना वाला है।

 

मेष राशि पर सूर्य गोचर का प्रभाव: भावनाओं पर नियंत्रण रखें

सूर्य आपके बारहवें भाव में गोचर करने जा रहे हैं। आप अचानक सामाजिक गतिविधि से कटे हुए महसूस कर सकते हैं और आप सामाजिक जीवन से जुड़ने में कठिनाई का सामना करेंगे। यहां सूर्य जन्म के चंद्रमा के साथ संयोजन में जा रहा है, आपकी भावनाएं और ध्यान असंतुलित हो सकते हैं। इस गोचर के दौरान अपने पेशेवर जीवन पर ध्यान देने की कोशिश करें। 

उपाय- यदि संभव हो तो प्रतिदिन गाय को गुड़ के साथ रोटी खिलाएं।

 

वृष राशि पर सूर्य गोचर का प्रभाव: वित्त के लिए समय सही है

सूर्य आपके ग्यारहवें भाव में गोचर करने वाला है। जिससे आपको सहयोगात्मक वातावरण मिलेगा। आपको अपने पेशेवर सहयोगियों का समर्थन प्राप्त होगा। इस अवधि में आपको अच्छा प्रोत्साहन या कोई मौद्रिक सहायता मिलती है। कार्यस्थल पर आप अपने कार्यों को पूर्ण करने में सक्षम होंगे।  

उपाय- तांबे के बने सूरज चिन्ह को घर की पूर्व दिशा में लगाएं।

 

मिथुन राशि पर सूर्य गोचर का प्रभाव: परिवार के साथ समय बिताएं

प्रिय मिथुन जातक सूर्य आपके दसवें भाव में गोचर करने जा रहे हैं, अचानक आपको अपने पेशेवर और व्यक्तिगत जीवन में संतुलन बनाने में कठिनाई होगी और व्यापार विस्तार व काम के कारण बोझ महसूस होगा। यह गोचर आपको अपने पेशेवर जीवन में व्यस्त रख सकता है। इस अवधि में परिवार के लिए समय निकालने की कोशिश करें। 

उपाय- तांबे के बर्तन में सफेद तिल के साथ सूर्य को जल चढ़ाएं।

 

कर्क राशि पर सूर्य गोचर का प्रभाव: पेशेवर जीवन में बदलाव

आपके लिए सूर्य नौवें भाव में गोचर करने जा रहा है; अपने परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर जाने की योजना बनाने के लिए यह अच्छा समय है। आप कुछ नया सीखने की कोशिश कर सकते हैं, जो आपके पेशेवर जीवन में आपकी मदद करेगा। इस महीने आपको पिछले महीनों की तुलना में आराम मिलेगा। जिसका आप लाभ उठाएं।

उपाय- तांबे के बर्तन में हल्दी और चीनी के साथ सूर्य को जल चढ़ाएं।

 

सिंह राशि पर सूर्य गोचर का प्रभाव: सावधान रहने का समय

सिंह जातक आपके लिए सूर्य अष्टम भाव में गोचर करने जा रहा है। आप धन हानि का सामना कर सकते हैं। इस समय आपको निवेश करने से बचना चाहिए साथ ही उधारी भी न दें। गोचर के दौरान आपको ड्राइविंग करते समय सावधानी बरतनी चाहिए। संबंध टूट सकते हैं इसलिए पूरी तरह से देखभाल करें और तनाव से बचें। मूल रूप से यह आपके मानसिक स्थिति को प्रभावित कर सकता है।

उपाय- तांबे के बर्तन में पीले और नारंगी रंग के फूलों से सूर्य को जल अर्पित करें।

 

कन्या राशि पर सूर्य गोचर का प्रभाव: पारिवारिक जीवन के लिए प्रतिकूल समय

कन्या, सूर्य आपके सातवें भाव में गोचर करने जा रहे हैं। यहां सूर्य का आपके जन्म के चंद्रमा के साथ विपरीत पहलू होगा। चूंकि सूर्य पुरुष तत्व का प्रतिनिधित्व करता है और चंद्रमा महिला तत्व का। विपरीत लिंग के साथ संघर्ष से बचें। अन्यथा यह आपको कानूनी मामलों में ले जा सकता है। विवाहित जोड़ों के लिए भी यह कठिन समय है।

उपाय- चीनी व शहद के साथ जल चढ़ाएं और ओम सूर्याय नमः का जाप करें।

 

