कन्या लग्न

कन्या लग्न (Kanya Lagna) के ही नहीं अपितु अन्य लग्न के लोग भी अपने लग्न के बारे में अधिक जानकारी नहीं रखते हैं। ऐसे में आपको अपने लगन के बारे कम व भ्रामक जानकारी होती है। इस लिए हम इस लेख में आपके सवालों के जवाब को देने की कोशिश करेंगे। कन्या लग्न, इस लग्न को वैदिक ज्योतिष के छठे लग्न के रूप में जाना जाता है। इस लग्न में जन्मे जातक स्वाभीमानी होते हैं। इसके अलावा भी इनमें कई विशेषताएं हैं, जिनके बारे में हम लेख में जानकारी देने जा रहे हैं। लेख में कन्या व्यक्तित्व, सेहत व शारीरिक गठन के साथ ही आपके लिए शुभ रत्न, रंग व ग्रहों के बारे में भी विस्तार से जानकारी देंगे।

अपनी जन्म लग्न राशि जानिए

वैदिक ज्योतिष में कन्या लग्न

आपका लग्न भी आपके बढ़ते संकेतों के रूप में जाना जाता है, जिस तरह व जिस नजरिए से अन्य लोग आपको देखते हैं; आपके आसपास की दुनिया पर आपकी छाप कैसी पड़ती है? इसका संकेत आपकी लग्न राशि देती है। कन्या लग्न जातक आप जान लें कि आपके जन्म के समय पूर्वी क्षितिज पर जो राशि चिन्ह था, जब आप पैदा हुए थे। वही आपकी लग्न राशि बनी। आपका लग्न राशि आपके लक्षणों को नियंत्रित करता है, जो किसी व्यक्ति से मिलते समय व किसी कार्य को करते समय सबसे अधिक ध्यान देने योग्य होते हैं।

अपने कुंडली की विस्तृत जानकारी प्राप्त करने के लिए अभी बात करें, देश के सर्वश्रेष्ठ ज्योतिषाचार्यों से। यहां क्लिक करें।

कन्या लग्न के जातक व्यावहारिक व शांत होते हैं, और अक्सर उन्हें राशि चक्र का पूर्णतावादी कहा जाता है। वे सबसे सूक्ष्म विवरणों को नोटिस करते हैं जिन्हें अन्य लोग देख व समझ नहीं पाते हैं।

यहाँ वैदिक ज्योतिष में निहीत कन्या लग्न की समग्र विशेषताओं के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए लेख को पढ़ते रहें -

कन्या लग्न व्यक्तित्व विशेषता

कन्या लग्न के जातक काफी विस्तार उन्मुख होते हैं। उनका अपने परिवार और दोस्तों के प्रति देखभाल करने वाला व्यक्तित्व है। इन लग्न के लोग भी निरीक्षण व परीक्षण संपंन्न बुद्धि के धनी होते हैं। ये ठीक से जानते हैं कि जब उनके वातावरण में कुछ संतुलन से बाहर है, तो उसे वे नहीं झेड़ते हैं। कुछ ऐसा जो उन स्रोतों से अधिक है तो कन्या लग्न जातकों का ध्यान नहीं हटा सकता है। वे हमेशा चीजों या लोगों को अपनाने से पूर्व चीजों का विश्लेषण करने के लिए समय लेते हैं।

 

ये लचीले और व्यावहारिक दृष्टिकोण के साथ समस्याओं से निपटते हैं। आप कन्या लग्न जातक है तो आप लोग थोड़े गंभीर और आरक्षित होते हैं। सिंह लग्न के लगभग विपरीत। आप द्र के मंच से दूर पर्दे के पीछे काम करना पसंद करते हैं। उनका व्यक्तित्व बुद्धिमत्ता की आभा को प्रदर्शित करता है क्योंकि आप काफी अनुशासित, संगठित और स्मार्ट हैं। कन्या लग्न एक बहुत ही जिम्मेदार लग्न राशि हैं, जो दूसरों को बहुत पुरस्कृत करने में मदद करते हैं।

