जानें बुध का वृश्चिक राशि में गोचर किन राशि वालों की बदलेगा किस्मत?

bell icon Mon, Nov 14, 2022
ज्योतिष विनायक ज्योतिष विनायक के द्वारा
जानें क्या बुध का वृश्चिक राशि में गोचर आपको देगा सुख और समृद्धि?

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार एक राशि से दूसरी राशि में ग्रहों का गोचर व्यक्ति के जीवन को कई प्रकार से प्रभावित कर सकता है। बुध का वृश्चिक राशि में गोचर 13 नवंबर 2022 को हो रहा है। क्या आप  जानना चाहते हैं कि यह गोचर 12 राशियों को किस प्रकार प्रभावित करेगा? अगर हां तो इस लेख को पढ़ें।

ग्रहों की चाल के चलते अलग-अलग समय पर ग्रह, विभिन्न राशियों में प्रवेश करते हैं। प्रत्येक ग्रह व्यक्ति के जीवन को दो तरह से प्रभावित करता है। पहला हमारी जन्म कुंडली में ग्रहों की स्थिति हमारे जीवन के हर पहलू पर निरंतर प्रभाव डालती है। दूसरा प्रभाव ग्रहों की चाल और विभिन्न राशियों में उनके गोचर के कारण पड़ता है। हालांकि ग्रहों के गोचर का प्रभाव बदलता रहता है। जन्म कुंडली में मौजूद ग्रहों की स्थिति के अनुसार गोचर शुभ या अशुभ हो सकता है।

कब हो रहा है बुध का वृश्चिक राशि में गोचर 

दिल्ली में समय के अनुसार बुध का वृश्चिक राशि में गोचर 13 नवंबर 2022 (रविवार) को रात 21:20 बजे हो रहा है। बुध का वृश्चिक राशि में गोचर विभिन्न राशियों के लोगों के जीवन पर महत्वपूर्ण प्रभाव डालेगा।

बुध बुद्धि, तर्क शक्ति, गणना और गणित का ग्रह है। यदि बुध किसी शुभ भाव में गोचर करें और किसी शुभ प्रभाव में हों, तो यह आशाजनक परिणाम और प्रभाव देंगे। वहीं, बुध किसी अशुभ भाव में गोचर करते हैं तो इससे प्रतिकूल परिणाम प्राप्त होंगे। ग्रहों के गोचर के परिणाम और प्रभाव हमेशा व्यक्ति की राशि पर निर्भर करते हैं।

किसी भी प्रकार के व्यक्तिगत परामर्श के अभी बात करें बेस्ट एस्ट्रोलॉजर्स से केवल एस्ट्रोयोगी पर।

आइये जानते हैं कि बुध का वृश्चिक राशि में गोचर का 12 राशियों पर प्रभाव?

बुध का वृश्चिक राशि में गोचर विभिन्न राशियों को कई प्रकार से प्रभावित करेगा।

बुध के वृश्चिक राशि में गोचर का मेष राशि पर प्रभाव

मेष राशि के जातकों के लिए बुध का गोचर अष्टम भाव में होगा, जिससे उनका मन अशांत रहेगा। उन्हें भोजन के प्रति अरुचि का अनुभव होगा। मेष राशि वालों को इस दौरान पेट दर्द, त्वचा रोग और हाथ-पैर में दर्द का सामना करना पड़ सकता है। इसके अलावा, उन्हें अनावश्यक खर्च और सरकार के साथ असहयोग का भी अनुभव होगा। भाई-बहनों से मतभेद होने की संभावना रहेगी।

उपाय- हरी मूंग दाल से बनी खिचड़ी बुधवार के दिन गरीबों को दान करें, आपको भरपूर लाभ मिलेगा।

बुध के वृश्चिक राशि में गोचर का वृषभ राशि पर प्रभाव

वृषभ राशि के जातकों के लिए बुध का गोचर सप्तम भाव में होगा, जिससे किसी भी प्रकार के वाद-विवाद से बचा जा सकेगा। वृषभ राशि वालों शारीरिक स्वास्थ्य कमजोर होने के साथ ही साथ उनके भौतिक सुखों में कमी रहने की संभावना है। बहुत मेहनत करने के बाद भी बिजनेस में औसत परिणाम प्राप्त होंगे।

