सहस्र चक्र

हमारे एहसास और जज्बात वास्तव में हमारे शरीर में बसते हैं, क्या आपको ऐसा नहीं लगता? हमारा शरीर हमारे आस-पास की ऊर्जा के साथ चलता है। कुछ ऊर्जावान आवेग आमतौर पर शरीर के एक विशिष्ट हिस्से से सीधे संबंधित होते हैं, जिसकी वजह से चक्र कमजोर, अवरुद्ध, या असंतुलित हो जाता है।

जब सहस्त्र चक्र अवरुद्ध हो जाता है तो आमतौर पर अवसाद, सहानुभूति में कमी और जीवन में वियोग की भावना जन्म लेने लगती है। खास बात यह है कि इस चक्र के अवरुद्ध होने पर मस्तिष्क की प्रक्रियाओं जैसे स्मरण शक्ति, एकाग्रता और बुद्धि प्रभावित होती है।  वहीं चक्रों को अनब्लॉक या संतुलित करने के लिए ध्यान, योग और वैकल्पिक चिकित्सा की बात की जाती है। यदि आप अपनी भावनाओं और आत्मा से जुड़ना चाहते हैं, तो सहस्त्र चक्र को ठीक करना सबसे अच्छा तरीका है। इस चक्र के बारे में सब कुछ जानने के लिए आगे पढ़ें।  भारत के शीर्ष ज्योतिषियों से ऑनलाइन परामर्श करने के लिए यहां क्लिक करें!

 

शीर्ष चक्र या क्राउन चक्र क्या है?

शीर्ष चक्र या सहस्रार का अर्थ है "हजार पंखुड़ियों वाला" फूल, जो आपके सिर के शीर्ष पर स्थित है और प्रतीकात्मक रूप से कमल के फूल के रूप में चित्रित किया गया है। आपका क्राउन चक्र चेतना, आंतरिक जागरूकता और आध्यात्मिक जागृति के लिए जिम्मेदार है। यह चक्र स्वयं की जागरूकता के साथ आध्यात्मिक मिलाप का भी प्रतिनिधित्व करता है। यह पवित्र ऊर्जा आपकी आँखों के बीच विकीर्ण हो जाती है और फिर असीम रूप से ऊपर और बाहर की ओर फैलती है, जो आपको ब्रह्मांड की ऊर्जा से जोड़ती है।

यह सातवाँ चक्र उच्चतम बिंदु पर है, सप्तचक्र की शुरुआत रूट चक्र (मूलाधार) से होती है, जो हमें पृथ्वी पर आधारित करता है और सहस्रार तक ऊपर की ओर बढ़ता है, जो हमें ब्रह्मांड और ईश्वरीय स्रोत से जोड़ता है। यह हमें एकता और निस्वार्थ अहसास का अनुभव करने की क्षमता प्रदान करता है जो कि सब कुछ बुनियादी स्तर पर जुड़ा हुआ है।

चक्रमूलाधार चक्र स्वाधिष्ठान चक्र➔  मणिपुर चक्र➔  अनाहत चक्र➔  विशुद्धि चक्र➔  अजना चक्र

 

क्राउन चक्र की मूल बातों पर नजर डालते हैं:

  • क्राउन चक्र क्या नियंत्रित करता है: आध्यात्मिक संबंध, आंतरिक और बाहरी सौंदर्य

  • स्थान: सिर के ऊपर

  • तत्व: विचार / ईश्वरीय चेतना

  • रंग: बैंगनी - सफेद

  • बीज मंत्र: ओम और पूर्ण मौन

अवरुद्ध क्राउन चक्र के संकेत:

एक अति सक्रिय सहस्त्र चक्र में परिणाम हो सकता है:

  • अपनी आध्यात्मिकता से विमुख होना

  • कुटिलता

  • उदासीनता

  • आत्म-विनाशकारी प्रवृत्तियाँ

एक अंडरएक्टिव क्राउन चक्र में परिणाम हो सकता है:

  • प्रेरणा का अभाव

  • भ्रम की स्थिति

  • ज्यादा सोने की इच्छा

असंतुलित क्राउन चक्र के शारीरिक लक्षण:

  • क्रोनिक तनाव 

  • सिरदर्द

  • समन्वय में कमी

  • थकावट

 

अपने क्राउन चक्र को कैसे खोलें, सक्रिय करें और अनब्लॉक करें?

