Shukra Gochar 2022 - 7 अगस्त को शुक्र के कर्क राशि में गोचर, जानें आपकी राशि पर प्रभाव

bell icon Fri, Aug 05, 2022
टैरो पूजा टैरो पूजा के द्वारा
Shukra Gochar 2022 - 7 अगस्त को शुक्र के कर्क राशि में गोचर का आपकी राशि पर प्रभाव

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार किसी ग्रह का एक राशि से दूसरी राशि में गमन व्यक्ति के जीवन में कई बदलाव ला सकता है। यदि आप जानना चाहते हैं कि इस गोचर का आप पर क्या प्रभाव पड़ेगा, तो इस लेख को पढ़ें।

वैदिक ज्योतिष में शुक्र ग्रह को व्यक्ति के जीवन में आनंद, प्रेम, भाग्य, आराम और विलासिता का कारक माना जाता हैं। शुक्र ग्रह प्रेम और सुंदरता का प्रतीक है। वृषभ और तुला दोनों राशियों के स्वामी शुक्र हैं। वैदिक ज्योतिष के अनुसार शुक्र, असुरों (राक्षसों) के गुरु के रूप में कार्य करते हैं। शुक्र, प्राचीन रोम में सौंदर्य की देवी व पश्चिमी ज्योतिष में सौंदर्यशास्त्र का ज्योतिषीय प्रतीक है। शुक्र को एक शुभ ग्रह माना जाता है। कुंडली में शुक्र की मजबूत स्थिति सभी आयामों में सुखी विवाह और सद्भाव को बढ़ावा देती है।

इसके अतिरिक्त, जन्म कुंडली में कमजोर या नीच शुक्र, वित्तीय और शारीरिक स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकता है। यदि कुंडली में शुक्र की दृष्टि या शनि के साथ युति हो तो रिश्ते टूट सकते हैं। इसके अलावा शुक्र कला, संस्कृति, रचनात्मकता और सांसारिक सुख-सुविधाओं को प्रदान करता है। इस कारण शुक्र का गोचर अत्यंत महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह सभी राशियों को प्रभावित करता है। क्या यह बात सही नहीं है कि हर कोई खुश और धनी होना चाहता है? शुक्र 7 अगस्त 2022 को मिथुन राशि से कर्क राशि में गोचर करेगा और 1 सितंबर 2022 तक कर्क राशि में रहेगा।

आइए देखते हैं कि शुक्र का कर्क राशि में गोचर 2022 प्रत्येक राशि के लिए क्या बदलाव लाने वाला है।

शुक्र के कर्क राशि में गोचर का मेष राशि पर प्रभाव

शुक्र, मेष राशि के चौथे भाव में स्थित है और इस राशि के स्वामी मंगल इसके साथ मित्रवत है। अधिकांश मेष राशि वालों को इस गोचर से लाभ होगा क्योंकि इस समय अवधि में वे संपत्ति और वाहन की खरीदारी करेंगे। घर में मां या बड़ी उम्र की महिलाओं से नई संपत्ति खरीदने में सपोर्ट और फाइनेंशियल हेल्प मिलेगी। कई मेष राशि के लोग इस दौरान अपने घर को रिनोवेट या फिर सजाने का निर्णय कर सकते हैं।

उपाय - शुक्र बीज मंत्र "ओम शुं शुक्राय नमः" का प्रतिदिन 108 बार जप करें।

शुक्र के कर्क राशि में गोचर का वृषभ राशि पर प्रभाव

यह गोचर वृषभ राशि के तीसरे भाव में हो रहा है। वृषभ राशि का स्वामी शुक्र है, जो वृषभ लग्न के लिए अत्यंत लाभकारी है। इस ग्रह स्थिति से वृषभ चंद्र राशि के लोगों को लाभ होगा क्योंकि उनके भाई-बहन उनसे अपने लिए समय निकालने की मांग कर सकते हैं। वे आपके जीवन में खुशी और हंसी भी लाएंगे। अधिकांश वृषभ राशि के लोग शार्ट वीकेंड पर जाने का प्लान कर सकते हैं।

उपाय - शुक्र मंत्र "ओम द्रांग द्रींग द्रौंग सह शुक्राय नमः"का 108 बार जाप करें।

शुक्र के कर्क राशि में गोचर का मिथुन राशि पर प्रभाव 

शुक्र का यह गोचर मिथुन राशि के द्वितीय भाव में हो रहा है और इस राशि के स्वामी बुध, शुक्र के साथ काफी मित्रवत हैं। इस कारण आपके आसपास कई अच्छी खबरें होंगी। मिथुन राशि के लोग अपने परिवार के साथ समय बिताएंगे और इस दौरान परिवार के साथ डिनर और आउटिंग भी करेंगे। आप अपने परिवार के सभी सदस्यों और उनकी जरूरतों के बारे में सोचेंगे। आप उनके चेहरे पर एक खूबसूरत मुस्कान देखने के लिए अपने रास्ते से हटकर उनसे मिलेंगे।

