गुरु बृहस्पति का मीन राशि में गोचर: होगी आपकी बल्ले-बल्ले!

bell icon Sat, Apr 09, 2022
राजदीप पंडित राजदीप पंडित के द्वारा
Jupiter Transit 2022: बृहस्पति का मीन राशि में गोचर: होगी आपकी बल्ले-बल्ले!

Guru Gochar 2022: देवताओं के गुरु ‘बृहस्पति’ शनि की राशि कुंभ को छोड़कर अपनी राशि मीन में गोचर करने जा रहे हैं। गुरु को राशिचक्र की दो राशियों धनु और मीन राशि का स्वामित्व प्राप्त है। 20 नवंबर 2021 से 13 अप्रैल 2022 सुबह 4 बजकर 57 मिनट तक गुरु बृहस्पति कुंभ राशि में गोचर कर रहे थे। सामान्य तौर पर कुंभ राशि में भी गुरु अच्छे परिणाम नहीं देते हैं, परंतु अपने भाव या घर में पहुंचकर गुरु एक अलग प्रकार की संतुष्टि और संतोष का अनुभव करते हैं। जिससे ये जातकों को बेहतर परिणाम देने के लिए कार्य करेंगे। 

बृहस्पति गोचर आपके लग्न राशि को किस हद तक प्रभावित करेगा, जानने के लिए अभी एस्ट्रोयोगी एस्ट्रोलॉजर से बात करें। परामर्श के लिए लिंक पर क्लिक करें।

ज्योतिष में गुरु को सर्वोच्च ज्ञान के साथ न्याय, विकास, आध्यात्मिक, भावनात्मक व मानसिक पहलू का कारक माना जाता है। गुरु बृहस्पति का बुद्धिमान, उदारता, धर्म, विश्वास, दर्शन, विवाह, संतान, शिक्षा, सौभाग्य, पुरस्कार के अवसर और कानून के साथ विशिष्ट संबंध है। इस सब विशेषताओं के साथ गुरु मीन में गोचर करेंगे। मीन राशि जल तत्व की राशि है। ऐसे में गुरु बृहस्पति का 13 अप्रैल को सुबह 4 बजकर 58 मिनट पर मीन राशि में गोचर करना, आपके लिए कई परिवर्तनों का कारण बनने वाला है। 

बृहस्पति का मीन राशि में गोचर लग्न राशियों पर इसका प्रभाव

मीन राशि में बृहस्पति गोचर आपके लग्न के अनुसार क्या परिवर्तन लाएगा आइये जानते हैं - 

मेष राशि पर बृहस्पति गोचर का प्रभाव: समय सही रहेगा

मेष राशि सिर का प्रतिनिधत्व करती है। यह चर स्वभाव व अग्नि तत्व की राशि है। इस गोचर में प्रत्येक मेष लग्न जातकों को कैसी भी परिस्थिति हो उसमें गर्व से खड़े रहना है। बृहस्पति का मीन राशि में गोचर करने से मेष जातकों को योजनापूर्वक कार्यों को करना होगा। इसके साथ ही आपको अपने लक्ष्य की प्राप्ति के लिए अंत तक प्रयास करना है। गुरु गोचर आपको एकांत स्थान और लम्बी यात्रा के लिए प्रेरित कर सकता है। आप आध्यात्मिकता की ओर बढ़ सकते हैं। वित्तीय पहलू के लिए गोचर सही है। कर्ज समाप्त होगा। धन लाभ हो सकता है। गोचर के दौरान आप मांगलिक अथवा धार्मिक कार्यो पर धन खर्च कर सकते हैं। नौकरीपेशा जातकों के लिए समय सही है। करियर में तरक्की मिल सकती है। पिता के द्वारा भी बनाए गए साधनों से भी लाभ मिलेगा। आप वाहन का क्रय-विक्रय भी कर सकते है।

