कन्या संक्रांति 2019 - कन्या राशि में सूर्य जानें राशिनुसार कितना शुभ या अशुभ?

17 सितंबर 2019 को दोपहर 12:43 बजे सूर्य, सिंह राशि से कन्या राशि में गोचर करेंगे। सूर्य का प्रत्येक माह राशि में परिवर्तन करना संक्रांति कहलाता है और इस संक्रांति को स्नान, दान और पितरों के तर्पण आदि के लिए शुभ माना जाता है। सिंह राशि से कन्या राशि में सूर्य का प्रवेश करना कन्या संक्रांति कहलाता है। ज्योतिर्विदों के अनुसार ग्रहों के इस योग से आपका समयकाल अच्छा रहने के आसार है। सूर्य के कन्या राशि में गोचर से आपको करियर में ग्रोथ मिल सकती है। सूर्य के शुभ प्रभाव की वजह से आपको व्यापार में लाभ मिल सकता है। वहीं अशुभ प्रभाव के तौर पर आपको शारीरिक समस्याएं बनी रह सकती हैं। यदि आप अपने व्यक्तिगत जीवन को सामान्य बनाए रखना चाहते हैं तो अपनी वाणी पर नियंत्रण रखें। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार सूर्य को क्रूर ग्रह माना गया है।  ऐसे में आइये जानते हैं सू्र्य का यह राशि परिवर्तन सभी 12 राशियों को कैसे प्रभावित करेगा।

 

यह राशिफल सामान्य ज्योतिषीय आकलन के आधार पर लिखा गया है। अपनी कुंडली के अनुसार सूर्य व अन्य ग्रहों के प्रभाव जानने के लिये आप एस्ट्रोयोगी एस्ट्रोलोजर्स से ऑनलाइन परामर्श कर सकते हैं। अभी बात करने के लिये यहां क्लिक करें।   

 

मेष राशि

आपकी राशि से सूर्य का परिवर्तन षष्ठम भाव में हो रहा है। इस  वक्त आपको अपनी सेहत पर ध्यान देने की जरूरत है। आपके शत्रु आपके सामने टिक नहीं पाएंगे और इसलिए भी यह गोचर आपके लिए सकारात्मक साबित होगा। शिक्षा के क्षेत्र में सफलता पाने के लिए जातकों को ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता है। रोमांटिक लाइफ के सामान्य रहने के आसार हैं। व्यक्तिगत जीवन में भी मधुरता बने रहने की संभावना है। सूर्य के कन्या में गोचर करने से आपको अपने करियर में सफलता मिलने की पूरी संभावना है। 

वृषभ राशि

वृषभ जातकों के लिये सूर्य का परिवर्तन पंचम भाव में हो रहा है। सूर्य का गोचर इस भाव में होने के कारण आपको मान-सम्मान प्राप्त हो सकता है। इस भाव में सूर्य का जाना उन लोगों के लिए अच्छा साबित हो सकता है, जो हॉस्पिटैलिटी मैनेजमेंट, पाक सेवाओं और मार्केटिंग क्षेत्र से जुड़े हुए हैं। रोमांटिक लाइफ में साथी के साथ रिश्ते मधुर रहने के आसार हैं। हेल्थ के मामले में भी समय बढ़िया कहा जा सकता है। 

मिथुन राशि

आपकी राशि से सूर्य का परिवर्तन चतुर्थ भाव में हो रहा है। इस समय आपको अपने परिजनों के स्वास्थ्य पर ध्यान देने की आवश्यकता है। सूर्य के इस गोचर के परिणाम स्वरूप कार्यक्षेत्र में बदलाव के इच्छुक जातकों के लिये भी यह समय अनुकूल कहा जा सकता है।पर्सनल लाइफ में भी रिश्ते मधुर बने रहने की संभावना है। स्वास्थ्य बेहतर बना रहेगा।

कर्क राशि 

सूर्य का परिवर्तन आपकी राशि से तृतीय भाव में हो रहा है। पार्टनर के साथ किसी यात्रा पर जा सकते हैं। यदि आप अपने जीवन के बड़े और अहम फैसले लेने जा रहे हैं, तो यह समय शुभ हो सकता है। सूर्य का यह परिवर्तन आपकी रोमांटिक लाइफ को और बेहतर बना सकता है। पर्सनल लाइफ और हेल्थ के बीच संतुलन बनाकर चलना आपके लिए लाभकारी साबित हो सकता है। 

