Rahu Transit 2022: मेष राशि में राहु के गोचर से, क्या बढ़ेगी आपकी परेशानियां?

bell icon Tue, Apr 12, 2022
टीम एस्ट्रोयोगी टीम एस्ट्रोयोगी के द्वारा
Rahu Transit 2022: मेष राशि में राहु का गोचर, कैसा होगा 12 राशियों पर असर?

राहु अब जल्द ही करने वाला है मेष राशि में परिवर्तन, इस राशि परिवर्तन का क्या होगा, मेष से लेकर मीन राशि पर प्रभाव? कैसे बचें राहु के दुष्प्रभाव से? जानने के लिए पढ़ें। 

Rahu Gochar 2022 Date : राहु 12 अप्रैल 2022 को अपनी उच्च राशि वृषभ से मेष राशि में गोचर करेंगे और इस दिन राहु मेष राशि दोपहर 03 बजकर 31 मिनट पर प्रवेश करेगा। राहु को धीमी गति से चलने वाले ग्रहों के रूप में जाना जाता है, जो लगभग 18 महीने के बाद अपनी राशि बदलते हैं। वैदिक ज्योतिष शास्त्र में राहु को छाया ग्रह का माना गया है जो वक्री गति से चलते हैं। वैदिक ज्योतिष के अनुसार, राहु का जातकों के जीवन पर गहरा प्रभाव पड़ता है। जिन जातकों की कुंडली में राहु की स्थिति शुभ होती है वह सुख-समृद्धि और सभी तरह के सुख-सुविधाओं से जीवन जीते हैं, और व्यक्ति का समाज में काफी नाम होता है। इसके विपरीत अशुभ राहु जातक का दिमाग हमेशा ही गलत कार्यों में लगा रहते हैं।

सामान्यतया राहु पाप ग्रह होने के बाद भी वृषभ राशि में शुभ फल प्रदान करता है, जो जातक को हाजिर जवाब और वाकपटु बनाता है, हतप्रभ करने वाले फल प्रदान करता है. साहसी बनाकर अपने दम पर बहुत बड़ा कार्य करा देता हैं। परन्तु अप्रैल में ये सब बदलते हुए दिखाई देंगें।

राहु का नाम आते ही मन में डर और बेचैनी व्याप्त होने लगती है, इन सबके साथ अप्रैल में होने वाले गोचर का प्रभाव विशेष रूप से मेष से लेकर मीन राशि वालों पर क्या होने वाला है, इसको विस्तार से जानेंगे।

12 राशियों के लिए कैसा होगा 2022 मे राहु राशि परिवर्तन?

मेष में राहु का गोचर का, क्या होगा मेष राशि पर असर?

परिवार को साथ लेकर चलना पड़ेगा, निर्णय लेने की क्षमता में असमर्थता दिखाई देगी परंतु कठिन निर्णय लेने होंगे। अपनी वाणी को नियंत्रित करें। अपने काम के तरीकों मैं बदलाव करना और तकनीक का प्रयोग करना आपके लिए लाभकारी होगा, लेकिन लेन-देन के मामले में सतर्क रहने की आवश्यकता है। आपकी थोड़ी समझदारी धन की प्राप्ति के संयोग बनाएगी जिससे आमदनी में वृद्धि हो सकती है। कार्यक्षेत्र में सोच-समझकर कदम उठाये। अपनी बुद्धि का सही जगह प्रयोग करने से अच्छा लाभ अर्जित करने में सफल रहेंगे। यदि कुंडली में मंगल और शनि मज़बूत और शुभ हैं तो राहु का गोचर अच्छे परिणाम देगा। रुके हुए कार्य पूरे होंगे, राजनीति में प्रयास कर रहे जातकों के लिए उत्तम समय होगा। इस गोचर में खिलाड़ी, सेना, पुलिस  या पराक्रम से संबंधित कोई भी कार्य अगले 18 महीने तक उत्तम परिणाम देगा। विवाह के लिए स्थिति शुभ नहीं है,परंतु मेष राशि के जातक कुछ नए रिश्ते बनते हुए देखेंगे। अपने मान-सम्मान, अपने नाम और व्यक्तित्व को लेकर कुछ बड़ा करने की चाहत होगी। यदि कुंडली में राहु मेष में ही स्थित है तो यह उत्तम परिणाम मिलेंगे। मेष लग्न के लिए राहु जासूसी, निर्णय लेने की शक्ति, इलेक्ट्रॉनिक्स, विदेश से व्यापार, ऑनलाइन ट्रांजैक्शंस आदि कराएगा परंतु वही तनाव और वाद-विवाद का कारण भी बनेगा। 

उपाय: देवी दुर्गा का पाठ करें, स्वयं को स्वच्छ रखें।

मेष में राहु का गोचर का, क्या होगा वृषभ राशि पर असर? 

