अगस्त माह में शुभ मुहूर्त और प्रमुख तीज-त्योहार

05 अगस्त 2020

हिंदू धर्म में किसी भी कार्य को करने के लिए शुभ मुहूर्त की आवश्यकता होती है। कार्य के सफलतापूर्वक होने और शुभ परिणाम के लिए शुभ मुहूर्त पर ही कार्य की शुरूआत की जाती है। फिर चाहे वो शादी हो, व्यापार शुरू करना हो, गाड़ी खरीदनी हो इत्यादि के लिए हम ज्योतिषाचार्य से एक शुभ मुहूर्त निकलवाते हैं। हिंदू पंचांग के अनुसार मुहूर्त तिथि, नक्षत्र, चंद्रमा की स्थिति और ग्रहों की स्थिति के आधार पर निकाला जाता है। तो चलिए हम आपको इस लेख में अगस्त माह में पड़ने वाले शुभ मुहूर्त के बारे में विस्तार पूर्वक बताते हैं।

1. शुभ विवाह मुहूर्त

हिंदू धर्म के 16 संस्कारों में पन्द्रहवां संस्कार है विवाह संस्कार। इसलिए विवाह के लिए भी शुभ मुहूर्त का महत्व होता है। वहीं वर्ष 2020 के अगस्त माह में कोई भी विवाह का शुभ मुहूर्त नहीं है, क्योंकि हिंदू पंचांग के मुताबिक चातुर्मास (चार महीने की अवधि), जिसे हिंदू शादियों के लिए अशुभ माना जाता है। वह इस बार 12 जुलाई 2020 से शुरू है और 9 नवंबर 2020 को समाप्त होगा। किसी व्यक्ति के विवाह के लिए सबसे अच्छी और शुभ तिथि और समय का निर्धारण किसी अनुभवी ज्योतिषी के परामर्श के बाद किया जा सकता है; ऐसा इसलिए है, क्योंकि विवाह के लिए सबसे उपयुक्त और शुभ तिथि और समय, दूल्हा और दुल्हन की जन्म कुंडली और विवाह के स्थान पर भी निर्भर करता है।

अगस्त 2020 में विवाह मुहूर्त के लिए शुभ मुहूर्त कोई नहीं है।

 

2. गाड़ी खरीदने का शुभ मुहूर्त

कोई भी वाहन एक कीमती संपत्ति है, जो किसी व्यक्ति को प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से उसकी संपन्नता, व्यावसायिक और सामाजिक प्रतिष्ठा में सुधार करने में मदद करती है। इसके अलावा, एक वाहन काफी भाग्यशाली हो सकता है जो अपने मालिक को कम समय में अधिक से अधिक सफलता और समृद्धि के लिए प्रेरित कर सके। इसलिए, किसी भी वाहन चाहे वह बाइक, कार, बस, आदि हो, को शुभ मुहूर्त पर खरीदा जाना चाहिए, ताकि सर्वोत्तम संभव प्राकृतिक लाभों का दोहन किया जा सके। दूसरी ओर, एक प्रतिकूल या अशुभ समय में खरीदा गया वाहन, वाहन के मालिक को कई कठिनाइयों में ला सकता है, इसके अलावा मालिक की संभावित प्रगति और समृद्धि को बाधित करता है।


अगस्त 2020 में वाहन खरीदने के लिए शुभ मुहूर्त

  • अगस्त 3, 2020, सोमवार, मुहूर्त: 07:19 AM से 05:44 AM (04 अगस्त 202), नक्षत्र: श्रवण, तिथि: पूर्णिमा, प्रतिपदा
  • अगस्त 6, 2020, बृहस्पतिवार, मुहूर्त: 05:45 AM से 11:18 AM, नक्षत्र: शतभिषा, तिथि: तृतीया
  • अगस्त 9, 2020, रविवार, मुहूर्त: 05:47 AM से 07:07 PM, नक्षत्र: रेवती, तिथि: षष्ठी
  • अगस्त 13, 2020, बृहस्पतिवार, मुहूर्त: 12:58 PM से 05:50AM ( 14 अगस्त 2020), नक्षत्र: रोहिणी, तिथि: दशमी
  • अगस्त 14, 2020, शुक्रवार, मुहूर्त: 05:50 AM से 05:50 AM (15 अगस्त 2020), नक्षत्र: मॄगशिरा, तिथि: दशमी, एकादशी
  • अगस्त 16, 2020, रविवार, मुहूर्त: 01:50 PM से 05:51 PM (17 अगस्त 2020), नक्षत्र: पुनर्वसु, तिथि: त्रयोदशी
  • अगस्त 17, 2020, सोमवार, मुहूर्त: 05:51 AM से 12:35 PM, नक्षत्र: पुष्य, तिथि: त्रयोदशी
  • अगस्त 23, 2020, रविवार, मुहूर्त: 05:55 AM से 05:55AM (24 अगस्त 2020), नक्षत्र: चित्रा, स्वाती, तिथि: पञ्चमी, षष्ठी
  • अगस्त 24, 2020, सोमवार, मुहूर्त: 05:55AM से 02:31PM, नक्षत्र: स्वाती, तिथि: षष्ठी
  • अगस्त 26, 2020, बुधवार, मुहूर्त: 05:56 AM से 10:39 AM, नक्षत्र: अनुराधा, तिथि: अष्टमी
  • अगस्त 30, 2020, रविवार, मुहूर्त: 01:52 PM से 05:59 AM (31 अगस्त 2020), नक्षत्र: श्रवण, तिथि: त्रयोदशी

