भारत के धार्मिक स्थल
भारत के धार्मिक स्थल

भारत के धार्मिक स्थल


भारत भौगोलिक, सामाजिक, सांस्कृति, धार्मिक आदि की विभिन्नताओं का देश है। यहां के लोगों की धर्म में गहरी आस्था होती है, इसकी बानगी इसी से देखी जा सकती है कि हर छोटे-बड़े गांव से लेकर बड़े-बड़े महानगरों तक, लोगों की आस्था का केंद्र बने धार्मिक स्थल सदियों से मौजूद हैं। गाहे-बगाहे इन धार्मिक स्थलों के चमत्कारों की कहानियां भी लोगों की जुबानी सुनी जा सकती हैं। अकेले गंगा नदी के किनारे-किनारे चला जाये तो हमें हरिद्वार, काशी, प्रयाग से लेकर गंगा सागर तक, एक से बढ़कर एक भारतीय धार्मिक एवं दर्शनीय स्थल दिखाई देंगें, और दिखाई देंगें इन तीर्थों की यात्रा करते, अपने तन मन को पवित्र कर मुक्ति की कामना करते श्रद्धालु। कश्मीर की वादियों से लेकर बंगाल की खाड़ियों तक किसी न किसी देवी देवता के अद्भुत मंदिर दिखाई देते हैं। अकेले देवी शक्ति की ही पूरे भारतवर्ष में 52 में से 42 पीठ हैं। बद्रीनाथ, अमरनाथ, जगन्नाथ पुरी और रामेश्वरम चार पवित्र धाम हैं जिनकी प्रसिद्धि जग जाहिर है। 12 ज्योतिर्लिंग भी भारत के धार्मिक स्थलों में श्रेष्ठ स्थान रखते हैं। यहां महाभारत की भूमि है, तो गीता के ज्ञान का प्रसार भी यहीं हुआ। यहां हिंदूओं के मंदिर हैं तो सिखों के प्रसिद्ध गुरुद्वारे भी हैं, मुसलमानों की मस्जिदें, पीर की दरगाहें हैं, शंकराचार्यों की पीठ हैं तो बौद्धों के मठ हैं। ईसाइयों की चर्च हैं तो जैनों के तीर्थ भी यहीं पर हैं। हर धार्मिक स्थल का अपना इतिहास है, कहीं लिखित साक्ष्य हैं तो कहीं जन श्रुतियां ही इतिहास बनी हैं, किसी का इतिहास पौराणिक है तो किसी के चमत्कार आधुनिक विज्ञान की समझ से परे। कई मंदिर अपनी स्थापत्य कला के लिये दुनिया भर में प्रसिद्ध हैं। हर धार्मिक स्थान से कई रोचक कहानियां एवं जानकारियां जुड़ी हैं। हमारा उद्देश्य यही है कि हम अपने पाठकों तक इस तरह की महत्वपूर्ण जानकारियां पंहुचा सकें। हमारे इस खंड में आप भारत के प्रसिद्ध धार्मिक स्थलों के बारे में जान सकेंगें।

अयोध्या

अयोध्या

अयोध्या भारत के सबसे प्रचीन धार्मिक नगरों में से एक है। धार्मिक व पौराणिक महत्व रखने वाला यह नगर उत्तरप्रदेश के अयोध्या जिला के अंतर्गत आता है। यह पवित्र सरय

अमृतसर

अमृतसर

अमृतसर त्याग व सेवा की भावना रखने वाले धर्म सिख धर्म का सबसे महत्वपूर्ण और पवित्र शहर है। पवित्र इसलिए है क्योंकि यहां सिखों का सबसे बड़ा गुरूद्वारा हरमंदिर

बद्रीनाथ

बद्रीनाथ

देव भूमि उत्तराखंड के चमोली जिले में स्थित यह देव स्थान हिंदू धर्म के चार धामों में से एक है। यह मंदिर भगवान श्रीहरि विष्णु को समर्पित है। मंदिर में स्थापित

दिल्ली

दिल्ली

महाभारत काल में पांडवों के राज्य की राजधानी रहे इंद्रप्रस्थ को, वर्तमान में हम देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) के नाम से जानते हैं। आज देश की बागडोर दिल्ली से

द्वारका

द्वारका

द्वारका (Dwarka) का नाम सुनते ही श्री हरि की मनमोहक छवि मन में उभर आती है। द्वारका गुजरात के द्वारका जिले में स्थित एक नगर है। यह नगर हिंदुओं के पवित्र चार ध

गंगासागर

गंगासागर

पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना में स्थित यह स्थान हिंदुओं का एक पवित्र तीर्थ स्थल है। यह स्थान एक द्वीप पर स्थित है। जिसे चारों ओर से समुद्र घेरे हुए है। कह

गंगोत्री

गंगोत्री

जग तारिणी मां गंगा की उद्गम स्थली गंगोत्री (Gangotri) उत्तराखंड के उत्तरकाशी में स्थित है। भगीरथी नदी के दाहिने ओर का क्षेत

गया

गया

गया (Gaya) फल्गु नदी के तट पर बसा है। इस शहर का धार्मिक रूप से विशेष महत्व है। गया में पितृपक्ष के अवसर पर हिंदू धर्म को मानने वाले पिंडदान करने पहुंचते हैं।

हरिद्वार

हरिद्वार

देवभूमि उत्तराखण्ड का पवित्र नगर हरिद्वार (Haridwar) हिंदूओं के प्रमुख तीर्थ स्थानों में से एक है। यह बहुत ही प्राचीन और पौ