उपाय: खर्च पर नियंत्रण रखें और चरित्र का हनन न होने दें।

वृषभ राशि पर बृहस्पति गोचर का प्रभाव: भाग्य का साथ मिलेगा

यह समय वृषभ लग्न जातकों के लिए जीवन में कुछ बड़ा करने का रहेगा। बृहस्पति का मीन राशि में गोचर करने से कार्यक्षेत्र में बड़ा पद मिलने की संभावना बढ़ गई है। विद्यार्थी जातक उच्च शिक्षा में गुरु बड़ी भूमिका में होंगे। इस समय पर किया गया कोई भी कार्य आपको लंबे समय तक लाभ देगा। आपके आय में वृद्धि, मनोकामनाओं की पूर्ति, बड़े भाई बहनों से लाभ होगा। बृहस्पति का मीन राशि में गोचर करने से गुरु तुल्य, शासन और सरकार से चमत्कारिक सहयोग मिलेगा। इस समय पर आप नौकरी छोड़ कर पेशेवर परामर्शदाता और नेटवर्क से संबंधित कार्य कर सकते हैं। यह समय आपकी आशाओं और सपनों, रुके हुए कार्य को पूरा करने का रहेगा। जीवन के प्रति सकारात्मक और आत्मविश्वासी दृष्टिकोण रखें। भाग्य के कारण लाभ होगा।

उपाय: सभी को सम्मान दें और अहंकार को हावी न होने दें।

यह भी पढ़ें:👉 मेष राशि में राहु का गोचर, कैसा होगा 12 राशियों पर असर?

मिथुन राशि पर बृहस्पति गोचर का प्रभाव:  गोचर आपके लिए अनुकूल है

आप मिथुन लग्न के जातक प्रभावी व्यक्तित्व के धनी होते हैं। बृहस्पति ग्रह बुद्धि, विवेक और मानवीय प्रकृति का चित्रण करते हैं। जिन जातकों पर गुरु की कृपा होती है वे जातक बहुमुखी, कल्पनाशील और विचारशील होते हैं। हिसाब में मजबूत और भाषा पर अच्छी पकड़ रखते हैं। यह समय आपके लिए समाज में मान सम्मान प्रतिष्ठा और आदर का रहेगा। बृहस्पति के मीन राशि में गोचर करने से समय आप अच्छा धन कमाएंगे, ऐश्वर्यवान बनेंगे, सुखी होंगे। कार्य क्षेत्र में निरंतर सफलता के लिए  प्रयासरत रहेंगे, व्यापार में नए साधन और नए-नए प्रकार के काम करने का मौका मिलेगा आप अपने गुणों के कारण समाज में सम्मान पाएंगे। भाई या पिता के कारोबार से धन की प्राप्ति होगी। आप अहिंसा प्रिय, अति महत्वाकांक्षी तथा अपने रहन-सहन को उच्च स्तरीय बनाएंगे। 

उपाय: खूब परिश्रम करें और दूसरों की भलाई में कुछ समय दें।

कर्क राशि पर बृहस्पति गोचर का प्रभाव: समग्र विकास का समय  

आप कर्क जातक प्रभावशाली व्यक्तित्व के धनी हैं। आप संवेदनशील और अंतर्मुखी भी हैं। जल और गुप्त चीजों के प्रति सहानुभूति रखते हैं। ऊर्जावान और कल्पनाशील रहते हैं। यह समय सच बोलने का है। अपनी कही हुई बातों को सिद्ध करने का है। इस गोचर से आपको आगे बढ़ने का मौका मिलेगा। इस अवधि में जो जातक पारिवारिक व्यापार या कार्य में हैं उन्हें लाभ मिलेगा। इस समय में आप पराक्रमी और यशस्वी होंंगे। बृहस्पति गोचर के प्रभाव से आप कुछ प्रॉपर्टी या मकान भी ले सकते हैं, कानून संबंधित कार्य करने वाले लोग न्याय प्रक्रिया में शामिल होंगे। राजा जैसा जीवन जिएंगे। आपको पिता, बड़े भाई और मित्रों से लाभ मिलेगा। आपके सभी रुके हुए कार्य पूरे होंगे आप के कारण परिवार को मान सम्मान और प्रतिष्ठा मिलेगी। 

