सूर्य का तुला राशि में गोचर लायेगा सुख और समृद्धि!

Mon, Oct 17, 2022
Team Astroyogi  एस्ट्रो पुजेल के द्वारा
Mon, Oct 17, 2022
Team Astroyogi  एस्ट्रो पुजेल के द्वारा
सूर्य का तुला राशि में गोचर लायेगा सुख और समृद्धि!

सूर्य का तुला राशि 2022 में गोचर 17 अक्टूबर 2022 को होगा और यह आपके जीवन में कई बदलाव लाएगा। आइये जानते हैं कि इस गोचर के दौरान आपके लिए क्या रहेगा खास?

सूर्य का तुला राशि में गोचर 17 अक्टूबर 2022 (सोमवार), सुबह 07:37 बजे होगा। सूर्य इस राशि में 16 नवंबर 2022 तक रहेंगे। इसके बाद 16 नवंबर 2022 को सूर्य वृश्चिक राशि में प्रवेश करेंगे। सूर्य सभी ग्रहों के  राजा हैं। यदि सूर्य आपकी कुंडली में मजबूत और अनुकूल स्थिति में हैं, तो आपको बहुत आसानी से प्रसिद्धि, नाम और सफलता मिलने की संभावना होती है। इस गोचर के दौरान आप मैनेजमेंट के अच्छे फैसले लेंगे। यदि सूर्य आपकी कुंडली में अच्छी स्थिति में नहीं होते हैं, तो यह आपके जीवन पर प्रतिकूल प्रभाव डाल सकते हैं। इनका नकारात्मक प्रभाव आपके जीवन में कुछ परेशानियां पैदा कर सकता है। गुडविल और प्रतिष्ठा प्राप्त करने के लिए सूर्य का आपकी कुंडली में अच्छी स्थिति में होना आवश्यक है।

आइये जानते हैं कि सूर्य के तुला राशि में गोचर का 12 राशियों पर क्या प्रभाव पड़ेगा।

सूर्य के तुला राशि में गोचर का मेष राशि पर प्रभाव

सूर्य का तुला राशि में गोचर मेष राशि के जातकों की कुंडली के सातवें भाव में होगा। यह पार्टनरशिप का घर है और इस गोचर के दौरान जातकों को अपने रिश्तों में कुछ जटिलताओं का सामना करना पड़ सकता है। आपकी जीवन साथी के साथ भी अनबन हो सकती है। इसके साथ ही पति-पत्नी के बीच गलतफहमी पैदा हो सकती है। मेष राशि के जातकों को इस अवधि के दौरान कोई भी कार्य सोच समझ कर करना चाहिए, जिससे स्थिति और खराब न हो। बिजनेस या किसी पार्टनरशिप की बात हो तो इस दौरान कोई बड़ा फैसला नहीं लेना चाहिए। उन्हें स्थगित करना चाहिए क्योंकि पार्टनर्स के बीच गलतफहमी पैदा हो सकती है। जो लोग नौकरी कर रहे हैं, उन्हें काफी प्रयासों से परिणाम मिलेगा। कुल मिलाकर, जातकों को किसी भी कार्य करने से पहले सोचना चाहिए।

उपाय- भूरी गाय को लाल गुड़ खिलाएं। 

सूर्य के तुला राशि में गोचर का वृषभ राशि पर प्रभाव

सूर्य का तुला राशि में गोचर 2022, वृषभ राशि के जातकों की कुंडली के छठवें भाव में होगा और यह उनके जीवन में कुछ अच्छे परिणाम लाएगा। हालांकि, यह आपके स्वास्थ्य पर कुछ प्रतिकूल प्रभाव भी ला सकता है। घर में माता के साथ विचारों में मतभेद हो सकते हैं, लेकिन शांत मन से सब कुछ सुलझाने का प्रयास करें। वृषभ राशि वालों आपके लिए यह एक अच्छा समय होगा क्योंकि आप अपने शत्रुओं पर विजय प्राप्त करेंगे। प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे विद्यार्थियों को भी इस दौरान सफलता मिलेगी। विद्यार्थियों को सलाह है कि एकाग्र रहें, सफलता अवश्य मिलेगी। नौकरीपेशा वाले लोगों को थोड़ा तनाव हो सकता है। कोर्ट-कचहरी के मामले सुलझेंगे और अनुकूल परिणाम मिलने की संभावना है। यदि आप इस गोचर में किसी ऋण के लिए आवेदन करते हैं, तो उसके स्वीकृत होने की अच्छी संभावना है।

