प्रेम कारक ग्रह शुक्र का राशि परिवर्तन, आपके प्रेम पक्ष में लाएगा बदलाव?

bell icon Fri, May 13, 2022
टीम एस्ट्रोयोगी टीम एस्ट्रोयोगी के द्वारा
प्रेम कारक ग्रह शुक्र का राशि परिवर्तन, आपके प्रेम पक्ष में लाएगा बदलाव?

शुक्र इस माह अपना राशि परिवर्तन करके मेष राशि में आने वाला है। 23 मई 2022 को शुक्र मेष राशि में प्रवेश करने जा रहे हैं। यह जानने के लिए उत्सुक हैं कि इस गोचर में आपके लिए क्या अवसर व संभावनाएं हैं? इस गोचर से सभी राशियों के जातकों के जीवन में क्या बड़े बदलाव होने की उम्मीद दिखायी दे रही है आइये जानते हैं। 

राशि चक्र की पहली राशि मेष है। वैदिक ज्योतिष में, यह मूल तत्व का संकेत है, और मेष के ऊर्जा क्षेत्र में देवी महाकाली की शक्ति शामिल है। इस राशि के प्रतीक के तौर पर एक मेढ़ा को दर्शाया गया है। मेष पहली ज्योतिषीय राशि है और जिसका अंक एक है, यह राशि एक नई शुरुआत और पवित्रता की प्रतिनिधित्व करती है। इसलिए, यह शारीरिक और मानसिक गतिविधि पर अपना प्रभाव डालती है। 

मेष राशि का स्वामी मंगल है, जो अग्नि तत्व के लिए जाना जाता है। यह मेष राशि के जातकों को सक्रिय, असहिष्णु और संदिग्ध बनाता है। इस राशि की विशेषता यह है कि जातक सफलता के बावजूद असंतुष्ट रहता है और निरंतर परिश्रम करता है। प्रशंसा पाने की चाह इनमें कम होती है। इस चंद्र राशि के जातक अपने अस्तित्व में उभरती और सक्रिय ऊर्जा की उपस्थिति के कारण जिद्दी, आवेगी और मुखर प्रवृत्ति के होते हैं।

इन सभी गुणों वाली राशि मेष में शुक्र 23 मई 2022 को रात 08 बजकर 40 मिनट पर गोचर करने वाले हैं और शुक्र 18 जून 2022 को प्रातः 08 बजकर 28 मिनट तक इसी चंद्र राशि में विराजमान रहेंगे।

आइए अब शुक्र के बारे में थोड़ा जान लेते हैं और यह ग्रह आपके जीवन को कैसे प्रभावित करता है?

  • ज्योतिष में शुक्र का संबंध प्रेम और धन से है। वृषभ और तुला राशि का स्वामी शुक्र ग्रह है। यह पुरुषों के लिए विवाह का कारक है। यह ग्रह प्रेम, कूटनीति, कला, रचनात्मकता और संवेदनशीलता से जुड़ा हुआ है। वहीं दूसरी ओर शुक्र को युद्ध में जीत से भी जोड़ा गया है। शुक्र शासित जातक क्रोधी और जिद्दी होने पर विनाशक बन सकते हैं क्योंकि प्रेम और घृणा एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। साथ ही, वे किसी भी कीमत पर अपने जीवन में अपने लक्ष्यों, आराम और विलासिता को प्राप्त करने की दिशा में काम करते हैं। वैदिक ज्योतिष के मुताबिक विवाह सहित घनिष्ठ साझेदारी और संबंधों में शुक्र का विशेष महत्व है। शुक्र ग्रह के कारण अधिकतर लोगों में संवेदनशीलता, कोमल और कूटनीतिक होने का गुण विकसित होते हैं, जिससे रिश्ते को सफल बनाने में मदद मिलती है। शुक्र आपके जीवन के विलासितापूर्ण पहलू पर जोर देता है। ये जातक प्रकृति के प्रेमी होते हैं और अपने आस-पास सबसे अच्छी चीजें रखना पसंद करते हैं।

क्या आप इस बारे में विस्तृत जानकारी चाहते हैं कि ग्रहों का गोचर आपके जीवन को कैसे प्रभावित कर सकता है? इसमें आपकी मदद एस्ट्रोयोगी ज्योतिषी कर सकते हैं। अभी बात करने के लिए लिंक पर क्लिक करें।

शुक्र का मेष राशि में गोचर हमारे जीवन को कैसे प्रभावित करेगा?

