बुद्धि और ज्ञान के ग्रह बुध, 21अगस्त 2022 को कन्या राशि में करेंगे गोचर जानें इस राशि परिवर्तन का आपकी राशि पर प्रभाव

Sat, Aug 20, 2022
Team Astroyogi  एस्ट्रो नैंसी के द्वारा
Sat, Aug 20, 2022
Team Astroyogi  एस्ट्रो नैंसी के द्वारा
बुद्धि और ज्ञान के ग्रह बुध, 21अगस्त 2022 को कन्या राशि में करेंगे गोचर  जानें इस राशि परिवर्तन का आपकी राशि पर प्रभाव

वैदिक ज्योतिष के अनुसार, बुध ग्रह सबसे तेज गति से चलने वाला ग्रह है और यह एक युवा और ऊर्जावान ग्रह भी है। बुध ग्रह बुद्धि का प्रतिनिधित्व करता है। इस ग्रह की अपनी दोहरी प्रकृति है और यह दो राशियों को नियंत्रित करता है, जो मिथुन और कन्या राशि है। कुंडली में बुध कम्युनिकेशन स्किल और नॉलेज ऐक्वज़िशन की क्षमता को बढ़ाता है। बुध कम्युनिकेशन, फाइनेंस, इन्टेलिजन्स, फिजिकल लाइफ, टेक्नोलॉजी, ट्रेवल, मार्केटिंग, ऐड्वर्टायज़िंग, जर्नलिज्म और हमारे नर्वस सिस्टम का ग्रह है। बुध 21 अगस्त, 2022 को 2:17 मिनट पर (IST) कन्या राशि में गोचर करेंगे और 25 अक्टूबर, 2022 तक इस राशि में ही विराजमान रहेंगे। बुध के कन्या राशि में गोचर से हर राशि पर इसका प्रभाव पड़ेगा और यदि आप जानना चाहते हैं कि बुध का कन्या राशि में गोचर से आपकी राशि पर कैसा प्रभाव पड़ेगा, तो इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें।

कन्या राशि में बुध के गोचर 2022 का मेष राशि पर क्या रहेगा प्रभाव

मेष राशि पर मंगल ग्रह का शासन है और दोनों ही उग्र स्वभाव के ग्रह है। बुध छठवें भाव में मेष राशि में स्थित होंगे, जो नौकरी ऋण, शत्रु और रोग का घर है। मेष चंद्र राशि के लिए बुध के तीसरे और छठवें भाव का स्वामी है और छठवें भाव में स्थित है। सूर्य भी इस समय छठवें भाव में गोचर कर रहे हैं। सूर्य और बुध की युति शक्तिशाली बौद्ध आदित्य योग बनाती है। यह आपके लिए लंबे समय से चल रहीं स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों से निजात पाने के लिए एक अच्छा समय के रूप में आया है।

आप अपने कार्यक्षेत्र में सफलता पाएंगे। इसी के साथ आपकी मेहनत और ईमानदारी की प्रशंसा भी की जाएगी। आप काम और बिजनेस में अपने सभी प्रतिस्पर्धियों को हरा सकते हैं। आपके बिजनेस के लिए यह एक अच्छा समय है, लेकिन साझेदारी के लिए नहीं क्योंकि इनमें कुछ गलतफहमी पैदा हो सकती है। इस महीने आपकी किस्‍मत चमकेगी, जो लोग प्रतियोगी परीक्षा दे रहे हैं उनके लिए भी यह एक अच्छा समय है। इस माह आपको अपने खर्चों पर नियंत्रण रखना चाहिए। पार्टनर के साथ आपका समय अच्छा बीतेगा। रोमांटिक रिश्तों के लिए भी यह समय अच्छा रहेगा। आपका पार्टनर आपके साथ रहेगा।

उपाय - प्रत्येक बुधवार को मंदिर में हरे अनाज का दान करें और गाय को भी खिलाएं।

बुध के कन्या राशि में गोचर 2022 का वृष राशि पर प्रभाव

वृषभ राशि पर शुक्र का शासन है और बुध शुक्र का मित्र है। बुध ग्रह वृषभ राशि के दूसरे और 5वें भाव के 5वें स्वामी हैं। दूसरा घर परिवार, धन और वित्त का प्रतिनिधित्व करता है, जबकि 5वां घर बच्चों, भावनाओं और अटकलों/स्पेक्यूलेशन का प्रतिनिधित्व करता है। कन्या राशि में बुध ग्रह का गोचर यह भविष्यवाणी करता है कि आपके पास बहुत आशावादी विचार/ऑप्टिमिस्टिक थॉट होंगे और इस गोचर के दौरान आप अपनी इच्छाओं के आधार पर अपना करियर चुनेंगे। चीजों को अधिक स्पष्ट रूप से देखने की आपकी क्षमता आपके व्यक्तिगत और व्यावसायिक जीवन में आपके निर्णय लेने में सुधार लाएगी।