उपाय- पानी में सिंदूर डाल कर सूर्य देव को चढ़ायें।

सूर्य के तुला राशि में गोचर का मिथुन राशि पर प्रभाव

सूर्य का तुला राशि में गोचर, मिथुन राशि के जातकों की कुंडली के पंचम भाव में होगा। रचनात्मक क्षेत्र या खेल से जुड़े लोगों के लिए यह गोचर थोड़ा कठिन समय हो सकता है। जो लोग जीवन में प्यार की तलाश कर रहे हैं, उन्हें कुछ समय इंतजार करना चाहिए। आप जो कुछ भी करते हैं, उसे अत्यंत सावधानी से करें। आपको अपने प्रियजनों के साथ क्वॉलिटी टाइम बिताना चाहिए। मिथुन राशि के जातकों के लिए इस दौरान चीजें सही डॉयरेक्शन में नहीं होंगी। हालांकि, चीजों को अमल में लाने की कोशिश करें और अच्छे परिणाम पाने के लिए धैर्य रखें। विदेश में वीजा प्राप्त करने के लिए आपको अधिक प्रयास करने होंगे। आप यह बाचत समझ लें कि प्रयास से ही चीजें अनुकूल स्थिति में होंगी। व्यवसाय या नौकरी के लिए यात्रा करने वाले लोगों को अपने जीवन में सफलता पाने के लिए अधिक प्रयास करने चाहिए।

उपाय- गन्ने के रस से शिवलिंग का अभिषेक करें।

सूर्य के तुला राशि में गोचर का कर्क राशि पर प्रभाव

सूर्य का तुला राशि में गोचर, कर्क राशि के जातकों की कुंडली के चतुर्थ भाव में होगा। इस दौरान प्रॉपर्टी खरीदने से पहले सोच-विचार कर लें। कोई भी संपत्ति खरीदने से पहले सभी सूचनाओं, नियमों और विनियमों का उचित ध्यान रखें और हर चीज की बारीकी से जांच करें। कर्क राशि वालों आप अपनी मां के स्वास्थ्य का ध्यान रखें और किसी अच्छे डॉक्टर से कसंल्ट करें, उसके बाद ही आगे बढ़ें। डॉक्टर के निर्देशों का पालन करें। घर में कलह हो सकती है, इसलिए शांत और ठंडा रहने की कोशिश करें। घर पर समय बिताने की कोशिश करें और सकारात्मक रहें। इसके अलावा, सकारात्मकता पाने के लिए कुछ पारिवारिक समारोह को आयोजित करने का प्रयास करें। इस गोचर के दौरान आपकी धन की समस्या का समाधान होगा। इस दौरान नए कामों की शुरुआत हो सकती है, लेकिन इसमें सावधानी बरतें। कुल मिलाकर गोचर की यह अवधि अच्छे और खराब समय का मिश्रण है, लेकिन अगर ठीक से संभाला जाए तो समस्याओं का समाधान हो सकता है।

उपाय- शनिवार के दिन मिश्री को जल में डालकर पीपल के पेड़ पर चढ़ायें।

सूर्य के तुला राशि में गोचर का सिंह राशि पर प्रभाव

सूर्य का तुला राशि में गोचर, सिंह राशि के जातकों की कुंडली के तीसरे भाव में होगा। इस गोचर के दौरान काम से जुड़ीं यात्राओं में वृद्धि होगी और आप सफल होंगे, लेकिन ये यात्राएं आपके स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव डाल सकती हैं, इसलिए अपने खान-पान का ध्यान रखें। सिंह राशि वालों आपके कुछ गुप्त शत्रु आपकी प्रतिष्ठा को ठेस पहुंचाने की कोशिश करेंगे, इसलिए कोई भी गोपनीय जानकारी किसी से साझा न करें। हालांकि अच्छी बात यह है कि आपको किसी चीज से नुकसान नहीं होगा। आपके छोटे भाई-बहनों के साथ स्थिति थोड़ी असहज हो सकती है, इसलिए बेहतर होगा कि किसी भी तरह की गलतफहमी से दूर रहें।

उपाय- अपने पिता के समान उम्र के व्यक्ति को गेहूं की मिठाई खिलाएं और उनका आशीर्वाद लें। अपने पिता का सम्मान करें और घर से निकलने से पहले हमेशा उनका आशीर्वाद लें।