 

और भी पढ़ें :  आज का पंचांग   |  आज का शुभ मुहूर्त  |  आज का  राहुकाल   |  आज का चौघड़िया

 

3. भूमि खरीदना शुभ मुहूर्त

आज के महंगाई के युग में प्रॉपर्टी खरीदना या भूमि खरीदना बहुत कठिन काम हो गया है। इसलिए, किसी भी अचल संपत्ति की खरीद को किसी विशेष तिथि पर समय-अवधि द्वारा दर्शाए गए शुभ और लाभकारी मुहूर्त पर किया जाना चाहिए। यदि आप अशुभ मुहूर्त पर भूमि खरीदते हैं तो हो सकता है कि आपको हानि का सामना करना पड़ सके। इसलिए हम आपको अगस्त 2020 में भूमि खरीदने के शुभ मुहूर्त के बारे में बता रहे हैं।

  • अगस्त 6, 2020, बृहस्पतिवार, मुहूर्त: 11:18 AM से 05:46 AM(07 अगस्त 2020), नक्षत्र: पूर्व भाद्रपद, तिथि: तृतीया, चतुर्थी
  • अगस्त 7, 2020, शुक्रवार, मुहूर्त: 05:46 AM से 01:34 PM, नक्षत्र: पूर्व भाद्रपद, तिथि: चतुर्थी
  • अगस्त 14, 2020, शुक्रवार, मुहूर्त: 05:50 AM से 05:50 AM (15 अगस्त 2020), नक्षत्र: मॄगशिरा, तिथि: दशमी, एकादशी
  • अगस्त 20, 2020, बृहस्पतिवार, मुहूर्त: 05:53 AM से 11:51PM, नक्षत्र: पूर्वाफाल्गुनी, तिथि: द्वितीया
  • अगस्त 27, 2020, बृहस्पतिवार, मुहूर्त: 12:37 PM से 05:57 AM (28 अगस्त 2020), नक्षत्र: मूल, तिथि: दशमी
  • अगस्त 28, 2020, शुक्रवार, मुहूर्त: 05:57AM से 05:58 AM (29 अगस्त 2020), नक्षत्र: मूल, पूर्वाषाढा, तिथि: दशमी, एकादशी

 

4. व्यापार शुरू करने का शुभ मुहूर्त

अगस्त 2020 में अत्यधिक शुभ व्यवसाय तिथियां लाभकारी रूप से दुकान खोलने, कोई वाणिज्यिक लेनदेन करने या वित्तीय सौदों को निष्पादित करने के लिए भी उपयोग की जा सकती हैं। यदि शुभ मुहूर्त में व्यापार शुरू किया जाता है तो भविष्य में व्यापार में विस्तार और वृद्धि की संभावना बनी रहती है। तो आइए जानते हैं शुभ मुहूर्त के बारे में।

  • 8 अगस्त 2020 शनिवार, तिथि: पंचमी, नक्षत्र: उत्तराभाद्रपद
  • 9 अगस्त 2020 रविवार, तिथि: षष्ठी, नक्षत्र: रेवती
  • 10 अगस्त 2020 सोमवार, तिथि: षष्ठी, नक्षत्र: अश्विनी
  • 14 अगस्त 2020 शुक्रवार, तिथि: दशमी, नक्षत्र:  मृगशिरा
  • 21 अगस्त 2020 शुक्रवार, तिथि: तृतीया, नक्षत्र: उत्तराफ़ाल्गुनी
  • 23 अगस्त 2020 रविवार, तिथि: पंचमी, नक्षत्र: चित्रा
  • 29 अगस्त 2020 शनिवार, तिथि: एकादशी, नक्षत्र: उत्तराषाढ़ा
  • 30 अगस्त 2020 रविवार, तिथि: द्वादशी, नक्षत्र: उत्तराषाढ़ा

 

