शुक्र करेंगें अपनी नीच राशि कन्या में गोचर - जानें किसे मिलेगा वेल्थ तो किसका बिगड़ेगा हेल्थ?

10 अगस्त 2021

शुक्र जिन्हें वीनस यानि सुंदरता की देवी कहा जाता है। जो दैत्यों के गुरु भी माने जाते हैं, जिन्हें राशि चक्र की दो राशियों वृषभ व तुला का स्वामी माना जाता है इनका ज्योतिषशास्त्र में बहुत अधिक महत्व होता है। शुक्र मीन राशि में उच्च के होते हैं तो कन्या राशि में नीच के माने जाते हैं। उच्च शुक्र शुभ फलदायी होते हैं नीच शुक्र नकारात्मक परिणाम लेकर आते हैं। 11 अगस्त 2021 को सुबह 11 बजकर 20 मिनट पर शुक्र अपनी नीच माने जानी वाली राशि कन्या में प्रवेश कर रहे हैं, वे यहां 06 सितंबर 2021 तक बने रहेंगें। ऐसे में आइये जानते हैं सभी 12 राशियों को शुक्र कैसे प्रभावित कर रहे हैं?

आपकी कुंडली के अनुसार नीच शुक्र आपके लिये शुभ हैं या अशुभ यह जानने के लिये एस्ट्रोयोगी पर इंडिया के बेस्ट एस्ट्रोलॉजर्स से गाइडेंस लें।

 

शुक्र के गोचर का 12 राशियों पर प्रभाव 

 

शुक्र के कन्या राशि में गोचर का मेष राशि पर प्रभाव

शुक्र मेष राशि के छठें भाव में स्थित होगा। इसलिए मूल्य प्रणाली प्रभावित हो सकती है। आप अनैतिक गतिविधियों में शामिल हो सकते हैं। आप अपने साथी में दोष ढूंढ़ सकते हैं, आपका प्रभुत्व आपके साथी को परेशान कर सकता है, और वे शत्रु की तरह कार्य कर सकते हैं। इससे आपकी लव लाइफ प्रभावित हो सकती है।

  • पेशेवर जीवन मुश्किलों से भरा रहेगा।
  • एक व्यवसाय अच्छी तरह से समृद्ध नहीं हो सकता है। इस दौरान व्यापारिक झगड़े भी हो सकते हैं।
  • यात्रा से तब तक बचना चाहिए जब तक कि कार्यक्रम में कुछ महत्वपूर्ण न हो।
  • दाम्पत्य जीवन कलह से भरा रहेगा।
  • छात्रों को मनचाहा परिणाम मिलेगा यदि वे पर्याप्त मात्रा में कड़ी मेहनत करेंगे।
  • हालांकि यह गोचर वित्तीय लाभ के लिए उपयुक्त है, लेकिन अत्यधिक खर्च आपको परेशानी में डाल सकता है, और आपको ऋण लेना पड़ सकता है। 

 

शुक्र के कन्या राशि में गोचर का वृष राशि पर प्रभाव

शुक्र वृष राशि के पंचम भाव में स्थित होगा। इस समयावधि में आप अपनी उपस्थिति से संतुष्ट नहीं होंगे और इसे सुधारने के लिए निरंतर प्रयास करेंगे। कूटनीति की कमी रोमांटिक पार्टनर के साथ झगड़ा पैदा कर सकती है और रोमांस में झटका लगने की संभावना है। नैतिकता की कमी के कारण आप अत्यधिक सुख पर ध्यान देंगे।

  • आप अपने दोस्तों के साथ जीवन का आनंद लेना चाहेंगे और रचनात्मक कार्यों और मनोरंजन में शामिल होंगे।
  • सट्टा उपक्रमों पर पैसा खर्च करते समय आपको सावधान रहने की जरूरत है।
  • आप गलत जगह पर पैसा निवेश कर सकते हैं।
  • यदि आप शिक्षा में उत्कृष्टता प्राप्त करना चाहते हैं, तो आपको अपनी पढ़ाई पर ध्यान देने की आवश्यकता है।
  • हालांकि नौकरी की तलाश कर रहे लोगों को नौकरी मिलने में सफलता मिलेगी।
  • दंपत्तियों को संतान की प्राप्ति होगी।