छात्र/स्टूडेंट अपने भविष्य की योजना बनाएंगे और उसे हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत करेंगे। किसी भी क्षेत्र में कोई कदम उठाने से पहले आप अपने निर्णय पर एक बार जरूर सोच विचार करें। आप अधिक मेहनत से अध्ययन/स्टडी करेंगे और अपना लक्ष्य प्राप्त करेंगे। जो लोग रियल एस्टेट, मार्केटिंग, लॉ और कंसल्टिंग बिजनेस में हैं, वे अपने काम में सुधार करेंगे और अपने कारोबार के विस्तार के लिए नई योजनाएं बनाएंगे, इसलिए इस बार आप अपने लक्ष्य तक पहुंचने में सफल होंगे। प्रेम संबंधों में समस्या हो सकती हैं। इसलिए आपको अपने रिश्ते में धैर्य बनाए रखना चाहिए, नहीं तो चीजें बिगड़ सकती हैं।

उपाय - इस गोचर के दौरान अपनी बहन को कुछ गिफ्ट दें और उनका आशीर्वाद लें।

मिथुन राशि के लिए बुध के कन्या राशि में गोचर 2022 का प्रभाव 

मिथुन राशि का स्‍वामी बुध ग्रह है। यह मिथुन राशि के लिए चतुर्थ भाव का ग्रह है और चतुर्थ भाव का ग्रह अपनी प्राकृतिक राशि कन्या राशि में है। लग्न हमारे स्वयं का प्रतिनिधित्व करता है और चौथा घर संपत्ति, वित्त और मानसिक शांति के लिए होता है। बुध के कन्या राशि में गोचर के अनुसार यह परिवर्तन आपके लिए लाभकारी रहेगा और आपके जीवन पर सकारात्मक प्रभाव डालेगा। इस गोचर के दौरान आप अचल संपत्ति और वाहनों में निवेश करेंगे। कुछ गुणों के फलस्वरूप आपको लाभ भी प्राप्त होगा। इस दौरान आपका करियर आगे बढ़ेगा और आपकी आर्थिक स्थिति में सुधार होगा।

मिथुन राशि के जातक कार्यस्थल पर कुशलतापूर्वक अपने समय का प्रबंधन करेंगे और आराम से काम करेंगे और लोग आपकी मेहनत को पहचानेंगे। पारिवारिक जीवन में आप अपने माता-पिता की देखभाल करेंगे और उनके साथ क्वालिटी टाइम बिताएंगे। जब आपको उनकी आवश्यकता होगी तो आपके भाई-बहन आपके साथ होंगे। प्रेम संबंधों में चीजें ठीक और सुचारू रूप से चलेंगी। आप अपने पार्टनर के साथ क्वालिटी टाइम भी बिताएंगे। अकादमिक क्षेत्र में काम करने वालों को सफलता मिलेगी। आप सीखने और सुधारने में बहुत प्रयास करेंगे।

उपाय- सुबह गणेश मंदिर में जाकर 10 मिनट ध्यान करें।

कर्क राशि पर कैसा रहेगा बुध के कन्या राशि में गोचर 2022 का प्रभाव

कर्क राशि का स्वामी चंद्रमा है। कर्क और चंद्रमा दोनों ही जल प्रकृति के हैं। बुध तीसरे और बारहवें भाव का स्वामी है और कर्क राशि वाली कुंडली में तीसरे भाव में स्थित है। तीसरा घर छोटी यात्राओं, स्थान बदलने, संपत्ति बेचने, भाई-बहनों और इच्छाशक्ति को नियंत्रित करता है, जबकि बारहवां घर विदेश यात्रा, अस्पताल, खर्च और ध्यान को नियंत्रित करता है। आप प्रैक्टिकल से ज्यादा इमोशनल रहेंगे। आप अपने परिवार और दोस्तों के साथ समय बिताना चाहेंगे। आपको आपके व्यवसाय के लिए कुछ छोटी यात्राओं की आवश्यकता होगी, जिससे आपको लाभ होगा।