उपाय: आलस्य न करें और परिवार के सदस्यों को साथ लेकर कोई भी निर्णय लें।

सिंह राशि पर बृहस्पति गोचर का प्रभाव: समय परिश्रम करने का है

सिंह लग्न में जन्मे जातक प्रभावशाली, नेतृत्व गुण और आकर्षण शक्ति वाले होते हैं। महत्वाकांक्षी, निरंकुश, स्वतंत्र, मजबूत इरादों वाले और अपने अधीनस्थों के प्रति मजबूत और कठोर निर्णय लेने की इनके अंदर क्षमता होती है। सिंह जातक सैन्य, पुलिस सेवाओं या प्रशासनिक सेवाओं जैसे कार्यों में सफल होते हैं। गुरु का मीन राशि में गोचर करने से आपको इस अवधि में गुप्त कार्य व रिसर्च में सफलता मिलेगी। आप पत्नी से या पत्नी के सहयोग से धन प्राप्त करेंगे। गोचर से पैतृक संपत्ति से धन आने का योग बनेगा। इस समय पर आप की शारीरिक संरचना लोगों को आकर्षित करेगी परंतु समय थोड़ा सा स्वास्थ्य को लेकर चिंता देने वाला है। चिकित्सा और कृषि क्षेत्र से जुड़े लोगों को अति उत्तम लाभ मिलेगा। कोई भी कार्य करने से पहले सोच विचार जरूर कर लें और अपने स्वजनों के साथ अधिक लगाव रखें। 

उपाय: ना विचार किए कोई वचन, प्रतिज्ञा न लें।

कन्या राशि पर बृहस्पति गोचर का प्रभाव: समय सावधान रहने का है

कन्या लग्न में जन्मे जातक शर्मीले संवेदनशील, बुद्धिमान, शिल्पकार, सवधान, धैर्यवान, समझदार, अध्ययनशील, मृदुभाषी चतुर और तार्किक होते हैं। ये जातक अपने रहस्यों का खुलासा नहीं करते हैं। बृहस्पति का मीन राशि में गोचर करने से वैवाहिक जातकों को खुशहाल जीवन प्राप्त होगा। जिन जातकों का विवाह तय होने वाला है उन्हें उत्तम पत्नी प्राप्त होगी, जातक और उसकी पत्नी के बीच अच्छी समझ रहेगी। यह समय कारोबारी जातकों के लिए उत्तम है, लाभ होगा। नौकरी पेशा जातकों को इस गोचर अवधि में प्रसिद्धि और कई अवसर मिलने वाले हैं। राजनीति में कार्यरत जातकों को उच्च पद प्राप्त हो सकता है। आप कानूनी व व्यापार समझौते, नए अनुबंध भी इस समय में कर सकते हैं। विदेश से संबंध यात्राएं हो सकती हैं, मधुर वाणी के कारण और अपने व्याख्यान तथा नेतृत्व क्षमता के कारण आपको उचित सम्मान मिलेगा।

उपाय: साझेदारी करके समय समझदारी रखें, पैसे का लेनदेन किसी के माध्यम से करें।

यह भी पढ़ें:👉 तुला राशि में केतु का गोचर, मेष से लेकर मीन राशि के लिए क्‍या होगा शुभ?

तुला राशि पर बृहस्पति गोचर का प्रभाव: मिला- जुला परिणाम मिलेगा

तुला लग्न के जातक उन्नत स्वभाव के साथ तार्किक, संतुलन और सद्भाव संवेदनशील, जिज्ञासु, मजबूत इच्छाशक्ति राजसी, सौम्य, आकर्षक, अच्छे मन वाले लेकिन उतावले होते हैं। आप धर्म में विश्वास करने वाले दूसरों की मदद करने वाले और सामाजिक कार्य करते हैं। गुरु का यह गोचर आपके कानून व न्याय संबंधी कार्यों में सहायक सिद्ध होगा। इस समय गुरु का गोचर किसी पुरानी बीमारी के कारण आपको परेशानी दे सकता है। यह समय आपको अत्याधिक धैर्यवान बनाएगा और प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता दिलाएगा। इस समय कर्ज का लेनदेन, नौकरी परिवर्तन, स्थान परिवर्तन भी हो सकता है। कुंडली में गुरु की स्थिति बहुत अच्छी है तो इस समय आपको मान सम्मान और चिकित्सा के क्षेत्र से जुड़े जातकों को पुरस्कार मिलने की संभावना बनती है. संतान के कारण सम्मान प्राप्त होगा।

