लव कम्पेटिबिलिटी मकर पुरुष मेष महिला


मकर
Kundli mtaching
मेष

इस संबंध को बहुत आशावादी संबंध नहीं कहा जा सकता। मकर जिन का स्वामी शनि होता है, स्वभाव से आलसी होते हैं। इस राशि के लोग शांत स्वभाव के भी होते हैं। दूसरी ओर मेष जिनका कि स्वामी मंगल होता है, बहुत ही व्यग्र किस्म के होते हैं और धीमी गति से चलने वाले मकर के साथ सामंजस्य नहीं बैठा पाते। लेकिन मकर जिद्दी होते हैं तथा मेष के साथ तब तक जूझते रहते हैं जब तक कि अंत ही ना हो जाए या दोनों में से कोई एक खुद को वापस ना मोड़ ले। सैक्स के मामले में दोनों ही बहुत सकारात्मक होते हैं, लेकिन इस आधार पर भी इनका रिश्ता बहुत लंबे समय तक नहीं टिक पाता, क्योंकि इस बात पर भी इनमें जल्दी ही मतभेद हो जाता है। यहां हमें पृथ्वी तत्व का मिलन अग्नि तत्व के साथ देखने को मिलता है। मेष अग्नि तत्व वाले होते हैं, जबकि मकर जमीन से जुड़े होते हैं तथा अपने आप में ही रहने वाले व पूरी तरह से सतर्क होते हैं। मेष राशि वालों को जल्दी ही निर्णय लेना अच्छा लगता है, जबकि मकर हर बात पर पूरी तरह से सोच-विचार करने के बाद ही कोई निर्णय लेना पसंद करते हैं। जब तक कि दोनों में एक-दूसरे की बात को शांति से सुनने की क्षमता ना हो, तब तक इस रिश्ते के बहुत लंबे समय तक चल पाने की उम्मीद कुछ कम ही रहती है।


अन्य राशियों के साथ अपनी लव कम्पेटिबिलिटी जानें

एस्ट्रो लेख

Chat Now for Support