कर्क राशि में बुध का गोचर: इन राशि के लोगों को रखना होगा धैर्य?

Fri, Jul 01, 2022
Team Astroyogi  टीम एस्ट्रोयोगी के द्वारा
Fri, Jul 01, 2022
Team Astroyogi  टीम एस्ट्रोयोगी के द्वारा
कर्क राशि में बुध का गोचर: इन राशि के लोगों को रखना होगा धैर्य?

भारतीय पौराणिक कथाओं और वैदिक ज्योतिष में, बुध ग्रह संचार के सभी रूपों को नियंत्रित करता है। इसे सौरमंडल का राजकुमार भी कहा जाता है। इसी तरह, पश्चिमी ज्योतिष में, बुध को ओलिंप पर्वत पर देवताओं और देवी का दूत कहा गया है। तो बुध का कर्क राशि में गोचर आपके जीवन को कैसे प्रभावित कर सकता है? आइये जाने इसके साथ ही आपको यहां ग्रह गोचर से जुड़े उपाय भी मिलेंगे जो आपको इस गोचर के नकारात्मक प्रभाव से बचने में मदद करेंगे। 

बुध संचार का ग्रह है, और यह मिथुन और कन्या राशियों का स्वामी है। इसे नवग्रहों में संतान का दर्जा प्राप्त है। यह एकमात्र ऐसा ग्रह है जो नर और मादा गुणों को जोड़ता है और कम दूरी की यात्रा को नियंत्रित करता है। सभी प्रकार के सीखने और ज्ञान प्राप्त करने के साथ-साथ एक दूसरे के साथ संवाद करने के लिए उपयोग की जाने वाली वस्तुएं, जैसे टेलीफोन, ट्रेन, कार, समाचार पत्र, टेलीविजन, किताबें, पेन, पेंसिल, और इसी तरह के माध्यम, बुध से प्रभावित होते हैं। आधुनिक दुनिया में, कंप्यूटर और इस तरह की अन्य मशीनों पर बुध का प्रभाव है।

बुध एक ऐसा ग्रह है जो सूर्य के सबसे निकट है। दूसरी ओर, कर्क राशि को राशि समूह की शाही राशि कहा जाता है। कर्क काल पुरुष कुंडली में छाती और फेफड़ों को नियंत्रित करता है। इस राशि के प्रभाव में पैदा हुए जातक बहुमुखी, उच्च बौद्धिक, महत्वाकांक्षी, चिंतनशील, हर्षित, कल्पनाशील, कलात्मक और शांत होते हैं। ये जानते हैं कि कैसे मज़ाक करके, मौज-मस्ती करके और दूसरों को आनंद देकर दूसरों का मनोरंजन करना है। यह एक जल चिन्ह है। यह स्वभाव से आत्मनिरीक्षण करने वाला है, और यह विचारों का प्रतिनिधित्व करता है।

यह जानने के लिए उत्सुक हैं कि यह गोचर आपको व्यक्तिगत रूप से कैसे प्रभावित कर सकता है? एस्ट्रोयोगी ज्योतिषियों से तुरंत संपर्क करें।

कर्क राशि में बुध गोचर का आपके जीवन पर कैसा रहेगा प्रभाव

बुध 17 जुलाई, 2022, दोपहर 12 मिनट 10 मिनट से 01 अगस्त, सुबह 03 बजकर 44 मिनट तक कर्क राशि में स्थित रहेगा। आइए जानते हैं इस गोचर की अवधि में प्रत्येक राशि पर क्या प्रभाव पड़ेगा।