यदि राहु कुंडली में शुभ हैं तो उत्तम परिणाम प्राप्त होंगे, साथ ही विदेश से संबंधित व्यक्ति के साथ विवाह के भी योग हैं। लंबे समय से विदेश में बसने के लिए प्रयासरत जातक अपना कार्य क्षेत्र बदल सकते हैं। यदि राहु अशुभ स्थिति में है, तो मानसिक परेशानी और अनिद्रा जैसी समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं, नए कार्य के परिणाम अनुकूल हो सकते हैं, मन विचलित रहता है, धोख़ा मिलने की संभावना रहती है परंतु यदि स्थिति शुभ है तो प्रत्येक कार्य में शुभ परिणाम प्राप्त होंगे। जातक अपनी बातों से दूसरों को प्रभावित करेगा। किसी महत्वपूर्ण कार्य में जातक को निर्णायक भूमिका में रखा जा सकता है, धर्म यात्राएं कर सकते हैं क्योंकि ये गुरु से संबंधित होता है इसलिए उत्तम चरित्र का निर्माण होता है।

उपाय: फिजूलखर्ची से बचें, बुरी संगत से दूर रहना अच्छा रहेगा।

मेष में राहु का गोचर का, क्या होगा मिथुन राशि पर असर? 

इस गोचर के दौरान राहु अत्यधिक मात्रा में धन प्रदान करेगा। आप अपनी महत्वाकांक्षाओं या इच्छाओं को पूरा करेंगे। ये विपरीत लिंग के प्रति लगाव और नए रिश्ते बनाने का समय होगा। आपका कुछ प्रभावशाली और शक्तिशाली लोगों से संपर्क बनेगा। विदेश से आय के साधन निर्मित होंगे। राहु का गोचर पिता के साथ संबंधों को खराब कर सकता है। संतान और बच्चों को लेकर चिंता बनी रहेगी। जिन जातकों का विवाह काफी समय से रुका है, वे इस समय हो सकता है।

उपाय: अपनी मेहनत पर विश्वास रखें। धन सम्बंधित मामले में किसी की जिम्मेदारी लेने से बचें।

मेष में राहु का गोचर का, क्या होगा कर्क राशि पर असर? 

यह समय अपने सभी प्रकार के भय को दूर करने का है। अगर आप सोच-समझकर कार्य करेंगे तो शानदार परिणाम प्राप्त होंगे। कार्यों में आसानी में सफलता प्राप्‍त होगी, प्रोफेशन में कुछ नया करना अच्छा रहेगा परन्तु माता और मातृभूमि से दूर जाना पड़ सकता है। इस भाव में राहु की सबसे शुभ स्थिति रहती है। जातकों को राजनीति, अधिकार, शौर्य, सरकार आदि क्षेत्रों में प्रतिनिधित्व मिलेगा और कार्यक्षेत्र में अधिकार का विस्तार होगा। उच्च पद और बड़ी जिम्मेदारी मिलेगी। आजीविका के निश्चित स्रोत बनेंगे और दैनिक कार्यों में सफलता मिलेगी।

उपाय: परोपकारी बने, अपने साथ काम करने वालों का सम्मान करें और अहंकार से बचे।

मेष में राहु का गोचर का, क्या होगा सिंह राशि पर असर? 

यह भाव धर्म संस्कृति और परंपराओं का होता है, या तो जातक बहुत धार्मिक आचरण करेगा या बिल्कुल ही मान्यताओं को त्याग देगा। आप बिल्कुल नास्तिक प्रवृत्ति का भी आचरण कर सकते हैं, पिता सम्बंधित कार्यों से असंतुष्ट रहेंगे। आप किसी पवित्र स्थानों की यात्राओं पर जाएंगे, साथ ही जातक के जीवन में धन का आगमन होगा। विदेशी लोगों से संबंध बनेंगे और वर्तमान समय का आनंद लेंगे। इस समय ऐसे योग बनेंगे कि आप अपनी हर इच्छा को पूरा करने के लिए किसी भी हद तक जा सकते है। लंबे समय से चली आ रही परंपरा को तोड़ेंगे और नए नियम भी बनाएंगे। परिवार और भाई-बहनों के साथ संबंध खराब हो सकते है। इस समय आप रचनात्मकता और उच्य शिक्षा के क्षेत्र में बहुत अधिक उपलब्धि हासिल करेंगे। कुछ लोगों को आपके विचार पसंद नहीं होंगे परन्तु आप अपना कार्य करते रहेंगे।

उपाय: सहनशक्ति को मज़बूत करें,अपने विचारों के बारे में सबको बताना बेहतर होगा।

यह भी पढ़ें:👉 केतु का राशि परिवर्तन, बढ़ाएगा आपकी मुसीबत?

