कृतिका नक्षत्र


अर्थ: तेज
देव: अग्नि

यदि आपका जन्म कृतिका नक्षत्र में हुआ है तो आप बहुत ओजस्वी व तेजस्वी हैं। इस नक्षत्र में जन्मा जातक सुन्दर और मनमोहक छवि वाला होता है। ऐसे में आप सिर्फ सुंदर ही नहीं अपितु गुणी भी होते हैं। आपका व्यक्तित्व राजा के समान पराक्रमी है। कृतिका नक्षत्र का स्वामी सूर्य है अतः आप तेज तथा तीक्ष्ण बुद्धि वाले हैं। बचपन से ही आपकी पढ़ने-लिखने में अधिक रूचि रहती है। आगे चलकर कृतिका नक्षत्र के जातक उच्च शिक्षा प्राप्त कर कई विषयों के ज्ञाता कहलाते हैं। यह सूर्य का विशेष गुण है। दरअसल नक्षत्र के स्वामी का असर जातक पर रहता है। परंतु जातक के विचार अस्थिर रहते हैं। आप की सोच और कार्य उच्च स्तरीय होंगे। आपके व्यक्तित्व में राजकीय गुण स्वाभाविक हैं। कृतिका नक्षत्र में जन्म लेने वाला व्यक्ति विलासता में रूचि रखते हैं। आपका रुझान गायन, नृत्यकला, सिनेमा के क्षेत्र में अधिक रहता है। आपमें धन कमाने की भी अद्भुत योग्यता है और किसी भी लक्ष्य के लिए कड़ा परिश्रम करना आपकी आदत में शुमार है। आपका सार्वजनिक जीवन भी अच्छा होगा। आप के लिए उत्तम कार्यक्षेत्र की बात करें तो आपको शिक्षा के क्षेत्र से जुड़े कार्य व व्यापार करना लाभकारी होगा। इसके अलावा आप सेना, पुलिस, प्रशासनिक कार्य, न्यायालय से संबंधित कार्य करें। जिसमें आप सफल हो सकते हैं। आपके प्रेम प्रसंग की बात करें तो आप बड़ी ही आसानी से विपरीत लिंग को आकर्षित कर लेते हैं। जिसके चलते आपको प्रेम प्रस्ताव मिलते रहते हैं। आपका वैवाहिक जीवन सुखमय होता है। इस नक्षत्र में जन्मे जातकों को नाक संबंधी रोग होने की अधिक संभावना रहती है।

27 नक्षत्रों के नाम इस प्रकार हैं:

आज का पंचांग

आज का पंचांग

आज का पंचांग यानि दैनिक पंचांग अंग्रेंजी में Daily Panchang भी कह सकते हैं। दिन की शुरुआत अच्छी हो, जो ...

और पढ़ें
आज की तिथि

आज की तिथि

तिथि पंचांग का सबसे मुख्य अंग है यह हिंदू चंद्रमास का एक दिन होता है। तिथि के आधार पर ही सभी...

और पढ़ें
आज का दिन

आज का दिन

सप्ताह के प्रत्येक दिवस को वार के रूप में जाना जाता है। वार पंचांग के गठन में अगली कड़ी है। एक सूर्योदय से ...

और पढ़ें
आज का शुभ मुहूर्त

आज का शुभ मुहूर्त

पंच मुहूर्त में शुभ मुहूर्त, या शुभ समय, वह समय अवधि जिसमें ग्रह और नक्षत्र मूल निवासी के लिए अच्छे या...

और पढ़ें
आज का नक्षत्र

आज का नक्षत्र

पंचांग में नक्षत्र का विशेष स्थान है। वैदिक ज्योतिष में किसी भी शुभ कार्य को करने से पूर्व नक्षत्रों को देखा जाता है।...

और पढ़ें
आज का चौघड़िया

आज का चौघड़िया

चौघड़िया वैदिक पंचांग का एक रूप है। यदि कभी किसी कार्य के लिए शुभ मुहूर्त नहीं निकल पा रहा हो या कार्य को ...

और पढ़ें
आज का राहु काल

आज का राहु काल

राहुकाल भारतीय वैदिक पंचांग में एक विशिष्ट अवधि है जो दैनिक आधार पर होती है। यह समय किसी भी विशेष...

और पढ़ें
आज का शुभ होरा

आज का शुभ होरा

वैदिक ज्योतिष दिन के प्रत्येक घंटे को होरा के रूप में परिभाषित करता है। पाश्चात्य घड़ी की तरह ही, हिंदू वैदिक ...

और पढ़ें
आज का शुभ योग

आज का शुभ योग

पंचांग की रचना में योग का महात्वपूर्ण स्थान है। पंचांग योग ज्योतिषाचार्यों को सही तिथि व समय की गणना करने में...

और पढ़ें
आज के करण

आज के करण

वैदिक ज्योतिष के अनुसार व्रत, पर्व को निर्धारित करने में पंचांग और मुहूर्त का महत्वपूर्ण स्थान है। इनके बिना, हिंदू ...

और पढ़ें
पर्व और त्यौहार

पर्व और त्यौहार

त्यौहार हमारे जीवन का अहम हिस्सा हैं, त्यौहारों में हमारी संस्कृति की महकती है। त्यौहार जीवन का उल्लास हैं त्यौहार...

और पढ़ें
राशि

राशि

वैदिक ज्योतिष में राशि का विशेष स्थान है ही साथ ही हमारे जीवन में भी राशि महत्वपूर्ण स्थान रखती है। ज्योतिष...

और पढ़ें


Chat Now for Support