सिंह राशि 

सिंह राशि का स्वामी सूर्य है। इस दौरान सूर्य का परिवर्तन आपकी राशि से द्वितीय भाव में हो रहा है जो कि आर्थिक तौर पर सौभाग्यशाली साबित हो सकता है। धन प्राप्ति के योग भी आपके लिए बन रहे हैं। आपको व्यापार में लाभ मिलने के आसार है, जिससे आय में वृद्धि हो सकती है। इतना ही नहीं यदि आपने पहले कहीं पैसा लगाया है, तो ब्याज सहित मिलने की संभावना है। व्यक्तिगत जीवन में रिश्तेदारों के साथ रिश्ते मधुर रहने के आसार हैं। सूर्य के राशि परिवर्तन से किसी शुभ कार्यक्रम में जा सकते हैं। यह समय स्वास्थ्य के लिए अनुकूल है। 

कन्या राशि

सूर्य का परिवर्तन कन्या राशि में हो रहा है। यह समय आपके लिए काफी शानदार हो सकता है। आपका आत्मबल मजबूत रहने के आसार हैं। आर्थिक स्थिति बेहतर रहने की उम्मीद कर सकते हैं। कार्य एवं व्यवसाय के सिलसिले में आपको ध्यान देने की आवश्यकता है। इस गोचर का सबसे अनुकूल प्रभाव यह होगा कि पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ में संतुलन आपके लिये लाभकारी रह सकता है। कार्य क्षेत्र या निजी जीवन को लेकर आपके मन में दुविधा बनी रह सकती है। आपको अपनी सेहत पर ध्यान देने की आवश्यकता है। यदि आप अपने पारिवारिक जीवन को सुखी बनाना चाहते हैं तो वाणी पर नियंत्रण बनाए रखें। 

तुला राशि

तुला जातकों के लिये सूर्य का परिवर्तन द्वादश भाव में हो रहा है, जो कि आपके रोग व शत्रु का घर है। आपके लिए सलाह है कि अपनी आर्थिक स्थिति को नियंत्रित रखने के लिए अपने खर्चों पर अंकुश लगाएं। आपको अपने स्वास्थ्य के प्रति भी सचेत रहने की आवश्यकता रहेगी। खासकर मानसिक रूप से थोड़ा तनावग्रस्त हो सकते हैं। अत्यधिक फिजूल खर्च और मानसिक तनाव की वजह से आपकी पर्सनल और रोमांटिक लाइफ में भी परेशानी पैदा हो सकती है। 

वृश्चिक राशि

सूर्य आपके एकदाश भाव में प्रवेश करेंगा, जो कि आपके लिए काफी सुखद परिणाम लेकर आ सकता है। आपका आत्मविश्वास मजबूत रहने की उम्मीद है। जब सूर्य, सिंह से कन्या राशि में गोचर करेगा तब से आपकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण होने की संभावना है।  कार्यस्थल या कारोबार में की गई आपकी मेहनत को देखकर लोग आपकी तारीफ कर सकते हैं। व्यक्तिगत जीवन सुचारू रूप से चलने के आसार हैं। स्वास्थ्य बेहतर बना रहेगा। रोमांटिक लाइफ में पार्टनर के साथ रिश्ते मधुर रहने की उम्मीद है। 

धनु राशि

सूर्य आपकी राशि से दशम भाव में गोचर करेगा। आपको अपनी सेहत के प्रति भी सचेत रहने की आवश्यकता है। कार्यस्थल पर काम का दबाव बने रहने की संभावना है लेकिन निजी जीवन में आपको कोई खुशखबरी मिल सकती है। आप आर्थिक तौर पर मजबूत हैं लेकिन शुभ कार्यक्रमों पर व्यय कर सकते हैं। आपकी सेहत अच्छी बनी रहेगी।