 इस लग्न से मूल निवासी लोगों और स्थितियों की महत्वपूर्ण टिप्पणियों के लिए भी जाने जाते हैं। कन्या के जातकों को अपने जीवन में चीजों और लोगों को नियंत्रित करने की आवश्यकता होती है।

 

कन्या लग्न शारीरिक विशेषता

कन्या लग्न के जातकों की शारीरिक बनावट, विशेषकर चेहरे के बारे में हमेशा कुछ ख़ास और अलग होता है। उनके पास आम तौर पर नाजुक और युवा विशेषताएं हैं। कन्या लग्न के जातक अक्सर अपनी उम्र से कम दिखते हैं। इनके पास गाल, सुंदर माथा और एक सीधी नाक होती है। ये चलते समय सावधानी से मापे गए कदम को उठाते हैं। इनकी चाल सधी हुई होती है।

कन्या लग्न मानसिक विशेषता

बुध, कन्या राशि पर शासन करता है, और यह बुद्धिमान और विश्लेषणात्मक गुणों से कन्या लग्न जातकों को सर्वश्रेष्ठ बनाता है। इस लग्न के मूल जातक आसानी से नहीं खुलते हैं, खासकर जहां भावनाओं का संबंध है। क्योंकि, वे अपनी भेद्यता प्रकट नहीं करना चाहते हैं, एक कमजोरी जिसका फायदा उठाया जा सकता है।

कन्या लग्न प्रेम और संबंध विशेषता

जब कन्या लग्न के लोग प्यार में पड़ते हैं, तो वे पूरे जोश के साथ ऐसा करते हैं। एक पृथ्वी तत्व राशि होने के नाते, आपका प्यार स्थिर और स्थायी होता है। आप प्यार व संबंधों को बखूबी निभाना जानते हैं। इनका महत्व भी आप जानते हैं। वृष और मकर के जातक कन्या लग्न के लोगों के लिए सबसे अनुकूल साथी हैं। जल तत्व की राशि कर्क और मीन कन्या राशि के लिए अच्छा मेल साबित हो सकते हैं।

कन्या लग्न स्वास्थ्य विशेषता

आंत्र, श्वसन प्रणाली और साइनस की समस्याएं इस लग्न के जातको के लिए आम विकारो में से कुछ हैं। कन्या लग्न स्वास्थ्य समस्याएं हैं। ये जातक अक्सर सर्दी, फ्लू, एलर्जी, कब्ज और आंतों के साथ समस्याओं की शिकायत करते रहते हैं। इन जातकों को भोजन के प्रति सावधान रहने की आवश्यकता होती है।

कन्या लग्न राशि के लिए शुभ ग्रह

कन्या राशि के लिए शुक्र सबसे फायदेमंद ग्रह है। जबकि तटस्थ ग्रह सूर्य और बुध हैं।

कन्या लग्न राशि के लिए अशुभ ग्रह

कन्या राशि के लिए, मंगल ग्रह सबसे अधिक नकारात्मक ग्रह है, जो तीसरे और 8 वें घर का मालिक है। रेखा में अन्य पुरुष ग्रह बृहस्पति, चंद्रमा, राहु और केतु हैं।

कन्या लग्न राशि के लिए अनुकूल रंग

हल्का हरा, गहरा हरा, रॉयल ब्लू कन्या राशि के लिए भाग्यशाली रंग हैं।

कन्या लग्न राशि के लिए भाग्यशाली रत्न

हरा पन्ना और हीरा आपके लिए शुभ रत्न हैं।


आपकी कुंडली में कौन सा दोष है इसे जानने के लिये आप एस्ट्रोयोगी पर देश के प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्यों से परामर्श कर सकते हैं। अभी बात करने के लिये यहां क्लिक करें।


Chat now for Support
Support