तुला राशि पर सूर्य गोचर का प्रभाव: परिवार में संतुलन बनाने का समय

तुला जातक सूर्य आपके छठे भाव में गोचर करने जा रहा है, यहां सूर्य का आपके जन्म के चंद्रमा के साथ विपरीत पहलू बनेगा। क्योंकि यह कठिन पहलू है और हमारे पास केवल एक ही विकल्प है धैर्य व संतुलन। यहां आपको अपने पेशेवर क्षेत्र में परेशानियों को नजरअंदाज करना होगा और नौकरी छोड़ने जैसे विचारों को दूर करना होगा। धैर्य बनाएं रखना होगा। गोचर आपके मन को भ्रमित कर सकता है।

उपाय- तांबे के बर्तन में हरी मूंग के साथ सूर्य को जल चढ़ाएं।

 

वृश्चिक राशि पर सूर्य गोचर का प्रभाव: रुके काम पूरे होंगे

सूर्य पंचम भाव में गोचर कर रहा है; यह वह समय है जब वृश्चिक जातक अपने शौक और गतिविधियों को समय दे सकते हैं। इस अवधि में आप अधिक आराम महसूस करेंगे। इस अवधि के दौरान रिश्ते के लिए प्रतिबद्धता या शादी पर विचार किया जा सकता है। इस गोचर को सहायक माना जा सकता है। आपको अपने लंबित कार्यों पर भी ध्यान देने की आवश्यकता है।

उपाय- तांबे के बर्तन में सफेद फूल डालकर सूर्य को जल चढ़ाएं।

 

धनु राशि पर सूर्य गोचर का प्रभाव: धैर्य रखने का समय

सूर्य आपके चतुर्थ भाव में गोचर करने वाला है। संपत्ति से जुड़े किसी कानूनी मामले में धनु जातकों को राहत मिल सकती है। परंतु पर्सनल लाइफ के साथ-साथ प्रोफेशनल लाइफ में भी कुछ अनबन हो सकती है। इस अवधि में आपको अधिक निराशा होगी। लेकिन आपको धैर्य रखने की जरूरत है। समय फिर ठीक हो जाएगा।

उपाय- चावल और लाल फूल के साथ तांबे के बर्तन में सूर्य को जल चढ़ाएं।

 

मकर राशि पर सूर्य गोचर का प्रभाव: समय अनुकूल है

सूर्य आपके तीसरे भाव में गोचर करने वाले हैं, ब्लॉगर्स और कलाकारों के लिए यह बहुत अच्छा समय है। मकर जातक आपको अपनी रचनात्मकता और रुचि के लिए प्रतिक्रिया मिलने लगेगी; यहां आपका जन्म चंद्रमा सूर्य के साथ अच्छा पहलू बना रहा है। अधिक शारीरिक मेहनत करने से बचें, सेहत को भी संतुलित रखने की जरूरत है।

उपाय- तांबे के बर्तन में लाल चंदन के साथ सूर्य को जल अर्पित करें।

 

कुंभ राशि पर सूर्य गोचर का प्रभाव: वित्त को लेकर सावधान रहें

सूर्य आपके दूसरे भाव में गोचर करने जा रहे हैं। जिसके कारण आपको आर्थिक संकट का सामना करना पड़ सकता है, इसलिए सावधानी से पैसा खर्च करें। निवेश करते समय योजना से संबंधित जानकारी जुटा लें। अन्यथा आपको हानि का सामना करना पड़ सकता है।

उपाय- तांबे के बर्तन में केसर के साथ सूर्य को जल चढ़ाएं।

 

मीन राशि पर सूर्य गोचर का प्रभाव: समय विनम्र रहने का है 

मीन जातक सूर्य प्रथम भाव में गोचर करने वाला है; यही वह समय है जब आप अपनी अंतरात्मा से जुड़ने की कोशिश कर सकते हैं। आप अपने व्यवहार में पूर्ण परिवर्तन देखेंगे। आप भौतिकवादी दुनिया से असहज महसूस करेंगे। यहां सूर्य आपके जन्म के चंद्रमा के साथ युति करने जा रहा है और एक मजबूत और कठोर स्वभाव व्यक्तिगत जीवन को नुकसान पहुंचा सकता है। इस गोचर के दौरान आपको विनम्र रहने की कोशिश करनी चाहिए।

उपाय- पानी पीने के लिए तांबे की बोतल का प्रयोग करें।

 

नोट- यह सामान्य ज्योतिषीय आकलन है। कुंडली व जन्मतिथि के अनुसार यह बदल सकता है। 

 

अपनी व्यक्तिगत राशिफल जानने के लिए, एस्ट्रोयोगी एस्ट्रोलॉजर से परामर्श करें। अभी परामर्श करने के लिए यहां क्लिक करें। 

 

लेखक - एस्ट्रो डी राणा

यह भी पढ़े: - होलाष्टक 2022 | होलिका दहन 2022 | होली 2022