सूर्य का कर्क राशि में गोचर: जानें आपके भाग्य में क्या परिवर्तन लाएगा यह गोचर?

bell icon Sat, Jul 16, 2022
एस्ट्रो नैंसी एस्ट्रो नैंसी के द्वारा
सूर्य का कर्क राशि में गोचर: जानें आपके भाग्य में क्या परिवर्तन लाएगा यह गोचर?

Sun Transit in Cancer: नवग्रहों के राजा सूर्य भारतीय समयानुसार 16 जुलाई 2022 को रात 23:11 बजे पर चंद्रमा की राशि कर्क में प्रवेश करने जा रहे है, सभी 12 राशियों के लिए एक बड़ा बदलाव लाने की उम्मीद है। सूर्य ऊर्जा और प्रकाश का मुख्य स्रोत है। 

सूर्य में अग्नि है लेकिन जीवित रहने के लिए यह अग्नि आवश्यक है। सूर्य इसकी एक आत्मा है सूर्य एक गर्मी और प्रकाश का ग्रह है। हर दिन की शुरुआत धूप से होती है। सूर्य में सर्वोच्च शक्ति है और यह हमारी आत्मा का प्रतिनिधित्व करता है। 

सूर्य सभी ग्रहों का राजा है। इसमें नेतृत्व के गुण हैं। वैदिक ज्योतिष में पुत्र को पिता, सरकार माना जाता है। सूर्य सकारात्मकता और नेतृत्व की गुणवत्ता का प्रतिनिधित्व करता है। यह एक पुरुषत्व, शुष्क सकारात्मक और गर्म ग्रह है। यह सेवा में उच्च पद का प्रतिनिधित्व करता है। यह समाज में सरकार या प्रशासनिक स्थिति को दर्शाता है। सूर्य हमारे शरीर में हृदय को नियंत्रित करता है और काल पुरुष कुंडली में सिंह राशि का प्रतिनिधित्व करता है। सूर्य महत्वाकांक्षा, निर्भीकता, प्रतिभा, शासन करने की क्षमता, गरिमा, ऊर्जा, विश्वास, प्रसिद्धि, अनुग्रह, खुशी, आनंद, दयालु हृदय, राजसी रूप, वफादारी, रॉयल्टी और सच्चाई प्रदान करता है। सब कुछ और सभी को बनाए रखने के लिए ऊर्जा देता है।

सूर्य गोचर का आपके जीवन पर किस तरह का असर पड़ेगा, जानने के लिए एस्ट्रोयोगी ज्योतिषाचार्य से अभी बात करें

सूर्य गोचर का राशि चक्र के सभी राशियों पर प्रभाव

वैदिक ज्योतिष में सूर्य का एक राशि से दूसरी राशि में गोचर हर जातक के लिए बहुत ही खास समय होता है। सूर्य एक अग्नि ग्रह है और कर्क राशि एक जलराशि है। सूर्य मित्र राशि में गोचर कर रहा है। लेकिन यह हमारी भावनाओं को प्रभावित करेगा।

सूर्य गोचर का मेष राशि पर प्रभाव: प्रेम के मामले में सावधान रहें

इस गोचर के दौरान मेष राशि के लिए सूर्य पंचम भाव के स्वामी होंगे। वैदिक ज्योतिष में पंचम भाव को प्रेम रोमांस व संतान जन्म के लिए देखा जाता है। सूर्य चतुर्थ भाव में गोचर कर रहा है, जो सुख-सुविधाओं का घर है। कृपया केंद्र में सूर्य का यह गोचर कुछ अनुकूल परिणाम लाएगा। प्रॉपर्टी में पैसा लगाने के लिए यह समय अच्छा है।

  • व्यापार - जो जातक व्यापार में हैं उन्हें सूर्य गोचर के दौरान सफलता मिलेगी। वे समाज में, बाजार में अपनी छवि सुधारने के प्रयास करेंगे। यह समय उनके लिए अपनी प्रतिष्ठा को विकसित करने के लिए अच्छा है। वे वहां व्यापार के विस्तार के लिए कुछ अच्छी योजना बना सकते हैं।
  • करियर - जो लोग विशेष रूप से सरकारी नौकरी में हैं, उन्हें यह समय अवधि उनके वांछित पद के लिए आवेदन करने के लिए अच्छा है।
  • शिक्षा - विद्यार्थी जातक आप अपने अध्ययन में ध्यान केंद्रित कर सकते हैं। इस समय अवधि का उपयोग आप अपनी पढ़ाई से संबंधित आने वाले परीक्षाओं के लिए कर सकते हैं।
  • प्रेम - प्रेम जीवन के संबंध में यह समय अनुकूल नहीं है। वाद-विवाद से बचने की कोशिश करें। साथी के साथ बहस न करें।