उपाय- बुधवार के दिन अपनी बहन या मौसी को हरी चूड़ियां, मेहंदी और इसी प्रकार के अन्य आभूषण भेंट करें। 

बुध के वृश्चिक राशि में गोचर का मिथुन राशि पर प्रभाव

मिथुन राशि के जातकों के लिए बुध का वृश्चिक राशि में गोचर छठवें भाव में होगा। यह आपके लिए काफी गतिशील रहेगा, जिसके परिणामस्वरूप आप अपने विरोधियों पर विजय प्राप्त करेंगे। हालांकि, मिथुन राशि के जातकों के शारीरिक स्वास्थ्य में उतार-चढ़ाव रहेगा। इस दौरान आपका दिमाग कमजोर रहेगा। इसके अलावा आपको आसानी से भोजन, सुंदर कपड़े आदि पर प्राप्त होंगे।

उपाय- बुधवार के दिन हरे रंग का रेशमी कपड़ा भगवान गणेश को समर्पित किसी मंदिर में दान करें।

बुध के वृश्चिक राशि में गोचर का कर्क राशि पर प्रभाव

कर्क राशि के जातकों के लिए बुध का वृश्चिक राशि में गोचर पंचम भाव में होगा। इससे संतान और जीवन साथी के साथ आपका मतभेद रहेगा। कर्क राशि वालों इस गोचर के दौरान आप थोड़े आलसी भी रहेंगे। काम के मामले में आपको थोड़ा लाभ मिलेगा। आपकी बुद्धि में अस्थिरता रहेगी।

उपाय- बुधवार के दिन पक्षियों को पांच प्रकार के अनाज का मिश्रण खिलाएं।

बुध के वृश्चिक राशि में गोचर का सिंह राशि पर प्रभाव

सिंह राशि के जातकों के लिए बुध का गोचर चतुर्थ भाव में होगा। जिसके फलस्वरूप धन प्राप्ति के लिए स्थितियां अच्छी रहेंगी। माता और परिवार का सुख मिलेगा। सिंह राशि वालों आपको भौतिक सुख-सुविधाएं और आशाजनक परिणाम भी मिलेंगे।

उपाय- बुधवार के दिन भगवान गणेश के मंदिर में जाकर पिस्ता के लड्डू का भोग लगाएं।

बुध के वृश्चिक राशि में गोचर का कन्या राशि पर प्रभाव

कन्या राशि के जातकों के लिए बुध का गोचर तीसरे भाव में होगा, जिसके फलस्वरूप शत्रुओं की ओर से परेशानियां बढ़ सकती हैं। इसके साथ ही कन्या राशि वालों की अपने रिश्तेदारों से अनबन हो सकती है। इस गोचर के दौरान आपकी जिम्मेदारियां बढ़ेंगी, प्रवास और स्थानान्तरण की संभावना बनेगी।

उपाय- अपने निवास स्थान की उत्तर दिशा में छोटे-छोटे पौधे और हरी घास लगाएं।

बुध के वृश्चिक राशि में गोचर का तुला राशि पर प्रभाव

तुला राशि के जातकों के लिए बुध का गोचर दूसरे भाव में होगा, जिसके फलस्वरूप धन, सुख, अच्छे लोगों का साथ मिलेगा। इस गोचर के दौरान तुला राशि वालों आपको काम में सफलता मिलेगी व आपका अपने परिवार के साथ अच्छा तालमेल बना रहेगा। इस दौरान आपको बेहतरीन परिणाम प्राप्त होंगे।

उपाय- बुधवार के दिन हरे रंग के वस्त्र जरूरतमंद लोगों को दान करें और उनसे आशीर्वाद प्राप्त करें।