आइए जानें कि शुक्र का मेष राशि में गोचर विभिन्न राशियों पर कैसे प्रभावित करेगा। यह गोचर हमारे जीवन में क्या बदलाव ला रहा है।

शुक्र गोचर का मेष राशि पर प्रभाव: संबंधों के लिए सही समय

मेष राशियों के लिए शुक्र का यह गोचर सीधे आपके जीवन के धन और साझेदारी पहलुओं का निरीक्षण करेगा। शुक्र प्रेम व संबंध का कारक है इसलिए इस अवधि में कई जातकों के लिए विवाह प्रस्ताव आ सकते हैं। आपकी वाणी, भाषण और सामाजिक छवि सहित आपकी विचार प्रक्रिया में सुधार होगा। जब आपके रिश्ते और समाज की बात होगी तो आपका व्यक्तित्व बेहतर होगा। आप अपने वैवाहिक जीवन का आनंद लेंगे और नए उद्यम और साझेदारी शुरू करेंगे। आपको व्यापार में लाभ होगा। जो जातक अब तक अकेले हैं उनके लिए नए प्रेम संबंध की शुरुआत होगी। अपने पुराने रिश्ते को बनाए रखें और किसी भी टकराव को दूर रहने के लिए साथी के साथ संवाद बनाए रखें। इससे आपसी समझ बढ़ेगी। 

उपाय- महिलाओं का सम्मान करें।

शुक्र गोचर का वृषभ राशि पर प्रभाव: सेहत पर ध्यान दें

कुंडली में द्वादश भाव सक्रिय होने से नए कार्यों में कोई साझेदारी नहीं होगी। लेकिन विदेश के स्रोतों से धन का प्रवाह अच्छा रहेगा। इस गोचर से आपकी विलासितापूर्ण जीवनशैली के कारण कई अवांछित खर्चे होंगे। यदि आप निवेश और बैंकिंग से जुड़े हैं तो आप अपने लक्ष्य हासिल नहीं कर पाएंगे। शेयर, म्यूचुअल फंड और अन्य सट्टा गतिविधियों से जुड़े जातक लाभ कमाएंगे। परिवार के सदस्यों के साथ पुराने संपत्ति विवाद बढ़ेंगे, और किसी को कानूनी अनुपालन का सामना करना पड़ सकता है। शुक्र का मेष राशि में गोचर उन जातकों के लिए अच्छा रहने वाला है जो जातक बहुराष्ट्रीय कंपनियों, देश के बाहर की परियोजनाओं, शिक्षा और प्रतियोगिताओं में अपने कौशल को अनुकूलित करने का प्रयास कर रहे हैं। आपका पेशेवर जीवन अच्छा रहेगा, आपकी आवश्यकता के अनुसार स्थानांतरण भी संभव हो सकती है। हालांकि, आपको अपने स्वास्थ्य, ऋण और चिकित्सा आवश्यकताओं को नियंत्रित करना चाहिए। यह गोचर आपके स्वास्थ्य को प्रभावित करेगा और दवाओं, अस्पतालों आदि में धन खर्च हो सकता है।

उपाय- सादा भोजन करें और शराब से बचें।

शुक्र गोचर का मिथुन राशि पर प्रभाव: करियर के लिए उत्तम समय

मिथुन राशि के लिए यह सबसे अच्छा समय होगा। क्योंकि शुक्र आपके ग्यारहवें भाव में गोचर करने वाले हैं। आपको अपने बच्चों, बुद्धि, कौशल और क्षमता से लाभ होगा। आप लंबे समय से जो उम्मीद कर रहे थे वह इस गोचर में पूरी हो सकती है। पैसा और शोहरत मिलने की संभावना है। आपके पास आय के एक से अधिक स्रोत होंगे। इसका मतलब है कि आप पेशेवर रूप से अधिक स्थिर रहेंगे। नई दोस्ती शुरू होगी। शिक्षा के लिए यह एक अच्छा समय है इसलिए अपनी पढ़ाई फिर से शुरू करें। वैवाहिक जोड़े इस समय में फैमिली प्लानिंग कर सकते हैं। इसके साथ ही जो दंपत्ति बच्चे को गोद लेना चाहते हैं उनके लिए भी यह अच्छा समय है। यदि आप फिल्म, फैशन, संगीत, लेखन, वस्त्र, सौंदर्य प्रसाधन, मार्बल या कला से जुड़े किसी काम से जुड़े हैं तो यह समय आपके लिए सफलता दिलाने वाला रहेगा।