कर्क राशि में बुध के गोचर का मेष राशि पर प्रभाव: समय आपके पक्ष में है

इस गोचर से मेष जातक संगीत प्रेमी, माताओं के प्रति स्नेही, बुद्धिमान, शिक्षार्थी, धर्मार्थ, प्रशिक्षु, मजाकिया, शाही, खुश, सफल और विद्वान बनेंगे। साथ ही ज्योतिष में बढ़ती रुचि के कारण कुछ जातक अपनी अधूरी या आंशिक शिक्षा पूरी करने के बारे में सोचेंगे। जातकों को माता का आशीर्वाद प्राप्त होगा। इस दौरान कमाई के एक से अधिक स्रोत आपको आर्थिक रूप से मजबूत बनाएंगे। साथ ही, धन, संपत्ति, वाहन और भूमि जैसी इच्छाएं पूरी होंगी, जिससे आपको जीवन के सभी सुखों का आनंद लेने में मदद मिलेगी। कुछ जातक इस गोचर के दौरान अपने आवासीय स्थान में बार-बार परिवर्तन करेंगे। प्रेम और निजी जीवन अच्छा रहेगा। यदि जन्म कुंडली में चंद्रमा मजबूत है, तो आप नौसेना जैसे जल संबंधी कार्यों में बहुत सफल होंगे।

उपाय: ज्यादा सोचना बंद करें और व्यावहारिक रूप से हर चीज का सामना करें।

कर्क राशि में बुध के गोचर का वृष राशि पर प्रभाव: समय स्वयं पर ध्यान देने का है

कर्क राशि में बुध गोचर से आप वृषभ जातक प्रकृति प्रेमी, धार्मिक, गुणी, विलासी, मेहनती, बहादुर और कुशल बनेंगे। यदि आप साहित्य, गणित, लेखन, संचार या कविता के छात्र हैं तो इस समयावधि में आप बहुत सफल होंगे। संतान के प्रति आपका लगाव बढ़ेगा। आप अपनी जीवन दृष्टि पर अधिक ध्यान केंद्रित करेंगे। कुछ जातक धार्मिक और भाग्यशाली बनेंगे और कई आध्यात्मिक स्थानों की यात्रा करेंगे। भाई-बहनों और पड़ोसियों के साथ स्वस्थ संबंध स्थापित होंगे। वृषभ राशि के जातकों के लिए वितरण, दलाली, या धातु, बिक्री कार्य का व्यवसाय भी इस समय लाभदायक है। निजी और प्रेम जीवन सामान्य रहेगा। जो जातक वीजा और विदेश संबंधी दस्तावेजों का इंतजार कर रहे हैं इस समय उन्हें सफलता मिलेगी।

उपाय: भाई-बहनों के साथ मजबूत संबंध बनाएं और शारीरिक गतिविधियां करके खुद को अधिक मेहनत करने से बचाएं।

कर्क राशि में बुध के गोचर का मिथुन राशि पर प्रभाव: कागजी कार्यवाही में सावधानी बरतें

यह गोचर मिथुन जातकों को गुणी, खुश, निपुण, मिलनसार और मजबूत बनाएगा। आपकी वाणी मधुर और विनम्र होगी, दूसरों को प्रभावित करेगी। संपत्ति के मामलों को लेकर परिवार के सदस्यों से आप प्रभावित होंगे। कुछ जातकों को नेत्र रोग भी हो सकता है, इसलिए सावधान रहें। बुध गोचर से निवेश से अच्छा रिटर्न मिल सकता है। साथ ही व्यापार और आय में वृद्धि होगी। आपकी सफलता दर उच्च रहेगी। उच्च शिक्षा शुरू करने की संभावना है, और आपके नियोजन कौशल के लिए आपकी सराहना की जाएगी। प्रेम और वैवाहिक जीवन इस समय अच्छा और संतुलित रहेगा। लंबी अवधि की निवेश योजना फलदायी होगी। आपको आय के विभिन्न स्रोतों जैसे शेयर, म्यूचुअल फंड आदि से लाभ होगा।

उपाय: बिना उचित सत्यापन के किसी भी कागज पर हस्ताक्षर न करें। अपनी भावनाओं पर नियंत्रण रखें, खासकर काम के सिलसिले में।

