भरणी नक्षत्र


अर्थ: धारक
देव: यम

आप भरणी नक्षत्र के जातक है तो सामान्यतः आप की कद-काठी मध्यम तथा आपके पास भरपूर दांत होते हैं। आपकी तीव्र तथा कुशल बुद्धि आपको औरो से अलग करती है। मानसिक लचक के कारण आप बहुत ही समझदार व्यक्ति हैं। आपकी फुर्तीली तथा आशावादी प्रवृति के चलते आप अपरिचितों से दूर रहते हैं। आप बहुत साहसिक हैं तथा किसी झगड़े से कभी भी नहीं घबराते हैं, खासकर जब आप को लगे कि यह उचित कारण के लिए है। आप में से अधिकांश की आयु लंबी होती है। आप का नक्षत्र एक धारक का है, जो कि खुद पर किसी प्रकार का बोझ लादे रहता है। कई बार आप कठोर तथा स्वार्थी भी हो जाते हैं, क्योंकि आप जिम्मेदारी के बोझ तले दबे होते हैं। कोई नियंत्रित करे यह आपको पसंद नहीं है। आप चालाकी से घृणा करते हैं। कई बार आप स्वयं ही बच्चों जैसा व्यवहार करने लग जाते हैं। आप में से कुछ तो बहुत ही रचनात्मक होते हैं, विशेषकर दृष्य कलाओं में, इसलिए आप अपना हाथ चित्रकला व फोटोग्राफी में भी आजमा सकते हैं। जो करियर आप के अनुकूल हैं, उनमें सेना, रसायन उधोग, औषधी, कृषि आदि मुख्य हैं।

आपको रोमांस के क्षेत्र में परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है तथा आप अपने साथी के द्वारा गलत भी समझे जा सकते हैं। आप जीवन में अच्छी वस्तुओं के शौकीन व कदरदान हैं। अधिकतर त्वचा रोग व मोटापे के कारण दुखी रह सकते हैं।

27 नक्षत्रों के नाम इस प्रकार हैं:

आज का पंचांग

आज का पंचांग यानि दैनिक पंचांग अंग्रेंजी में Daily Panchang भी कह सकते हैं। दिन की शुरुआत अच्छी हो, जो ...

और पढ़ें

आज की तिथि

तिथि पंचांग का सबसे मुख्य अंग है यह हिंदू चंद्रमास का एक दिन होता है। तिथि के आधार पर ही सभी...

और पढ़ें

आज का दिन

सप्ताह के प्रत्येक दिवस को वार के रूप में जाना जाता है। वार पंचांग के गठन में अगली कड़ी है। एक सूर्योदय से ...

और पढ़ें

आज का शुभ मुहूर्त

पंच मुहूर्त में शुभ मुहूर्त, या शुभ समय, वह समय अवधि जिसमें ग्रह और नक्षत्र मूल निवासी के लिए अच्छे या...

और पढ़ें

आज का नक्षत्र

पंचांग में नक्षत्र का विशेष स्थान है। वैदिक ज्योतिष में किसी भी शुभ कार्य को करने से पूर्व नक्षत्रों को देखा जाता है।...

और पढ़ें

आज का चौघड़िया

चौघड़िया वैदिक पंचांग का एक रूप है। यदि कभी किसी कार्य के लिए शुभ मुहूर्त नहीं निकल पा रहा हो या कार्य को ...

और पढ़ें

आज का राहु काल

राहुकाल भारतीय वैदिक पंचांग में एक विशिष्ट अवधि है जो दैनिक आधार पर होती है। यह समय किसी भी विशेष...

और पढ़ें

आज का शुभ होरा

वैदिक ज्योतिष दिन के प्रत्येक घंटे को होरा के रूप में परिभाषित करता है। पाश्चात्य घड़ी की तरह ही, हिंदू वैदिक ...

और पढ़ें

आज का शुभ योग

पंचांग की रचना में योग का महात्वपूर्ण स्थान है। पंचांग योग ज्योतिषाचार्यों को सही तिथि व समय की गणना करने में...

और पढ़ें

आज के करण

वैदिक ज्योतिष के अनुसार व्रत, पर्व को निर्धारित करने में पंचांग और मुहूर्त का महत्वपूर्ण स्थान है। इनके बिना, हिंदू ...

और पढ़ें

पर्व और त्यौहार

त्यौहार हमारे जीवन का अहम हिस्सा हैं, त्यौहारों में हमारी संस्कृति की महकती है। त्यौहार जीवन का उल्लास हैं त्यौहार...

और पढ़ें

राशि

वैदिक ज्योतिष में राशि का विशेष स्थान है ही साथ ही हमारे जीवन में भी राशि महत्वपूर्ण स्थान रखती है। ज्योतिष...

और पढ़ें