उपाय - प्रतिदिन आदित्य हृदय स्तोत्र पाठ करें।

सूर्य गोचर का वृषभ राशि पर प्रभाव: समय अनुकूल है

वृषभ राशि के लिए सूर्य चौथे घर, यानी की संपत्ति और आराम के घर के स्वामी हैं। सूर्य तीसरे घर में गोचर कर रहे हैं जो संचार और भाई-बहनों के लिए निर्धारित है। तीसरा भाव हमारी शक्ति और इच्छा शक्ति का है। तीसरा भाव छोटी यात्रा और स्थान परिवर्तन के लिए भी होता है। इस पारगमन के दौरान आप अधिक आत्मविश्वास महसूस करेंगे और अपने निर्णय स्वयं लेंगे। आप इस दौरान अपने भाई-बहनों और दोस्तों के लिए कुछ न कुछ करेंगे।

  • व्यापार - जो लोग व्यापार कर रहे हैं। वो जातक इस दौरान यात्रा पर होंगे। यह उनके लिए फायदेमंद होगा। उनके प्रयासों से उन्हें लाभकारी परियोजनाएं मिलेंगी।
  • नौकरी - जो जातक सरकारी नौकरी या स्थानान्तरण योग्य नौकरी में हैं, उनका इस दौरान स्थानांतरण होगा। इस गोचर के दौरान लोगों को अपने करियर में नए व बेहतर अवसर प्राप्त होंगे।
  • शिक्षा - विद्यार्थियों के लिए यह समय उत्तम है। वे अपने प्रयासों से अपने लक्ष्यों को प्राप्त करेंगे। उनके उच्च अध्ययन के लिए यह समय अच्छा है। साथ ही कुछ छात्रों को पढ़ाई के लिए विदेश जाने के अवसर प्राप्त होंगे।
  • प्रेम- लव लाइफ में यह समय आपके लिए अच्छा है। आप आनंद लेंगे और अपने साथी के साथ अच्छा समय बिताएंगे।

उपाय - इस गोचर के दौरान शुक्रवार के दिन गाय को गुड़ खिलाएं।

सूर्य गोचर का मिथुन राशि पर प्रभाव: विवाद की संभावना है

मिथुन राशि के लिए सूर्य गोचर के दौरान तीसरे भाव का स्वामी होगा। कुंडली में तीसरा भाव हमारी इच्छा शक्ति, भाई-बहन और छोटी यात्रा और स्थान परिवर्तन के लिए भी होता है। सूर्य यहां दूसरे भाव में गोचर करेगा, दूसरा भाव पारिवारिक धन वित्त और वाणी के लिए है। इस बार कुछ पारिवारिक विवाद होंगे, इसलिए बात करने के तरीके पर नियंत्रण रखें। इस गोचर के दौरान आप अपने भाई-बहनों की मदद करेंगे। 

  • व्यापार - जो लोग व्यापार में हैं, उनके व्यापार में लाभ होगा। आप अपने प्रयासों से आर्थिक रूप से मजबूत होंगे। इस समय आप अपने व्यवसाय को लेकर यात्रा कर सकते हैं, जो आपके आने वाले समय के लिए अच्छा है।
  • करियर - जो लोग नौकरी कर रहे हैं, उन्हें इस गोचर के दौरान अच्छा वेतन पैकेज, वेतन वृद्धि या अच्छा प्रोत्साहन मिलेगा। जो जातक सरकारी क्षेत्र में हैं, उन्हें अच्छा लाभ मिलेगा।
  • शिक्षा - आप अपने अध्ययन पर ध्यान केंद्रित कर सकते हैं। अगर छात्र करियर के लिए किसी प्रतियोगिता में जाना चाहते हैं तो उनके लिए यह समय अच्छा है।
  • प्रेम - आपके निजी जीवन में यह समय कुछ तर्क, समस्याएं लेकर आएगा। आपके बात करने का तरीका आपके रिश्ते में कुछ समस्याएं पैदा करेगा।