कर्क राशि में बुध के गोचर का कर्क राशि पर प्रभाव: भाग्य आपका साथ देगा

यह गोचर आपकी ही राशि में हो रहा है। यह गोचर कर्क जातकों को गणित और शिक्षा में मजबूत बनाएगा। आप विलासिता, साहस और नैतिकता के पैरोकार बनेंगे। आप एक नए प्रेम संबंध की शुरुआत कर सकते हैं और अपनी पत्नी और अन्य करीबी दोस्तों के साथ पहाड़ी क्षेत्रों की यात्रा करने का प्लान बना सकते हैं। बुध गोचर से नए काम और व्यवसाय के अवसर आपको मिलेंगे, और आप बड़ी परियोजनाओं में शामिल हो सकते हैं। कुछ जातक कमाई के नए स्रोतों का सुख भोगेंगे। पारिवारिक मोर्चे पर जीवन सुखमय रहेगा। आपके प्रेम संबंध तटस्थ रहेंगे। आपके विचार और वाणी में ऊर्जा आएगी। यह समय आपको प्रगति में मदद करेगा और आपके लिए भाग्यशाली साबित होगा। आपको लिखित रूप में शैक्षिक पुरस्कार भी मिल सकते हैं, या आप कविता में रुचि विकसित कर सकते हैं।

उपाय: वाणी पर नियंत्रण रखें और बेईमान लोगों से बचें।

कर्क राशि में बुध के गोचर का सिंह राशि पर प्रभाव: समय सावधान रहने का है

गोचर के प्रभाव से यह समय आप सिंह जातकों के व्यक्तित्व को मजबूत बनाएगा। परंतु इसके प्रभाव से आपके वित्तीय स्थिति में उथल- पुथल आ सकती है। सरकारी दंड और आधिकारिक सजा की संभावना है जो धन हानि पैदा कर सकती है। आपका पैसा अस्पताल और अन्य चिकित्सा में खर्च हो सकता है। हालांकि, एक सकारात्मक नोट पर, आप विदेशी मामलों में, विशेष रूप से शिक्षा और व्यवसाय में सफल होंगे। आप आध्यात्मिक या समग्र क्षेत्रों में नेता या प्रतिनिधि बनेंगे और अपना पैसा शुभ कार्यों पर खर्च करेंगे। आप ध्यान, आत्म-प्रतिबिंब, आध्यात्मिक प्रभाव, एकाग्रता, समझ, आत्म-परीक्षा और आंतरिक प्रेरणा पर ध्यान केंद्रित करेंगे। साथ ही, आप में से जो रसायन विज्ञान, जादू और गूढ़ विज्ञान में रुचि रखते हैं, वे अच्छा करेंगे। विवाह और प्रेम जीवन में परेशानी हो सकती है, और आपके स्थान के बदलने की संभावना है।

उपायः अपने कनिष्ठों से सावधान रहें। अपने खर्चों पर नियंत्रण रखें और सरकारी अधिकारियों के साथ वाद-विवाद से बचें।

कर्क राशि में बुध गोचर का कन्या राशि पर प्रभाव: आपको नए अवसर प्राप्त होंगे

इस समय के दौरान, आपको परिभाषित करने वाले प्राथमिक शब्द धनवान, गौरवशाली, स्वाभिमानी, उदार-हृदय, योगी, गुणी, विद्वान, प्रसिद्ध, ईमानदार और विचारशील और भाग्यशाली हैं। इस गोचर के दौरान गायन और शायरी के प्रति आपका रुझान अधिक रहेगा। कुछ जातकों को पहली संतान की प्राप्ति होगी। आप कुशल भी होंगे और एक अच्छे शिल्पकार भी सिद्ध होंगे, और आप कन्या राशि के जातक विज्ञान व साहित्य में अच्छा करेंगे। आपको अपने मित्रों, रिश्तेदारों और वरिष्ठों का सहयोग प्राप्त होगा। इस दौरान आपको अपनी ईमानदारी के लिए धन की प्राप्ति होगी। आय के एक से अधिक स्रोत होंगे। वे जातक जो स्वरोजगार या व्यवसायी वर्ग से संबंध रखते हैं, उन्हें उच्च आय का स्रोत मिलेगा और वे प्रसन्न होंगे। आपका प्रेम और दांपत्य जीवन सुखी और आनंदमय रहेगा। नए संबंध शुरू होने के भी योग हैं।