उपाय- परिवार के साथ ज्यादा से ज्यादा समय बिताएं। सट्टा गतिविधियों से बचें और अपने वित्त पर नियंत्रण रखें।

शुक्र गोचर का कर्क राशि पर प्रभाव: आय के नये स्रोत बनेंगे

इस गोचर में शुक्र कर्क जातकों के आय भाव यानी कि दशम भाव पर अपना प्रभाव डालने वाले हैं। जिससे आप जातकों की आय में वृद्धि होगी और आपको सहयोग प्राप्त होगा। व्यवसाय से जुड़े जातकों को अधिक लाभ और अधिक कमाई हो सकती है। इस दौरान आपका निजी जीवन अच्छा रहेगा, लेकिन आपको अपने पेशेवर जीवन में कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। आपके कार्यालय के कर्मचारी और सहकर्मी आपकी तरक्की को स्वीकार नहीं कर पाएंगे। इस वजह से आपके मन में कुछ नकारात्मक विचार आ सकते हैं। हालांकि, आपको ससुराल से आशीर्वाद और धन प्राप्त होगा और आपके निजी जीवन में इच्छाओं की सामान्य पूर्ति होगी। आप एक नया उद्यम शुरू कर सकते हैं और अपने साथी, पत्नी और महिला मित्रों से आय का एक और स्रोत प्राप्त कर सकते हैं। कई जातकों को अपनी माता के मायके की ओर से विवाह का प्रस्ताव प्राप्त हो सकता है। इस गोचर के सहयोग से महिला जातकों को इस समय का सदुपयोग नई नौकरी शुरू करने में करना चाहिए। शुक्र के मेष राशि में आने से आप अपनी मां और मातृभूमि के प्रति वफादार रहेंगे। आप अच्छा महसूस करेंगे, और यह आपके लिए सुखद समय होगा। आप आलीशान घर, कार या वाहन खरीद सकते हैं। आप हिल स्टेशनों की यात्रा की योजना भी बना सकते हैं।

उपाय- परिवार के साथ ज्यादा से ज्यादा समय बिताएं। समाज और अपने पेशेवर जीवन में वरिष्ठ लोगों के साथ बहस से बचें।

शुक्र गोचर का सिंह राशि पर प्रभाव: व्यापार में वृद्धि

सिंह जातकों के लिए यह गोचर उनके नवम भाव में हो रहा है। इस दौरान आप अपने जीवन की सर्वश्रेष्ठ यात्रा शुरू करेंगे। रिश्तेदार, दोस्त, परिवार और छोटे भाई-बहन आपके मूल्य और विचारों की सराहना करेंगे। पैसों से जुड़ी चीजों पर आपका ज्यादा ध्यान रहेगा। आप अपने निजी जीवन में छोटी और लंबी दूरी की यात्राओं का आनंद लेंगे। यदि आप लेखन, मीडिया, यात्रा, पत्रकारिता या वीरता से संबंधित कार्य जैसे पुलिस, सेना और सुरक्षा से जुड़े हैं तो आप खुद को साबित करने में सक्षम होंगे और आपको प्रतिष्ठित लोगों का भी सहयोग मिलेगा। इस गोचर के दौरान आपके समग्र कार्य में वृद्धि होगी। मेष राशि में शुक्र का प्रवेश करना कार्यक्षेत्र में चीजें आपके पक्ष में लाने का कार्य करेगा। पुरानी संपत्तियां बिकेंगी और कर्ज का बोझ कम होगा। पेशेवर मोर्चे पर, आपके पास पर्याप्त शक्ति और जिम्मेदारियां होंगी। आपके कौशल और क्षमताओं की सराहना की जाएगी। यदि आप अपना खुद का व्यवसाय चला रहे हैं, तो आप विदेशी लोगों के साथ नई साझेदारी हो सकती है।

उपाय- अपने परिवार के साथ मजबूत संबंध बनाएं और कार्यक्षेत्र में वाद-विवाद से बचें।