उपाय - शुक्र गायत्री मंत्र "ओम अश्वध्वजय विद्माहे धनुर हस्तय धीमहि तन्नो शुक्र: प्रचोद्यात" का जाप करें।

शुक्र के कर्क राशि में गोचर का कर्क राशि पर प्रभाव

अगस्त 2022 में कर्क राशि में शुक्र का गोचर पहले भाव में हो रहा है। कर्क राशि के स्वामी चंद्रमा हैं और इस गोचर के दौरान बहुत महत्वपूर्ण हो जाते हैं। यदि आपकी कुंडली में चंद्रमा मजबूत है तो आप संतुलित अवस्था में रहेंगे। वहीं, यदि आपकी कुंडली में चंद्रमा पीड़ित हैं तो आप मानसिक चिंता के अत्यधिक स्तर और भावनात्मक दबाव का अनुभव करेंगे। आपको लचीला होना चाहिए और अपने भीतर की नकारात्मकता से लड़ना चाहिए। हालांकि आंतरिक संघर्षों पर काबू पाना हमेशा आसान या आनंददायक नहीं होता है, जो लोग इसमें सफल होते हैं, वे जीवन को बदलने वाले गहरे बदलावों का अनुभव करते हैं। वे अपने बेहतर रूप में विकसित होते हैं, अपने आसपास के लोगों के लिए आदर्श बनते हैं।

उपाय - अच्छा परफ्यूम लगायें, जिस सुगंध का आप आनंद लेते हैं !!

शुक्र के कर्क राशि में गोचर का सिंह राशि पर प्रभाव

शुक्र का कर्क राशि में गोचर सिंह राशि के लिए 12वें घर में हो रहा है जो इसे अधिक महत्वपूर्ण बना रहा है। किसी भी जन्म कुंडली में 12 वां घर विदेशी कनेक्शन और खर्चों के लिए होता है, इसलिए यह सभी सिंह चंद्र राशि के लोगों से संबंधित है। सूर्य, सिंह राशि के स्वामी हैं और शुक्र से शत्रुता रखते हैं और इसलिए आपको अपने खर्चों पर नजर रखने की जरूरत है। आप अधिक खर्च करने के लिए उत्सुक रहेंगे। इस गोचर की अवधि में थोड़ा कंजूस बनें,जिससे आपकी सेविंग बची रहे। यह समय निश्चित रूप से विदेश में प्रापर्टी खरीदने में निवेश करने या वीजा के लिए आवेदन करने का अच्छा समय नहीं है क्योंकि इसके रिजेक्ट होने की सबसे अधिक संभावना है। शांत रहें, कुछ समय के लिए रुकें और अनुकूल परिणामों के लिए थोड़े समय के बाद आवेदन करें।

उपाय - अपने दैनिक जीवन में क्रीम, मॉइस्चराइज़र और लोशन का उपयोग करना शुरू करें। यह सब आपके शुक्र को मजबूत करेगा।

शुक्र के कर्क राशि में गोचर का कन्या राशि पर प्रभाव

कन्या राशि के लोगों के लिए शुक्र का यह गोचर 11वें भाव में होगा, जिसका प्रभाव उन सभी अवसरों और लाभों पर पड़ता है, जिनके वे हकदार हैं। बुध और शुक्र मित्र ग्रह हैं, जो एक दूसरे के साथ का आनंद लेते हैं, इस गोचर से आमतौर पर कन्या राशि वालों को लाभ होगा। इसका अर्थ यह है कि ग्रहों के शुभ प्रभाव से चीजें उनके लिए प्रचुर मात्रा में उपलब्ध होंगी। कन्या राशि के लोग अपने रास्ते में आने वाले प्रत्येक समर्थन और मौकों को प्राप्त करेंगे और वे विभिन्न तरह के लाभ भी प्राप्त करेंगे। इस दौरान आप बेहद भाग्यशाली होंगे, लेकिन अपनी छवि का उपयोग सावधानी से करें और इसका दुरुपयोग न करें।

उपाय - प्रात:काल हास्य योग करें।

शुक्र के कर्क राशि में गोचर का तुला राशि पर प्रभाव

शुक्र, तुला राशि के दसवें भाव के स्वामी हैं, जहां 2022 में शुक्र का यह अद्भुत गोचर कर्क राशि में होगा। इस कारण यह स्पष्ट है कि आप इस गोचर के दौरान अपने करियर में सफल होंगे। प्रभावी उपायों के बाद, सभी आगामी पदोन्नति, वेतन वृद्धि, और नई परियोजनाएं विशेष रूप से आपकी होंगी। आपके पिता को आप पर गर्व होगा और वे आपका समर्थन करेंगे। नाम और शोहरत आपकी होगी और आप अपनी मेहनत और स्मार्ट वर्क से उन्हें लंबे समय तक वैसा ही बनाए रखने की ताकत रखते हैं।

