शुक्र का मकर राशि में गोचर - यें राशियां रहे सावधान!

bell icon Fri, Feb 25, 2022
राजदीप पंडित राजदीप पंडित के द्वारा
शुक्र का मकर राशि में गोचर - आपके प्रेम पक्ष के लिए कितना शुभ?

शुक्र ग्रह प्रेम और धन का कारक है जो वृष और तुला राशि का स्वामी है। शुक्र ग्रह प्रेम, राजनयिक, कलात्मक, रचनात्मक गुणों का प्रदाता है। विवाह व घनिष्ठ साझेदारी के लिए शुक्र का विशेष महत्व है। शुक्र उन सभी वस्तुओं और व्यवहारों पर शासन करता है जो आनंददायक, सुंदर, आकर्षक और सुशोभित हैं। इन सभी गुणों के साथ शुक्र 27 फरवरी 2022 रविवार को सुबह 10 बजकर 37 मिनट से 31 मार्च 2022 गुरुवार को सुबह 08 बजकर 53 मिनट तक मकर राशि में रहेंगे।

 

शुक्र गोचर का आपके प्रेम जीवन पर क्या प्रभाव डालेगा? जानने के लिए प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य से बात करें। अभी परामर्श करने के लिए लिंक पर क्लिक करें।  

 

मकर पृथ्वी तत्व की राशि है। यह गोचर परिणामों को स्थिर, उत्तम और लंबे समय के लिए अनुकूलित करेगा, जो दिन-प्रतिदिन के जीवन के लिए आवश्यक नियमित क्रम में विश्वास करते हैं।

 

आइए अब जानते हैं गोचर के प्रभाव और प्रत्येक लग्न के लिए विश्लेषण -

 

मेष राशि पर शुक्र गोचर का प्रभाव:  भरपूर प्रसिद्धि व पहचान मिलेगी 

शुक्र सामाजिक स्थिति के भाव में गोचर करेंगे अर्थात दसवें भाव में, करियर में वृद्धि और सुधार होने के संकेत मिल रहे हैं। लंबी अवधि की योजना बनाएं। इस समय मेष जातकों की हस्तशिल्प के प्रति रुचि बढ़ेगी। आप इस अवधि में कौशल और क्षमता का उपयोग कर पाएंगे। व्यापार और शनि से जुड़ी चीजें धातु, रसायन आदि से लाभ हो सकता है। जो जातक फिल्म, संगीत और रंगमंच से जुड़ें हैं उन्हें इस अवधि में भरपूर प्रसिद्धि और पहचान मिलेगी। कुछ जातक प्रोफेशनल लाइफ को लेकर संशय में रहेंगे। 

उपाय - ऑफिस के सहकर्मियों व वरिष्ठों के साथ भोजन साझा करें।

 

वृषभ राशि पर शुक्र गोचर का प्रभाव: प्रेम संबंध होगा अनुकूल

शुक्र का गोचर नौवें भाव में होगा। उच्च शिक्षा के लिए जो वृषभ जातक देश से बाहर जाना चाहते हैं, उनके लिए समय सही है। इस समय आप धार्मिक कर्मकांडों और आध्यात्मिक गतिविधियों का समर्थन करेंगे। पिता और परिवार के वृद्ध व्यक्तियों की सेहत पर नजर बनाए रखें। इस गोचर से आपको भाग्य का साथ मिलेगा और प्रेम संबंध अनुकूल रहेंगे। राजनीति से जुड़े जातकों के लिए यह गोचर अच्छा रहेगा। आपको मनपसंद पद व कार्यभार मिल सकता है।

उपया - धार्मिक स्थलों की यात्रा करें।


मिथुन राशि पर शुक्र गोचर का प्रभाव: पैतृक संपत्ति में होगा लाभ

शुक्र मिथुन जातकों के आठवें घर में गोचर करेगा जो अनुसंधान में सफलता और अप्रत्याशित लाभ देने वाला होगा। आपको पैतृक संपत्ति प्राप्त हो सकती है। इस समय में  नया अनुसंधान कार्य शुरू किया जाए, तो इसमें सफलता मिल सकती है। यदि आपका व्यापार विदेश में हैं तो इससे लाभ होगा। इस गोचर द्वारा विवाह योग का निर्माण हो रहा है। आप शेयर मार्किट में निवेश कर सकते हैं। शादीशुदा जातकों को ससुराल से कीमती सामान उपहार स्वरूप मिलने के संकेत हैं। इस गोचर के दौरान प्रेम संबंध अधिक परिपक्व और घनिष्ठ होंगे।

उपाय - सूर्य की पूजा करें।

 

कर्क राशि पर शुक्र गोचर का प्रभाव: नई साझेदारी की होगी शुरुआत 

प्रिय कर्क, शुक्र पार्टनरशिप के भाव में गोचर करेगा अर्थात सातवें घर में। शुक्र ग्रह मकर के सातवें भाव में बहुत मजबूत माने जाते हैं। ऐसे में नई साझेदारी की शुरुआत होगी। प्रेम संबंध और मजबूत होगा। इस समय में विवाह व संतान योग बनेगा। गोचर के दौरान करीबी दोस्त के साथ छोटी यात्रा पर जा सकते है। आपको व्यक्तिगत और व्यापारिक जीवन को आगे बढ़ाने में अधिक सफलता मिलेगी। आप धन अर्जित करने के लिए सही कार्य का चुनाव करने में सफल होंगे।