सूर्य के तुला राशि में गोचर का कन्या राशि पर प्रभाव

सूर्य का तुला राशि में गोचर, कन्या राशि के जातकों की कुंडली के दूसरे भाव में होगा। इस दौरान आपका काम मायने रखेगा। पैसों के मामले आपके लिए प्रतिकूल हो सकते हैं, इसलिए किसी को उधार न दें क्योंकि वह पैसा वापस मिलना मुश्किल होगा। इस दौरान कहीं भी पैसा निवेश करने से पहले कई बार सोच लें। कन्या राशि के लोगों के परिवार में कुछ गलतफहमी हो सकती है, इसलिए धैर्य रखें। लेकिन कुल मिलाकर आपको अपने जीवन साथी का पूरा सहयोग मिलेगा। अगर आप धैर्य से काम लेते हैं तो अच्छी चीजें आपके पास आसानी से आ जाएंगी।

उपाय- भूरी गाय को हरी घास खिलाएं। 

सूर्य के तुला राशि में गोचर का तुला राशि पर प्रभाव

सूर्य का तुला राशि में गोचर, तुला राशि के जातकों की कुंडली के पहले भाव में होगा। जब सूर्य, तुला राशि में प्रवेश करेंगे, तो आपको अपने बिजनेस से किस्तों में धन प्राप्त होगा। आपको एक साथ कोई एकमुश्त राशि नहीं मिलेगी। कुछ नया शुरू करने के लिए यह समय अनुकूल रहेगा। तुला राशि के जो जातक नौकरी करते हैं, उन्हें प्रमोशन मिलेगा और जो लोग विदेश में बसना चाहते हैं, बहुत अधिक प्रयास के बाद ही वे सफल हो पाएंगे। आपको अपने भाई-बहनों व परिवार के सदस्यों का सहयोग प्राप्त होगा और इससे आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा और जीवन में सकारात्मकता आयेगी। इस गोचर के दौरान विद्यार्थियों को पढ़ाई पर ध्यान केंद्रित करने में परेशानी होगी।

उपाय- प्रतिदिन चंद्र मूल मंत्र का जाप करें। साथ ही अपनी मां की उम्र की महिला को दूध दान करें।

सूर्य के तुला राशि में गोचर का वृश्चिक राशि पर प्रभाव

सूर्य का तुला राशि में गोचर, वृश्चिक राशि के जातकों की कुंडली के बारहवें भाव में होगा। आयात-निर्यात के कारोबार से जुड़े लोगों को इस दौरान काफी सावधानी बरतनी चाहिए। पुराने ग्राहकों के साथ काम जारी रखने का प्रयास करें। बेहतर होगा कि आप इस दौरान नए ग्राहक जोड़ने से बचें। प्रेमियों को अपने रिश्ते का ध्यान रखना चाहिए क्योंकि इस दौरान गलतफहमियों के कारण ब्रेकअप जैसे प्रतिकूल प्रभाव हो सकते हैं। वृश्चिक राशि के जो जातक विदेश जाना चाहते हैं, उन्हें कम मेहनत करने पर भी सफलता मिल जायेगी। अपने बच्चों के स्वास्थ्य का अच्छे से ध्यान रखें।

उपाय- शिव मंत्र का जाप करते हुए दूध व चीनी, पानी में मिला कर शिवलिंग का अभिषेक करें।

सूर्य के तुला राशि में गोचर का धनु राशि पर प्रभाव

सूर्य का तुला राशि में गोचर, धनु राशि वालों की कुंडली के 11वें भाव में होगा। सूर्य के तुला राशि में गोचर के दौरान सरकारी क्षेत्र में काम करने वाले लोगों को कुछ बाधाओं का सामना करना पड़ सकता है। सरकार से जुड़े लोगों के साथ आपको कोई गलतफहमी नहीं होनी चाहिए क्योंकि इससे आपका काम प्रभावित हो सकता है। लंबी यात्रा के योग हैं और व्यापार हो या निजी काम, यह यात्रा सफल रहेगी। अत्यंत सावधानी से लिए गए सभी निर्णय अच्छे होंगे। इस दौरान धनु राशि के जातकों को नाम और प्रसिद्धि की प्राप्ति होगी। आप सभी के साथ अच्छा व्यवहार करते रहें। इस गोचर के दौरान आपकी मनोकामना पूरी होने की प्रबल संभावना है।

उपाय- वृद्धाश्रम में केले दान करें। कुछ समय बुजुर्गों के साथ बिताने के बाद उनका आशीर्वाद भी लें।