शुक्र गोचर का कन्या राशि पर प्रभाव: विवाह के लिए सही समय

कन्या जातकों के लिए यह गोचर लाभदायक रहने वाला है। आप इस गोचर में भाग्य का प्रभाव देखेंगे। अष्टम भावम में गोचर होने से आपकी वाणी शक्ति और धन लाभ में वृद्धि होगी। परिवार के सदस्य धन और अन्य मूल्यवान संपत्ति उपहार के रूप में आपको देंगे। यदि आप सार्वजनिक भाषण, लाइव इवेंट, मीडिया, बिक्री, फिल्म, शिक्षण, संपत्ति, या सजावटी और शानदार वस्तुओं से जुड़े हैं तो आप पेशेवर रूप से काफी अच्छा करेंगे। आपको कमाई के कई स्रोत भी मिलेंगे। शुक्र का मेष राशि में गोचर करने से जातक नई शानदार वस्तुएं खरीदने पर विचार कर सकता है। इसके अलावा आपको परिवार के सदस्यों के बारे में अचानक निर्णय लेने की भी आवश्यकता हो सकती है, इसलिए उन्हें संतुलित करने की आवश्यकता है। परिवार में कुछ धार्मिक कार्यक्रम और समारोह हो सकते हैं। आप पारंपरिक पूजा अनुष्ठानों और रीति-रिवाजों को निभाएंगे। इस माह प्रेम विवाह और प्रेम संबंधों के लिए अच्छे योग बन रहे हैं। कुछ लोगों को दूसरी संतान का आशीर्वाद मिलेगा, और आपका पारिवारिक जीवन असाधारण होगा।

उपाय- अपने परिवार के सदस्यों के साथ बहस से बचें और जल्दी से पैसा कमाने के किसी भी तरीके से कुछ दूरी बनाएं।

शुक्र गोचर का तुला राशि पर प्रभाव: परिवार को समय दें

यह गोचर तुला राशि के सातवें भाव में हो रहा है। शुक्र गोचर एक सुखी वैवाहिक और निजी जीवन जीने में मदद करेगा। नई साझेदारी बनेगी। अपने पेशेवर जीवन पर अधिक पकड़ के साथ खुद को मजबूत बनाएं। इस दौरान आपका व्यवहार और वाणी सहकर्मियों के प्रति नरम और मधुर रहेगी। आपका ज्ञान आपके आसपास के लोगों को चकित कर देगा। यह गोचर आपको अधिक फैशनेबल और विलासिता-उन्मुख बना सकता है। सिनेमा, शायरी और पुरानी यादों का लुत्फ उठाएंगे। कुछ जातकों को अपने व्यक्तिगत संबंधों में अशांति का सामना करना पड़ सकता है क्योंकि उनकी मांगें और इच्छाएं उनके साथी द्वारा पूरी नहीं की जाएंगी। आप अपने सभी शत्रुओं जैसे कि ऋण, बुरी आदतों आदि को परास्त करेंगे। आपकी क्षमताओं के कारण, आपके संसाधन और ज्ञान में वृद्धि होगी। सत्ता और प्रशासनिक कार्यों से जुड़े जातक नई स्थिति व जिम्मेदारी आपका इंतजार कर रही है। सेहत की बात करें तो आपको कुछ दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए सावधान रहें।

उपाय- अपने चरित्र को मजबूत बनाएं और अपने परिवार के प्रति वफादार रहें।

शुक्र गोचर का वृश्चिक राशि पर प्रभाव: आत्मविकास का दौर है

यह वह समय है जब आपको कुछ चुनौतियों, परेशानियों और विरोध का सामना करना पड़ सकता है। शुक्र का मेष राशि में गोचर करने से वृश्चिक राशि वालों के जीवन में कुछ उतार-चढ़ाव आएंगे। पार्टनरशिप के मामले में सोच-समझकर निर्णय लें। छठें भाव में शुक्र का गोचरत होना आपके व्यापार व निवेश के लिए सही संकेत नहीं दे रहा है। कोई नया काम या निवेश खुद से शुरू न करें। अपने कार्यस्थल पर किसी से बहस न करें और न ही जोर से बात करें। सुनिश्चित करें कि आप अपने दुश्मनों को कमजोर न समझें। मजबूत बनो, और यह आपके लिए फायदेमंद होगा यदि आप केवल अपने काम पर ध्यान केंद्रित करते हैं। आपको पुरानी बीमारियां परेशान कर सकती हैं। जिसके लिए आपको नियमित दवाएं लेनी होंगी। आपके प्रेम संबंधों में रुकावटें आ सकती हैं, इसलिए वादा करने से बचें। अनुकूल विदेश यात्राएं होने के योग हैं। आपको विदेश के लोगों के साथ काम करने का मौका मिलेगा। जो लोग प्रतियोगी परीक्षाओं या प्रतियोगिताओं की तैयारी कर रहे हैं उन्हें लाभ होगा। सरकारी कर्मचारियों को उनके अपने विभागों में पदोन्नति मिलेगी। यदि आप लेखन, पेंटिंग, प्रतीकात्मक भाषा या कंप्यूटर भाषा जैसे किसी रचनात्मक क्षेत्र से जुड़े हैं, तो आपके क्षेत्र में आपकी सराहना होगी। 

