मंगल राशि परिवर्तन - राशिनुसार होंगे ये बदलाव

19 जुलाई 2021

ऊर्जा और जीवन शक्ति का स्वामी होने के कारण मंगल 20 जुलाई 2021 को शाम 06:19 बजे सिंह राशि में गोचर करने वाला है और 06 सितंबर 2021 को सुबह 04:21 बजे तक इसी राशि में रहेगा। सिंह को एक उग्र राशि माना जाता है, और मंगल ग्रह आक्रामकता सहित मजबूत इच्छाओं पर शासन करता है। सिंह राशि में मंगल दृढ़ संकल्प और हिंसा की भावना का प्रतीक है। नतीजतन, जातक महत्वाकांक्षी होता है और अपने जीवन के लिए एक निश्चित लक्ष्य निर्धारित करता है। इसके बाद वह अपने लक्ष्य को हासिल करने में कोई कसर नहीं छोड़ते। उनके व्यक्तित्व में चुंबकीय रूप है। जातक अपने लक्ष्य तक पहुँचने के लिए बहुत मेहनत करता है। तो आइए एस्ट्रोयोगी ज्योतिषी से जानते हैं कि मंगल का यह राशि परिवर्तन सभी 12 राशियों को कैसे प्रभावित करेगा।

ग्रह  ➔  सूर्य ग्रहचंद्र ग्रह  ➔   बृहस्पति ग्रहशुक्र ग्रह ➔  बुध ग्रहमंगल ग्रह ➔  शनि ग्रहराहु ग्रह  ➔   केतु ग्रह ➔

 

मंगल का सिंह राशि में गोचर - यह रहेगा प्रभाव

मंगल के सिंह राशि में गोचर का मेष राशि पर प्रभाव

कर्म ग्रह माने जाने वाला मंगल ग्रह इस गोचर के दौरान आपके पंचम भाव में रहेगा। इन राशि के जातकों के लिए यह एक अच्छा गोचर है। आपकी बुद्धि समझदारी से निर्णय लेने में मदद करेगी। इस अवधि में छात्रों की एकाग्रता और फोकस अच्छा रहेगा, जो उन्हें बाहरी वातावरण या चुनौतियों से मुकाबला करने में मदद मिलेगी। नतीजतन, आपको अपनी आर्थिक स्थिति को मजबूत बनाने के लिए बहुत मेहनत करनी पड़ सकती है। इस गोचर काल में आप नई चीजें सीखने और सफल होने में भी रुचि लेंगे। आपके प्रेम जीवन में कुछ छोटी-मोटी चुनौतियाँ आ सकती हैं। इसलिए, आपको अपने जीवन साथी से सौहार्दपूर्ण ढंग से बात करने का सुझाव दिया जाता है।

 

मंगल के सिंह राशि में गोचर का वृष राशि पर प्रभाव

मंगल वृषभ राशि के जातकों के चौथे भाव में गोचर करेगा। इससे घर में खुशनुमा माहौल रहेगा। लेकिन आपको सतर्क रहने की सलाह दी जाती है क्योंकि आपका कोई करीबी आपके परिवार के सुखी और समृद्ध जीवन पर बुरी नजर डाल सकता है। इसलिए, आपको अपने परिवार के सदस्यों के बीच सौहार्दपूर्ण बंधन रखने और अपने माता-पिता के स्वास्थ्य की अच्छी देखभाल करने का सुझाव दिया जाता है। आपके जीवन साथी को काम पर प्रमोशन मिल सकता है। अपने अहंकार और क्रोध की वजह से वैवाहिक जीवन को खराब ना करें। अपने कार्यस्थल पर आपके आश्चर्यजनक प्रदर्शन के लिए लोग आपको पसंद करेंगे। आपके बढ़े हुए नेतृत्व कौशल के कारण नेतृत्व की कोई भूमिका आपको सौंपी जा सकती है। आपके वर्तमान वेतन में वृद्धि होने की भी संभावना है। 