उपाय: अपने कौशल पर भरोसा रखें। त्वरित पैसे कमाने के तरीकों से बचें।

कर्क राशि में बुध के गोचर का तुला राशि पर प्रभाव: आपके लिए भाग्यशाली समय

इस गोचर के दौरान तुला राशि वाले विनम्र, तेज बुद्धि वाले, ईमानदार, विद्वान, चतुर, निष्पक्ष, भाग्यशाली, उच्च और साहसी होंगे। आप कड़ी मेहनत कर रहे होंगे, और संभावना है कि आप में से कुछ परिवार या माता-पिता के व्यवसाय में शामिल हो सकते हैं। वे जातक जो बैंक, वाणिज्य और लेखा, परामर्श और आभूषण, वायरलेस सिस्टम, भाषा और गणित, ज्योतिष, अंकशास्त्र, दलाली और संपादन में काम करते हैं, उनके करियर में वृद्धि होगी। आपको अपनी मातृभूमि, भवन और वाहन से सुख प्राप्त होगा, और आप इस गोचर के दौरान अपने सपनों का घर ले सकते हैं। अपने अच्छे आचरण से आपको नाम, प्रसिद्धि, धन और वैभव मिलेगा। यदि आप एक लेखक हैं, तो आपको सरकार द्वारा मान्यता मिल सकती है। इस दौरान नए प्रेम संबंध बनेंगे। पारिवारिक जीवन सुखमय रहेगा। स्वास्थ्य के लिहाज से सावधान रहें और त्वचा पर ध्यान दें।

उपायः ज्यादा प्रतिक्रिया न करें। अपने कौशल और शिक्षा को बढ़ाएं।

कर्क राशि में बुध के गोचर का वृश्चिक राशि पर प्रभाव: समय आपके लिए अच्छा है

यह गोचर आप वृश्चिक जातकों को अधिक भाग्यशाली बनााएगा। आपका विश्वास बढ़ेगा, और आपको भविष्यवाणियों, ज्योतिष, गूढ़ता और धार्मिक पुस्तकों में अधिक रूचि प्रदान करेगा। आपका भाषण और संचार कौशल मजबूत होगा, जिससे आपको व्यवसाय में अच्छा प्रदर्शन करने में मदद मिलेगी। आप गुणी और धनवान होंगे और संतान से सुख प्राप्त करेंगे। आपके पारिवारिक जीवन में शुभ और कर्मकांड के आयोजन होंगे। प्रसारण, राजनीति और जनसेवा से जुड़े लोगों को सम्मानित किया जाएगा। आपकी दूरदर्शिता और दूरगामी विचारों की जनता सराहना करेगी। जातकों का झुकाव पौधों, हरियाली और प्रकृति के प्रति भी अधिक होगा। आपके पास आय के एक से अधिक स्रोत होंगे और आपको अपने पिता के व्यवसाय से भी अच्छी राशि प्राप्त होगी। आपका पारिवारिक जीवन सुखमय और आनंदमय रहेगा। आपका प्रेम जीवन भी सुखमय रहेगा और पुराने रिश्ते सुलझने की संभावना है।

उपायः पिता का सम्मान करें। कुछ समय किसी धार्मिक स्थान पर बि‍ताएं, और अपने आप को आध्यात्मिक रूप से मजबूत बनाएं।

