ज्येष्ठ नक्षत्र


अर्थ: सबसे बड़ा
देव: इन्द्र

आप इस नक्षत्र के जातक हैं तो आप एक आकर्षक व्यक्तित्व के धनि हैं और ऊर्जा तथा प्राण-शक्ति से भरे हुए हैं। आप स्नेही व उदार-हृदय के हैं। आप का ध्यान पारिवारिक मामलों में अधिक रहता है और आप अपने परिजनों के प्रति खुद को जिम्मेदार मानते हैं। कभी-कभी आप जिम्मेदारियों के बोझ के तले दबे होने के कारण बहुत ही दुखी व क्रोधित हो सकते हैं। आप जीवन में बहुत जल्दी सफलता पा लेते हैं। आपका आकर्षक व्यक्तित्व तथा स्नेहपूर्ण स्वभाव सब का दिल जीत लेता है जिससे बहुत से दोस्त बन जाते हैं। आप हाथ के काम में माहिर होते हैं, ख़ासकर धातु से जुड़े कामों में। प्रायः आपको सफलता 21 वर्ष की आयु के बाद ही मिल जाती है। आपकी प्रकृति के अनुकूल करियर विकल्पों में इंजीनियरिंग, धातु विधा, रसायन इंजीनियरिंग, आर्किटैक्चर, निर्माण, इंटीरियर डिज़ाइनिंग आदि शामिल हैं। आपका वैवाहिक जीवन संतोषप्रद व सुखी रहेगा तथा आपका जीवन साथी भी आपको बहुत सहयोग करने वाला हो सकता है। ज्येष्ठ नक्षत्र में जन्मे व्यक्ति छोटी-मोटी शारीरिक समस्याओं जैसे जोड़ों के दर्द, सर्दी, जुकाम, खांसी, नींद की कमी आदि से पीड़ित रह सकते हैं। इस नक्षत्र की महिलाएं गर्भाशय की समस्याओं से परेशान हो सकती हैं।

27 नक्षत्रों के नाम इस प्रकार हैं:

आज का पंचांग

आज का पंचांग

आज का पंचांग यानि दैनिक पंचांग अंग्रेंजी में Daily Panchang भी कह सकते हैं। दिन की शुरुआत अच्छी हो, जो ...

और पढ़ें
आज की तिथि

आज की तिथि

तिथि पंचांग का सबसे मुख्य अंग है यह हिंदू चंद्रमास का एक दिन होता है। तिथि के आधार पर ही सभी...

और पढ़ें
आज का दिन

आज का दिन

सप्ताह के प्रत्येक दिवस को वार के रूप में जाना जाता है। वार पंचांग के गठन में अगली कड़ी है। एक सूर्योदय से ...

और पढ़ें
आज का शुभ मुहूर्त

आज का शुभ मुहूर्त

पंच मुहूर्त में शुभ मुहूर्त, या शुभ समय, वह समय अवधि जिसमें ग्रह और नक्षत्र मूल निवासी के लिए अच्छे या...

और पढ़ें
आज का नक्षत्र

आज का नक्षत्र

पंचांग में नक्षत्र का विशेष स्थान है। वैदिक ज्योतिष में किसी भी शुभ कार्य को करने से पूर्व नक्षत्रों को देखा जाता है।...

और पढ़ें
आज का चौघड़िया

आज का चौघड़िया

चौघड़िया वैदिक पंचांग का एक रूप है। यदि कभी किसी कार्य के लिए शुभ मुहूर्त नहीं निकल पा रहा हो या कार्य को ...

और पढ़ें
आज का राहु काल

आज का राहु काल

राहुकाल भारतीय वैदिक पंचांग में एक विशिष्ट अवधि है जो दैनिक आधार पर होती है। यह समय किसी भी विशेष...

और पढ़ें
आज का शुभ होरा

आज का शुभ होरा

वैदिक ज्योतिष दिन के प्रत्येक घंटे को होरा के रूप में परिभाषित करता है। पाश्चात्य घड़ी की तरह ही, हिंदू वैदिक ...

और पढ़ें
आज का शुभ योग

आज का शुभ योग

पंचांग की रचना में योग का महात्वपूर्ण स्थान है। पंचांग योग ज्योतिषाचार्यों को सही तिथि व समय की गणना करने में...

और पढ़ें
आज के करण

आज के करण

वैदिक ज्योतिष के अनुसार व्रत, पर्व को निर्धारित करने में पंचांग और मुहूर्त का महत्वपूर्ण स्थान है। इनके बिना, हिंदू ...

और पढ़ें
पर्व और त्यौहार

पर्व और त्यौहार

त्यौहार हमारे जीवन का अहम हिस्सा हैं, त्यौहारों में हमारी संस्कृति की महकती है। त्यौहार जीवन का उल्लास हैं त्यौहार...

और पढ़ें
राशि

राशि

वैदिक ज्योतिष में राशि का विशेष स्थान है ही साथ ही हमारे जीवन में भी राशि महत्वपूर्ण स्थान रखती है। ज्योतिष...

और पढ़ें


Chat Now for Support