 

मंगल के सिंह राशि में गोचर का मिथुन राशि पर प्रभाव

मंगल ग्रह मिथुन राशि के जातकों के तीसरे भाव में गोचर करेगा, जिसके फलस्वरूप आपकी ऊर्जा और जोश अपने चरम पर रहेगा। इस दौरान किया गया कोई भी भ्रमण आपको संतोषजनक परिणाम दे सकता है। कानूनी विवादों और मामलों में फैसला आपके पक्ष में रहेगा। आपके दृढ़ संकल्प और साहस से आपके लिए कोई भी मील का पत्थर हासिल किया जा सकता है। इसके अलावा, विदेशी स्रोतों के माध्यम से लाभ हो सकता है। इस गोचर के दौरान किसी कर्ज, विवाद या लड़ाई में न उलझें अन्यथा यह आपके लिए कुछ तनाव भी पैदा कर सकता है। अपने छोटे भाई-बहनों के स्वास्थ्य का ध्यान रखें क्योंकि इस गोचर के दौरान उन्हें कोई बीमारी हो सकती है।

 

मंगल के सिंह राशि में गोचर का कर्क राशि पर प्रभाव

मंगल ग्रह कर्क राशि के दूसरे भाव में गोचर करेगा। जिसके परिणामस्वरूप, आपके कार्यों का फल मिलेगा और आपको अच्छी मात्रा में धन संचय करने में मदद मिलेगी। यह अवधि दर्शाती है कि करियर और पेशे से संबंधित कार्यों में आपको अपने परिवार का अच्छा समर्थन मिल सकता है। आप इस अवधि में तुरंत निर्णय लेने में वास्तव में अच्छे होंगे। कोई भी विचार या कार्य आपके लिए इस अवधि में अच्छे से क्रियान्वित हो सकता है। मनोगत, रहस्यवाद या शोध के प्रति रुचि बढ़ सकती है। अपने पिता के स्वास्थ्य का ध्यान रखें। हालांकि द्वितीय भाव में मंगल के निवास के कारण आप कटु वचन बोल सकते हैं। इसलिए, गपशप या किसी भी अनावश्यक बातचीत में शामिल होने से बचें। इसके बजाय, आवश्यकतानुसार बोलें। जो लोग प्यार में हैं उन्हें अपने पार्टनर के सामने अपनी बात कहने में दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।

 

सिंह राशि में मंगल के गोचर का सिंह राशि पर प्रभाव

मंगल ग्रह आपकी राशि के लग्न भाव में गोचर करेगा। इस अवधि में आप हर पल का आनंद उठाएंगे। नेतृत्व और प्रशासनिक कौशल आपको इस अवधि में किसी भी स्थिति या परिस्थितियों का अच्छी तरह से नेतृत्व करने में मदद करेंगे। लोग आपसे अच्छी सलाह लेंगे। आप एक करियर या कार्य-उन्मुख व्यक्ति होंगे और आपका जुनून आपको सकारात्मकता या सफलता की ओर भी ले जाएगा। आपका एनर्जी लेवल काफी हाई रहेगा, जिसकी तारीफ भी होगी। आप किसी भी कार्य को आसानी से निपटाने में सक्षम हो सकते हैं। प्यार, जुनून और रोमांस हवा में रहेगा, हालांकि, प्रेम के मामलों में पजेसिव होने से बचें और इस अवधि में निरंतरता बनाए रखने के लिए क्रोध और आवेग से भी बचें।

 

