कर्क राशि में बुध का परिवर्तन – बनेंगें या फिर बिगड़ेंगें हालात? जानिए

बुध ग्रह के परिवर्तन का ज्योतिषीय दृष्टि से बहुत महत्व माना जाता है। राशि चक्र की तीसरी राशि मिथुन एवं छठी राशि कन्या के स्वामी बुध परिवर्तित होकर राशिनुसार जिस भी भाव में दाखिल होते हैं उसके अनुसार परिणाम देते हैं। साथ ही बुध के साथ जिस प्रकृति का ग्रह बैठा हो तो बुध का परिणाम भी उक्त ग्रह की प्रकृति के अनुसार होता है।  21 जून को बुध ने राशि बदल कर मिथुन राशि से कर्क में प्रवेश किया था। इसके पश्चात 8 जुलाई से बुध की चाल बदल गयी और वक्र अवस्था में वह 30 जुलाई को मिथुन में प्रवेश कर रहे हैं लेकिन जल्द ही बुध मार्गी होकर 3 अगस्त को फिर से कर्क राशि में आ जाएंगें हैं। ऐसे में सभी 12 राशियों के लिये बुध क्या परिणाम लेकर आ सकते हैं आइये जानते हैं।

यह राशिफल सामान्य ज्योतिषीय आकलन के आधार पर लिखा गया है। बुध के साथ अन्य ग्रह क्या योग बना रहे हैं? आपकी कुंडली में बुध किस भाव में विराजमान हैं? इससे भी आपकी लाइफ प्रभावित होती है। इसके लिये आप एस्ट्रोयोगी पर इंडिया के बेस्ट एस्ट्रोलॉजर्स से गाइडेंस लें। परामर्श लेने के लिये यहां क्लिक करें।

मेष

मेष राशि वालों के बुध का परिवर्तन चतुर्थ घर में हो रहा है। आपके लिये बुध का परिवर्तन सकारात्मक परिणाम लेकर आ सकता है। जो जातक घर या गाड़ी खरीदने के लिये प्रयासरत हैं उनके लिये समय अनुकूल कहा जा सकता है। मित्रों का भी आपको पूरा सहयोग मिलने की संभावना है। मातृ पक्ष की ओर से भी आपके लिये समय अच्छा रहेगा। छोटी-छोटी यात्राएं आपको करनी पड़ सकती हैं। खर्च बढ़ने के भी आसार हैं। अपनी जेब पर नियंत्रण रखें।

वृषभ

आपकी राशि से तीसरे स्थान में बुध का परिवर्तन हो रहा है। यह समय आपके भाग्य में उन्नति लाने वाला रह सकता है। जो जातक नये कार्य का आरंभ करना चाहते हैं उनके लिये भी समय सौभाग्यशाली रह सकता है। इस समय आप काफी विवेकशील रहेंगें और अपनी बुद्धि व कौशल का परिचय देते हुए कार्यों में सफलता प्राप्त कर सकते हैं। छोटी मोटी यात्राओं के योग भी हैं। कामकाज के सिलसिले में की गई यात्राएं सफलतादायक रहने के आसार हैं।

मिथुन

आपकी ही राशि से बुध का परिवर्तन हो रहा है लेकिन बावजूद उसके बुध का यह परिवर्तन आपके लिये सकारात्मक कहा जा सकता है इस समय आप अपने भीतर एक नई ऊर्जा को महसूस कर सकते हैं। धन प्राप्ति के योग भी आपके लिये बन रहे हैं। पारिवारिक संबंध भी अच्छे रहने के आसार हैं। विवाहित जातकों को ससुराल पक्ष की ओर से कोई शुभ समाचार प्राप्त हो सकता है।

कर्क

बुध परिवर्तन के पश्चात आपकी ही राशि में गोचररत हो रहे हैं। यह समय आपके लिये मिलेजुले परिणाम लेकर आने के संकेत कर रहा है। स्वास्थ्य को लेकर आपको सचेत रहने की आवश्यकता है। स्वास्थ्य को लेकर आपके खर्चों में बढ़ोतरी भी हो सकती है। इस समय आपका मन भी काफी चंचल, अस्थिर रहने के आसार हैं। हालांकि कामकाजी क्षेत्र में समय आपके अनुकूल कहा जा सकता है। कोई नया कार्य, नई परियोजना आरंभ करने के लिहाज से यह आपके लिये शुभ समय कहा जा सकता है। परिवार में अपने से छोटे सदस्यों का प्यार भी आपको मिल सकता है।

सिंह

बुध का परिवर्तन आपकी राशि से 12वें स्थान में हो रहा है। यह समय आपके लिये खर्चों में बढ़ोतरी करने वाला रहा सकता है। अपनी सुख-सुविधाओं को बढ़ाने के लिये आप खर्च कर सकते हैं। इस समय जोखिम वाले कार्यों में धन निवेश न करें तो बेहतर है। महत्वपूर्ण निर्णयों को लेकर आप असमंजस की स्थिति में भी रह सकते हैं। यात्राओं के योग भी आपके लिये बन रहे हैं, कामकाजी यात्राएं सफल रह सकती हैं साथ ही संपत्ति की बिक्री का सौदा आपके लिये लाभकारी रह सकता है।

अन्य ग्रह गोचर 2019 के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए यहां क्लिक करें | 

 

कन्या

कन्या जातकों के लिये बुध का परिवर्तन बहुत ही अच्छा कहा जा सकता है बुध आपके लाभ घर में आ रहे हैं। ऐसे में यह समय आपके लिये कार्यों में सफलता तो जीवन में सुख प्रदान करने वाला रहने के आसार हैं। रोमांटिक जीवन की बात करें तो साथी का भरपूर सहयोग आपको मिल सकता है। बड़े भाई से भी सुख व धन प्राप्ति के योग हैं।