क्राउन चक्र हीलिंग दिमाग, शरीर और आत्मा को संरेखित करने के लिए समग्र चिकित्सा पद्धतियों की एक विस्तृत श्रृंखला का उपयोग करता है। इन पद्धतियों में ध्यान, योग, आत्म-जांच, रंग और खाद्य चिकित्सा, और कई अन्य शामिल हैं। अपने क्राउन चक्र को संतुलित करने के लिए इनमें से कुछ पद्धतियों का पालन करें। 

योगध्यान ➔

 

मेडिटेशन करें

सात चक्रों को खुला और संरेखित रखने के लिए सभी ध्यान तकनीकें अच्छी हैं। यहां आपको एक क्राउन चक्र ध्यान के लिए आवश्यक चरणों का पालन करना होगा।

सबसे पहले एक आरामदायक और शांत जगह का पता लगाएं। अपनी पीठ को सीधे और अपने पैरों को फर्श पर रखें। अपने हाथों को अपनी गोद में रखें और अपनी हथेलियों को आसमान की ओर रखें। इस स्थिति को मुद्रा कहा जाता है और यह आपको ऊर्जा प्राप्त करने में मदद करेगा। अपनी आँखें बंद करें और अपनी नाक से साँस लें और अपने मुँह से साँस छोड़ें।

अपने सिर के शीर्ष पर कमल के फूल की छवि की कल्पना करें। इस बीच जब आप धीरे-धीरे और समान रूप से सांस लेना जारी रखें और महसूस करें कि कमल की पंखुड़ियां खुलने के साथ-साथ बैंगनी प्रकाश का उजाला फैलता है। अपने पूरे शरीर को गर्म होने दें, क्योंकि यह नीचे की ओर बढ़ता है। यह प्रकाश आपके मन और मस्तिष्क को भी प्रकाशित करता है और ब्रह्मांड की चेतना से जोड़ता है। 5-10 मिनट के बाद, अपनी आँखें खोलें। सत्र को समाप्त करने से पहले कुछ मिनट के लिए चुपचाप बैठें।

आप ओम का जाप कर सकते हैं - शीर्ष चक्र का बीज मंत्र। जब जप किया जाता है, तो यह ध्वनि चक्र के साथ गूंजती है और इसे सक्रिय करती है। आप एक आसान और आरामदायक मुद्रा में बैठकर, गहरी सांसें लेते हुए और ओम का जाप जोर से करते हुए, अपने चक्र को खोलते हुए और ऊर्जा का प्रवाह करते हुए इसका अभ्यास कर सकते हैं।

 

योग का अभ्यास करें

योग आपके चक्रों को सक्रिय करने का एक और शानदार तरीका है, और कुछ योग विशेष रूप से सहस्त्र चक्र को लक्षित करते हैं। आपके 7 वें चक्र में पाई गई ऊर्जा को उत्तेजित करने में आपकी मदद करने के लिए कुछ सर्वश्रेष्ठ योगासन हैं जिनमें शीर्षासन, सर्वागासन, शवासन, अर्ध पद्मासन शामिल हैं। 

 

शीर्ष चक्र दृढ़वचन

चक्रों को संतुलित करने के लिए एक और प्रसिद्ध तकनीक वाक्यांश हैं। आप अपने दैनिक दिनचर्या में निम्नलिखित कुछ शीर्ष चक्र वाक्यांश या दृढ़वचन को जोड़ने पर विचार कर सकते हैं।

  • मैं परमात्मा के साथ एक हूं।

  • मैं अपने भीतर परमात्मा का सम्मान करता हूं।

  • मैं लगातार अपने उच्चतम स्व से जुड़ा हुआ हूं।

  • मैं शांति महसूस कर रहा हूं।

  • मैं गहरे सत्य और कनेक्शन को समझता हूं।

  • मैं स्वर्ग और पृथ्वी, पूरे ब्रह्मांड के साथ अन्य प्राणियों के साथ जुड़ा हुआ महसूस करता हूं।

 

लाभाकारी खाद्य पदार्थों का सेवन करें

जैसा कि आप शायद जानते हैं कि क्राउन चक्र शरीर और मन के आध्यात्मिक पहलुओं पर अधिक ध्यान केंद्रित करता है, इसलिए प्राकृतिक, पौष्टिक खाद्य पदार्थ शामिल करें जो इस चक्र को संतुलित करने के लिए हमारे स्वास्थ्य का पोषण करते हैं। सूर्य का प्रकाश, ताजी हवा, साफ पानी, और प्रकृति आपके शीर्ष चक्र को ठीक करने के लिए सबसे अच्छा "भोजन" है।

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि शीर्ष चक्र भोजन पर उपवास और डिटॉक्स पर अधिक ध्यान केंद्रित करता है। चूंकि यह चक्र विशुद्ध रूप से आध्यात्मिक है, इसलिए उपवास और द्रव्य पदार्थ का सेवन शीर्ष चक्र के ऊर्जा प्रवाह को प्रोत्साहित करने में मदद करेगा। आप इस चक्र में रुकावटों को कम करने के लिए हर्बल चाय का भी सेवन कर सकते हैं। भारत के शीर्ष ज्योतिषियों से ऑनलाइन परामर्श करने के लिए यहां क्लिक करें!



एस्ट्रो लेख

गीता जयंती तिथि, शुभ मुहूर्त, महत्व एवं पूजा विधि, जानें

क्या है दिसंबर 2021 के व्रत,पर्व व त्यौहार? जानें मासिक शुभ मुहूर्त

वृश्चिक में मंगल और केतु की युति का, इन राशियों पर होगा शुभ प्रभाव

मार्गशीर्ष पूर्णिमा पर कैसे करें भगवान विष्णु का पूजन? जानें तिथि, महत्व व मुहूर्त

Chat now for Support
Support