स्वाति नक्षत्र


अर्थ: झुंड में अग्रणी बकरी
देव: पवन देव

आपका जन्म नक्षत्र स्वाति है तो आप एक दयालु एवं सावधान व्यक्ति हैं, जो दूसरों की परेशानियों में उनका साथ देता है। आप एक चतुर व समझदार व्यक्ति हैं, जिसके पास लोग मार्गदर्शन के लिए आते हैं। आप स्वभाव से शांत तथा अच्छे-हृदय वाले व्यक्ति हैं, जिसे भ्रष्ट अथवा दूषित करना टेढ़ी खीर है। आप एकात्मक बुद्धि से काम करते हैं तथा आप इतने महत्वाकांक्षी हैं कि अपना लक्ष्य पाने से पहले आप कहीं नहीं रुकते। आप न्याय तथा आपसी सद्भाव के प्रति गहरी संवेदना रखते है। आपकी सोच अति-विस्तृत है तथा आप विभिन्न पृष्ठभूमि के लोगों को आकर्षित कर लेते हैं।

इस नक्षत्र में जन्मे लोग अक्सर धार्मिक तथा सामाजिक कार्यों में अग्रणी रहते हैं। सामाजिक क्षेत्र में काम करने के लिए आप बिल्कुल योग्य हैं। आप आध्यात्मिक अथवा राजनैतिक संस्थाओं में काम करने के लिए भी उपयुक्त हैं। स्वाति नक्षत्र का जातक औषधि, रसायन, धातु तथा पर्यटन के क्षेत्रों से सम्बन्धित व्यवसायों में भी अच्छा प्रदर्शन कर सकता है। आप सामाजिक कार्यों में इतना अधिक ध्यान देते हैं कि इससे आपके अपने परिवार में तनाव आ सकता है। इस नक्षत्र में जन्मे लोगों के जोड़ों में दर्द, दिल की परेशानी, पेट की समस्या आदि बीमारियों से ग्रस्त होने की प्रबल संभावना है।

27 नक्षत्रों के नाम इस प्रकार हैं:

आज का पंचांग

आज का पंचांग

आज का पंचांग यानि दैनिक पंचांग अंग्रेंजी में Daily Panchang भी कह सकते हैं। दिन की शुरुआत अच्छी हो, जो ...

और पढ़ें
आज की तिथि

आज की तिथि

तिथि पंचांग का सबसे मुख्य अंग है यह हिंदू चंद्रमास का एक दिन होता है। तिथि के आधार पर ही सभी...

और पढ़ें
आज का दिन

आज का दिन

सप्ताह के प्रत्येक दिवस को वार के रूप में जाना जाता है। वार पंचांग के गठन में अगली कड़ी है। एक सूर्योदय से ...

और पढ़ें
आज का शुभ मुहूर्त

आज का शुभ मुहूर्त

पंच मुहूर्त में शुभ मुहूर्त, या शुभ समय, वह समय अवधि जिसमें ग्रह और नक्षत्र मूल निवासी के लिए अच्छे या...

और पढ़ें
आज का नक्षत्र

आज का नक्षत्र

पंचांग में नक्षत्र का विशेष स्थान है। वैदिक ज्योतिष में किसी भी शुभ कार्य को करने से पूर्व नक्षत्रों को देखा जाता है।...

और पढ़ें
आज का चौघड़िया

आज का चौघड़िया

चौघड़िया वैदिक पंचांग का एक रूप है। यदि कभी किसी कार्य के लिए शुभ मुहूर्त नहीं निकल पा रहा हो या कार्य को ...

और पढ़ें
आज का राहु काल

आज का राहु काल

राहुकाल भारतीय वैदिक पंचांग में एक विशिष्ट अवधि है जो दैनिक आधार पर होती है। यह समय किसी भी विशेष...

और पढ़ें
आज का शुभ होरा

आज का शुभ होरा

वैदिक ज्योतिष दिन के प्रत्येक घंटे को होरा के रूप में परिभाषित करता है। पाश्चात्य घड़ी की तरह ही, हिंदू वैदिक ...

और पढ़ें
आज का शुभ योग

आज का शुभ योग

पंचांग की रचना में योग का महात्वपूर्ण स्थान है। पंचांग योग ज्योतिषाचार्यों को सही तिथि व समय की गणना करने में...

और पढ़ें
आज के करण

आज के करण

वैदिक ज्योतिष के अनुसार व्रत, पर्व को निर्धारित करने में पंचांग और मुहूर्त का महत्वपूर्ण स्थान है। इनके बिना, हिंदू ...

और पढ़ें
पर्व और त्यौहार

पर्व और त्यौहार

त्यौहार हमारे जीवन का अहम हिस्सा हैं, त्यौहारों में हमारी संस्कृति की महकती है। त्यौहार जीवन का उल्लास हैं त्यौहार...

और पढ़ें
राशि

राशि

वैदिक ज्योतिष में राशि का विशेष स्थान है ही साथ ही हमारे जीवन में भी राशि महत्वपूर्ण स्थान रखती है। ज्योतिष...

और पढ़ें


Chat Now for Support