5. नामकरण शुभ मुहूर्त

हिंदू संस्कृति में वर्णित 16 संस्कारों में सबसे महत्वपूर्ण संस्कार है नामकरण संस्कार। इस संस्कार के लिए किसी पंडित या ज्योतिषी को बुलाकर नवजात की कुंडली को देखकर उसका उचित नाम रखा जाता है। खासतौर पर शुभ मुहूर्त को ध्यान में रखकर नामकरण संस्कार किया जाता है ताकि नवजात को जीवन में सफलता, समृद्धि, सुख-शांति, व्यवसाय में बढ़ोत्तरी और पद-प्रतिष्ठा प्राप्त हो। तो चलिए अगस्त 2020 में पड़े रहे शुभ मुहूर्त के बारे में आपको विस्तार से बताते हैं।

  • 5 अगस्त 2020 बुधवार, तिथि: द्वितीया, नक्षत्र: घनिष्ठा
  • 6 अगस्त 2020 गुरूवार, तिथि: तृतीया, नक्षत्र: शतभिषा
  • 10 अगस्त 2020 सोमवार, तिथि: षष्ठी, नक्षत्र: अश्विनी
  • 13 अगस्त 2020 गुरूवार, तिथि: नवमी / दशमी, नक्षत्र: रोहिणी
  • 14 अगस्त 2020 शुक्रवार, तिथि: दशमी, नक्षत्र: मृगशिरा
  • 21 अगस्त 2020 शुक्रवार, तिथि: तृतीया, नक्षत्र: उत्तराफाल्गुनी
  • 24 अगस्त 2020 सोमवार, तिथि: षष्ठी, नक्षत्र: स्वाति
  • 31 अगस्त 2020 सोमवार, तिथि: त्रयोदशी, नक्षत्र: श्रवण

 

अगस्त माह के प्रमुख तीज-त्योहार

रक्षाबंधन- हिंदू धर्म में श्रावण शुक्ल पूर्णिमा को रक्षा बंधन का पर्व मनाया जाता है। यह त्योहार भाई-बहन के प्रेम का प्रतीक है। इस दिन बहनें अपने भाइयों को रक्षा सूत्र बांधती हैं। वहीं इस बार 3 अगस्त 2020 को रक्षाबंधन पर्व मनाया जाएगा। आइए जानते हैं शुभ मुहूर्त के बारे में

रक्षा बंधन तिथि - 03 अगस्त 2020, सोमवार
पूर्णिमा तिथि आरंभ - सायं 09:28 बजे (02 अगस्त 2020)
पूर्णिमा तिथि समाप्त - सायं 09:28 बजे (03 अगस्त 2020)

जन्माष्टमी - हिंदू पंचांग के अनुसार, भाद्रपद के कृष्ण पक्ष की अष्टमी को जन्माष्टमी का पर्व मनाया जाता है। इस दिन भगवान श्री कृष्ण का जन्म हुआ था। वहीं इस बार जन्माष्टमी का पर्व 11 अगस्त 2020 मंगलवार को मनाया जाएगा। 

आइए जानते हैं शुभ मुहूर्त के बारे में

अष्टमी तिथि प्रारम्भ - प्रातः 09:06 बजे ( 11 अगस्त 2020)
अष्टमी तिथि समाप्त - प्रातः 11:16 बजे (12 अगस्त 2020)
पारण समय - प्रातः 11:16 (12 अगस्त 2020)

गणेश चतुर्थी -  हिंदू पंचांग के अनुसार, भाद्रपद के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को यह पर्व मनाया जाता है। इस दिन भगवान गणपति की प्रतिमा स्थापित करके उनकी पूजा की जाती है। इस बार गणेश चतुर्थी का पर्व 22 अगस्त 2020 शनिवार को मनाया जाएगा। 

गणेश पूजा मुहूर्त - प्रात: 11:07 से दोपहर 01:43
चतुर्थी तिथि प्रारम्भ - प्रात: 11:02 बजे (21 अगस्त 2020 )
चतुर्थी तिथि समाप्त - सायं 07:57 बजे ( 22 अगस्त 2020 )

 

संबंधित लेख 
कैसे करें जन्माष्टमी की पूजा, जानिए राशिनुसार ? । कृष्ण जन्माष्टमी: कृष्ण भगवान की भक्ति का त्यौहार ।   जन्माष्टमी पर यहां उमड़ती है श्रद्धालुओं की भीड़

 

एस्ट्रो लेख

राहु गोचर 2020 - मिथुन से वृषभ राशि में गोचर

केतु गोचर 2020 - धनु से वृश्चिक राशि में गोचर

कन्या से तुला में बुध के परिवर्तन का क्या होगा आपकी राशि पर असर?

खर मास - क्या करें क्या न करें

Chat now for Support
Support