कार्यक्षेत्र में कुछ स्थिति परिवर्तन होंगे जो आपके लिए अच्छे हैं। रचनात्मक क्षेत्रों में काम करने वाले लोग उसका आनंद लेंगे और दिलचस्प नई परियोजनाओं पर काम करेंगे। लेखक के रूप में काम करने वालों को इस समय में लाभ होगा। प्रेम संबंधों में आप इस गोचर के दौरान अपने साथी के प्रति प्रतिबद्ध रहेंगे और आपकी बॉन्डिंग मजबूत होगी। 

उपाय- बुधवार के दिन दुर्गा सप्तशती का पाठ करें और सिंह की मूर्ति मां दुर्गा को अर्पित करें।

सिंह राशि पर कैसा रहेगा बुध के कन्या राशि में गोचर 2022 का प्रभाव

सिंह राशि का स्वामी सूर्य है और यह एक उग्र ग्रह है। यह आपकी राशि पर शासन करता है। सिंह राशि में बुध दूसरे और 11वें भाव का स्वामी है। दूसरा भाव धन, वित्त, परिवार और संवाद करने की हमारी क्षमता को नियंत्रित करता है। हमारी मनोकामनाओं और लाभों की पूर्ति 11वें भाव में होती है। सिंह राशि के दूसरे भाव में बुध स्थित है। बिजनेस में आपको अपने बड़ों से लाभ और सहयोग प्राप्त होगा। इस समय आप व्यापार में अपनी इच्छा पूरी करेंगे। आप व्यावसायिक उद्देश्यों के लिए यात्रा करेंगे, जिससे आपकी वित्तीय लाभ होगा। परिवार के साथ कुछ खुशी के पल बिताएंगे।

जो लोग नौकरी कर रहे हैं या पढ़ाई कर रहे हैं, उन्हें इस गोचर के दौरान अनुकूल परिणाम प्राप्त होंगे। नौकरी बदलने के लिए भी यह एक अच्छा समय है, और आपके पास इसके कई अवसर होंगे। जीवन साथी की तलाश रहे लोगों को सफलता मिलेगी । यह आपके रिश्ते को बेहतर बनाएगा और आपको और आपके साथी को खुश करेगा। 

उपाय- बुधवार के दिन भगवान गणेश को बूंदी के लड्डू चढ़ाएं और उनके 11 नामों का जाप करें।

कन्या राशि के लिए बुध के कन्या राशि में गोचर 2022 का प्रभाव

कन्या राशि संतुलन और विश्लेषण का प्रतीक है। बुध दशम भाव का स्वामी और कन्या राशि में लग्न का स्वामी है। दसवां घर कर्म का प्रतिनिधित्व करता है, और लग्न स्वयं का प्रतिनिधित्व करता है। इस गोचर के दौरान आपको अच्छा काम मिलेगा। इस दौरान आप संपत्ति से जुड़े कुछ काम कर सकते हैं। इस बार आपके विश्लेषणात्मक कौशल में सुधार होगा, साथ ही आपके संचार कौशल में भी सुधार होगा, जिससे आपके व्यवसाय को लाभ होगा। आपकी नौकरी आपको कई अवसर प्रदान करेगी। और अगर आप नौकरी बदलना चाहते हैं तो इस महीने ऐसा करना संभव है।

इस समय आपका भाग्य अच्छा रहेगा। आपके पास अन्य वित्तीय अवसर भी होंगे। जो लोग सार्वजनिक क्षेत्र में काम करते हैं, उनके पास अच्छे अवसर होंगे, और छात्रों को उनके शैक्षणिक हितों के अनुरूप रोजगार मिलेगा। इस गोचर के दौरान आप अपनी पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ को मेंटेन कर सकते हैं। रोमांटिक रिश्ते में आपको अपने पार्टनर से बहस नहीं करनी चाहिए नहीं तो रिश्तों में खटास आ सकती है।