 

शुक्र के कन्या राशि में गोचर का मिथुन राशि पर प्रभाव

शुक्र मिथुन राशि के चतुर्थ भाव में प्रवेश करेगा। इस गोचर के दौरान आप परिवार के साथ रहकर भी खुद को अलग-थलग महसूस करेंगे। आप भौतिकवादी लाभ प्राप्त करने पर ध्यान केंद्रित करेंगे। यदि आप वाहन खरीदने की योजना बना रहे हैं, तो कृपया इससे बचें, क्योंकि आप एक अनुचित या दोषपूर्ण उत्पाद खरीद सकते हैं।

  • आप अपने घर के सौंदर्यीकरण पर पैसा खर्च करना चाहेंगे।
  • कोई कीमती वस्तु ख़रीदने से आपकी बचत खत्म हो सकती है, इसलिए पैसे ख़र्च करने में सावधानी बरतें।
  • रोमांटिक रिश्ते के लिए यह समय ठीक नहीं हो सकता है।
  • आपको असफलताओं का सामना करना पड़ सकता है।
  • यह ध्यान और आध्यात्मिक विकास के लिए एक अच्छा समय है।


शुक्र के कन्या राशि में गोचर का कर्क राशि पर प्रभाव

यह गोचर कर्क राशि के तीसरे भाव में होगा। इस गोचर के दौरान आपको सुख-सुविधाओं की कमी का सामना करना पड़ सकता है। करियर के क्षेत्र में अपने ग्राहकों को समझाने के लिए आपको अपने कार्यस्थल में बहुत संवादात्मक होने की आवश्यकता है।

  • पैसा आसानी से नहीं आएगा और इसे पाने के लिए आपको काफी मेहनत करने की जरूरत है।
  • छोटी यात्रा संभव है।
  • आपकी अपनी माँ और भाई-बहनों के साथ समस्यात्मक संबंध हो सकते हैं और आपको यह महसूस होगा कि दूसरे आपकी पसंद और भावनाओं को महत्व नहीं देते हैं।
  • आप सामाजिक संबंधों को बनाए रखना चाहेंगे।
  • इस दौरान आप अपने पार्टनर के साथ रोमांटिक लाइफ एन्जॉय करेंगे।
  • इस दौरान आपको अपनी मां के स्वास्थ्य का ध्यान रखने की जरूरत है।

 

शुक्र के कन्या राशि में गोचर का सिंह राशि पर प्रभाव

सिंह राशि के दूसरे भाव में शुक्र स्वयं स्थित होगा। इस समयावधि में आपको मामूली रकम कमाने के लिए भी कड़ी मेहनत करनी पड़ सकती है। यहां व्यक्ति जीवन के प्रति अपने दृष्टिकोण में बहुत अधिक भौतिकवादी हो सकता है। इस गोचर के दौरान आप धन संचय करने और जीवन का आनंद लेने के लिए अनैतिक साधनों का प्रयास करेंगे।

  • एक महिला बॉस द्वारा आपका अपमान किया जा सकता है।
  • व्यावसायिक पेशेवरों को ग्राहक असंतोष का सामना करना पड़ सकता है, लेकिन आपका विनम्र व्यवहार उन्हें कठिनाइयों को सुलझाने में मदद करेगा।
  • हालांकि विवाहित लोगों को संतान की प्राप्ति होगी।
  • प्रेम जीवन आनंद से भरा रहेगा।
  • विद्यार्थी अच्छे परिणाम देंगे।

 

शुक्र के कन्या राशि में गोचर का कन्या राशि पर प्रभाव 

कन्या राशि के पहले भाव में शुक्र का गोचर होगा। इस गोचर के दौरान आप अपने रूप और व्यक्तित्व को लेकर असुरक्षित महसूस करेंगे। आप अपने रूप को बेहतर बनाने के लिए बहुत सारा पैसा और प्रयास निवेश करेंगे।