उपाय- अपने अवांछित खर्चों पर नियंत्रण रखें। इसके अलावा, अपनी शारीरिक शक्ति के निर्माण पर ध्यान दें, इसलिए नियमित रूप से योग और व्यायाम करना शुरू करें।

शुक्र गोचर का धनु राशि पर प्रभाव: धैर्य बनाए रखें

पंचम भाव में शुक्र गोचर का होना, धनु जातकों को सभी प्रतियोगिताओं में जीत हासिल करने में मदद करेगा। व्यापारी जातक अतिरिक्त आय प्राप्त करेंगे, और इस दौरान बड़े पैमाने पर सौदे और समझौते हासिल करेंगे। यदि कोई जातक अपने जीवनसाथी से अलग होना चाहता है तो वह इस समय का सदुपयोग कर सकता है। विदेश यात्रा के योग बन रहे हैं। संतान के कारण आपको प्रसन्नता का अनुभव होगा। धनु जातक आपके परिवार में किसी नए सदस्य के आने की भी संभावना है। इसके अतिरिक्त, एक नया पालतू जानवर भी आपके परिवार का हिस्सा बन सकता है। जो लोग प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं उनके लिए समय अच्छा है। आपको सरकारी नौकरी मिलने की संभावना है। कुल मिलाकर नौकरीपेशा जातकों के लिए समय उत्तम रहेगा। हालांकि, आपके भाई-बहनों के साथ संबंध थोड़े बिगड़ने की संभावना है। संपत्ति विवाद हो सकता है, और कानूनी हस्तक्षेप की आवश्यकता पड़ सकती है। यदि कुंडली में गुरु बृहस्पति की स्थिति अच्छी हो तो धार्मिक प्रवचनों में जिज्ञासा, पवित्र स्थानों की यात्रा, पूर्वजों का आशीर्वाद और धर्म में आस्था बढ़ेगी। इस दौरान आप हर समस्या का समाधान आसानी से कर पाएंगे। प्रतिस्पर्धा की भावना भी आपके भीतर जीतने की भावना को जलाएगी। पूर्व में किए गए कार्य इस दौरान आपको धन के मामले में लाभ दिलाएंगे। अपने आप को प्रतियोगिता से अलग न करें और हमेशा अपने ज्ञान का उपयोग करें।

उपाय- ऋण गारंटी से बचें और अपने परिवार के साथ कानूनी मामलों में पड़ने से बचें।

शुक्र गोचर का मकर राशि पर प्रभाव: समय वृद्धि का है

शुक्र का गोचर मकर जातकों के चतुर्थ भाव में हो रहा है। इससे आप जिस अच्छे समय का इंतजार कर रहे थे वह आ गया है। काम या व्यवसाय से जुड़े निवेश आपको अच्छे परिणाम देंगे और आपको प्रगति में मदद करेंगे। करियर के लिए यह समय फलदायी साबित होगा। इस दौरान कोई नया काम शुरू करना अच्छा रहेगा। आपको अपने करियर में काफी तरक्की देखने को मिलेगी। इस दौरान आप पत्नी और परिवार के साथ कहीं घूमने जा सकते हैं। इस गोचर के दौरान कुछ जातकों की शादी होगी और नए रिश्ते भी बनेंगे। कुछ को पहली संतान की प्राप्ति होगी। संतान के कारण विदेश में मान-सम्मान मिलेगा। शेयर बाजार, मीडिया या सोने-चांदी से जुड़े किसी काम से जुड़े लोगों को मुनाफा होगा। इस दौरान मकर जातक आपको पूर्व में किए गए कार्यों और पिछले जन्म के कर्मों का फल मिलेगा। सांकेतिक भाषा में आपकी रुचि रहेगी। आप उदारता से सोचेंगे और अन्य लोगों के कौशल और प्रतिभा को बढ़ाने में भी मदद करेंगे। हालांकि, आपको अपने शरीर के कुछ हिस्सों में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