उपाय - हरे रंग का पन्ना अपने दाहिने हाथ की छोटी उंगली में धारण करें।

बुध के कन्या राशि में गोचर 2022 का तुला राशि में प्रभाव

तुला राशि का स्वामी शुक्र है और बुध और शुक्र मित्र हैं। तुला राशि में बुध 9 वें और 12वें भाव का स्वामी है। नौवां भाव हमारे भाग्य, लंबी यात्राओं, आध्यात्मिकता और उच्च शिक्षा को नियंत्रित करता है, जबकि बारहवां भाव हमारे खर्च, विदेश यात्रा, ध्यान और अस्पताल में भर्ती होने को नियंत्रित करता है। संपत्ति में वित्तीय निवेश करने का यह एक अच्छा समय है। आप विदेश में उच्च शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं। आप अपनी पढ़ाई पर ध्यान केंद्रित कर सकते हैं। अब आपके पास बहुराष्ट्रीय कंपनियों में अच्छे अवसर होंगे। करियर में बदलाव के लिए यह समय आदर्श है। हालांकि, यह आपके व्यवसाय के लिए अच्छा समय नहीं है।

इस गोचर के दौरान आपके खर्चों में वृद्धि होगी। यदि आप विदेश में अपने बिजनेस का बढ़ना चाहते हैं तो पार्टनरशिप में बिजनेस करने पर आपके पार्टनर के साथ कुछ गलतफहमियां हो सकती हैं। आपको अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखना चाहिए। आप अपने रोमांटिक रिश्ते का आनंद लेंगे। इस गोचर के दौरान विवाह और प्रेम संबंध बनेंगे।

उपाय - "ओम बुम बुधाय नमः" का प्रतिदिन 108 बार जाप करें।

वृश्चिक राशि पर बुध के कन्या राशि में गोचर 2022 का प्रभाव

वृश्चिक राशि का स्वामी मंगल है। वृश्चिक राशि में बुध 11 वें और 8 वें भाव का स्वामी हैं। 11वां भाव हमारी इच्छाओं की पूर्ति के लिए होता है और 8वां भाव अचानक लाभ और हानि के लिए होता है। मंगल ऊर्जा, इच्छाशक्ति और शक्ति का ग्रह है। मंगल छठवें भाव का स्वामी है और इस गोचर के दौरान सप्तम भाव में स्थित है। रियल एस्टेट में निवेश करने का यह एक अच्छा समय है। लोगों को अपने करियर में अचानक बदलाव का अनुभव होगा। बिजनेस में लंबी दूरी की यात्रा आपके भविष्य के लिए लाभदायक रहेगी। इस गोचर के दौरान आप अपना पैसा अन्य जगहों पर निवेश कर सकते हैं। इस समय के दौरान आपको समाज में नाम, प्रसिद्धि और पहचान मिलेगी। हालांकि, कुछ लोग आपकी आलोचना करेंगे, इसलिए उन्हें जवाब न दें।

पारिवारिक जीवन में आपको धैर्य से काम लेना चाहिए क्योंकि आपकी तरफ से कुछ अनबन पैदा हो सकती है। इस समय आपके भाई-बहन भी आपका साथ नहीं देंगे। यदि आप इस ग्रह परिवर्तन के दौरान प्रमोशन या ट्रांसफर चाहते हैं, तो इसमें कुछ समय के लिए देरी हो सकती है। हालांकि अगर आप नौकरी बदलने का फैसला करते हैं तो यह आपके लिए फायदेमंद रहेगा। इस दौरान आप पढ़ाई पर फोकस करेंगे। उच्च शिक्षा के लिए आपको बेहतरीन अवसर प्राप्त होंगे। हालांकि, इसके लिए आपको अधिक प्रयास की आवश्यकता होगी। रोमांटिक रिश्ते में कुछ दिक्कतें आ सकती हैं। इस गोचर के दौरान आपको अपने रिश्ते में कोई भी कमिटमेंट करने से बचना चाहिए। आपको सही समय का इंतजार करना चाहिए।

उपाय- प्रत्येक बुधवार को गाय को हरा चारा खिलाएं।

धनु राशि पर बुध के कन्या राशि में गोचर 2022 का प्रभाव 

धनु राशि के स्वामी बृहस्पति देव हैं। बुध ग्रह धनु राशि के दसवें और सातवें भाव के स्वामी हैं। दसवां घर कर्म का प्रतिनिधित्व करता है, जबकि सातवां घर हमारे साझेदारी व्यवसाय, विवाह और जीवनसाथी का प्रतिनिधित्व करता है। बृहस्पति, जिसे गुरु के रूप में भी जाना जाता है और यह ज्ञान का ग्रह है, जबकि बुध संचार और वाणी का ग्रह है। कन्या राशि में बुध गोचर के अनुसार, आप अपने बिजनेस पर ध्यान केंद्रित करेंगे, जोकि आगे बढ़ेगा और लाभप्रद सौदे प्रदान करेगा। आप और आपका जीवनसाथी मिलकर भी एक नया बिजनेस शुरू करेंगे।

