KKR vs DC - कोलकाता नाइट राइडर्स vs दिल्ली कैपिटल्स का मैच प्रेडिक्शन

24 अक्तूबर 2020

IPL 2020 42th मैच की प्रेडिक्शन

  • कोलकाता नाइट राइडर्स vs दिल्ली कैपिटल्स 
  • तिथि – 24 अक्टूबर 2020
  • स्थान – शेख जायद स्टेडियम अबुधाबी
  • समय –  दोपहर 3:30 बजे  (भारतीय समयानुसार), दोपहर 2:00  बजे  (यूएई समयानुसार) 
  • कोलकाता नाइट राइडर्स की नाम राशि - मिथुन
  • दिल्ली कैपिटल्स की नाम राशि – मीन

 

एक नजर दोनों टीमों के प्रदर्शन पर

आईपीएल के 13वें सीजन के 39वें मुकाबले में कोलकाता नाइट राइडर्स को रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने 8 विकेट से हराया था। वहीं टूर्नामेंट में अपनी 5वीं हार के साथ 10 अंक लेकर केकेआर चौथे नंबर पर काबिज है। जबकि दूसरी ओर आईपीएल टेबल प्वॉइंट में सबसे टॉप पर चल रही दिल्ली कैपिटल्स को आईपीएल 2020 के 38वें मैच में किंग्स इलेवन पंजाब ने 5 विकेट से मात दी थी। वहीं अब आगामी मुकाबला 24 अक्टूबर को अबुधाबी में दिल्ली और कोलकाता का होने जा रहा है। ऐसे में यह देखना काफी दिलचस्प रहेगा कि क्या केकेआर प्ले ऑफ में जगह बना पाती है या दिल्ली उसे टूर्नामेंट से बाहर कराती है? फिलहाल ज्योतिषीय आकलन के आधार पर हम आपको बताते हैं कि कौन सी टीम के जीतने के आसार अधिक हैं?

 

कोलकाता नाइट राइडर्स - इयॉन मोर्गन 

बहरहाल एस्ट्रोयोगी ज्योतिषी द्वारा की गई ज्योतिषीय भविष्यवाणी की मदद से जानते हैं कि इस मैच का परिणाम क्या रहने वाला है। दरअसल कोलकाता नाइट राइडर्स की बात की जाए तो इसकी नाम राशि मिथुन बनती है। मिथुन का स्वामी बुध मार्गी होकर दशम में सूर्य के साथ एक बुधादित्य योग बना रहा है। राशि के स्वामी का भाग्य का स्वामी होकर दशम में जाना कोलकाता के लिए अच्छे परिणाम देने वाला है। इस मैच में केकेआर के खिलाड़ियों में भरपूर जोश रहेगा, जिसके चलते ये प्रतिद्वंदी को कड़ा मुकाबला देने में सक्षम रहेंगे। 

वहीं दिनेश कार्तिक को रिप्लेस करते हुए केकेआर के नए कप्तान इयॉन मोरगन की नाम राशि वृषभ बनती है। जिसका स्वामी शुक्र गोचर के अनुसार अपने पंचम में बैठा है। जिसके चलते इयॉन को रणनीति बनाने में आसानी होगी। ये अपने विरोधियों को घेरने में भी कामयाब होंगे। कप्तान के रूप में  कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए इयान का प्रदर्शन अच्छा रहेगा। टीम को साथ लेकर चलने में ये कामयाब रहेंगे। जन्म के अनुसार इनका जन्म तुला लग्न व इनकी सूर्य राशि सिंह है जो इनकी खेल भावना को निखारने का योग बनाता है। 

अंक ज्योतिष में मूलांक 7 को केतु का अंक माना जाता है, जो विजय दिलाने वाला होता है। जो कि इयॉन का भी मूलांक 7 है। भाग्यांक 3 गुरु का अंक है जोकि इयॉन की मानसिक क्षमता को बढ़ाने में सहायक होगा। इसके साथ ही मूलांक और भाग्यांक के अनुसार इनके लिए ये सत्र शुभदायी माना जा सकता है। 

 

दिल्ली कैपिटल्स - श्रेयस अय्यर

दिल्ली कैपिटल्स की नाम राशि मीन बनती है। मीन का स्वामी गुरु का गोचर में धनु राशि में बैठना दिल्ली के लिए शुभ है लेकिन बारहवें घर में जाना अच्छी शुरूआत नहीं कह सकते और अंत में पराजय मिलने का योग भी बना रहा है। सूर्य का दशम घर में आना अच्छा  कह सकते हैं, लेकिन राशि स्वामी का बारहवें घर में जाना शुभ नहीं कह सकते।  वहीं अंक ज्योतिष में देखे तो वर्णों के योग से मूलांक 6 प्राप्त होता है जो कि शुक्र का अंक है और लघु नाम(KXIP) का अंक 7 बनता है जो कि केतु का अंक माना जाता है। यह संयोग भी टीम के लिये योग अच्छे बना रहा है बस संतुलन बनाकर चलने की आवश्यकता रहेगी। 2012 के बाद से टीम को अंतिम चार तक में पंहुचने का मौका नहीं मिला है। इस बार टीम के अंदर सब ठीक-ठाक रहा तो फाइनल तक पहुंचने की उम्मीद की जा सकती है।

वहीं दिल्ली कैपिटल्स के कप्तान श्रेयस अय्यर की जन्म तिथि और जन्म समय(12 बजे) के अनुसार उनकी राशि कुंभ है। जिसका स्वामी शनि केंद्र में बैठकर एक अच्छा साथ सहयोग देने वाला होगा। शनि का दृष्टि संबंध अपरोक्ष होने के कारण उनकी खेल भावना पर असर तो नहीं पड़ेगा लेकिन टीम का साथ न मिलने के कारण समय समय पर मायूसता भी नजर आएगी। चंद्रमा का 12वें भाव में बैठना भी चिंताग्रस्त बना देता है। मन में कई प्रकार की चिंताएं रहेंगी पर खेल पर इसका असर नहीं पड़ेगा। जन्मतिथि को देखा जाए तो श्रेयस अय्यर का मूलांक 6 है जिसका संबंध शुक्र से होता है । शुक्र शुभ ग्रह माना जाता है। सुख का कारक भी होता है। मूलांक के अनुसार भी इनका शुभ योग बन रहा है। जन्मतिथि के अनुसार भाग्यांक 5 है जो बुध का अंक है, जो बुद्धि को शिथिल बनाने वाला होता है। कहीं गलत मौके पर भी बुद्धि का प्रयोग करके पराजय को विजय में बदलने का योग माना जाता है।

 

दोनों टीमों के नाम व कप्तानों की जन्म कुण्डली के अनुसार कोलकाता नाइट राइडर्स के जीतने के प्रबल आसार हैं। हालांकि क्रिकेट को अनिश्चितताओं का खेल कहा जाता है, इसलिए ये तो वक्त ही बताएगा कि कौन जीत का स्वाद चखेगा।

नोएडा में ज्योतिषी  । मुंबई में ज्योतिषी 

एस्ट्रो लेख

ज्येष्ठ पूर्णिमा 2021 – वट पूर्णिमा व्रत का महत्व व पूजा विधि

आषाढ़ माह 2021 – जानें आषाढ़ माह के व्रत व त्यौहार

कबीर जयंती 2021 – जात जुलाहा नाम कबीरा

शुक्र का कर्क राशि में परिवर्तन - जानिए किन राशियों की बदलने वाली है किस्मत

Chat now for Support
Support