हेमकुंड साहिब

हेमकुंड साहिब

हेमकुंड साहिब उत्तराखंड के चमोली जिले के अंतर्गत आता है। समुद्र तल से हेमकुंड साहिब (Hemkund Sahib) 4632 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। यह स्थान

कांचीपुरम

कांचीपुरम

कांचीपुरम (Kanchipuram) सप्त पुरियों में से एक पुरी है। दक्षिण भारत के तमिलनाडु राज्य में स्थित इस धार्मिक नगरी को दक्षिण की काशी भी कहा जाता है। अपने 1000 म

कन्याकुमारी

कन्याकुमारी

कन्याकुमारी (Kanyakumari) का जितना महत्व पर्यटन की दृष्टि है उससे ज्यादा महत्व धार्मिक रूप से है। भारत के तमिलनाडु राज्य के दक्षिण तट पर बसा कन्याकुमारी शहर

कटरा

कटरा

कटरा (Katra) का नाम सुनते ही त्रिकुटा पर्वत श्रृंखला पर स्थित वैष्णो धाम का दृश्य आंखों के सामने से गुजर जाता है। कटरा जम्मू-कश्मीर का एक छोटा सा शहर है। जिस

केदारनाथ

केदारनाथ

उत्तराखंड को ऐसे ही देव भूमि नहीं कहा जाता, हिमालय की गोद में स्थित यह राज्य प्राकृतिक छटाओं से हरा-भरा है। यहां हिंदूओं के कई तीर्थ व धार्मिक स्थान मौजूद है

खाटू श्याम

खाटू श्याम

भारत में कई मंदिर हैं जो अपनी विशेषता के चलते प्रसिद्ध हैं। इन्हीं में से एक मंदिर खाटू श्याम जी(Khatu Shyam) भी है। यह मंदिर राजस्थान के सी

कोलकाता

कोलकाता

पूर्वी भारत का प्रवेश द्वार कहा जाने वाला शहर कोलकाता (Kolkata) कई ऐतिहासिक गाथाएं अपने आप में संजोये हुए है। एक समय में दे

मथुरा

मथुरा

हिंदू धर्म में मथुरा (Mathura) को भागवान श्री कृष्ण की जन्म भूमि के तौर पर जाना जाता है। मथुरा की गलियों में ही भगवान श्री

मुंबई

मुंबई

भारत के पश्चिमी तट पर स्थित मुंबई (Mumbai) नगरी देश की आर्थिक राजधानी है। इस नगर का जितना व्यापारिक महत्व है उससे कहीं ज्या

नैनीताल

नैनीताल

देव भूमि उत्तराखंड की पावन भूमि पर बसा नैनीताल (Nainital) शहर की प्राकृतिक सौंदर्य को देखते ही बनता है। यहां स्थित नैनादेवी

प्रयागराज

प्रयागराज

प्रयागराज (Prayagraj) गंगा, यमुना तथा सरस्वती नदियों के संगम पर स्थित एक धार्मिक नगर है। यह नगर प्रचीनकाल से आध्यात्म का केंद्र रहा है। जिसके कारण यह तीर्थ य

पुरी

पुरी

पुरी (Puri) का अस्तित्व भगवान जगन्नाथ से है। हिंदू धर्म के चार पवित्र धामों में से एक है। पुरी को सप्त पुरियों में गिना जाता है। नगर के संबंध में एक लोक मान्

पुष्कर

पुष्कर

गुलाबी शहर जयपुर से कुछ ही घंटों की दूरी पर पुष्कर शहर स्थित है। पुष्कर (Pushkar) हिंदूओं में इसलिए प्रसिद्ध है कि यहां विश

रामेश्वरम

रामेश्वरम

हिंदुओं की आस्था का केंद्र कहा जाने वाला रामेश्वरम (Rameswaram), पवित्र चार धामों में से एक है। दक्षिण भारत के तमिलनाडु राज

ऋषिकेश

ऋषिकेश

उत्तराखण्ड में स्थित ऋषिकेश (Rishikesh) भारत के सबसे पवित्र तीर्थस्थलों में एक है। ऋषिकेश को केदारनाथ, बद्रीनाथ, गंगोत्री औ

शनि शिंगणापुर

शनि शिंगणापुर

शनि शिंगणापुर (Shani Shingnapur) धाम महाराष्ट्र राज्य के अहमदनगर जिले में स्थित है। इस धाम में शनि देव एक शिला के रूप में विराजमान हैं। इस मंदिर को शनि देव क

शिरडी

शिरडी

शिरडी (Shirdi) एक प्रमुख धार्मिक स्थल है जो महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले में स्थित है। यहां हर वर्ष लाखों की संख्या में भक्त साईं बाबा के दर्श

उज्जैन

उज्जैन

उज्जैन नगर का संबंध सीधे महाकाल से है। यहां बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग विद्धमान है। यहां साल भर भक्तों का तांता लगा रहता है। उज्ज

वाराणसी

वाराणसी

आदिकाल में वाराणसी (Varanasi) काशी के नाम से जाना जाता था। आज भी काशी से वाराणसी को जोड़कर संबोधित किया जाता है। यह नगरी सानातन धर्म के प्रमुख धार्मिक स्थानो

वृंदावन

वृंदावन

मथुरा से करीब 15 किमी दूर स्थित वृंदावन (Vrindavan) एक प्रसिद्ध धार्मिक स्थान है। इसी स्थान पर गिरधर ने रा

यमुनोत्री

यमुनोत्री

उत्तराखंड राज्य में स्थित यमुना नदी का उद्गम स्थल यमुनोत्री (Yamunotri) है। यमुनोत्री को हिंदुओं के चार महत्वपूर्ण तीर्थों

Chat Now for Support