जो लोग नौकरीपेशा वाले हैं वे अपने कार्यों पर ध्यान देंगे। आपके वरिष्ठ आपका समर्थन करेंगे और आपके द्वारा किए गए कार्यों की सराहना करेंगे। आपकी कुछ महिला मित्र भी काम में आपका साथ देंगी। आपको अपनी पढ़ाई में बहुत मेहनत करनी चाहिए। इस गोचर के दौरान आप अपनी आय बढ़ाने के लिए कुछ करने की कोशिश करेंगे। हालांकि अगर आप अपने करियर से जुड़ी चीजों की स्‍टडी करेंगे तो यह आपके लिए मददगार साबित होगी। प्रेम के लिए यह गोचर आसान रहेगा। आपको अपने साथी का सहयोग मिलेगा।यदि आप सिंगल है तो जल्द ही आपको अपना पार्टनर मिलेगा।

उपाय - भगवान विष्णु की पूजा करें और "श्री विष्णु सहस्त्रनाम स्तोत्र" का पाठ करें।

बुध के कन्या राशि में गोचर 2022 का मकर राशि पर प्रभाव

मकर राशि का स्वामी शनि है। शनि और बुध दोनों एक दूसरे के मित्र हैं। मकर राशि में बुध छठवें और नौवें भाव का स्वामी है। नौवां भाव हमारे भाग्य, लंबी यात्रा, उच्च शिक्षा और आध्यात्मिकता को नियंत्रित करता है, जबकि छठवां भाव हमारी नौकरी, ऋण, शत्रु, रोग और सेवाओं को नियंत्रित करता है। छठवां घर शिक्षा के माध्यम से हमारी कमाई का प्रतिनिधित्व करता है। इस गोचर के दौरान आपके भाग्य का विस्तार होगा। नौकरी के क्षेत्र में आपके लिए यह अच्छा समय है क्योंकि आपके पास काम के अधिक अवसर होंगे और प्रमोशन भी होगा। आप व्यावसायिक उद्देश्यों के लिए यात्रा करेंगे, लेकिन आपको व्यावसायिक साझेदारी से बचना चाहिए। लंबी अवधि के लाभ के लिए निवेश करने का यह एक बेहतरीन समय है।

आपके भाई-बहन और माता-पिता सहित आपका परिवार आपके साथ रहेगा। आप इस समय अपने परिवार के साथ किसी आध्यात्मिक यात्रा पर जा सकते हैं। छात्र अपने उच्च अध्ययन पर ध्यान केंद्रित करेंगे। इसके अलावा, आपको अपनी पढ़ाई में  कॉम्पटिशन का सामना करना पड़ेगा, लेकिन आपके प्रयासों को पुरस्कृत किया जाएगा। आप अपनी आय के स्‍त्रोत के लिए पार्ट टाइम जॉब करते हुए अपनी पढ़ाई पर ध्यान केंद्रित कर सकते हैं। यह गोचर प्रेम संबंधों के लिए आदर्श है। यदि आप अपने प्रिय व्यक्ति से विवाह करना चाहते हैं तो यह उत्तम समय है। जो लोग जीवनसाथी की तलाश कर रहे हैं उन्हें एक मनचाहा जीवनसाथी मिलेगा।

उपाय- बुधवार के दिन शिवलिंग पर नीले फूल और गणेश जी को सफेद फूल चढ़ाएं।.