  • आप परफेक्ट दिखने के लिए ब्यूटी प्रोडक्ट्स और ड्रेस खरीदना चाहेंगे, भले ही आप अपनी उम्मीदों पर खरे न उतरें।
  • कम आत्मविश्वास इन सभी समस्याओं की जड़ है, इसलिए आत्मविश्वासी बनने की कोशिश करें।
  • आपका निर्णयात्मक स्वभाव आपके लव पार्टनर के साथ बहस का कारण बन सकता है।
  • वहीं अविवाहित लोगों की सगाई हो सकती है।
  • विवाहित लोगों को संतान की प्राप्ति होगी।
  • छात्र अच्छा प्रदर्शन करेंगे और वांछित परिणाम प्राप्त करेंगे।
  • व्यापार में उन्नति होगी।

 

शुक्र के कन्या राशि में गोचर का तुला राशि पर प्रभाव

तुला राशि के बारहवें भाव में शुक्र का गोचर होगा। इस चरण में आपको सेहत में उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए आपको सलाह दी जाती है कि अपना ख्याल रखें। इस अवधि के दौरान आपको चिकित्सा खर्च का सामना करना पड़ सकता है।

  • आप विदेश यात्रा की योजना बना सकते हैं, या आप एक पेशेवर यात्रा कर सकते हैं।
  • कामुक विचार तुला राशि को विचलित कर सकते हैं। तुला राशि वालों को आत्मसंयम रखने की जरूरत है।
  • शादीशुदा लोगों के बीच संबंध मजबूत होंगे।
  • व्यापार में वृद्धि होगी।
  • विदेश यात्राओं के साथ-साथ लंबी दूरी की यात्राएं भी योग बन रही हैं।
  • धन का निवेश सोच-समझकर करने का प्रयास करना चाहिए।
  • अत्यधिक लालच आपको नुकसान पहुंचा सकता है।
  • कीमती रत्न खरीद सकते हैं। अचानक हुए खर्च से आपका बैंक बैलेंस खाली हो सकता है। 

 

शुक्र के कन्या राशि में गोचर का वृश्चिक राशि पर प्रभाव

शुक्र वृश्चिक राशि के एकादश भाव में प्रवेश करेगा। इस समयावधि में आपको सामाजिक दायरा बनाने में असमर्थता का सामना करना पड़ सकता है। भौतिक सुख-सुविधाओं के प्रति आपका स्वार्थ आपके मित्र मंडली में आपकी छवि को नष्ट कर सकता है, और लोग आपको तुच्छ समझ सकते हैं।

  • अपनी सामाजिक स्थिति को बनाए रखने के लिए आप सामाजिक समारोहों पर पैसा खर्च करेंगे।
  • आर्थिक स्थिति महत्वपूर्ण रहेगी। कई स्रोतों से धन की प्राप्ति होगी।
  • वृश्चिक को कर्ज का पैसा मिलेगा।
  • जीवनशैली और खान-पान में सकारात्मक बदलाव आएगा।
  • प्रेम का फल मिलेगा।
  • बड़े भाई बहन वृश्चिक राशि वालों पर आशीर्वाद बरसाएंगे।

 

शुक्र के कन्या राशि में गोचर का धनु राशि पर प्रभाव

धनु राशि के दशम भाव में शुक्र का गोचर होगा। यह आपके लिए अनुकूल गोचर है। कार्यालय की महिला सहकर्मी आपको अपने पेशेवर जीवन में उत्कृष्टता प्राप्त करने का एक अच्छा मौका प्रदान कर सकती हैं।

  • आपका प्रतिस्पर्धी रवैया आपको खेल में शीर्ष पर रहने के लिए प्रेरित करेगा।
  • आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत होगी।
  • यदि आप किसी कठिन परीक्षा या साक्षात्कार की तैयारी कर रहे हैं तो उसमें आपको सफलता मिल सकती है।
  • हालांकि स्वास्थ्य को बहुत अधिक देखभाल और चिंता की आवश्यकता होगी।