उपाय - इस गोचर के दौरान मां दुर्गा चालीसा का जाप करें।

सूर्य गोचर का कर्क राशि पर प्रभाव: करियर के लिए उत्तम समय

कर्क राशि पर चंद्रमा का शासन है और चंद्रमा एक जल तत्व ग्रह है और कर्क राशि भी एक जल तत्व की राशि है। इस गोचर अवधि में सूर्य कर्क राशि के जातकों के द्वितीय भाव का स्वामी होगा। द्वितीय भाव धन, परिवार और वाणी का प्रतिनिधित्व करता है। कर्क राशि के लिए सूर्य का द्वितीय भाव का स्वामी होना स्वाभिमान के लिए अनुकूल है। समाज में अपनी छवि सुधारने के लिए यह समय अच्छा है। इस बार आपके खर्चे बढ़ेंगे, आपको अपने खर्चों पर नियंत्रण रखना चाहिए।

  • व्यापार - जो लोग इस समय नौकरी कर रहे हैं उनकी आर्थिक वृद्धि के लिए गोचर लाभकारी है। उन्हें कुछ अच्छे सौदे मिलेंगे। आपके व्यवसाय में, कर्मचारी आपका समर्थन करेंगे।
  • करियर - नौकरीपेशा लोगों को आपके कार्यक्षेत्र में सफलता मिलेगी। इस बार सीनियर्स आपका साथ देंगे। आपको इस गोचर के दौरान अपनी ओर आने वाले सभी अवसरों को स्वीकार करना चाहिए।
  • शिक्षा - आप अपने अध्ययन पर ध्यान देंगे। आप अध्ययन में अपने लक्ष्यों को प्राप्त करेंगे। कुछ पुरस्कार आप इस गोचर के दौरान जीत सकते हैं।
  • प्रेम - प्रेम संबंधों में आपको शांत रहना चाहिए। अहंकारी न बनें। नहीं तो आपके रिश्ते में चीजें अच्छी नहीं होंगी।

उपाय - गंगाजल में शुद्ध केसर मिलाकर प्रतिदिन सुबह तिलक करें।

सूर्य गोचर का सिंह राशि पर प्रभाव: संबंधों को लेकर धैर्य रखें

सिंह राशि एक उग्र और स्थिर राशि है। सूर्य बारहवें भाव में स्थित हैं और आपके कार्य भाव को देख रहे हैं। बारहवां घर खर्च, विदेश यात्रा, अस्पताल में भर्ती और ध्यान के लिए है। सिंह राशि के लिए सूर्य का गोचर बहुत महत्वपूर्ण है। क्योंकि सिंह राशि का स्वामी सूर्य है। यह छठे भाव को प्रभावित करेगा और छठा भाव हमारे शत्रुओं, प्रतिस्पर्धा और नौकरी के लिए है।

  • व्यापार - जो जातक व्यापार में हैं, इस गोचर से उनके निवेश में वृद्धि हो सकती है। कुछ खर्चे बढ़ेंगे। व्यापार के लिए इस माह आपको सुचारू रूप से चलना चाहिए। यदि आपका व्यवसाय विदेश में चल रहा है तो यह समय आपके व्यवसाय के विस्तार के लिए उत्तम है।
  • करियर - जो लोग नौकरी कर रहे हैं उन्हें एमएनसी कंपनियों की ओर से अच्छा अवसर मिलेगा। यदि आप लक्षित नौकरी पर हैं तो आपको अपनी कंपनी के लिए इस गोचर के दौरान अच्छी अंतरराष्ट्रीय परियोजनाएं मिल सकती हैं।
  • शिक्षा - जो जातक विदेश में अध्ययन करना चाहते हैं उन्हें उच्च अध्ययन का अच्छा अवसर प्राप्त होगा। जो छात्र विदेश में पढ़ाई कर रहे हैं उनके लिए यह समय अनुकूल है।
  • प्रेम - लव लाइफ के मामले में यह समय आपके लिए ठीक नहीं है। पार्टनर से बहस न करें।

उपाय - सूर्योदय के समय लाल मिर्च के बीज, गुड़ और कुमकुम के साथ तांबे के बर्तन में जल लेकर सूर्य को जल अर्पित करें।