मेष में राहु का गोचर का, क्या होगा कन्या राशि पर असर?

रचनात्मक कन्या राशि के लिए राहु गहन अध्ययन से सम्बंधित कार्य करा सकते है जो जातक इस प्रकार की शिक्षा में जाना चाहते हैं उनके लिए समय अच्छा हैं। अंतर्जातीय विवाह का योग बनेगा, आपका विवाह मांगलिक भी होगा। पत्नी से सहयोग प्राप्त होगा परंतु अचानक होने वाले परिवर्तन आपको आश्चर्यचकित कर देंगे। भाग्य में परिवर्तन की वजह से कुछ अप्रत्याशित होने का योग बनेगा। आपके भीतर कोई रचनात्मक गुण विकसित होगा, लेकिन जुआ, सट्टा या लाटरी आदि से दूर रहें। आपको किसी शारीरिक समस्या के कारण किसी प्रकार की सर्जरी का सामना करना पड़ सकता है। अगर आप विवाह करना चाहते है तो विवाह होने की संभावना बनेगी। पारिवारिक संपत्ति के द्वारा अचानक रुका हुआ धन प्राप्त होगा, पैतृक सम्पति भी मिल सकती है परन्तु परिवार से अलग होने का भी योग बन रहा है।

उपाय: लालच से दूर रहें और पारिवरिक संबंधो को सम्मान दें।

मेष में राहु का गोचर का, क्या होगा तुला राशि पर असर? 

यह समय एक बड़े बदलाव का संकेत दे रहा है, अपनी सोच को आकार दें। आपके जल्दी विवाह में बंधन में बंधने के योग बन रहे है और आपको अच्छा जीवनसाथी मिलेगा। आय में बढ़ोतरी होगी ,नौकरी में तरक्की भी संभव है, साथ ही नए काम और व्यापार आरंभ करने का समय है। कुछ जातकों के अपारंपरिक विवाह, विलंबित, अंतर्जातीय विवाह और उम्र में बड़े व्यक्ति के साथ विवाह के भी योग है। वैवाहिक सुख में कमी आ सकती है। जुआ, सट्टा, लॉटरी से लाभ होगा। दूसरी संतान के योग है। जातक रिश्तों और साझेदारी के क्षेत्र में एक नए रूप में अपनी पहचान बनाएँगे जिसमे प्रतिबद्धता और जुनून की अधिकता होगी। आप विदेश यात्रा पर भी जा सकते है।

उपाय: चरित्रवान रहें, अपने खर्चो पर नियंत्रण रखें। गैर-जरुरी यात्रा को टालने का प्रयत्न करें।

मेष में राहु का गोचर का, क्या होगा वृश्चिक राशि पर असर? 

वृश्चिक लग्न के लिए राहु का गोचर प्रभावी ढंग से आपको आगे बढ़ने में मदद करेगा। रोजमर्रा की जिंदगी में कठिनाइयों से गुजरते हुए एक मजबूत स्थिति में आएंगे। इस भाव में राहु सेवा से सम्बंधित कार्य नौकरी में तरक्की, स्थान परिवर्तन, कारोबार-व्यापार में तरक्की आदि करवाएंगे। कार्यक्षेत्र में आपकी एक अलग पहचान बनेगी और आपके सहकर्मी आपसे प्रसन्न होंगे। इस समय आपको प्रोत्साहन प्राप्त होगा, साथ ही आपको अपने ननिहाल पक्ष के साथ अच्छे संबंध बनाए रखने होंगे। किसी भी प्रकार से बड़े निवेश से बचें, साथ ही जो लोग प्रतियोगी परीक्षाओं में भाग लेने की सोच रहे है, इससे पहले अपने आपको मजबूत स्थिति में लेकर आए। किसी भी तरह के जोखिम उठाने से बचें। यदि कुंडली में चंद्रमा की स्थिति मज़बूत है तो आप हॉस्पिटल, दवाई या केमिकल के क्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन करेंगे।

उपाय: भाई बहनों से अच्छे संबध रखें और मांस-मदिरा के सेवन से बचें।

मेष में राहु का गोचर का, क्या होगा धनु राशि पर असर? 

यह समय गहन अध्ययन, तीक्ष्ण बुद्धि, शेयर बाजार, विभिन्न शास्त्रों का ज्ञान और अपनी संतान को विदेश भेजने आदि कार्यों को करने के लिए श्रेष्ठ है। रचनात्मक कार्य जैसे लेखन में प्रवीणता हासिल करने से जीवन में खूब मान-सम्मान प्राप्त होगा। विदेश में संबंध स्थापित होंगे, उच्च शिक्षा के लिए बड़े कॉलेज में भी जा सकते हैं। जो जातक शिक्षा में अच्छा नहीं कर रहे हैं,उन्हें उत्तम परिणाम मिलने की संभावना है। घर में नन्हे मेहमान के आने से परिवार में ख़ुशी का माहौल बनेगा। आमदनी में वृद्धि होगी, साथ ही यात्राओं द्वारा जातक को आनंद प्राप्त होगा।  इस समय कार्य क्षेत्र में सफलता मिलेगी और आप बच्चों को गोद ले सकते है। इस राहु गोचर के दौरान आप नए तरीके से जीने की कला भी सीखेंगे। आपको पेट संबंधित समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

उपाय: गुरु का सम्मान करें, संतान की शिक्षा पर ध्यान दें।

मेष में राहु का गोचर का, क्या होगा मकर राशि पर असर? 