उपाय - इत्र और सुगंधित वस्तुओं का प्रयोग करें।

 

सिंह राशि पर शुक्र गोचर का प्रभाव: रचनात्मकता और उत्पादकता में होगी वृद्धि 

शुक्र स्वास्थ्य और प्रतियोगिता के भाव में गोचर करेगा अर्थात छठवें घर में। आप सिंह जातक अधिक समझदार और विपक्ष में मजबूत होंगे। इस समय आपको परिवार के वरिष्ठ सदस्यों के साथ असहमती का सामना करना पड़ सकता है, परंतु आप धन और सम्मान का आनंद लेंगे। आप अपने बच्चों के प्रति चिंता मुक्त रहेंगे। अपने विचारों से प्रसिद्ध होंगे। इस गोचर से रचनात्मकता और उत्पादकता में वृद्धि होगी। परिवार के बुजुर्ग सदस्यों का स्वास्थ्य सामान्य रहेगा। आप अपने लिए पालतू जानवर या पक्षी खरीद सकते हैं और अपने प्रियजनों को उपहार दे सकते हैं।

उपाय - शुक्रवार के दिन सफेद वस्त्र धारण करें।

 

कन्या राशि पर शुक्र गोचर का प्रभाव: रिश्तेदारों से होगा पुनर्मिलन

शुक्र का गोचर सुख भाव में हो रहा है। यह गोचर आपको छोटी-छोटी खुशियां देगा। इसके साथ ही आप शांत रहेंगे। इस समय आपको वित्तीय लाभ भी मिलने की संभावना है। बात कन्या जातकों के रोमांस की जाए तो साथी के साथ अपनी भावनाओं को साझा करें। इस समय विवाहित जोड़ें अपने परिवार को बढ़ाने के बारे में विचार कर सकते हैं। जो जातक कला और संस्कृति से जुड़े हैं उन्हें नाम व प्रसिद्धि मिलती दिखायी दे रही है। शुक्र के मकर राशि में गोचर से जुआ और शेयर बाजारों के प्रति आपकी रुचि विकसित हो सकती है। आप कम समय में जल्दी पैसा कमाने के लिए जोखिम उठा सकते हैं। यह गोचर पुराने रिश्तों में पुनर्मिलन और सुलह को दर्शा रहा है। शिक्षा और कौशल के क्षेत्र में आपको नई उपलब्धि मिलेगी।

उपाय-  अपनी माता की सेवा करें।

 

तुला राशि पर शुक्र गोचर का प्रभाव: पुराने दोस्तों से होगी मुलाकात

शुक्र, तुला राशि के जातकों के परिवार भाव में गोचर करेगा जिसके परिणामस्वरूप आपको बड़े व्यक्ति से उपहार और सजावट की वस्तुएँ प्राप्त होंगी। नए घर, कार या इंटीरियर पर आप पैसा खर्च कर सकते हैं। यह समय साथी और परिवार के करीबी सदस्यों की खुशियों में चार चांद लगाएंगे। एक से अधिक संपत्ति में आप निवेश कर सकते हैं। माता/पिता और जन्म स्थान के प्रति अधिक प्रेम का अनुभव हो सकता है। पुराने दोस्तों से मुलाकात होगी। यह मिलन डिजिटल माध्यम से हो सकता है।

उपाय - मन व विचार में स्पष्टता रखें।

 

वृश्चिक राशि पर शुक्र गोचर का प्रभाव: कूटनीतिक कौशल में होगी वृद्धि

शुक्र संचार और साहस के भाव में गोचर करेगा अर्थात वृश्चिक जातक यह गोचर आपके तीसरे भाव में हो रहा है। आप संगठन में महत्वपूर्ण भूमिका पा सकते हैं। जिन जातकों का विवाह विलंब है, इस गोचर के दौरान विवाह संपन्न हो सकता है। आप पुराने दोस्तों और परिवार के सदस्यों से मिलेंगे। इस आपका कूटनीतिक कौशल पारिवारि मामलों को सुलझाने में आपकी मदद करेगा। इसके साथ ही आपके लिखने व संवाद करने के कौशल में सुधार होगा। आप इस बीच यूट्यूब चैनल, ब्लॉग, लिखित कार्य शुरू कर सकते हैं जिसमें आपको सफलता मिलेगी। अनचाही बातों और झूठे वादों से बचें। अगर कोई विवाद है तो आप आसानी से सुलझा लेंगे।

उपाय - दैनिक व्यायाम और शारीरिक फिटनेस पर ध्यान दें।

 