सूर्य गोचर का कन्या राशि पर प्रभाव: अध्ययन के सही समय

कन्या राशि एक वायु तत्व राशि है और प्रकृति में द्वैत है। सूर्य अग्नि ग्रह है और कर्क जल राशि है। बुध भी एक पृथ्वी तत्व ग्रह है जो संचार कौशल का प्रतिनिधित्व करता है। सूर्य नेतृत्व गुणों का प्रतिनिधित्व करता है, कर्क राशि राजनीति और भावनाओं, क्षणों का प्रतिनिधित्व करती है। कन्या जातकों के लिए सूर्य बारहवें भाव का स्वामी है, जो ग्यारहवें भाव में स्थित है। बारहवां भाव यात्रा, अस्पताल में भर्ती, हानि, खर्च के लिए है और ग्यारहवां घर लाभ के लिए है। ग्यारहवें भाव में सूर्य की स्थिति धन के लिए शुभ होती है।

  • व्यापार - यह समय व्यापार वृद्धि के लिए अनुकूल है। लेकिन आपको सचेत रहना चाहिए क्योंकि इस बार आपके खर्चे बढ़ेंगे। निवेश करने से पहले आपको सोचना चाहिए।
  • करियर - जो लोग निजी क्षेत्र में हैं, उन्हें नौकरी बदलने का अच्छा अवसर मिलेगा। कार्यक्षेत्र में उन्हें पहचान मिलेगी।
  • शिक्षा -छात्र इस गोचर के दौरान पढ़ाई पर ध्यान देंगे। यदि आप अपने अध्ययन के लिए कुछ विशेष खोज रहे हैं तो यह समय आपको प्राप्त होगा।
  • प्रेम - लव लाइफ के मामले में भी यह समय अच्छा है। आप पार्टनर के साथ समय बिताएंगे।

उपाय - इस सूर्य गोचर के दौरान सूर्योदय के समय भगवान सूर्य के 12 नामों का जाप करें।

सूर्य गोचर का तुला राशि पर प्रभाव: व्यवसाय फलेगा 

तुला राशि वायु तत्व की राशि है। तुला राशि के लिए सूर्य ग्यारहवें भाव के स्वामी हैं और दसवें भाव में स्थित हैं। ग्यारहवां घर लाभ, इच्छाओं की पूर्ति का प्रतिनिधित्व करता है। दसवां घर हमारे कर्म, पेशे के लिए है। दसवें भाव में सूर्य को दिग्बल मिलता है। सूर्य का यह गोचर तुला राशि के लोगों के लिए बहुत ही शुभ समय लाने वाला है।

  • व्यापार - व्यापार करने वाले जातकों के लिए यह समय अच्छा है। आपको अपने छोटे-छोटे प्रयासों से सफलता मिलेगी। आप अपने व्यवसाय के संबंध में नई चीजों की योजना बना सकते हैं।
  • करियर - जो लोग नौकरी के क्षेत्र में हैं उन्हें इस गोचर के दौरान अपने संगठन में प्रशंसा और प्रसिद्धि मिलेगी। कार्यक्षेत्र में आपको सफलता मिलेगी।
  • शिक्षा - जो छात्र हैं, वे अपने अध्ययन पर ध्यान देंगे। उच्च अध्ययन और कुछ करियर संबंधी अध्ययन के लिए यह समय अनुकूल है।
  • प्रेम - लव लाइफ के मामले में यह समय ठीक रहेगा। क्योंकि आप अपने निजी जीवन पर ध्यान देंगे।

उपाय - प्रतिदिन गाय को अपने भोजन में से एक रोटी खिलाएं।

सूर्य गोचर का वृश्चिक राशि पर प्रभाव: धैर्य से निर्णय लें

वृश्चिक राशि का स्वामी मंगल है और वृश्चिक राशि में सूर्य दसवें भाव का स्वामी है। दसवां भाव कर्म और पेशे के लिए है। दसवें भाव का स्वामी सूर्य वृश्चिक राशि में नवम भाव में स्थित है। नवम भाव हमारे धर्म, भाग्य, लंबी यात्रा, उच्च शिक्षा और नाम प्रसिद्धि का होता है। इस गोचर के दौरान आप आध्यात्मिक स्थानों की यात्रा कर सकते हैं और लंबी यात्रा भी संभव है। इस गोचर के दौरान आपके भाग्य में वृद्धि होगी।