उपाय: खानपान का ध्यान रखें, कर्ज लेने से बचें।

वृश्चिक राशि पर बृहस्पति गोचर का प्रभाव: समय उत्तम है

वृश्चिक लग्न वाले जातक भरोसेमंद, ईमानदार  सच्चे और आत्मविश्वासी साहसी और बेताब प्रवृत्ति के होते हैं। ये जातक कमाने में होशियार, आम तौर पर रसायन, सेना और प्रौद्योगिकी से जुड़े क्षेत्र में कामयाबी हासिल करते हैं। बृहस्पति गोचर से व्यापारी जातकों को सफलता मिलेगी। नया व्यवसाय शुरू करने पर विचार कर सकते है। गुरु आपको शेयर बाजार रचनात्मक कार्य, राजनीती, कानून, धर्म, दार्शनिक, धार्मिक या सांस्कृतिक मामलों में लाभ देने वाले हैं। आपको समाज के हर वर्ग से प्रेम और उनका नेतृत्व करने का अवसर प्राप्त होगा। आपकी दयालुता और विनम्रता आपको श्रेष्ठ व्यक्तियों में आपकी गणना कराएगी। प्रेम के नए संबंध बनेंगे, विवाह के अवसर भी आएंगे, आपके लिए धन कमाने का अच्छा समय आया है। करियर के लिहाज से गोचर सही है। इस समय अवधि में आपका लगाव बच्चों के प्रति अधिक होगा।

उपाय: जरूरतमंद विद्यार्थियों का सहयोग करें। नजदीकी लोगों रिश्तेदारों के साथ अच्छे संबंध रखें।

धनु राशि पर बृहस्पति गोचर का प्रभाव: समय आपका है लाभ उठाएं

धनु लग्न में जन्मे जातक शाही तरीके से जीवन जीने वाले, कम मेहनत करके अधिक धन कमाने, साहसी व महत्वाकांक्षी होते हैं। यह गोचर आप जातकों को सुख और  माता के भाग्य से उन्नत जीवन देगा। इस समय पर आप अति आत्मविश्वासी ,खुशमिजाज, कठिन से कठिन परिस्थिति में अपने आप को संभाले रखेंगे। गोचर अवधि में आप मजबूत निर्णय लेने की क्षमता का परिचय देंगे। मकान, दुकान, वाहन, समान और भोग विलास की वस्तुओं का आनंद प्राप्त करेंगे। प्रॉपर्टी जमीन जायदाद और भूमि संबंधित कार्यों से जुड़े जातक लाभ कमाएंगे। बृहस्पति का मीन में आने से आप पवित्र कार्यों को करने में दक्ष होंगे और अपने परिवार को उच्च सम्मान भी दिलवाएंगे। राजनीति से जुड़े लोगों के लिए अति उत्तम समय है पद प्राप्ति के योग बने हुए हैं।

उपाय: माता या अधिक आयु की महिलाओं की सेवा करें अपने आप को शारीरिक रूप से मजबूत रखें।

