मंगल का मकर राशि में गोचर - आपके लिए कितना मंगलमय!

bell icon Fri, Feb 25, 2022
एस्ट्रो पुजेल एस्ट्रो पुजेल के द्वारा
मंगल का मकर राशि में गोचर - इन राशियों को मिलेगी नाम, प्रसिद्धि और पहचान

26 फरवरी को मंगल धनु राशि से निकलकर दोपहर 3 बजकर 45 मिनट मकर राशि में प्रवेश करने जा रहा है। ऐसे में ये हमारे ऊपर गहरा असर डालने वाले हैं। ज्योतिष में मंगल लाल रंग का प्रतिनिधित्व करता है। मंगल को क्रूर ग्रह माना जाता है। मंगल क्रोध व ऊर्जा के कारक ग्रह हैं। यदि ये सही स्थिति व प्रभाव में हो तो जातक को कामयाब व ऊर्जावान बनाते हैं। गलत स्थिति में ये बने काम भी बिगाड़ देते हैं। तो आइये जाने मंगल से प्रभावित होने पर कैसे परिणाम होते हैं -

क्या आप जानना चाहते हैं कि मंगल का गोचर आपके जीवन को कैसे प्रभावित कर सकता है? तो अभी विशेषज्ञ ज्योतिषाचार्य से परामर्श करें

 

मंगल से प्रभावित जातक कैसे होते हैं

 

  • ज्योतिष के नजरिए से जो लोग मंगल से प्रभावित होते हैं वे बहुत ऊर्जावान होते हैं, वे हमेशा अपना काम पूरा करने में प्रथम होते हैं और वे समय के पाबंद होते हैं। 

  • यें जोखिम लेने वाले होते हैं, और जब जातक जोखिम लेते हैं तो उन्हें सफलता भी मिलती है और वें इसका आनंद लेते हैं। 

  • इन लोगों को ज्यादातर पुलिस अधिकारी या सेना के जवान के रूप में काम करते देखा जाता है। 

  • मंगल ग्रह को सभी ग्रहों में सेनापति के रूप में जाना जाता है। ये लोग स्वभाव से आक्रामक होते हैं और हमेशा राज करते हैं, मंगल ग्रह को भूमिपुत्र भी कहा जाता है। 

  • अग्नि और क्रोध भी मंगल हैं और मंगल का रंग लाल है। ये लोग दृढ़ इच्छाशक्ति वाले होते हैं, ये ज्यादा स्वस्थ नहीं होते बल्कि बहुत अधिक ऊर्जा वाले होते हैं। 

  • मंगल अपने आप में बहुत सारे गुण रखता है और इसके साथ ही देखते हैं कि यह संक्रमण सभी राशियों के साथ क्या करेगा।

 

मंगल का मकर राशि में गोचर - राशिचक्र पर इसका प्रभाव 

 

मंगल का गोचर राशिचक्र के सभी राशियों पर पड़ने वाला है। कुछ के लिए यह गोचर, मंगल समय तो वहीं कुछ राशियों के लिए अमंगल अवधि लेकर आएगा। जानिए आपकी राशि पर इस गोचर का कैसा रहेगा प्रभाव -

मेष राशि पर मंगल गोचर का प्रभाव: राजनीति से जुड़े लोगों को अच्छी सफलता

मेष जातक मंगल का यह गोचर आपके दसवें भाव में होगा। मकर राशि शनि राशि है और दसवें भाव में मंगल कुलदीपक योग बना रहा है। यह अवधि आपके काम के लिए बढ़त दिलाने वाली होगी। आप अपने वरिष्ठों के साथ एक अच्छा बंधन साझा करेंगे जो आपके लिए मददगार साबित होगा। जो लोग राजनीति से जुड़े हैं उन्हें इस अवधि में अच्छी सफलता मिलेगी। यह अवधि आपके परिवार और प्रेम संबंधों के लिए एक अद्भुत अवधि है। इस समय में आप हर संभव काम में संतुलन बनाने में सफल रहेंगे। कुल मिलाकर यह गोचर आपके लिए काफी अनुकूल रहेगा।

उपाय :- हनुमान मंदिर में चमेली के तेल का दीपक जलाएं।

 