  • व्यापार - यह समय आपके व्यवसाय के लिए अनुकूल रहेगा। इस गोचर के दौरान आप कोई अच्छा निर्णय लेंगे जो आपके व्यवसाय में वृद्धि के लिए लाभदायक होगा। इस गोचर के दौरान आपके व्यवसाय से संबंधित कुछ लाभकारी यात्राएं होंगी।
  • करियर - नौकरी में बदलाव के लिए यह समय अनुकूल है। आपको बेहतर अवसर प्राप्त होंगे। इस गोचर के दौरान आपको मनचाही नौकरी मिलेगी।
  • शिक्षा - जो लोग अध्ययनरत हैं उन्हें विदेश में उच्च अध्ययन के अच्छे अवसर प्राप्त होंगे। आप अपनी पढ़ाई पर ध्यान देंगे। विद्यार्थियों के लिए यह समय बहुत ही शुभ रहेगा।
  • प्रेम - प्रेम संबंध के मामले में आप अपने निर्णय लेने में झिझक महसूस करेंगे। इस बार आप अपने पार्टनर की भावनाओं को जानने की कोशिश करेंगे।

उपाय - प्रतिदिन सुबह सूर्योदय के समय सूर्य नमस्कार करें।

सूर्य गोचर का धनु राशि पर प्रभाव: विद्यार्थियों के लिए सही समय

धनु अग्नि तत्व की राशि है और बृहस्पति गतिमान ग्रह है। धनु राशि के लिए सूर्य नौवें घर का स्वामी है, नौवां घर सफलता, भाग्य, लंबी यात्रा आध्यात्मिकता के लिए है। धनु राशि में नवमेश होने के कारण सूर्य अष्टम भाव में गोचर करेगा। आठवां घर अचानक परिवर्तन, हानि, और विरासत के लिए है।

  • व्यापार - जो लोग व्यापार में हैं यह समय उनके निवेश के लिए अच्छा नहीं होगा। इस बार आपको अपना पैसा किसी भी क्षेत्र में विशेष रूप से सट्टा या शेयर बाजार में निवेश नहीं करना चाहिए।
  • करियर- कार्यस्थल पर आप अपने खिलाफ कुछ राजनीति महसूस करेंगे। इस गोचर के दौरान आपकी नौकरी में असुरक्षा की भावना रहेगी। अपने वरिष्ठों से बात करते समय आपको सावधान रहना चाहिए।
  • शिक्षा - यह समय आपके अध्ययन के लिए अनुकूल नहीं है। आपको अपने अध्ययन पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए और अपने अध्ययन को उचित समय देना चाहिए। शोधार्थियों के लिए यह समय उत्तम है।
  • प्रेम - प्रेम संबंध में आपके साथी द्वारा धोखा मिल सकता है। यह आपके रिश्ते के लिए गंभीर स्थिति होगी। इसलिए धैर्य बनाए रखें।

उपाय - आदित्य हृदय स्तोत्र का प्रतिदिन पाठ करें।

सूर्य गोचर का मकर राशि पर प्रभाव: विवाहित जोड़े सावधान रहें 

मकर शनि की स्वामित्व वाली राशि है और मकर राशि के लिए सूर्य आठवें घर का स्वामी है। आठवां घर हानि, अचानक परिवर्तन का प्रतिनिधित्व करता है। इस समय सूर्य सप्तम भाव में गोचर करेगा, सप्तम भाव साझेदारी, विवाह, दैनिक कमाई के लिए जाना जाता है। इस गोचर के दौरान आप जातकों को वैवाहिक जीवन में सावधानी बरतनी होगी।

  • व्यापार - जो लोग व्यापार में हैं उन्हें अचानक लाभ मिलेगा। यह समय आपकी पार्टनरशिप के लिए ठीक नहीं रहेगा। आपको अपने समाज में जागरूक होना चाहिए। क्योंकि गोचर के दौरान कुछ शत्रु आपकी छवि को बिगाड़ सकते हैं।
  • करियर - इस गोचर के दौरान आप अपने कार्यस्थल पर सहज महसूस नहीं करेंगे क्योंकि आपके वरिष्ठ आपको सहयोग नहीं देंगे। आप कड़ी मेहनत करेंगे लेकिन आपको अपने काम के अनुसार फल नहीं मिलेगा।
  • शिक्षा - छात्रों को अपने अध्ययन पर ध्यान देना चाहिए क्योंकि यह समय उनकी दिनचर्या को बिगाड़ देगा। अगर आप सरकारी नौकरी के लिए प्रयास कर रहे हैं तो इस महीने आपको धैर्य रखना चाहिए।
  • प्रेम - रिलेशनशिप के लिए यह समय ठीक नहीं है। पार्टनर के साथ कुछ बहस हो सकती है। अपने रिश्ते में धैर्य बनाए रहें।