मंगल के सिंह राशि में गोचर का कन्या राशि पर प्रभाव

मंगल आपकी राशि के बारहवें भाव में गोचर करेगा, जो खर्च का सूचक भी है। जब मंगल इस विशेष भाव में प्रवेश करेगा तो आपके ख़र्चे बढ़ेंगे जिससे आपकी जेब भारी हो जाएगी। कुछ जातकों को अपने काम के सिलसिले में यात्रा भी करनी पड़ सकती है। आपको अवैध गतिविधियों से दूर रहने का सुझाव दिया जाता है क्योंकि उनके बुरे परिणाम हो सकते हैं। इस अवधि के दौरान अपने क्रोध और आक्रामकता पर नियंत्रण रखें अन्यथा आपको अपने जीवन में कुछ संघर्ष या लड़ाई का सामना करना पड़ सकता है। शांति और सद्भाव बनाए रखने के लिए किसी भी कर्ज, संघर्ष या लड़ाई में शामिल होने से बचें। इस अवधि में कोई व्यापारिक सौदा न करें अन्यथा इससे आपको नुकसान भी हो सकता है। वित्त से जुड़े किसी भी बड़े फैसले को इस अवधि में टाल देना ही बेहतर है। 

मंगल के नकारात्मक प्रभावों से बचने के लिये अपनी कुंडली के अनुसार एस्ट्रोयोगी ज्योतिषाचार्यों से जानें सरल ज्योतिषीय उपाय। अभी परामर्श करने के लिये यहां क्लिक करें।

 

मंगल के सिंह राशि में गोचर का तुला राशि पर प्रभाव

मंगल ग्रह आपकी राशि के ग्यारहवें भाव में गोचर करेगा, जिसे लाभ का भाव माना जाता है। इस अवधि में आपकी आय और राजस्व में वृद्धि होगी। आपका काम फलीभूत होगा और आपको समाज में अच्छी स्थिति और पहचान हासिल करने में मदद करेगा। प्यार और संबंध अच्छे रहेंगे और आप अपने प्रियजनों के साथ अच्छा समय बिता पाएंगे। इसके अलावा आप से जुड़े लोग आपके लिए बहुत उपयोगी साबित होंगे क्योंकि आपको उनसे लाभ कमाने का मौका मिलेगा। हालांकि, प्रेमी जातकों को अपने साथी को स्पेस देना जरूरी होगा। आप अपने जीवनसाथी के साथ किसी यात्रा पर जा सकते हैं। 

 

मंगल के सिंह राशि में गोचर का वृश्चिक राशि पर प्रभाव

मंगल आपके दशम भाव में गोचर करेगा, जो आपको कार्यस्थल पर अनुकूल परिणाम देगा। आपका समर्पण और कड़ी मेहनत आपको फलदायी परिणाम देगी और आपको पेशेवर मोर्चे पर पहचान दिलाने में सक्षम बनाएगी। आप में से कुछ लोगों को प्रमोशन का ऑफर भी मिल सकता है। फिर भी, अपनी पेशेवर उपलब्धियों के कारण अपने अभिमान और अहंकार को अपने रवैये का हिस्सा न बनने दें। इस गोचर के दौरान बेरोजगार युवाओं को नौकरी का ऑफर मिलेगा। आपके पारिवारिक जीवन में परेशानी आ सकती है।

 

मंगल के सिंह राशि में गोचर का धनु राशि पर प्रभाव

धनु राशि के जातकों के लिए मंगल का गोचर उनके नवम भाव में होगा। इस गोचर के कारण आपका मन स्थिर रहेगा। अपने कार्यस्थल पर आप समर्पित और कर्तव्यनिष्ठ रहेंगे, जिससे आपको अपने जीवन में बड़े लक्ष्य प्राप्त करने में मदद मिलेगी। फिर भी, परिचित मोर्चे पर, आपको कुछ कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है। आपके पिता के स्वास्थ्य को हेल्थचेकअप की आवश्यकता हो सकती है। अपने पिता के साथ किसी भी बहस में शामिल न हों, भले ही विचारधाराओं या विचारों का कोई टकराव हो। विदेशी स्रोतों के माध्यम से लाभ प्राप्त होने की संभावना है, हालांकि, आपको इस अवधि में किसी भी अनावश्यक विलासिता की वस्तु को खरीदने के लिए अपने खर्चों को नियंत्रित करने की आवश्यकता है। अपने बच्चों और लव पार्टनर के साथ बहस करने से बचने की कोशिश करें।

