Skip Navigation Links
शनि मार्गी - शनिदेव की बदली चाल से क्या बदलेगी आपकी किस्मत?


शनि मार्गी - शनिदेव की बदली चाल से क्या बदलेगी आपकी किस्मत?

6 सितंबर 2018 को, 17:02 मिनट दिन गुरुवार को शनि ग्रह वक्री से मार्गी हो रहे हैं । वक्री अवस्था में शनि अधिकांश राशियों को नकारात्मक रूप से प्रभावित कर रहे थे। इस प्रभाव के कारण, कामों में अडचनें और बाधायें बराबर इनकी तरफ से प्राप्त हो रही थी। लेकिन अब 6 सितंबर से धनु राशि में शनि की चाल बदलने व उनके वक्री से मार्गी हो जाने से अधिकांश राशियों के लिये बंद रास्ते खुलते नज़र आयेंगें। आइये जानते हैं शनि की बदली चाल से आपकी किस्मत क्या करवट ले रही है। 


शनि की मार्गी चाल का असर आपकी राशि पर 

मेष

मेष राशि वालों के लिये शनि लटके हुए कार्यों को सिरे चढ़ाने का काम कर सकते हैं। कामकाजी जीवन में तेजी की उम्मीद इस समय कर सकते हैं। भाग्य का भी आपको पूरा साथ मिलेगा। दरअसल कर्मफलदाता शनि आपकी राशि से भाग्य स्थान में वक्री से मार्गी हो रहे हैं। इस समय आपको अपनी क्षमता के अनुसार लाभ मिल सकता है। अपने प्रतिस्पर्धियों, प्रतिद्वंदियों, विपक्षी विरोधियों पर भी हावि रह सकते हैं। राजनीति से जुड़े जातकों के लिये समय शानदार कहा जा सकता है।

वृषभ


आपकी राशि से अष्टम भाव में शनि मार्गी हो रहे हैं जो कि आपके लिये यात्राओं के योग बना रहे हैं। धन वृद्धि के संकेत भी अष्टम शनि आपके लिये कर रहे हैं। यदि कहीं पर आपका पैसा फंसा हुआ है तो प्रयासरत रहें इस समय वह निकल सकता है। कार्यस्थल पर आपको अनुकूल परिणाम मिल सकते हैं। रोमांटिक जीवन की बात करें तो शनि आपके जीवन में प्यार की बहार लेकर आ सकते हैं। आप इस समय किसी के प्रति अपने प्रेम का इजहार कर सकते हैं।


मिथुन

मिथुन राशि वालों के लिये शनि की चाल सप्तम भाव में बदल रही है। वक्री शनि के कारण दांपत्य जीवन में आपको जिन परेशानियों का सामना करना पड़ा है उसमें आपको राहत मिल सकती है। लाइफ पार्टनर की किसी उपलब्धि को लेकर आप गौरवान्वित महसूस कर सकते हैं। लाइफ पार्टनर से संबंधित लोग भी आपके लिये लाभकारी रह सकते हैं। भाग्य का भी आपको पूरा सहयोग मिलने के संकेत शनिदेव कर रहे हैं। आपके लिये यह समय पिछले समय से चली आ रही किसी बड़ी परेशानी से निजात पाने का भी है।


कर्क

कर्क राशि वालों के लिये शनि की चाल छठे स्थान में बदल रही है जो कि आपके लिये रोग व शत्रु का घर कहा जाता है। प्रतिस्पर्धियों की ओर से आपको जो चुनौतियां मिल रही थी, उनमें कमी आने की उम्मीद कर सकते हैं। आप देखेंगें कि आपके विरोधी अब एकदम शांत हो गये हैं। स्वास्थ्य के स्तर पर  भी आपको लाभ मिल सकता है। छोटी मोटी यात्राएं भी आपको करनी पड़ सकती हैं। कामकाज के लिये होने वाली यात्राएं लाभकारी रह सकती हैं। अतीत में किये किसी निवेश से लाभ की उम्मीद कर सकते हैं। इस समय आप अपनी क्षमतानुसार उचित सम्मान के हकदार भी हो सकते हैं।

सिंह

आपकी राशि से पंचम भाव में शनि मार्गी हो रहे हैं। शनि की बदली चाल से आपके रोमांटिक जीवन में एक नई ताज़गी, रिश्तों में एक नई महक आयेगी। हाल ही में अपने पार्टनर के साथ किसी बात को लेकर मनमुटाव हुआ है तो इस समय आप एक दूसरे के करीब आ सकते हैं। जो जातक अभी तक किसी के प्रेम पाश में बंधे नहीं हैं उनके लिये भी यह समय नये अवसर लेकर आ सकता है। संतान पक्ष की ओर से भी आपको खुशखबरी मिल सकती है। जो जातक संतान प्राप्ति की कामना रखते हैं उनकी मुराद इस समय पूरी हो सकती है। विद्यार्थियों के लिये भी यह समय अनुकूल परिणाम लेकर आने वाला रह सकता है। लाभ प्राप्ति के नये साधन भी आप इस समय तलाश सकते हैं। हाल ही यदि भविष्य के लिये कुछ धन बचत करने में आपको परेशानी हुई है तो इस समय आप आसानी से बचत कर सकते हैं।