राहु का गोचर आपको आपके जन्म स्थान से दूर लेकर जाएगा। विदेश यात्रा के योग है, आपको सरकारी कार्यों या सरकारी अधिकारियों से लाभ होने की संभावना है। किसी प्रतिष्ठित व्यक्ति के साथ नजदीकी आपके जीवन में कोई बड़ा बदलाव लेकर आएगा। कुछ  घटनाएँ घटित हो सकती है जैसे अचानक धन लाभ, जमीन-जायदाद व प्रॉपर्टी का लेन-देन, मकान, दुकान, वाहन खरीद और पुराने मित्रों से मिलना आदि। सुख भाव में थोड़ा परेशानी होगी लेकिन शारीरिक रूप से मजबूत बनने का समय है। 

उपाय: माता का आशीर्वाद प्राप्त करें और विपत्ति में धैर्य बनाये रखें।

मेष में राहु का गोचर का, क्या होगा कुंभ राशि पर असर? 

कुंभ राशि के लिए राहु का गोचर अनुकूल रहने वाला है৷ इस समय जातक नए कार्य, विदेश से लेनदेन, लंबी दूरी की यात्राएं आदि कार्य करेंगे। जो जातक पब्लिशिंग, साहित्य, लेखन के कार्य, खाने-पीने के कार्य,मीडिया, एडवर्टाइजमेंट, खेलकूद,पुलिस, सेना, मिलिट्री और किसी सिक्योरिटी एजेंसी आदि से जुड़े है उन लोगों को लाभ मिलेगा। इस समय रुके हुए कार्य पूरे होंगे। यदि कुंडली में बुध की स्थिति मज़बूत है तो जातक सिनेमा, थिएटर, मीडिया जैसे क्षेत्रों में भी सफलता  पाएंगे। आपको मान सम्मान और मित्रों से सहयोग मिलेगा। इस समय आपके सारे कार्य आसानी से सिद्ध होंगे और काफी समय से चली आ रही कोई बीमारी दूर होगी। 

उपाय: भाई-बहनों से उचित व्यवहार रखें। घमंड त्याग दें और सभी को सम्मान दें। 

मेष में राहु का गोचर का, क्या होगा मीन राशि पर असर? 

राहु के गोचर से आपको अत्यधिक धन प्राप्त होगा। विदेशी भूमि में अपने पराक्रम, ज्ञान और वाणी से प्रतिष्ठा कराएगा। पारिवारिक रिश्तो में एक नयापन आएगा, साथ ही आपको पैतृक संपत्ति मिलेंगी। धन का आगमन होगा, जल्दी से धनवान बनने की कामना आपके मन में आएगी। परिवार में नए सदस्य के आगमन से खुशियों का माहौल होगा। सरकारी नौकरी के लिए प्रयासरत जातको लिए समय अच्छा है, सरकारी नौकरी मिलने की संभावना बनती है। सरकार से धन प्राप्ति के योग बनेंगे। आपकी बुद्धि से शत्रु पक्ष प्रभावित होगा। पुराने समय से चल रहे किसी मुकदमे या पारिवारिक विवाद का हल होगा। अपनी बुद्धि और ज्ञान के बल पर भविष्य की गणना करने की स्थिति में आ जाएंगे, जिससे आपकी प्रतिष्ठा को लाभ मिलेगा।

उपाय: वाणी पर नियंत्रण रखें, मसालेदार भोजन के सेवन से परहेज करें।

लेखक की दृष्टि से: 

ज्योतिष में नवग्रहों और बारह राशियों को प्रमुख स्थान प्राप्त है और जब नवग्रहों में से कोई भी ग्रह अपनी राशि परिवर्तन करता है तो इसका प्रभाव सामान्य व्यक्ति के जीवन पर अत्यधिक पड़ता है। इसी प्रकार मेष में राहु का गोचर हर राशि को प्रभावित करेगा, अगर आपके मन में इस गोचर सम्बंधित कोई प्रश्न है तो आप एस्ट्रोयोगी के ज्योतिषियों से संपर्क कर सकते है।  

✍️ By- राजदीप

chat Support Chat now for Support
chat Support Support