उपाय - प्रतिदिन सुबह 9 बार ओम का जाप करें।

सूर्य गोचर का कुंभ राशि पर प्रभाव: शत्रु पर विजय प्राप्ति का समय

कुंभ राशि का स्वामी शनि है। कुंभ राशि में सूर्य सातवें भाव का स्वामी है। सातवां भाव विवाह, साझेदारी, दैनिक कमाई के लिए है। कुंभ राशि के लिए सूर्य छठे भाव में गोचर कर रहे हैं। छठा घर प्रतिस्पर्धा, रोग शत्रु, लड़ाई, ऋण के लिए है। छठे भाव में सूर्य शक्ति लाता है और शत्रुओं को परास्त करता है।

  • व्यापार - व्यवसायी जातक इस समय अपने व्यापार पर पैनी नजर बनाए रखना होगा। आप अपने खर्चों, व्यापार में निवेश के बारे में जानकारी रखें। इस गोचर के दौरान आपको धन उधार नहीं लेना चाहिए, यह आपके लिए फलदायी नहीं होगा। अगर आप कर्ज लेना चाहते हैं तो इस गोचर के दौरान संभव होगा लेकिन आपको सावधान रहना चाहिए।
  • करियर - जो लोग नौकरी कर रहे हैं उनके लिए यह समय शुभ है। सरकारी सेवाओं में कार्यरत जातकों के लिए समय अनुकूल रहेगा।
  • शिक्षा - जो छात्र पढ़ाई या करियर को लेकर किसी प्रतियोगिता की तैयारी कर रहे हैं, उनके लिए यह समय अच्छा रहने वाला है। सफलता मिल सकती है।
  • प्रेम - लव लाइफ के संबंध में यह समय सामान्य रहेगा। इस गोचर में आपको अपने पार्टनर से बहस नहीं करना चाहिए। इससे विवाद हो सकता है।

उपाय - पानी में थोड़ा सा गुड़ मिलाकर बरगद के पेड़ पर चढ़ाएं।

सूर्य गोचर का मीन राशि पर प्रभाव: प्रेमी जातक सावधान रहें

मीन राशि का स्वामी बृहस्पति है। मीन राशि में सूर्य छठे भाव का स्वामी होगा। छठा भाव सेवा, प्रतिस्पर्धा, नौकरी, ऋण शत्रुओं के लिए है। सूर्य का पंचम भाव में गोचर हो रहा है। पंचम भाव बच्चों, प्रेम, बुद्धि संबंधों के लिए है। इस बार आप अपनी संपत्ति से कुछ धन अर्जित करेंगे।

  • व्यापार - जो लोग व्यापार कर रहे हैं उन्हें इस गोचर के दौरान कुछ परेशानी का सामना करना पड़ेगा। आपको अधिक निवेश के लिए नहीं जाना चाहिए। कर्ज लेने से बचने की कोशिश करें।
  • करियर - नौकरी में यदि आप बदलाव चाहते हैं तो यह आपके लिए अच्छा रहेगा और इस गोचर के दौरान आपको अच्छे अवसर प्राप्त होंगे।
  • शिक्षा - विद्यार्थियों के लिए यह समय शुभ है। छात्रों के पास अध्ययन के लिए स्थान खोजने की सही संभावनाएं हैं।
  • प्रेम - प्रेम संबंधों के लिए यह समय अनुकूल नहीं है। पार्टनर के साथ कुछ वाद-विवाद और लड़ाई-झगड़े होंगे। संबंध को लेकर सावधान रहें।

उपाय - रविवार के दिन शिवलिंग पर गन्ने का रस चढ़ाएं।

जीवन में है कई अनसुलझे प्रश्न तो अभी बात करें एस्ट्रोयोगी एस्ट्रोलॉजर एस्ट्रो नैन्सी से बात करें जो आपको आपके प्रश्नों का सही उत्तर दे सकती हैं। तो अभी बात करें

✍️लेखक- एस्ट्रो नैन्सी

chat Support Chat now for Support
chat Support Support