कन्या

शनि की चाल कन्या राशि से सुख भाव में बदल रही है। चौथे स्थान में शनि के मार्गी होने से आपके लिये यह समय सुख सुविधाओं में वृद्धि के संकेत कर रहा है। माता के स्वास्थ्य को लेकर हाल ही में आपको परेशानियों का सामना करना पड़ा है तो इस समय राहत मिल सकती है। भौतिक संसाधनों का पूरा सुख आपको मिल सकता है। इस समय आप अपने विरोधियों को करारा जवाब देने में सक्षम रहेंगें। नौकरी व व्यवसाय करने वाले जातकों के लिये भी कार्योन्नति के आसार हैं। स्वयं का स्वास्थ्य भी बेहतर बने रहने के आसार मार्गी शनि कर बना रहे हैं।

तुला

तुला राशि वालों के लिये शनि तृतीय स्थान में मार्गी हो रहे हैं। आपका पराक्रम काफी मजबूत रहेगा जिससे परिणामस्वरूप कार्यस्थल पर आपके प्रदर्शन में भी आश्चर्यजनक परिवर्तन देखा जा सकता है। इस समय आप अपने वरिष्ठ अधिकारियों की नज़र में आ सकते हैं जिससे कि आपकी तरक्की के रास्ते खुलने के आसार बनेंगें। जो विवाहित जातक लंबे समय से संतान प्राप्ति को लेकर प्रयासरत हैं लेकिन अभी तक मायूसी हाथ लगी है तो इस समय शनिदेव उनकी मुराद पूरी होने के योग बना रहे हैं। हालांकि अविवाहित जातकों के रोमांटिक जीवन में हो सकता है उन्हें उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़े। कठिन परिश्रम का फल आपको मिल सकता है भाग्य का पूरा साथ आपको मिलेगा। आपके लिये सलाह है कि अनावश्यक खर्चों से बचने का प्रयास करें।

वृश्चिक

वृश्चिक राशि वालों के लिये शनि दूसरे भाव में मार्गी हो रहे हैं। धन भाव में शनि की बदली चाल आपके लिये धन प्राप्ति के नये रास्ते खोल सकती है। पैतृक संपत्ति से मिलने लाभ में किसी तरह के विलंब का सामना करना पड़ा है तो शनि आपके इंतजार को खत्म कर सकते हैं। भौतिक सुख संसाधनों में वृद्धि के योग शनि बना रहे हैं। यात्राएं भी आपके लिये लाभकारी रहने के आसार हैं।

धनु

शनि आपकी ही राशि में मार्गी हो रहे हैं। गत दिनों से स्वास्थ्य को लेकर किसी परेशानी से दो चार होना पड़ा है तो इस समय उसमें लाभ मिल सकता है। भाई बहनों का पूरा साथ आपको मिलेगा। रोमांटिक लाइफ की बात करें तो उसमें आपको सकारात्मक परिणाम देखने को मिलेंगें। पार्टनर के आपके रिश्ते मधुर हो सकते हैं। विवाहित जातकों का भी अपने साथी पर विश्वास बढ़ेगा। कामकाज की दृष्टि से देखा जाये तो मार्गी शनि आपके लिये उन्नति के योग बना रहे हैं।


मकर

शनि आपकी राशि के स्वामी भी हैं जो कि आपकी राशि से 12वें स्थान में वक्री से मार्गी हो रहे हैं। इस समय अतीत में किये किसी निवेश से अचानक आपको धन लाभ मिल सकता है। जो जातक अपनी फाइनेंशियल कंडीशन को बेहतर बनाने व भविष्य के लिये कुछ राशि बचाने की सोच रहे थे जिसमें उनको चाहने पर भी सफलता नहीं मिल रही थी उनके लिये बहुत अच्छी बात यह है कि शनि आपकी जमा पूंजी में वृद्धि के संकेत कर रहे हैं। बचत की योजना को सिरे चढ़ा सकते हैं। विरोधियों द्वारा आपके रास्ते में जो बाधाएं खड़ी की जा रही थी आप देखेंगे कि उनसे भी आप आसानी से पार पा रहे हैं। अपने प्रतिद्वंदियों पर आप इस समय हावि रह सकते हैं। भाग्य का साथ आपको मिलने के आसार हैं।