बुध के वृश्चिक राशि में गोचर का वृश्चिक राशि पर प्रभाव

वृश्चिक राशि के जातकों के लिए बुध का वृश्चिक राशि में गोचर पहले भाव में होगा, जिसके परिणामस्वरूप धन व्यय में अधिकता होगी। वृश्चिक राशि वालों इस गोचर के दौरान आपकी अपने परिवार के साथ भी अनबन रहेगी और आप मानसिक अशांति का अनुभव करेंगे। आपको अपने द्वारा किए गए काम का क्रेडिट नहीं मिलेगा। इसके साथ ही लोग आपकी प्रशंसा नहीं करेंगे। सीधे शब्दों में कहें तो आपको वह नहीं मिलेगा, जिसके आप हकदार हैं।

उपाय- बुधवार के दिन दवाओं का दान करें या किसी जरूरतमंद मरीज का उचित इलाज कराएं। ऐसा करने से आपको बुध ग्रह से अत्यधिक संतुष्टि और अनुकूल परिणाम प्राप्त होंगे।

बुध के वृश्चिक राशि में गोचर का धनु राशि पर प्रभाव

धनु राशि के जातकों के लिए बुध का गोचर बारहवें भाव में होगा, जिसके फलस्वरूप धन और सुख की कमी और ख़र्चों में वृद्धि होगी। धनु राशि वालों आपको अपने शत्रुओं से परेशानी का अनुभव हो सकता है।

उपाय- अपने घर के ईशान कोण में तुलसी का पौधा लगाएं। 

बुध के वृश्चिक राशि में गोचर का मकर राशि पर प्रभाव

मकर राशि के जातकों के लिए बुध का गोचर एकादश भाव में होगा, जिसके फलस्वरूप धन, स्वास्थ्य लाभ, सुख में वृद्धि और सुखद यात्राओं की संभावना बनी रहेगी। मकर राशि वालों आपको अपने परिवार से भी खुशी मिलेगी और शुभ परिणाम भी मिलेंगे।

उपाय- बुधवार के दिन श्रद्धा से श्री गणेश स्तोत्र का पाठ करें, आर्थिक उन्नति होगी।

वृश्चिक राशि में बुध के गोचर का कुंभ राशि पर प्रभाव

 कुंभ राशि के जातकों के लिए बुध का गोचर दशम भाव में होगा, जिसके परिणामस्वरूप आप अपने करियर में वृद्धि, सभी प्रकार के सुख और अपने शत्रुओं पर विजय प्राप्त करेंगे। आप अपनी वाणी से अधिक मजाकिया इंसान रहेंगे। कुंभ राशि वालों आप बुद्धिमान भी बनेंगे। इसके साथ ही आपको सरकार से सहयोग, कार्यक्षेत्र में प्रसिद्धि, धन में और मान-सम्मान में वृद्धि मिलेगी।

उपाय- बुधवार की शाम को सफेद फूलों वाले पौधे के नीचे तिल के तेल से भरा दीपक जलाएं। 

बुध के वृश्चिक राशि में गोचर का मीन राशि पर प्रभाव

मीन राशि के जातकों के लिए बुध का गोचर नवम भाव में होगा, जिसके फलस्वरूप कार्यों में कुछ रुकावटें आएंगी और अधिक मेहनत से ही सफलता प्राप्त होगी। मीन राशि वालों धार्मिक कार्यों में आपकी रुचि रहेगी। इस दौरान तीर्थ यात्रा या दूर प्रवास संभव है।

उपाय- बुधवार के दिन भगवान गणेश को सिंदूर मिश्रित इत्र अर्पित करें।

नोट: यह वृश्चिक राशि में बुध के गोचर के प्रभावों के बारे में दी गयीं सामान्यीकृत भविष्यवाणियां हैं। इस गोचर का प्रभाव किसी व्यक्ति की जन्म कुंडली में मौजूद ग्रहों की स्थिति पर निर्भर करेगा। दशा चक्र पर विचार करना भी आवश्यक होगा, तभी परिणामों में सटीकता आएगी।

क्या आप अपने जीवन पर बुध के वृश्चिक राशि में गोचर 2022 के प्रभाव को विस्तार से जानना चाहते हैं? यदि हां, तो एस्ट्रोयोगी पर ज्योतिष विनायक से बात करें।

✍️ By- ज्योतिष विनायक