धनु राशि पर शुक्र गोचर का प्रभाव: आर्थिक स्थिति में होगी सुधार

शुक्र का गोचर धनु जातकों के संपत्ति, धन और वाणी के भाव में हो रहा है। इस गोचर से आपकी जीवन शैली समृद्ध होगी। आपके धन व संपत्ति में वृद्धि होगी। गोचर आपकी आर्थिक स्थिति में सुधार होने का संकेत दे रहा है। इस अवधि में बचत शुरू होगी। कुछ जातकों को परिवार के नए सदस्य का आशीर्वाद प्राप्त होगा। भविष्य की योजना बनाने के लिए यह सही समय है। इस समय के दौरान आप अपने परिवार के अधिक निकट होंगे। इस अवधि में आप रचनात्मक और कलात्मक प्रतिभाओं और खुशियों के बारे में अधिक चिंता करेंगे। आप आकर्षक व्यक्तित्व से मिलेंगे और नए रोमांच की शुरुआत करेंगे।

उपाय - अपने खानपान पर नियंत्रण रखें।

 

मकर राशि पर शुक्र गोचर का प्रभाव: धार्मिक कार्यों में बढ़ेगी रुचि 

शुक्र का गोचर आपके स्व भाव में यानि कि लग्न में होगा। गोचर आपकी ही राशि में होना है। जातक का विकास आंतरिक और बाह्य रूप से होगा। इस भाव में शुक्र का गोचर सभी क्षेत्रों में अग्रणी बनता है। बहुत ही कम समय में प्रसिद्धि दिलाता है। जो मकर जातक कपड़े के व्यापार में हैं उन्हें लाभ मिलने की पूरी संभावना है। अधिक कमाई और अच्छा मुनाफा इस गोचर से होगा। इस अवधि में आप धार्मिक कार्यों में रुचि नहीं ले पाएंगे। विवाह और पुनर्विवाह होना इस अवधि में संभव है, तो जो जातक फिर से एक रिश्ते में आना चाहते हैं, उनके लिए सही समय है। विदेश से संबंधित व्यापार में इस समय वृद्धि संभव है। दीर्घकालिक और पुरानी बीमारी ठीक हो सकती है। नए रिश्ते और शादी के प्रस्ताव इस समय मिल सकते हैं। लव बर्ड्स के लिए भी समय खुशनुमा रहने वाला है।

उपाय - इस समय अहंकार को नियंत्रित करने की कोशिश करें।

 

कुंभ राशि पर शुक्र गोचर का प्रभाव: सरकारी तंत्र से मिलेगा लाभ 

शुक्र कुंभ जातक आपके बारहवें भाव में गोचर करेंगे। यह भाव विवाह सुख, नींद, हार, मोक्ष को इंगित करता है। इस गोचर से विदेश में नौकरी करने वाले जातकों को लाभ होगा। इससे यात्रा के भी योग बनेंगे। वित्तीय संकट आ सकता है और इस समय खर्च पर नियंत्रण रखना महत्वपूर्ण हो जाएगा। इस समय में सरकारी तंत्र से लाभ मिलने का संकेत दे रहा है। जैसे कानूनी मामले और विदेश व्यापार में लाभ होगा। विपरीत लिंग से प्रेम और कनेक्शन के लिए कल्पनाओं का आप पीछा कर सकते हैं। बीमारी से सावधान रहें और जब तक आवश्यक न हो अस्पताल और दवा से बचें। आपकी रुझान आध्यात्मिकता की ओर बढ़ सकती है। यदि आप लेखक हैं तो यह आप के लिए आंतरिक शक्ति और छिपी प्रतिभा को निखारने का सबसे अच्छा समय है।

उपाय - खर्च को नियंत्रण में रखें और भगवान विष्णु से आशीर्वाद लें।

 

मीन राशि पर शुक्र गोचर का प्रभाव: नए कार्य की होगी शुरूआत

मीन जातक, शुक्र आपके मित्रता, अपेक्षा पूर्ति और लाभ के भाव में गोचर करेगा अर्थात ग्यारहवें भाव में। गोचर से आपकी कमाई के स्रोत में सुधार होगा और काम को पहचान मिलेगी। नई संपत्तियां जुड़ सकती हैं। आप उस पर गर्व महसूस करेंगे जो आप ने कमाया है। जो जातक नए कार्य और स्टार्ट-अप की स्थापना करना चाह रहे हैं और यह लंबे समय से अटका हुआ था, वो इस अवधि में शुरू हो सकता है। कुछ जातकों को शादी और नए प्रेम संबंध का आशीर्वाद मिल सकता है। नई नौकरी की शुरुआत होगी और परिवार में यात्रा पर जाने की योजना पर चर्चा हो सकती है। शेयर बाजार और लॉटरी से संबंधित लाभ भी इस गोचर में हैं।

उपाय - शैक्षिक गतिविधि शुरू करें। योग व ध्यान का अभ्यास करें।


यह भी पढ़ें: ➭ सूर्य ग्रहण 2022चंद्र ग्रहण 2022 | पूर्णिमा 2022 | अमावस्या 2022 | एकादशी 2022