कर्क राशि में बुध के गोचर का धनु राशि पर प्रभाव: समय धैर्य रखने का है

यह गोचर आप धनु जातकों के लिए इतना अनुकूल नहीं रहने वाला है। क्योंकि आप इस समय अहंकारी हो सकते हैं और मानसिक पीड़ा से ग्रसित हो सकते हैं। धार्मिक कार्यों में आपकी अधिक रुचि रहेगी और इस दौरान आपकी स्मरण शक्ति तेज रहेगी। आप इस समय मजबूत, गंभीर रहेंगे। धार्मिक ग्रंथ पढ़ने से आपको लाभ होगा। अप्रत्याशित स्रोतों से अचानक धन मिलने की संभावना है। आप अपने परिवार के लिए बैक बोन साबित होंगे। कुछ जातक इस समय मानसिक तनाव से भी पीड़ित हो सकते हैं। बुध के कर्क राशि में गोचर करने से आपके शोध कार्य को मान्यता और सराहना मिल सकती है, जिससे आपको प्रशंसा प्राप्त होगी। आपके वैवाहिक जीवन में कुछ कठिनाइयां आ सकती हैं, और आपको अपने जीवनसाथी के विचारों को समझ में समस्या हो सकती है। जो लोग शिक्षा, अनुसंधान, विश्लेषण के क्षेत्र से जुड़े हैं वे लाभ में रहेंगे। नई नौकरियां और स्टार्ट-अप बहुत फलदायी नहीं होंगे, इसलिए आपको धैर्य रखना चाहिए।

उपाय: अपनी भावनाओं पर नियंत्रण रखें और अटकलों से दूर रहें। इस दौरान जुआ खेलने से बचें।

कर्क राशि में बुध के गोचर का मकर राशि पर प्रभाव: संबंध के प्रति सजग रहें

बुध के गोचर के कारण, मकर राशि के जातक शक्तिशाली, मुखर और विपरीत लिंग को प्रभावित करने में तेज होंगे। ग्रहों का गोचर आपको बुद्धिमान, विद्वान, कुलीन, उदार और धार्मिक बनाता है। इस समय आप विलासिता का जीवन व्यतीत करेंगे। आप इस समय के दौरान अधिक गणनात्मक, चतुर, एकजुट, सामाजिक, विनम्र और प्रतिष्ठित बन जाएंगे। आय के अधिक स्त्रोत स्थापित होंगे, और आपके दैनिक खर्च में वृद्धि होगी। आपका दाम्पत्य जीवन सुखमय रहेगा। सितारे आपके वैवाहिक जीवन को आशीर्वाद देंगे और आपको ससुराल पक्ष का सहयोग मिलेगा। आप नई साझेदारियों और व्यवसायों में सफल होंगे, और यदि आपकी जन्म कुंडली में बुध मजबूत है, तो देश से बाहर यात्रा संभव है। कार्य में वरिष्ठों का सहयोग भी इस समय मिलता दिख रहा है। आपकी विचार प्रक्रिया आधुनिक विचारों से ओतप्रोत होगी। यदि कुंडली में शुक्र अच्छी स्थिति में नहीं है तो कुछ जातकों को किसी अन्य व्यक्ति के प्रभाव के कारण वैवाहिक जीवन में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

उपाय: महिलाओं का सम्मान करें और रिश्तों में वफादार रहें। किसी भी दस्तावेज पर हस्ताक्षर करने से पहले साझेदारी और समझौतों की जांच करें और सत्यापित करें।

कर्क राशि में बुध के गोचर का कुंभ राशि पर प्रभाव: समय सावधान रहने का है

इस गोचर के दौरान आप एक अच्छे संचारक, मेहनती और प्रतिस्पर्धी होंगे। कुंभ जातक अनुत्पादक कार्यों पर अधिक पैसा खर्च करेंगे, लेकिन आपको पुरस्कार भी मिल सकते हैं या आप जातक प्रतियोगिताएं जीत सकते हैं। इस गोचर के दौरान आप कानूनी या सरकारी अधिकारियों के कारण चिंतित होंगे। नकारात्मक पहलू यह है कि अपने अधीनस्थों या भागीदारों पर अत्यधिक विश्वास के कारण आपको नुकसान हो सकता है। अपने स्वास्थ्य पर ध्यान दें। आपको अपने साथी के साथ कठिनाई का सामना करना पड़ सकता है। कुछ जातकों को तलाक और अलगाव का भी सामना करना पड़ सकता है। इस गोचर के दौरान प्रेम संबंधों पर भी प्रभाव पड़ेगा। आप अपनी नौकरी भी बदल सकते हैं या किसी वांछित स्थान पर स्थानांतरित हो सकते हैं। कानूनी, पुलिस, चिकित्सा, पैरामेडिकल और विदेश से जुड़े कार्यों से जुड़े जातकों को धन के लिहाज से सकारात्मक परिणाम मिलेंगे और उनकी सराहना होगी।