उपाय - सूर्य देव को जल अर्पित करें।

शुक्र के कर्क राशि में गोचर का वृश्चिक राशि पर प्रभाव

वृश्चिक चंद्र राशि वाले लोगों के लिए अगस्त 2022 में शुक्र का कर्क राशि में गोचर उनके 9वें भाव में होगा। वृश्चिक राशि के स्वामी मंगल हैं, जो शुक्र के शत्रु हैं इसलिए इस गोचर का यहां सीमित प्रभाव पड़ेगा। आप खुद को बदकिस्मत महसूस कर सकते हैं और आप जो कुछ भी करेंगे, वह आपके अनुसार नहीं होगा और इस कारण आपकी नींद भी गायब हो सकती है। लेकिन चिंता न करें, यह सिर्फ एक गुजरता हुआ चरण है। अपना दैनिक पूजा पाठ करें। आपके द्वारा इस समय किए जाने वाले सभी अनुष्ठान, पूजा और होम (हवन) इस ग्रह स्थिति के नकारात्मक प्रभावों को दूर करने में आपकी सहायता करेंगे।

उपाय - अपने घर में शुक्र यंत्र लगाएं।

शुक्र के कर्क राशि में गोचर का धनु राशि पर प्रभाव

धनु राशि के लोगों के लिए शुक्र का यह गोचर अष्टम भाव में होगा। बृहस्पति या गुरु धनु राशि के स्वामी हैं और शुक्र के साथ एक तटस्थ समीकरण साझा करते हैं। इस गोचर के दौरान धनु राशि के लोगों को कुछ स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हो सकती हैं, इसलिए आपको अपना ध्यान रखना चाहिए और हेल्दी डाइट लेनी चाहिए। हेल्दी लाइफस्टाइल बनाए रखना आपके लिए अच्छा रहेगा।

उपाय - शहद का दान करें।

शुक्र के कर्क राशि में गोचर का मकर राशि पर प्रभाव

शुक्र का कर्क राशि में गोचर मकर राशि के सातवें भाव में होगा। मकर राशि के स्वामी शनि राशि हैं। कर्म के प्रतीक शनि निष्पक्ष और सभी के अनुरूप हैं। इस बारआपको यह सलाह दी जाती है कि आप अपने जीवनसाथी की अच्छी तरह से देखभाल करें और उनका सम्मान करें, उनसे प्यार करें। इसके साथ ही उनको नजरअंदाज न करें। आपके शब्द और कार्य आपके पार्टनर के प्रति दयालुता से भरे और प्रेमपूर्ण होने चाहिए। अपने पार्टनर के प्रति असभ्य या स्वार्थी होने से बचें।

उपाय - गुड़ का दान करें।

शुक्र के कर्क राशि में गोचर का कुंभ राशि पर प्रभाव

कुम्भ चंद्र राशि के लोग शुक्र के कर्क राशि में गोचर का छठवें भाव में अनुभव करेंगे। इसके परिणामस्वरूप आपको अपने दुश्मनों, विशेष रूप से गुप्त या छिपे हुए शत्रुओं पर नजर रखनी चाहिए। आपके दुश्मन आपको बदनाम करने या आपको नीचा दिखाने की कोशिश कर सकते हैं। लेकिन याद रखें कि जब तक आपकी नीयत अच्छी होगी और आप मेहनत से कार्य करते रहेंगे तब तक शनि आपकी रक्षा करेंगे। बस थोड़ा सावधान रहें।

उपाय - रोज सुबह जीभ पर केसर लगाएं ताकि आपका वाणी पर नियंत्रण रहे।

शुक्र के कर्क राशि में गोचर का मीन राशि पर प्रभाव

मीन राशि के लोगों के लिए 5वां भाव वह स्थान है, जहां अगस्त 2022 में शुक्र का कर्क राशि में गोचर होगा। मीन राशि के स्वामी बृहस्पति इस गोचर के दौरान आपकी रक्षा करेंगे। यदि आप माता-पिता हैं, तो इस समय आपके बच्चे थोड़ी मुश्किल पैदा कर सकते हैं, लेकिन आप इसे नमक के दाने जैसा ले सकते हैं क्योंकि आपने उन्हें बनाया है। बस उनकी पढ़ाई और सेहत पर ध्यान दें। बाकी सब कुछ समय पर ठीक हो जाएगा।

उपाय - शुक्र की कृपा के लिए शुक्र यंत्र को अपने घर में रखें।

अगस्त 2022 में शुक्र का कर्क राशि में गोचर हमारे जीवन को कई मायनों में महत्वपूर्ण रूप से बदल देता है और इस दौरान विकास और सफलता की संभावना बनतीं हैं। याद रखें कि हर कोई कर्क राशि में इस गोचर को अलग तरह से अनुभव करेगा। ये केवल सामान्यीकृत भविष्यवाणियां हैं।

यदि आप विस्तृत और व्यक्तिगत भविष्यवाणियां और उपाय जानना चाहते हैं तो बात करें टैरो पूजा से केवल एस्ट्रोयोगी पर।

✍️ By - टैरो पूजा

अंतर्राष्ट्रीय सेलिब्रिटी गुरु

 

chat Support Chat now for Support
chat Support Support