उपाय- खान-पान पर ध्यान दें। अति आत्मविश्वासी न बनें।

शुक्र गोचर का कुंभ राशि पर प्रभाव: रिश्तों को मजबूत करने का समय

यह समय कुंभ जातकों के लिए अपने भाग्य पर गर्व करने का होगा। शुक्र का गोचर आपके तीसरे भाव में हो रहा है। जिससे  शिक्षा, विपणन, धर्म और पूजा से जुड़े लोगों को अपने कार्यक्षेत्र में उन्नति देखने को मिलेगी। नौकरीपेशा लोगों के लिए यह समय प्रगति का होगा यदि वे अपने वरिष्ठों के साथ सौहार्दपूर्ण संबंध बनाए रखते हैं। इस गोचर के दौरान आप पहाड़ियों में एक साहसिक यात्रा कर सकते हैं। आपकी भाषा पर आपकी पकड़ मजबूत होगी और आपको अपनी बातों का सम्मान मिलेगा। विदेश से व्यापार और विदेशी कंपनियों के साथ संबंधों में काफी सुधार होगा। जो लोग लंबे समय से रिलेशनशिप में हैं लेकिन उनकी शादी नहीं हुई है, उनके जीवन से सारी परेशानियां दूर हो जाएंगी। अब उच्च शिक्षा का विकल्प चुनने का सही समय है। आपका बौद्धिक ज्ञान आपको अपने सामाजिक दायरे में और अधिक सम्मानित करेगा। यदि कुंडली में शनि अच्छी स्थिति में है, तो आपके पिता और परिवार के वरिष्ठ सदस्य विरासत में मिली संपत्ति में आपका साथ देंगे।

उपाय- अपने जीवन को सरल रखें, और अपने पिता और परिवार के सदस्यों के साथ अपने संबंधों को मजबूत बनाने पर ध्यान दें। 

शुक्र गोचर का मीन राशि पर प्रभाव: संबंधों का सम्मान करें

यह गोचर आप मीन जातकों के दूसरे भाव में हो रहा है। निवेश के लिए यह एक अच्छा समय है। आमतौर पर बृहस्पति और शुक्र अच्छे दोस्त नहीं होते हैं। इससे करीबी दोस्त आपकी विचार प्रक्रिया से असहमत होंगे। इस गोचर का सीधा संबंध भाई-बहन के घर से है। इसलिए भाई-बहन की तरफ से आपको थोड़ी कठिनाई महसूस होगी। इस गोचर के दौरान आपको उनके साथ वाद-विवाद से भी बचना चाहिए। आपके परिवार के सदस्य आपका समर्थन नहीं कर रहे हैं, इसलिए आप निराश महसूस कर सकते हैं। इस गोचर का एक सकारात्मक पहलू यह है कि आपका जीवनसाथी आपको मजबूत सहयोग प्रदान करेगा। जब हाथ से काम करने, क्राफ्टिंग और डिजाइनिंग की बात आती है तो आपके पास उत्कृष्ट क्षमताएं होंगी। मीन जातक इस अवधि में अपने परिवार या समाज के लिए कुछ अच्छे सामाजिक समारोह और कार्यक्रम भी आयोजित कर सकते हैं। प्रेम विवाह और प्रेम संबंधों के लिए भी यह एक उत्कृष्ट समय है। आपका साथी अच्छी तरह से सेटल हो जाएगा, और आपके ससुराल वाले पैसे और संपत्ति से जुड़े मामलों में मदद करेंगे। आपको संपत्ति विरासत में मिलेगी और माता-पिता की ओर से अचानक लाभ मिलेगा।

उपाय- ससुराल पक्ष और बुजुर्ग रिश्तेदारों का सम्मान करें।

नोट- शुक्र का मेष राशि में गोचर हमारे जीवन में कई सकारात्मक और नकारात्मक बदलाव लाएगा। हालांकि, एक बात आपको याद रखनी चाहिए कि मेष राशि में शुक्र का प्रभाव हर व्यक्ति पर अलग-अलग होगा।

यह गोचर आपके जीवन और भाग्य को कैसे प्रभावित करेगा, यह जानने के लिए एस्ट्रोयोगी ज्योतिष राजदीप पंडित से संपर्क करें। अभी बात करने के लिए लिंक पर क्लिक करें।

लेखक- राजदीप पंडित

chat Support Chat now for Support
chat Support Support