वृषभ जातकों पर मंगल गोचर का प्रभाव: जीवन साथी के साथ रोमांटिक पल का लेंगे आनंद 

मंगल का यह गोचर आपके नवम भाव में होगा। मंगल का नवम भाव में रहना आप वृष जातकों के लिए बहुत बड़ी बात होगी, यह आपको सभी पहलुओं में बढ़ने में मदद करेगा। इस अवधि में आप कार्य संबंधी यात्राओं पर जा सकते हैं और वे यात्राएं सफल होंगी। जो काम लंबे समय से रूका हुआ है, इस अवधि में उसे अच्छा प्रवाह मिलेगा। आप अपने जीवन साथी के साथ काफी अच्छा और रोमांटिक समय बिता पाएंगे, जिससे आप खुश रहेंगे। आपको अपने जीवन साथी का पूरा सहयोग मिलेगा। बहुत अधिक यात्रा करने से आपका स्वास्थ्य प्रभावित हो सकता है इसलिए कृपया अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखें। कुल मिलाकर आप इस अवधि का आनंद उठाएंगे।

उपाय :- दुर्गा सप्तशती पाठ करें।

 

मिथुन जातकों पर मंगल गोचर का प्रभाव: परिस्थितियों का धैर्यपूर्वक करना होगा सामना 

मिथुन जातक मंगल का यह गोचर आपके अष्टम भाव में होगा, यह गोचर आपके लिए मंथन का समय लेकर आएगा। इस अवधि में निर्णय लेने में आपको देरी हो सकती है, इस अवधि में आप बहुत गहरे विचारों में रहेंगे। आपको सामने आने वाली परिस्थितियों का धैर्यपूर्वक सामना करना होता, साथी ही आपको समझदारी से सोचना होगा और सही निर्णय लेना होगा जो आपके लिए अनुकूल हो। आप इस अवधि में तनाव महसूस कर सकते हैं और आपको लगेगा कि आप अकेले हैं। लेकिन जो लोग विदेश से जुड़े कार्यों से जुड़े हैं उन्हें इस अवधि में अच्छी सफलता मिलेगी। कुल मिलाकर आपको इस अवधि को धैर्य व विश्वास से पार करना होगा।

उपाय :- सफेद गाय को हरी घास खिलाएं।

 

कर्क जातकों पर मंगल गोचर का प्रभाव: जीवन साथी से मिलेगा अच्छा सहयोग

मंगल का यह गोचर आपके सप्तम भाव में होगा। इस गोचर से कर्क राशि के जातकों के क्रोध में वृद्धि हो सकती है। इस अवधि में आपको अपने क्रोध पर नियंत्रण रखना होगा और सभी काम धैर्यपूर्वक करना होगा, नहीं तो जो काम सुलझना चाहिए वह आपके लिए अधिक जटिल होगा। मंगल के इस गोचर में आपको अपने जीवन साथी से बहुत अच्छा सहयोग मिलेगा और आपको अपने व्यवसाय में सफलता भी मिलेगी लेकिन आपको उचित संतुष्टि नहीं मिलेगी। कुल मिलाकर यह समय आपके लिए बेहतरीन रहने वाला है। आपको ध्यान व योग करना शुरू कर देना चाहिए इससे आपको काफी मदद मिलेगी।

उपाय :- अपने माथे पर केसर का तिलक लगाएं।

 

सिंह जातकों पर मंगल गोचर का प्रभाव: व्यापार के लिए उत्तम समय

मंगल का यह गोचर आपके छठे भाव में होगा, नौकरी करने वालों के लिए यह अवधि अद्भुत रहेगी। जो सिंह जातक सरकारी नौकरी में रुचि रखते हैं उन्हें इस पर काम करना शुरू कर देना चाहिए यह अवधि उनका समर्थन करेगी।जो लोग राजनीति के क्षेत्र में हैं उन्हें इस अवधि में अच्छी सफलता मिलेगी। तो वहीं जो लोग व्यापार के क्षेत्र में हैं उनके लिए यह समय उत्तम रहेगा। यदि आप प्रेम विवाह करना चाहते हैं तो इस अवधि में कर सकते हैं। कुल मिलाकर यह समय सभी पहलुओं के लिए एक सफल समय साबित होने वाला है।

उपाय- जरूरत मंद लोगों को चना दाल दान करें।

 