कुंभ

कर्मफलदाता शनि कुंभ राशि का भी प्रतिनिधित्व करते हैं। लाभ घर में शनि के वक्री रहने से हो सकता है आपको अभी तक अपेक्षित लाभ से वंचित रहना पड़ा हो, लेकिन मार्गी शनि से इस स्थिति में परिवर्तन होगा व आपको लंबे समय से जिस लाभ के मिलने की अपेक्षा थी वह मिल सकता है। जो जातक किसी नये व्यवसाय या फिर कोई नई नौकरी करने की इच्छा रखते हैं उनके लिये भी शनि की मार्गी चाल लाभकारी रह सकती है। स्वास्थ्य का लाभ भी आपको मिलेगा। रोमांटिक लाइफ में भी रिश्ते मधुर रहेंगें। यात्राओं के योग भी आपके लिये बनेंगें जिनके लाभकारी रहने की उम्मीद कर सकते हैं।


मीन

मीन राशि वालों के लिये शनि कर्मभाव में मार्गी हो रहे हैं। कामकाजी जीवन में पेश आ रही परेशानियों से निजात मिल सकती है। लंबित कार्यों के बनने के योग भी मार्गी शनि प्रशस्त करेंगें। वक्री शनि के कारण हो सकता है आप पर काम का दबाव कुछ ज्यादा ही रहा हो तो उससे भी आपको इस समय राहत मिल सकती है। जोखिम वाले क्षेत्र में धन निवेश करने का जोखिम भी उठा सकते हैं। माता से भी आपको अनुकूल सहयोग मिलेगा। विवाहित जातकों के दांपत्य जीवन में भी रिश्ते मधुर होने के आसार हैं।

यह राशिफल सामान्य ज्योतिषीय आकलन के आधार पर बताया गया है। आपकी कुंडली के अनुसार शनि की दशा आप पर कैसी चल रही है इसके लिये एस्ट्रोयोगी पर इंडिया के बेस्ट एस्ट्रोलॉजर्स से कंसल्ट करें।

यह भी पढ़ें

शनि परिवर्तन – किस पर लगेगी ढ़ैय्या तो किसकी पार लगेगी नैय्या?   |   शनिदेव - कैसे हुआ जन्म और कैसे टेढ़ी हुई नजर   |   

शनिदेव - क्यों रखते हैं पिता सूर्यदेव से वैरभाव   |   शनि शिंगणापुर मंदिर   |   शनि जयंती 2018

शनि दोष – जब पड़े शनि की मार करें यह उपचार   |   शनि त्रयोदशी - प्रदोष व्रत कथा व पूजा विधि   |   जानें शनि दोष से मुक्ति के अचूक उपाय




एस्ट्रो लेख संग्रह से अन्य लेख पढ़ने के लिये यहां क्लिक करें

शरद पूर्णिमा 2018 – शरद पूर्णिमा व्रत कथा व पूजा विधि

शरद पूर्णिमा 2018 ...

पूर्णिमा तिथि हिंदू धर्म में एक खास स्थान रखती है। प्रत्येक मास की पूर्णिमा का अपना अलग महत्व होता है। लेकिन कुछ पूर्णिमा बहुत ही श्रेष्ठ मानी जाती हैं। अश्विन माह क...

और पढ़ें...
वाल्मीकि जयंती 2018 - महर्षि वाल्मीकि विश्व विख्यात ‘रामायण` के रचयिता

वाल्मीकि जयंती 201...

हिन्दू पंचांग के अनुसार आश्विन मास की शरद पूर्णिमा की तिथि पर महर्षि वाल्मीकि का जन्मदिवस ‘वाल्मीकि जयंती` के नाम से मनाया जाता है| वर्ष 2018 में वाल्मीकि जयंती 24 अ...

और पढ़ें...
बुध ग्रह राशि परिवर्तन – क्या होगा असर आपकी राशि पर?

बुध ग्रह राशि परिव...

ज्ञान के कारक बुध ज्योतिषशास्त्र में खास मायने रखते हैं। सूर्य के लगभग साथ-साथ गोचर करने वाले बुध लेखन, प्रकाशन, लेखे-जोखे पर नज़र रखने वाले माने जाते हैं। ज्योतिषाच...

और पढ़ें...
पूर्णिमा 2018 – कब है पूर्णिमा व्रत तिथि

पूर्णिमा 2018 – कब...

पूर्णिमा हिंदू कैलेंडर अर्थात पंचांग की बहुत ही खास तिथि होती है। धार्मिक रूप से पूर्णिमा का बहुत अधिक महत्व माना जाता है। दरअसल पंचांग में तिथियों का निर्धारण चंद्र...

और पढ़ें...
गुरु गोचर 2018-19 : मंगल की राशि में गुरु, इन राशियों के अच्छे दिन शुरु!

गुरु गोचर 2018-19 ...

गुरु का वृश्चिक राशि में गोचर 2018-19 - देव गुरु बृहस्पति 11 अक्तूबर को लगभग 7 बजकर 20 मिनट पर राशि परिवर्तन कर रहे हैं। गुरु का गोचर ज्योतिषशास्त्र में बहुत महत्वपू...

और पढ़ें...