कुंभ राशि के लिए बुध के कन्या राशि में गोचर 2022 का प्रभाव

 कुंभ राशि का स्वामी शनि है और शनि दूसरे और बारहवें भाव का स्वामी है और बारहवें भाव में स्थित है। कुंभ राशि में बुध पंचम और अष्टम भाव का स्वामी है और अष्टम भाव में स्थित है। पंचम भाव हमारी भावनाओं, बच्चों, करियर से संबंधित अध्ययन, अटकलों, शेयर बाजार और हमारी क्रिएटिविटी के लिए है, और आठवां घर अचानक नुकसान या लाभ के लिए है। आपकी सेहत के लिए यह समय ठीक नहीं है। आपको अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखना चाहिए और पौष्टिक आहार लेना चाहिए। यदि आप बिजनेस के क्षेत्र में हैं तो इस गोचर के दौरान आपको साझेदारी से बचना चाहिए। यह एक नया रोमांच शुरू करने का अच्छा समय नहीं है। इस समय व्यावसायिक निवेश करने से बचें।

नौकरीपेशा लोगों को दबाव या आलोचना का सामना करना पड़ेगा, यह बुध के कन्या राशि में गोचर की भविष्यवाणी करती है। नौकरीपेशा लोगों को इस गोचर के दौरान नौकरी बदलने की कोशिश करने से बचना चाहिए, क्योंकि आपको अच्छी नौकरी नहीं मिलेगी। पढ़ाई के दौरान आपको परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। इस गोचर के दौरान आपको कुछ उतार-चढ़ाव या स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का अनुभव हो सकता है। इसलिए इस गोचर के दौरान सावधानी बरतें। प्रेम संबंध में कुछ भी हो सकता है। धैर्य बनाए रखें और अपने साथी के साथ बहस करने से बचें, नहीं तो चुनौतीपूर्ण स्थितियां पैदा हो सकती हैं।

उपाय- बुध नक्षत्र में बुधवार के दिन विधारा जड़ धारण करें। 

बुध के कन्या राशि में गोचर 2022 से मीन राशि पर क्या होगा प्रभाव

 मीन राशि का स्वामी बृहस्पति है, बुध चौथे भाव का स्वामी और 7वें भाव के स्वामी हैं और 7वें घर में स्थित हैं। चौथा भाव हमारी संपत्ति, मानसिक शांति, माता, वित्त, वाहन आदि के लिए है। इस गोचर के दौरान, आप अपने व्यवसाय में समृद्ध होंगे। आपकी साझेदारी सफल होगी। इस गोचर के दौरान आपके व्यापार में वृद्धि होगी और आप कोई नया व्यवसाय शुरू कर सकते हैं। शेयर बाजार से भी आपको फायदा होगा। इस बार आप कोई संपत्ति खरीदेंगे। इस गोचर के दौरान रियल एस्टेट बाजार अच्छा प्रदर्शन कर सकता है।

जो लोग नौकरीपेशा हैं वे अपने कार्यस्थल पर आराम महसूस करेंगे। सीनियर्स आपका साथ देंगे। पढ़ाई के लिए यह एक अच्छा समय है। छात्र अपने नियमित दैनिक अध्ययन पर ध्यान केंद्रित करेंगे। इस गोचर के दौरान माता विशेष रूप से आपका साथ देंगी और आपके करियर के लिए आपको बहुमूल्य समय मिलेगा। प्रेम संबंधों के लिए यह समय अनुकूल नहीं है। इस गोचर के दौरान आपको कोई नया रिश्ता शुरू करने से बचना चाहिए। दाम्पत्य जीवन में कुछ समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं। इस गोचर के दौरान आपको अपने साथी का साथ देना चाहिए, नहीं तो स्थिति आपके अनुकूल नहीं होगी।

उपाय- प्रतिदिन अपने माथे पर सफेद चंदन का तिलक लगाएं।

बुध का कन्या राशि में गोचर हमारे जीवन में कई महत्वपूर्ण बदलाव लाएगा और विकास और सफलता के संभावित अवसरों का संकेत देगा। 

नोट - ये केवल सामान्यीकृत भविष्यवाणियां हैं। यदि आप विस्तृत और व्यक्तिगत भविष्यवाणियां और सलाह चाहते हैं, या यदि आपको मार्गदर्शन की आवश्यकता है, तो एस्ट्रोयोगी पर एस्ट्रो नैन्सी से परामर्श करें

✍️ By- एस्ट्रो नैन्सी

एस्ट्रो नैंसी के द्वारा
Planetary Movement
Vedic astrology
Virgo
zodiacsign

आपके पसंदीदा लेख

नये लेख


एस्ट्रो नैंसी के द्वारा
Planetary Movement
Vedic astrology
Virgo
zodiacsign
आपका अनुभव कैसा रहा
facebook whatsapp twitter
ट्रेंडिंग लेख

यह भी देखें!

chat Support Chat now for Support