सूर्य के तुला राशि में गोचर का मकर राशि पर प्रभाव

सूर्य का तुला राशि में गोचर, मकर राशि वाले जातकों की कुंडली के दसवें भाव में होगा। इस दौरान बिजनेस से जुड़े लोगों को नए क्लाइंट्स मिलेंगे और उनका बिजनेस खूब फलेगा-फूलेगा। इसके साथ ही जानकारी साझा करते समय और नई जानकारी लेते समय बहुत सावधान रहें, जिससे भविष्य में कोई समस्या न हो। इस गोचर अवधि में संभावना है कि आप अपने प्रतिस्पर्धियों पर जीत हासिल करेंगे। आपका व्यवसाय चमत्कारिक रूप से आगे बढ़ेगा। इस बार मकर राशि के जातकों को अपने पिता का सहयोग प्राप्त होगा। अपने पिता के सुझावों को सुनें और सफल होने के लिए अपने पिता के साथ निर्णय लें। पिता के स्वास्थ्य का भी ध्यान रखें और डॉक्टर की सलाह मानें। नौकरी में स्थानांतरण की कोशिश कर रहे लोगों को सफलता मिलेगी। चीजों को हासिल करने के लिए यह एक अच्छा समय है, इसलिए इस समय का सदुपयोग करें।

उपाय- शिव मंत्र का जाप करते हुए, शिवलिंग पर काले तिल चढ़ाएं।

सूर्य के तुला राशि में गोचर का कुंभ राशि पर प्रभाव

सूर्य का तुला राशि में गोचर, कुंभ राशि के जातकों की कुंडली के नवम् भाव में होगा। इस गोचर से कुंभ राशि के लोगों को अपनी लव लाइफ में सफलता मिलेगी। इस दौरान आप अपने रिश्ते को शादी के बंधन में बदल सकते हैं क्योंकि यह समय आपके लिए बहुत अनुकूल रहेगा। बिजनेस से जुड़े लोगों का अपने पार्टनर्स के साथ अच्छा तालमेल रहेगा। इस समय कुंभ राशि के लोग नया बिजनेस भी शुरू कर सकते हैं। जो छात्र विदेश में पढ़ाई के लिए आवेदन कर रहे हैं, उनके लिए यह गोचर सकारात्मक रहेगा। केवल अपने निर्णयों पर ध्यान केंद्रित करें और डटे रहें, आपको सफलता मिलने की पूरी संभावना है।

उपाय- प्रतिदिन अपने घर के मध्य में कपूर और लौंग जलाएं।

सूर्य के तुला राशि में गोचर का मीन राशि पर प्रभाव

सूर्य का तुला राशि में गोचर, मीन राशि के जातकों की कुंडली के आठवें भाव में होगा। इस दौरान जो लोग नौकरी बदलना चाहते हैं, उन्हें कुछ समय इंतजार करना चाहिए क्योंकि इस दौरान नौकरी में बदलाव करना आपको अनुकूल परिणाम नहीं देगा और यह फैसला आपको गलत दिशा में ले जा सकता है। वाहन चलाते समय सतर्क रहें क्योंकि दुर्घटना व नुकसान होने की आशंका है। धन उधार देते समय सावधान रहें क्योंकि आपको यह धन वापस नहीं मिलेगा, इसलिए धन से जुड़े मामलों को सावधानी से संभालें। मीन राशि वालों आप अपनी किसी भी प्रकार की जानकारी को समझदारी से साझा करें वरना आप कुछ अंजान शत्रुओं के कारण तनाव में आ सकते हैं। रिसर्च में लगे लोगों को अपने क्षेत्र में सफलता मिलने की संभावना है, लेकिन आपके स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है, इसलिए पहले अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखें।

उपाय- हल्दी को पानी में मिलाकर प्रतिदिन सूर्य मंत्र का जाप करते हुए सूर्य को अर्पित करें।

सूर्य का तुला राशि में गोचर होने जा रहा है। यह गोचर आपके जीवन में कई सकारात्मक और नकारात्मक बदलाव लेकर आएगा। हालांकि, सूर्य के तुला राशि में प्रवेश करने का प्रभाव प्रत्येक व्यक्ति पर अलग-अलग होगा।

व्यक्तिगत परामर्श के लिए अभी बात करें, एस्ट्रो पुजेल से केवल एस्ट्रोयोगी पर।

By- एस्ट्रो पुजेल

एस्ट्रो पुजेल के द्वारा
Planetary Movement

आपके पसंदीदा लेख

नये लेख


एस्ट्रो पुजेल के द्वारा
Planetary Movement
आपका अनुभव कैसा रहा
facebook whatsapp twitter
ट्रेंडिंग लेख

यह भी देखें!

chat Support Chat now for Support