 

शुक्र के कन्या राशि में गोचर का मकर राशि पर प्रभाव

शुक्र मकर राशि के नवम भाव में स्थित होगा। आपका आलोचनात्मक स्वभाव और प्राउडी नेचर आपके लिए परेशानी खड़ी कर सकता है। आप अपने बॉस के निर्देशों का पालन करना पसंद नहीं करेंगे, जिससे उनके साथ टकराव हो सकता है।

  • आप नौकरी बदलने के बारे में सोच सकते हैं। लेकिन, सावधान रहें क्योंकि यह स्विच करने का सही समय नहीं हो सकता है।
  • यदि आवश्यक हो, तो आपको पहले कम प्रोफ़ाइल वाली नौकरी चुननी पड़ सकती है।
  • छात्रों को अपनी पढ़ाई पर ध्यान केंद्रित करने में कठिनाई हो सकती है।
  • उनका मन भटक जाएगा, और वे प्यार और रोमांस में लिप्त हो सकते हैं।
  • हालाँकि, यह एक रिश्ते के लिए एक अनुकूल गोचर है।
  • इस गोचर के दौरान माता-पिता से आपको धन लाभ भी हो सकता है। 

 

शुक्र के कन्या राशि में गोचर का कुंभ राशि पर प्रभाव

कुंभ राशि का आठवां घर शुक्र की मेजबानी करेगा। कुंभ राशि के जातकों के जीवन के विभिन्न पहलुओं पर इस चरण का महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ेगा। घरेलू जीवन में आपको कठिनाई का सामना करना पड़ सकता है।

  • प्रॉपर्टी में पैसा निवेश करना अनुकूल नहीं है; आप विवादित संपत्ति खरीद सकते हैं, इसलिए निवेश करने से पहले सभी दस्तावेजों की जांच करें।
  • इस गोचर के दौरान किसी भी शुभ कार्य से बचने की कोशिश करें।
  • आपका भाग्य साथ नहीं दे सकता है, इसलिए जोखिम लेने वाले निवेश से बचें।
  • अपने पिता की सेहत का खास ख्याल रखें।
  • मन में वासना प्रबल हो सकती है, और इससे कुंभ राशि का ध्यान भंग हो सकता है।
  • छात्रों के पास एक सफल समय होगा क्योंकि उन्हें पर्याप्त परिणाम प्राप्त होंगे। प्रतियोगिताएं सफल होंगी।

 

शुक्र के कन्या राशि में गोचर का मीन राशि पर प्रभाव

शुक्र मीन राशि के सप्तम भाव में गोचर कर रहा है। इस चरण में आपको प्रेम संबंध और दांपत्य जीवन में समस्याओं का सामना करना पड़ेगा। आपका कामुक स्वभाव पार्टनरशिप में समस्या पैदा कर सकता है। इससे आपको तनाव हो सकता है। बेहतर होगा कि आप अपने पार्टनर से खुलकर बात करें।

  • पेशेवर सफलता पाने के लिए आपको अधिक प्रयास करने की आवश्यकता है।
  • ससुराल पक्ष से संबंध मधुर रखने में आपको कठिनाई का सामना करना पड़ सकता है।
  • इसलिए सम्मानजनक दूरी बनाए रखने की कोशिश करें।
  • एक महिला पेशेवर जीवन में विवाद पैदा कर सकती है, इसलिए कुछ दूरी बनाए रखने का प्रयास करें।
  • विषम परिस्थितियों से बचने के लिए योग और ध्यान आपके लिए मददगार साबित होंगे।

यह राशिफल सामान्य ज्योतिषीय आकलन के आधार पर लिखा गया है। बात करने के लिए यहां क्लिक करें या 9999091091 पर कॉल करें।

 

यह भी पढ़ें

शुक्र ग्रह - कैसे बने भार्गव श्रेष्ठ शुक्राचार्य पढ़ें पौराणिक कथा   |  ग्रह गोचर 2021   |   शुक्र गोचर 2021

Chat now for Support
Support