मकर राशि पर बृहस्पति गोचर का प्रभाव: समय सफलता का है

मकर जातक स्थिर और गंभीर स्वभाव, अत्यधिक महत्वाकांक्षी, इच्छा शक्ति प्रबल, अंतर्मुखी होते हैं और अपने लिए उच्च मानक स्थापित करते हैं। निजी और सामाजिक जीवन को अलग-अलग जीना और लोगों के लिए एक उदाहरण प्रस्तुत करते हैं और लक्ष्य और संसाधनों के बारे में संवेदनशील रहते हैं। गुरु का मीन राशि में गोचर आपको समझदार और चतुर बनाएगा। मित्रों, भाई बहनों  से लाभ मिलेगा। इस गोचर में आप धार्मिक यात्राओं पर जा सकते हैं। धर्म के प्रति अधिक झुकाव रहेगा। आप अपने परिश्रम के कारण पहचाने जाएंगे इस समय किया गया कोई भी कार्य आपको लंबे समय तक लाभ देगा। यह समय आपको दूसरे लोगों की मदद करने और अपनी इच्छा पूर्ति को पूरा करने में लगाना चाहिए l गोचर के प्रभाव से एक से अधिक आय के साधन बनेंगे। मीडिया, प्रकाशन, लेखन, गणित, विज्ञान आदि क्षेत्र से जुड़े जातक बहुत सफल होंगे।

उपाय: मित्रों, भाई बहनों और रिश्तेदारों से सम्बन्ध सही रखें और किसी भी कार्य को बीच मे न छोड़ें, चापलूसों से दूर रहें।

कुंभ राशि पर बृहस्पति गोचर का प्रभाव: समय सामान्य रहने वाला है

कुंभ लग्न में जन्मे जातक का स्वभाव कल्पनाशील, गंभीर और आध्यात्मिक, व्यवहारवादी, दयालु और मददगार प्रवृत्ति के होते हैं। यह गोचर आपको सरकारी कार्यों में सफलता दिलाने का काम करेगा। आपको धन लाभ होगा, जो जातक बहुमूल्य धातु व रत्न से जुड़े कार्य में शामिल हैं उन्हें अप्रत्याशित लाभ मिलेगा। यदि आप किसी कानूनी प्रक्रिया में फंसे हैं तो यह समय आपको सहयोग करेगा। इस समय आप अपने गुण जैसे बोलने की क्षमता, भाषण, मीडिया, फिल्म डायरेक्शन, कविता और कपड़े से संबंधित कार्यों में सफल होंगे। इस अवधि में आप प्रसिद्धि को प्राप्त करेंगे और एक संतोषजनक जीवन जिएंगे। आप ज्ञान और बुद्धि के बल के कारण अच्छा पद, मान और धन अर्जित करने में सफल होंगे। 

उपाय: वाणी पर नियंत्रण रखें और पैतृक संपत्ति पर विवाद न करें।

मीन राशि पर बृहस्पति गोचर का प्रभाव: आध्यात्मिक उन्नति का समय है 

मीन लग्न के जातक बहुमुखी, उत्साही, अच्छे लेखक, प्रभावशाली व्यक्तित्व वाले, धनी, सादा जीवन और सीमित एकाग्रता और इच्छा शक्ति के स्वामी होते हैं। पारिवारिक मामलों और संवेदनशील मुद्दों पर सावधानीपूर्वक विचार करने के बाद फैसला करते हैं। यह समय आपको एक से अधिक क्षेत्र में लाभ देगा। बृहस्पति का मीन राशि में आना आपके किए गए किसी भी कार्य को बेहतरीन लाभ प्रदान करेगा। जिससे आपको सम्मान प्राप्त होगा। संतान सुख की प्राप्ति होगी और संतान के कारण आप सुखी होंगे। इस समय पर दी गयी कोई भी परीक्षा और प्रतियोगिता में आप प्रतिभागी जातक सफल होंगे। नए व्यापार शुरू कर सकते हैं नौकरी में किसी बड़े पद पर आपका चयन हो सकता है। शत्रु परास्त होंगे आने वाले समय के लिए धन संचय और नए लोगों से मिलना उत्तम होगा। 

उपाय: किसी को झूठा आश्वासन न दें और आध्यात्मिक उन्नति में अपना समय लगाएं।

नोट- यह सामान्य ज्योतिषीय आकलन है। आपकी कुंडली गणना के आधार पर गोचर फल अलग हो सकता है। 

बृहस्पति गोचर का व्यक्तिगत फल जानने के लिए आप ज्योतिषाचार्य राजदीप पंडित से परामर्श कर सकते हैं। अभी परामर्श करने के लिए लिंक पर क्लिक करें

✍️लेखक - राजदीप पंडित 

chat Support Chat now for Support
chat Support Support