 

मंगल के सिंह राशि में गोचर का मकर राशि पर प्रभाव

मंगल आपकी राशि के आठवें भाव में गोचर करेगा, जिससे आपके स्वास्थ्य और ऊर्जा पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा। संतुलित आहार और व्यायाम आपकी स्वास्थ्य समस्याओं को दूर रखेंगे। रक्षा, पुलिस, अनुसंधान, रत्न, वस्त्र उद्योग आदि के क्षेत्र से जुड़े लोगों को इस अवधि में अच्छे परिणाम मिल सकते हैं। इसके अलावा इस गोचर के दौरान भोजन से जुड़े उद्योगों या एफएमसीजी कंपनियों से जुड़े लोगों को लाभ मिल सकता है। प्रेम और रोमांस में भी आपका जुनून बहुत अधिक रहेगा, आप अपने साथी के साथ भी अच्छा समय बिता पाएंगे। बाकी आपको अपनी तीखी वाणी और आक्रामकता पर नियंत्रण रखने की कोशिश करने की जरूरत है।


मंगल के सिंह राशि में गोचर का कुंभ राशि पर प्रभाव

मंगल कुंभ राशि के जातकों के सप्तम भाव में गोचर करेगा। इस अवधि में कोई आधिकारिक पद आपको सौंप दिया जाएगा। यह अवधि पदोन्नति, पुरस्कार और मान्यता प्राप्त करने के लिए है। इस अवधि में व्यक्तित्व चुंबकीय बन जाएगा और आपका जुनून आपको सफलता और विकास की ओर ले जाएगा। कार्यक्षेत्र में आपको अच्छा लाभ मिल सकता है। इस अवधि में किसी भी व्यावसायिक साझेदारी को शुरू करने का अच्छा समय है। यह भाव हमें साझेदारी के लिए आने वाले अवसरों के बारे में बताता है। इस समयावधि के दौरान दाम्पत्य जीवन में कष्ट हो सकता है। आपके और आपके जीवनसाथी के बीच तीखी बहस हो सकती है। 

 

मंगल के सिंह राशि में गोचर का मीन राशि पर प्रभाव

मीन राशि के छठे भाव में मंगल ग्रह गोचर करेगा, जिसे शत्रुओं का घर कहा जाता है। इसके परिणामस्वरूप, आपको अपने जीवन के कई पहलुओं में उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ेगा, लेकिन कड़ी मेहनत आपकी चुनौतियों को दूर करने में आपकी मदद करेगी। विद्यार्थियों को इस अवधि का अधिक से अधिक लाभ मिलेगा। वे इस अवधि में प्रतियोगी परीक्षा को पास करने में सक्षम होंगे। सेवा उद्योग और अनुसंधान के क्षेत्र से जुड़े लोगों को इस अवधि में अच्छा लाभ मिलेगा। हालाँकि इस अवधि में अपने पिता के स्वास्थ्य का ध्यान रखें और उनके साथ किसी भी तरह की बहस में पड़ने से बचें। समाज में बुजुर्गों का सम्मान करें और इससे आपको मानसिक शांति प्राप्त करने में मदद मिलेगी। इस अवधि में आपकी देशभक्ति की भावना उच्च रहेगी। आराम करें यह अवधि अच्छी है, लेकिन आर्थिक रूप से इस अवधि में कोई निवेश न करें क्योंकि इस अवधि में पैसा कहीं अटक सकता है।

 

यह भी पढ़ें

मंगल दोष - जानें कुंडली में मंगल दोष निवारण के उपाय   |   मूंगा रत्न – मंगल की पीड़ा को हर लेता है मूंगा   |   युद्ध देवता मंगल का कैसे हुआ जन्म पढ़ें पौराणिक कथा 

Chat now for Support
Support