मकर राशि

अष्टम भाव से परिवर्तित होकर सूर्य आपकी राशि से भाग्य स्थान में प्रवेश कर रहे हैं। सूर्य का यह परिवर्तन आपके जीवन में काफी सुखद बदलाव लेकर आ सकता है। अपनी सेहत का विशेष रूप से ध्यान रखें। किसी भी कार्य को करने में आपको बाधाओं का सामना करना पड़ सकता है। पर्सनल लाइफ में रिश्ते मधुर रहने की संभावना है। आपकी रोमांटिक लाइफ में आपका रोमांटिक मूड चार-चांद लगा सकता है। प्रोफेशनल लाइफ अनुकूल रहने आसार हैं।

कुंभ राशि

कुंभ जातकों के लिये सूर्य का परिवर्तन अष्टम भाव में हो रहा है। वैदिक ज्योतिष के अनुसार अष्टम भाव को काफी रहस्यमय माना गया है। यदि आपको पिछले कुछ समय से स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हैं तो आप हेल्थ चेकअप करा सकते हैं। आपके परिवार में पत्नी और पिता का स्वास्थ्य आपके लिए चिंता का विषय बन सकता है। कामकाज के सिलसिले में आपको छोटी-मोटी बाधाओं का सामना करना पड़ सकता है। यदि अपनी दिनचर्या में ध्यान और योग आदि क्रियाओं को शामिल करें तो आपको तनाव से राहत मिल सकती है। यह समय आपके लिए अनुकूल नहीं है इसलिए पर्सनल और प्रोफेशनल मामलों में कोई भी बड़ा फैसला लेने से बचें। 

मीन राशि

सूर्य आपके सप्तम भाव में प्रवेश करेंगे। इस गोचर की अवधि में दांपत्य जीवन में तनाव बढ़ने की संभावना है और आपके अपने पार्टनर से मतभेद हो सकते हैं। आपके रिश्ते में तनाव की वजह आपका अहंकार होगा, इसलिए इस पर नियंत्रण बनाए रखें। इस समय आप शारीरिक रूप से मजबूत रहेंगे लेकिन मानसिक रूप से तनावग्रस्त रहने के आसार हैं। आपके व्यक्तिगत जीवन में उतार-चढ़ाव आते रहने की संभावना है।   

 

सूर्य के नकारात्मक प्रभाव से बचने के लिये आप एस्ट्रोयोगी पर इंडिया के बेस्ट एस्ट्रोलॉजर्स से ऑनलाइन गाइडेंस ले सकते हैं। अभी बात करने के लिये इस लिंक पर क्लिक करें और +91-99-990-91-091 पर कॉल करें।

संबंधित लेख

सूर्य गोचर 2019 । मंगल गोचर 2019 । बुध गोचर 2019 । सूर्य ग्रहण 2019

एस्ट्रो लेख

नरेंद्र मोदी - ...

प्रधानमंत्री बनने से पहले ही जो हवा नरेंद्र मोदी के पक्ष में चली, जिस लोकप्रियता के कारण वे स्पष्ट बहुमत लेकर सत्तासीन हुए। उसका खुमार लोगों पर अभी तक बरकरार है। हालांकि बीच-बीच मे...

और पढ़ें ➜

कन्या संक्रांति...

17 सितंबर 2019 को दोपहर 12:43 बजे सूर्य, सिंह राशि से कन्या राशि में गोचर करेंगे। सूर्य का प्रत्येक माह राशि में परिवर्तन करना संक्रांति कहलाता है और इस संक्रांति को स्नान, दान और ...

और पढ़ें ➜

विश्वकर्मा पूजा...

हिंदू धर्म में अधिकतर तीज-त्योहार हिंदू पंचांग के अनुसार ही मनाए जाते हैं लेकिन विश्वकर्मा पूजा एक ऐसा पर्व है जिसे भारतवर्ष में हर साल 17 सितंबर को ही मनाया जाता है। इस दिवस को भग...

और पढ़ें ➜

पितृदोष – पितृप...

कहते हैं माता-पिता के ऋण को पूरा करने का दायित्व संतान का होता है। लेकिन जब संतान माता-पिता या परिवार के बुजूर्गों की, अपने से बड़ों की उपेक्षा करने लगती है तो समझ लेना चाहिये कि अ...

और पढ़ें ➜