उपायः कर्ज लेने से बचें। किसी के साथ विवाद और वाद-विवाद में न उलझें और संपत्ति के मुकदमे और कानूनी जटिलताओं से भी बचें।

कर्क राशि में बुध के गोचर का मीन राशि पर प्रभाव: अपने विकास पर ध्यान दें

यह समय आप मीन जातकों के लिए खुशियां लेकर आएगा। इसके साथ ही यह आपको प्रतिभाशाली, तेज और व्यवसाय में कुशल बनाएगा। कुछ जातक उपन्यास और कविता लिखना शुरू कर सकते हैं और विभिन्न वाद्य यंत्र बजाने में रुचि लेंगे। इस दौरान संतान से सुख की प्राप्ति होगी। आपके पास आय के एक से अधिक स्रोत होंगे। बुध के कर्क राशि में गोचर करने से आप आत्मनिर्भर बनेंगे। यह विद्यार्थी जातकों को शिक्षा के क्षेत्र में श्रेष्ठ बनाएगा और आपको सुख और यश भी प्रदान करेगा। इस दौरान जातक जीवन के सभी सुखों का आनंद लेंगे। इस समय नए प्रेम संबंध और बंधन शुरू होंगे और ये शादी तक जा सकते हैं। इस समय आप समाज में मान-प्रतिष्ठा अर्जित कर सकते हैं और आपके अद्वितीय व्यक्तित्व में निखार आएगा। कुछ मीन जातक एक नया पाठ्यक्रम शुरू करेंगे और विदेशों में अध्ययन करेंगे। जिन प्रोफेशनल्स का काम क्रिएटिविटी, इंटरनेट, मोबाइल, एंटरटेनमेंट, रेंट इनकम और कंसल्टेंसी से जुड़ा है, उन्हें काफी मुनाफा होगा।

उपाय: नए कौशल सीखना शुरू करें। दूसरों द्वारा लिए गए कर्ज की कोई गारंटी न दें।

कर्क राशि में बुध का गोचर आपके जीवन और करियर के लिए बहुत अच्छा काम रहेगा। हालांकि, यह गोचर आपके लिए कुछ समस्याएं भी ला सकता है। समय से पहले अपनी भविष्यवाणियों को पढ़कर आप हमेशा इससे अधिक लाभ उठा सकते हैं। तो, धैर्य रखें और भाग्य प्राप्त करने के लिए कड़ी मेहनत करें!

यह गोचर आपको व्यक्तिगत रूप से कैसे प्रभावित कर सकता है, इस बारे में अधिक जानकारी के लिए ज्योतिषी राजदीप पंडित से अभी जुड़ें!

लेखक- राजदीप पंडित

Love
Career
Health
Finance
Hindu Astrology
Spirituality
Vedic astrology
Aries
Taurus
Gemini
Cancer
Leo
Virgo
Libra
Scorpio
Sagittarius
Capricorn
Aquarius
Pisces
zodiacsign

आपके पसंदीदा लेख

नये लेख


Love
Career
Health
Finance
Hindu Astrology
Spirituality
Vedic astrology
Aries
Taurus
Gemini
Cancer
Leo
Virgo
Libra
Scorpio
Sagittarius
Capricorn
Aquarius
Pisces
zodiacsign
आपका अनुभव कैसा रहा
facebook whatsapp twitter
ट्रेंडिंग लेख

यह भी देखें!

chat Support Chat now for Support