तुला

तुला जातकों के लिये कर्मक्षेत्र में बुध का आना सामान्य परिणाम लाने वाला रह सकता है। हालांकि आपके लिये कोई नया व्यवसाय या फिर नई नौकरी के अवसर तो उपलब्ध हो सकते हैं लेकिन यदि आप इस समय भाग्य पर भरोसा करेंगें तो मात खा सकते हैं। आपको केवल और केवल कर्म करने पर अपना पूरा फोकस इस समय रखना चाहिये। स्वयं पर विश्वास करें। आपको सफलता दिलाने में इस समय आप स्वयं ही स्वयं की मदद कर सकते हैं।

वृश्चिक

वृश्चिक जातकों के लिये बुध का परिवर्तन भाग्य स्थान में होने से आपको भाग्य का पूरा सहयोग मिलने के आसार हैं। इस समय आपके लिये विवेक से काम लेना बेहतर रहेगा क्योंकि बुध के प्रभाव से आपकी विवेकशीलता बढ़ने के आसार हैं। नये लोगों से जुड़ने के अवसर आपको मिल सकते हैं। प्रेम-प्यार के मामले में भी समय आपके लिये सकारात्मक है। साथ ही आपका रूझान इस समय धार्मिक कार्यों की ओर भी हो सकता है।

धनु

धनु जातकों के लिये यह समय अपने धैर्य का परिचय देने का है। किसी भी कार्य को करने में कोई हड़बड़ी न दिखाएं। जल्दबाजी में लिया गया निर्णय आपके लिये हो सकता है हितकर न हो। अपनी सेहत के प्रति भी इस समय सचेत रहें। रोमांटिक जीवन आपका सुखमय बने रहने के आसार हैं। आप खुद को अपने साथी के काफी करीब महसूस कर सकते हैं। विवाहित जातक भी दांपत्य जीवन का पूरा आनंद लेंगें और पर परिस्थिति में जीवन साथी का सहयोग मिलना आपको सुकून दे सकता है।

मकर

मकर जातकों के लिये भी बुध का राशि परिवर्तन सकारात्मक परिणाम लेकर आने वाला रह सकता है। दांपत्य जीवन का आपको भरपूर आनंद मिलने के आसार हैं। मकर जातकों के लिये विवाह के योग भी बन रहे हैं विशेषकर मकर कन्याओं को अच्छा रिश्ता मिल सकता है। भाग्य का भी आपको इस समय साथ मिलेगा विशेषकर नया कार्य आरंभ करने में आप लाभ प्राप्ति की उम्मीद कर सकते हैं। सुख-सुविधाएं जुटाने के लिये आप अपने खर्चों में बढ़ोतरी भी कर सकते हैं।

कुंभ

कुंभ जातकों के लिये समय थोड़ा संभलकर रहने का है विशेषकर स्वास्थ्य के प्रति सजग रहें। बुध के परिवर्तन से आप उदर संबंधी समस्याओं को महसूस कर सकते हैं। व्यवसायी जातकों के खर्च बढ़ सकते हैं। अपनी किसी नई परियोजना के लिये आपको कर्ज़ भी लेना पड़ सकता है। विद्यार्थी जातक भी अपनी पाठ्यपुस्तकों में कम ही रूचि लें इसकी संभावनाएं हैं।

मीन

मीन जातकों के लिये बुध का परिवर्तन अच्छा कहा जा सकता है। जो विवाहित जातक लंबे समय से संतान प्राप्ति के लिये प्रयासरत हैं उन्हें खुशखबरी मिल सकती है। प्रतियोगि परीक्षाओं की तैयारी करने वाले जातकों के लिये भी यह समय काफी अच्छा रह सकता है। जो जातक नया कार्य आरंभ करने के इच्छुक है उनके लिये भी समय अनुकूल है। कुल मिलाकर आपके लिये यह समय सौभाग्यशाली रहने के आसार हैं।

 

यह भी पढ़ें :  कर्क राशि में मंगल गोचर  |   बुध कैसे बने चंद्रमा के पुत्र ? पढ़ें पौराणिक कथा   |  बुध गोचर 2019

 

एस्ट्रो लेख

उत्पन्ना एकादशी...

एकादशी व्रत कथा व महत्व के बारे में तो सभी जानते हैं। हर मास की कृष्ण व शुक्ल पक्ष को मिलाकर दो एकादशियां आती हैं। यह भी सभी जानते हैं कि इस दिन भगवान विष्णु की पूजा की जाती है। ले...

और पढ़ें ➜

वृश्चिक सक्रांत...

17 नवंबर 2019 को पूर्वाह्न 01 बजकर 08 मिनट पर  ज्योतिष के नज़रिये से ग्रहों की चाल में कुछ महत्वपूर्ण बदलाव हो रहे हैं। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार ग्रहों की चाल मानव जीवन पर व्यापक प...

और पढ़ें ➜

21 नवंबर को धनु...

आगामी 21 नवंबर 2019 को धनु राशि में एक साथ 4 ग्रह एकत्र होने जा रहे हैं, जिसकी वजह से चतुर्ग्रही योग बन रहा है। दरअसल 21 नवंबर को शुक्र का धनु में गोचर और शनि, केतु औऱ बृहस्पति के ...

और पढ़ें ➜

मार्गशीर्ष – जा...

चैत्र जहां हिंदू वर्ष का प्रथम मास होता है तो फाल्गुन महीना वर्ष का अंतिम महीना होता है। महीने की गणना चंद्रमा की कलाओं के आधार पर की जाती है इसलिये हर मास को अमावस्या और पूर्णिमा ...

और पढ़ें ➜