कन्या जातकों पर मंगल गोचर का प्रभाव: प्रेमियों के लिए समय कष्टदायक

यह गोचर आपके पंचम भाव में होगा। मंगल गोचर आपके लिए उत्तम रहेगा। खेल के क्षेत्र में काम कर रहे कन्या जातकों को इस अवधि में अच्छी सफलता मिलेगी। लेकिन प्रेमियों के लिए यह समय वास्तव में अच्छा नहीं है, आपके रिश्ते में गलतफहमी पैदा हो सकती है, अनावश्यक बहस से बचने की कोशिश करें। नुकसान के कारण आपका मन तनाव में आ सकता है, इस अवधि में कोई नया काम या नया व्यवसाय शुरू न करें। इस अवधि को शांति से पार करने का प्रयास करें। इस अवधि में बहुत मेहनत के बाद ही सफलता मिलेगी। कुल मिलाकर यह समय उतार-चढ़ाव भरा रहेगा।

उपाय:- कुत्तों को खाना खिलाएं।

 

तुला जातकों पर मंगल गोचर का प्रभाव: निवेश के लिए अद्भुत अवधि

यह गोचर तुला जातक आपके चौथे भाव में होगा। जो जातक संपत्ति में निवेश करना चाहते हैं उनके लिए अवधि एक अद्भुत अवधि है। जिन लोगों को पितरों की संपत्ति या आपकी कोई चीज मिलने में समस्या आ रही है, इस अवधि में उनकी समस्याओं का समाधान होगा। इस अवधि में आपको अपनी मां के स्वास्थ्य का ध्यान रखना होगा। आपनी मां को तनाव से दूर रखें। अपनी माता के साथ अनावश्यक बहस से बचने की कोशिश करें। अपने वरिष्ठों के साथ किसी भी बहस में न पड़ें जो आपके काम के लिए अच्छा होगा। कुल मिलाकर परिवार के मामले में यह समय अच्छा है लेकिन बेवजह के वाद-विवाद में पड़ने से पहले आपको सचेत रहना होगा।

उपाय: राधा कृष्ण मंत्र का जाप करें।

 

वृश्चिक जातकों पर मंगल गोचर का प्रभाव:  करियर में मिलेगी अच्छी सफलता 

मंगल का गोचर आपके तीसरे भाव में होगा। इस अवधि में आपको अपनी मेहनत का अच्छा परिणाम मिलेगा, इस अवधि में आप ऊर्जावान महसूस करेंगे। आप जो भी काम करेंगे उसमें सफलता पाने के लिए आपको अच्छी ताकत मिलेगी। आप अपने अंदर एक अलग तरह की ऊर्जा महसूस कर रहे होंगे जो आपके बहुत काम आएगी। आपको सैर-सपाटे से जुड़ी यात्राओं पर जाने के अवसर मिल सकते हैं, जो सफल रहेंगे। जो लोग नौकरी के क्षेत्र में हैं उन्हें अच्छी सफलता मिल सकती है और उन्हें पदोन्नति के भी योग बन रहे हैं। जो लोग अपनी नौकरी बदलना चाहते हैं, उन्हें इस अवधि में प्रयास करना चाहिए, निश्चित रूप से अच्छे अवसर प्राप्त हो सकते हैं। कुल मिलाकर यह अवधि सभी दृष्टियों से अनुकूल अवधि है।

उपाय :- हनुमान चालीसा का पाठ करें।

 

धनु जातकों पर मंगल गोचर का प्रभाव:  वाणी पर रखना होगा नियंत्रण

धनु राशि के जातक यह गोचर आपके तीसरे भाव में होगा। आपको अच्छे परिणाम मिलेंगे लेकिन आपको अपनी ज़ुबान पर नियंत्रण रखना होगा। गलत शब्द आपके काम को बिगाड़ सकते हैं, बोलने से पहले आपको विचार होगा। गलत चीजें परिवार और काम के बीच के माहौल को प्रभावित कर सकती हैं। इस अवधि में किसी को कुछ भी गलत कहने से पहले आपको पूरी तरह से खुद पर नियंत्रण रखना होगा। जो लोग शोध के क्षेत्र में हैं, उन्हें इस अवधि में अच्छी सफलता मिलेगी। ड्राइव करें, सावधानी से सवारी करें। आप इस समय में दुर्घटनाओं का सामना कर सकते हैं, बस सतर्क रहें। कुल मिलाकर यह समय उतार-चढ़ाव भरा रहेगा।

 उपाय:- मां आयु स्त्री का आशीर्वाद लें।

 

मकर जातकों पर मंगल गोचर का प्रभाव: जीवनसाथी से हो सकती है अनबन 

मकर राशि, मंगल का यह गोचर आपके द्वितीय भाव में होगा। इस अवधि में आपको सकारात्मक ऊर्जा प्राप्त होगी। आपकी मेहनत का बहुत अच्छा परिणाम मिलेगा। इस गोचर से समाज में आपके नाम और कीर्ति में वृद्धि होगी। आपको धन के मामले में अच्छा लाभ प्राप्त होगा और यह आपके करियर के लिए बहुत अच्छा समय होगा। जीवनसाथी से अनबन हो सकती है, अनावश्यक वाद-विवाद से बचने की कोशिश करें। निजी जीवन और अपने काम के कारण भी आपको तनाव का सामना करना पड़ सकता है। कुल मिलाकर यह अवधि विकास के लिए है।

उपाय:- शनिवार के दिन जरूरतमंदों को भोजन कराएं।

 

कुंभ जातकों पर मंगल गोचर का प्रभाव: वित्तीय स्थिरता आने की संभावना 

मंगल का यह गोचर आपके ग्यारहवें भाव में होगा। जो कुंभ जातक विदेश से संबंधित कार्यों में लगे हुए हैं उन्हें अच्छी सफलता मिलेगी। साथ ही जो लोग विदेश में जाना चाहते हैं उन्हें इस अवधि में प्रयास करना चाहिए। सफलता मिल सकती है। इस अवधि में बचत में समस्या का सामना करना पड़ेगा, इस समय में आपके अनावश्यक खर्च भी बढ़ेंगे, इससे बचने की कोशिश करें। आपके और आपके भाई-बहनों के बीच परेशानी हो सकती है, और झगड़े से बचने की कोशिश करें। कुल मिलाकर यह समय आपके लिए अच्छा रहेगा।

उपाय :- पक्षियों को दाना खिलाएं।

 

मीन जातकों पर मंगल गोचर का प्रभाव: सभी मनोकामनाएं होंगे पूरे

मंगल आपके बारहवें भाव में गोचर होगा। इस अवधि में मीन राशि वालों को हर क्षेत्र में अच्छे परिणाम मिलेंगे। इस समय में आपको अपने परिवार और पारिवारिक धन से भी अच्छा सहयोग मिलेगा। लंबे समय से अटका हुआ काम आगे बढ़ेगा। जो लोग नया व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं, यह समय आपके लिए अनुकूल है। इस अवधि में आपकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण होने की ओर संकेत कर रहा है। इस अवधि में आप धार्मिक यात्राओं पर जा सकते हैं और धार्मिक कार्यों में भी आपकी बहुत रुचि होगी। इस अवधि में आपको विशेष धन योग प्राप्त होगा। कुल मिलाकर इस अवधि में आपको सफलता मिलेगी।

उपाय:- गरीब बच्चों को शिक्षा से संबंधित वस्तुओं का दान करें।

 

नोट: यह ग्रह गोचर के आधार पर सामान्यीकृत भविष्यवाणी हैं। व्यक्ति की जन्म तिथि के आधार पर भविष्यवाणियां भिन्न हो सकती हैं। मंगल का मकर राशि में गोचर कई सकारात्मक और नकारात्मक परिवर्तनों के साथ-साथ सौभाग्य और भाग्य की शुरुआत करेगा। वहीं दूसरी ओर मंगल के इस गोचर का प्रभाव प्रत्येक व्यक्ति पर अलग-अलग होगा।

 

एस्ट्रोयोगी एस्ट्रोलॉजर पुजेल से तुरंत संपर्क करें और पता लगाएं कि मंगल का यह गोचर आपके जीवन और भाग्य को कैसे प्रभावित करेगा, अभी बात करने के लिए लिंक क्लिक करें।

 

यह भी पढ़ें: ➭ सूर्य ग्रहण 2022चंद्र ग्रहण 2022 | पूर्णिमा 2022 | अमावस्या 2022 | एकादशी 2022